रात आठ बजे के बाद खुली मिली ज्वैलरी शॉप तो कार्रवाई

अमर उजाला ब्यूरो गाजियाबाद Updated Sat, 17 Jun 2017 11:38 PM IST
Open at 8 o'clock Milk jewelery shop action
आभूषण की दुकान - फोटो : अमर उजाला
साप्ताहिक अवकाश (मंगलवार) और निर्धारित समय सुबह 10 से रात 8 बजे के बाद शहर का कोई भी सराफा व्यापारी अगर अपनी दुकान खोलेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। नवयुग मार्केट में सराफा व्यापारी व अन्य व्यापारी मंडल के पदाधिकारियों के साथ पुलिस अधिकारियों की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर हुई बैठक में यह फैसला किया गया। इसके अलावा बैठक में कई महत्वपूर्ण विषयों पर सहमति बनी।
बदमाशों के निशाने पर सराफा व्यापारी हमेशा से ही टारगेट पर रहते हैं। घटना के बाद व्यापारी आंदोलन करते हैं। प्रशासन भी कुछ दिनों तक सक्रिय रहता है। फिर व्यवस्था पुराने ढर्रे पर आ जाती है। सुरक्षा के मुद्दे पर ठोस कार्रवाई के लिए व्यापारियों और पुलिस अधिकारियों के बीच बैठक हुई।

जिला सराफा एसोसिएशन के संरक्षक राज किशोर गुप्ता ने बताया कि कुछ बातों पर सहमति बनी है। इसमें मुख्य रूप से ज्वैलरी की दुकानें सुबह 10 से रात 8 बजे तक ही खुलेंगी। यदि दुकानें देर रात तक खुलती हैं तो संचालकों पर कार्रवाई होगी। इसके अलावा सभी सराफा व्यापारी दुकान के बाहर कैमरे लगवाएंगे, शस्त्रधारी गार्ड को तैनात करेंगे, रात में अपनी दुकानों के बाहर लाइट को जला कर रखेंगे।

आभूषण गलाने वाले बंगाली व मराठा कारीगरों का पुलिस सत्यापन करेगी। कोई भी सराफा व्यापारी बिना पर्ची या बिल लिए अंजान व्यक्ति से ज्वैलरी नहीं लेगा। उन्हाेंने बताया कि पहली बार हुआ है कि सुरक्षा के मुद्दे पर सभी व्यापार मंडल के सदस्य एक मंच पर आए हैं। इस मौके पर एसोसिएशन ने पुलिस अधिकारियों को एक ज्ञापन भी दिया। मीटिंग में सुभाष चंद, धनेश सिंघल, अशोक भारतीय, प्रीतम लाल, नितिन गोयल, गौरव गर्ग, संदीप बंसल आदि मौजूद रहे।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Jhajjar/Bahadurgarh

धनखड़, बराला व कैप्टन की मंशा खराब, नहीं चाहते प्रदेश में बने भाईचारा

धनखड़, बराला व कैप्टन की मंशा खराब, नहीं चाहते प्रदेश में बने भाईचारा

19 फरवरी 2018

Related Videos

शार्प शूटर्स करने आए थे नेता का मर्डर, फिर खुद की जान बचाने में लगे

यूपी के हापुड़ से एक ऐसी तस्वीर सामने आई है जहां पब्लिक ने शार्प शूटर्स को बुरी तरह से पीटा।

5 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen