बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

मोबाइल पर ठगी का ये तरीका जान लें आप, कहीं आपके साथ भी न हो जाए ऐसा

ब्यूरो/अमर उजाला, हिसार(हरियाणा) Updated Sat, 20 May 2017 12:27 AM IST
विज्ञापन
फर्जी कॉल
फर्जी कॉल - फोटो : demo pic

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
साइबर हैकर्स ने नया तरीका अपनाकर हिसार के चिकित्सक डॉ. एनके खन्ना का मोबाइल सिम फर्जी डाक्यूमेंट के आधार पर बंद करा कर डुप्लीकेट सिम निकाल लिया। इस डुप्लीकेट सिम से नेट बैंकिंग के जरिये डॉ. खन्ना के बैंक खाते से पांच अलग-अलग खातों में 7.80 लाख रुपये ट्रांसफर कर लिए। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।     
विज्ञापन

 
ऋषि नगर के खन्ना मेडिकल सेंटर के संचालक डॉ. एनके खन्ना हफ्ते पहले साइबर हैकर के जाल में फंसने से बच गए थे। उन्होंने सिम बंद होने पर आइडिया के कस्टमर केयर सेंटर से संपर्क कर कोलकाता के हैकर विप्लव को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया था। फिर भी डॉक्टर साइबर क्रिमिनल के शिकार होने से बच नहीं पाए।


 किसी ने मंगलवार रात नेट बैंकिंग के जरिये उनके खाते से 7.80 लाख रुपये उड़ा लिए। पुलिस ने अब दूसरा केस दर्ज किया है। डॉ. एनके खन्ना ने पुलिस को शिकायत दी कि उनका आइडिया कंपनी का मोबाइल नंबर है। किसी ने कंपनी ऑफिस में फर्जी आईडी देकर उनका मोबाइल बंद करा दिया था। सिम 16 मई की शाम को बंद हुआ था। उन्होंने तुरंत इसकी सूचना केयर सेंटर में दी थी। कर्मियों ने बताया था कि हमने आपका सिम बंद कर दिया है। उन्होंने बताया था कि आपका नया सिम रोहतक कार्यालय से जारी हुआ है। 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

नेट बैंकिंग के ज़रिए पैसे कर लिए ट्रांसफर

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us