बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

पावरकॉम की प्रताड़ना से तंग इंजीनियर ने की सुसाइड

ब्यूरो/अमर उजाला, अमृतसर Updated Mon, 06 Apr 2015 03:24 PM IST
विज्ञापन
powercom depty chief engineer suicide case issue

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
प्रमोशन न मिलने से और प्रताड़ना से तंग होकर पावरकॉम के डिप्टी चीफ इंजीनियर ने सल्फास खाकर सुसाइड कर ली। पावरकॉम अधिकारी बलबीर को किस कदर प्रताड़ित कर रहे थे, इसका अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि उन्होंने हाईकोर्ट के बलबीर को प्रमोशन देने संबंधी आदेशों की परवाह नहीं की।
विज्ञापन


राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ. राजकुमार वेरका ने मामले का संज्ञान लेते हुए रविवार को अधिकारियों के खिलाफ दलित उत्पीड़न और आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज करने के आदेश दिए हैं। वेरका ने अस्पताल जाकर बलबीर की पत्नी कमला देवी के बयान रिकॉर्ड किए।


डॉ. वेरका के सामने एसीपी नार्थ हरजीत सिंह और तहसीलदार संजीव कुमार शर्मा पेश हुए। वेरका ने बताया कि कमला देवी के बयान से सामने आया है कि बॉर्डर जोन कार्यालय में डिप्टी चीफ इंजीनियर के पद पर कार्यरत बलबीर की कई साल से पदोन्नति रुकी हुई थी। अफसरों ने उनकी एसीआर खराब की थी।

बलबीर सिंह ने इसकी अपील हाईकोर्ट में भी की थी। हाईकोर्ट ने निर्देश दिए थे कि बलबीर सिंह के खिलाफ विभागीय जांच बंद करके उनको पदोन्नति दी जाए, लेकिन विभाग के अधिकारियों ने जानबूझ कर कार्रवाई बंद नहीं की और उन्हें प्रताड़ित करते रहे। इसी से परेशान होकर बलबीर ने सल्फास निगल कर आत्महत्या कर ली।

सीएम बादल से मामले की जांच की मांग
बलबीर सिंह की पत्नी कमला देवी ने कहा कि वह बलबीर को परेशान करने वाले पावरकॉम अधिकारियों के खिलाफ जांच और कार्रवाई के लिए सीएम प्रकाश सिंह बादल और डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल को पत्र लिखेंगी।

मामला दलित उत्पीड़न का भी है। इसलिए एट्रोसिटी एक्ट के तहत केस दर्ज करने के अलावा आत्महत्या के लिए मजबूर करने वाले पावरकॉम अफसरों के खिलाफ केस दर्ज करने का निर्देश पुलिस को दिया गया है।
-डॉ.राजकुमार वेरका, उपाध्यक्ष, राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us