लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Delhi NCR ›   Ghaziabad ›   ghaziabad

ब्याज के काम में साझेदारी तोड़ने पर बचपन के दोस्त ने की थी फाइनेंसर की हत्या

Ghaziabad Bureau गाजियाबाद ब्यूरो
Updated Thu, 16 Jun 2022 01:36 AM IST
ghaziabad
विज्ञापन
ख़बर सुनें
ब्याज के काम में साझेदारी तोड़ने पर बचपन के दोस्त ने की थी फाइनेंसर की हत्या

इंदिरापुरम। कनावनी में फाइनेंसर शिवम भारद्वाज की कार में गोली मारकर हत्या के मामले में इंदिरापुरम पुलिस ने उसके बचपन के दोस्त अतुल को गिरफ्तार किया है। साझेदारी तोड़ने के कारण शिवम से अतुल रंजिश रखता था। अतुल की अभद्रता और फाइनेंस के काम में नुकसान झेलने की वजह से उसने दोस्त को रास्ते से हटाने की योजना तैयार की थी। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त पिस्टल बरामद कर ली है।
क्षेत्राधिकारी अभय कुमार मिश्र ने बताया कि अतुल और शिवम दोनों कनावनी गांव में एक साथ रहते थे। दोनों कक्षा छह से अच्छे दोस्त थे। पढ़ाई-लिखाई पूरी करने के बाद दोनों ने एक साथ साझेदारी में फाइनेंस का काम शुरू किया था। ब्याज पर पैसे लेने वाले लोगों से संपर्क बनाए रखने के लिए दोनों ने मोबाइल की दुकान भी खोली थी लेकिन दो साल पूर्व शिवम ने आपस की साझेदारी को अचानक खत्म कर दिया। इसके बाद अतुल ने दूसरी जगह अपना अलग फाइनेंस का काम शुरू किया मगर वह उसमें सफल नहीं हुआ। पूछताछ में अतुल ने बताया कि शिवम कई बार उससे गाली-गलौज और अभद्र व्यवहार करता था। वह आर्थिक रूप से कमजोर होने के कारण विरोध नहीं कर पाता था। फाइनेंस के काम में नुकसान होने और लगातार अभद्रता की वजह से अतुल ने उसकी हत्या की योजना तैयार की।

शिवम को शराब पीने के बहाने घर से फोन करके बुलाया
इंदिरापुरम थाना प्रभारी देवपाल सिंह पुंडीर का कहना है कि हत्या को अंजाम देने के लिए अतुल ने 11 जून को दिनभर शिवम के घर के पास रेकी की। शाम होते ही वसुंधरा चला गया। वहीं से शिवम को फोन करके हिंडन बैराज बुलाया। कुछ देर बाद शिवम अपनी वैगनआर कार से पहुंचा तो दोनों शक्तिखंड के एक मॉल में शराब खरीदने पहुंचे। वहां शिवम ने शराब पीने से मना कर दिया। इसके बाद दोनों ने बीयर खरीदी और कार में बैठकर काफी देर बात की। पुलिस का कहना है कि शिवम अपने पास हमेशा हथियार रखता था। उसके बारे में अतुल को भी जानकारी थी। बीयर पीने के दौरान अतुल ने कार के डैशबोर्ड से पिस्टल निकाल कर शिवम को दो गोली मार दी। एक गोली गाड़ी में लगी जबकि दूसरी गोली उसके सीने से घुसी और कंधे से निकलकर चालक वाली सीट में धंस गई। हत्या के बाद अतुल वहां से फरार हो गया।
सीडीआर से मिली पुलिस को सफलता
फाइनेंसर शिवम की हत्या के बाद क्षेत्राधिकारी अभय कुमार मिश्र ने उसके मोबाइल को कब्जे में ले लिया। घटनास्थल के आसपास करीब 600 मोबाइल की लोकेशन पता की। इसमें 10 फोन की लोकेशन एक जगह पर कई बार पाई गई तो सीओ का शक गहरा गया। टीम ने दसों मोबाइल की सीडीआर खंगाली, जिसमें अतुल की शिवम से अखिरी बार बात होने और उसकी हत्या के पांच मिनट बाद अचानक लोकेशन बदलने का सुराग मिला। इसके अलावा टीम ने कनावनी हिंडन नहर सर्विस रोड पर घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज कब्जे में लेकर जांच की। एक फुटेज में वह भागता हुआ कैद हुआ। टीम ने उसकी तस्वीर के साथ तलाश शुरू की और मंगलवार देर रात वसुंधरा सेक्टर-2बी के पास से गिरफ्तार कर लिया।
अतुल ने हिंडन नहर में फेंक दी थी पिस्टल
शिवम की हत्या के बाद आरोपी अतुल ने पिस्टल को हिंडन नहर में फेंक दिया था। पुलिस ने पूछताछ में जब उससे हथियार के बारे में पूछा तो वह काफी देर तक बरगलाता रहा। सख्ती के बाद उसने बताया तब इंदिरापुरम पुलिस ने मंगलवार को कई घंटे की मशक्कत के बाद नहर से पिस्टल बरामद की।
हत्या के बाद परिजनों के साथ अस्पताल में भी रहा
शुरुआती पूछताछ में अतुल का कहना था कि बाइक सवार दो युवकों से शिवम की कहासुनी हुई थी। विवाद बढ़ने पर उन्होंने गोली मार दी। पुलिस ने आगे पूछा कि उसने कंट्रोल रूम पर सूचना क्यों नहीं दी, तब उसका कहना था कि बैटरी खत्म होने से फोन बंद हो गया था। फिर पुलिस ने उससे सीडीआर व सीसीटीवी फुटेज में उसके खिलाफ सबूत होने की बात कही तब उसने हत्या की बात कबूल की। पता चला है कि हत्या के बाद वह शिवम के परिजनों के साथ अस्पताल और अन्य जगह पर था।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00