फायदे बता सब कैशलेस करना चाहते हैं मोदी जी, नुकसान तो जान लीजिए

टीम डिजिटल/अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Fri, 02 Dec 2016 04:28 PM IST
Disadvantage of cashless, know here the various cases
मोदी - फोटो : self
केंद्रीय गृहमंत्रालय से आदेश आ चुका है कि कैशलेस सिटी बनाओ। जमीनी हकीकत ऐसी है कि जानकर लोगों के पांव तले से जमीन खिसक जाए। हर साल काफी संख्या में बैंक उपभोक्ता प्लास्टिक मनी और ऑनलाइन ट्रांजक्शन में फ्राड का शिकार हो रहे हैं। 

ऐसे मामलों में पुलिस की मदद मिलना और भी दुश्वार है। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पिछले तीन साल में चार हजार से ज्यादा शिकायतें पुलिस को मिली हैं और सिर्फ 174 मामले ही पुलिस ने दर्ज किए हैं। 

ऐसे में लोगों को कैशलेस व्यवस्था के लिए मजबूर करना उन्हें साइबर अपराधियों के आगे चारे की तरह परोसने जैसा है। ट्राइसिटी में साइबर फ्राड से लोग किस तरह परेशान है, प्रस्तुत है अमर उजाला की यह विशेष रिपोर्ट.... 

साइबर फ्राड और ऑनलाइन ट्रांजक्शन धोखाधड़ी कैशलेस व्यवस्था में सबसे बड़ी बाधा है। ट्राइसिटी में हर साल काफी संख्या में लोग इसका शिकार बन रहे हैं। इतना ही नहीं, ठगी का शिकार होने के बाद न उन्हें बैंकों से मदद मिलती है और न ही पुलिस से।  
आगे पढ़ें

बड़े धोखे हैं इस कैशलेस में

Spotlight

Most Read

Chandigarh

पंजाब: कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने दिया इस्तीफा

पंजाब के कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। राणा गुरजीत ऊर्जा एवं सिंचाई विभाग के मंत्री थे।

16 जनवरी 2018

Related Videos

मिलिए 114 साल के करनैल सिंह से, पांच पीढ़ियों के साथ धमाल जिंदगी

पंजाब के तरनतारन गांव के रहने वाले करनैल सिंह की उम्र है 114 साल। इस उम्र में भी करनैल सिंह बिल्कुल चुस्त दुरुस्त हैं।

15 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper