मोहालीः खरड़ में गोली मारकर प्राइवेट स्कूल की टीचर की हत्या करने वाला शख्स गिरफ्तार

अमित शर्मा, अमर उजाला, मोहाली Updated Sat, 21 Dec 2019 04:00 PM IST
विज्ञापन
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें
खरड़ के नामी प्राइवेट स्कूल की शिक्षिका सरबजीत कौर की हत्या उसके पति ने सुपारी देकर करवाई थी। सौदा छह लाख रुपये में तय हुआ था। एक लाख आरोपी को एडवांस दिए गए थे। पुलिस ने शनिवार को एक हत्यारोपी को बठिंडा से दबोच लिया है। उसी ने यह खुलासा किया है। हालांकि टीचर का पति हरविंदर सिंह फरार है। पुलिस मानकर चल रही है कि वह विदेश भाग गया है।
विज्ञापन

शनिवार को एसएसपी कुलदीप सिंह चहल ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि हत्या में इस्तेमाल की गई रिवाल्वर व कार भी बरामद कर ली है। आरोपी जसविंदर सिंह उर्फ छिंदा बाबा पुत्र बलविंदर सिंह निवासी दिलायलपुरा मिर्जा थाना दिलायलपुरा भगता भाई का जिला बठिंडा का रहने वाला है। वह वहां के एक डेरे के महंत का ड्राइवर है। एसएसपी ने बताया कि हत्या करने के बाद जिस कार में आरोपी भागा था। उस कार चालक की भी पहचान हो गई। वह भी जल्द गिरफ्त में होगा।
ऐसे दी थी आरोपी को सुपारी
एसएसपी ने बताया कि सरबजीत कौर और हरविंदर रिलेशनशिप में थे। हरविंदर पहले से शादीशुदा था। उसकी पहली पत्नी से दो बेटियां हैं। वह करीब पांच सालों से सरबजीत के साथ ही रह रहा था। दोनों फ्रांस भी जा चुके थे। कुछ समय पहले वह इंडिया आए थे। इसके बाद दोनों के संबंध बढ़िया नहीं चल रहे थे। हरविंदर सिंह संधू निवासी बरनाला गांव दियालपुरा मिर्जा जिला बठिंडा स्थित डेरे पर जाता था।

डेरा महंत के ड्राइवर जसविंदर सिंह उर्फ छिंदर बाबा से उसकी जान पहचान थी। उसने अपना सारा दुख उसके सामने रोया। इसके बाद उसने उसे ही हत्या के लिए सुपारी दी थी और खुद विदेश से चला गया। आरोपी ने पांच दिसंबर को खरड़ के नामी स्कूल के बाहर महिला टीचर की हत्या की थी। हत्या के समय टीचर की पांच साल की बेटी भी साथ थी। उसने पूरा वाकया पुलिस को बताया था। इसके बाद टीचर के पिता राजकुमार की शिकायत पर हत्या का केस दर्ज हुआ था।

खरड़ में रुककर रेकी की फिर की वारदात
जांच में सामने आया कि महिला के पति ने हत्या से करीब एक महीना पहले आरोपी को सुपारी दी थी। इसके बाद आरोपी ने खरड़ में डेरा डाल लिया था। वह उसकी काफी समय से रेकी कर रहा था। साथ ही वह हत्या के लिए उपयुक्त समय और स्थान की तलाश में था। ऐसे में उसने स्कूल लगने के समय को उपयुक्त समझा था। क्योंकि वहां से सीधे रोड हाईवे पर मिलती है। इसके बाद वह कहीं भी आ जा सकता था। पांच दिसंबर को पूरी प्लानिंग के साथ वारदात को अंजाम दिया और अपने साथी के साथ कार में फरार हो गया।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

धरी रह गई चालाकी..पुलिस ने मोबाइल लोकेशन से दबोच लिया

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us