विज्ञापन
विज्ञापन
अहोई अष्टमी पर ताम्रा गौरी मंदिर, गोकर्ण में कराएं माँ पार्वती पूजन, मिलेगा स्वास्थ सम्बंधित परेशानियों से छुटकारा
Ahoi Ashtami special

अहोई अष्टमी पर ताम्रा गौरी मंदिर, गोकर्ण में कराएं माँ पार्वती पूजन, मिलेगा स्वास्थ सम्बंधित परेशानियों से छुटकारा

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

Char Dham Yatra 2020 : ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे पर कौडियाला-तोता घाटी के बीच 15 मीटर पैच ढहा, तस्वीरें

राष्ट्रीय एकता दिवस पर परेड का आयोजन, मुख्यमंत्री ने कहा - माफिया तंत्र से लड़ने को एक होना होगा

राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर देहरादून के पुलिस लाइन में रैतिक परेड का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि के रूप में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने परेड की सलामी ली। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने परेड का निरीक्षण किया। साथ में डीजीपी अनिल रतूड़ी और डीजी कानून व्यवस्था अशोक कुमार मौजूद रहे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश को माफिया तंत्र से लड़ने को एक होना होगा।

कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल के साथ कई विधायक मौजूद रहे। मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाते हुए सरहानीय कार्य करने वाले पुलिसकर्मियों को सम्मानित किया।

कृपाराम शर्मा को विशिष्ट सेवा पदक, वंशबहादुर यादव, राजेंद्र सिंह, अर्जुन सिंह, यशपालसिंह को सराहनीय सेवा पदक व इंस्पेक्टर भारत सिंह को उत्कृष्ट विवेचना साइबर क्राइम के लिए सम्मान से नवाजा गया। चमोली जिले के थाना पोखरी को बेस्ट थाने का अवार्ड दिया गया। 

... और पढ़ें

एक्सक्लूसिव :  होम आइसोलेशन के मॉडल ने सुधारी सेहत, 91.2 प्रतिशत कोरोना संक्रमित हुए स्वस्थ

दिल्ली की तर्ज पर हरिद्वार में भी कोरोना के संक्रमण पर लगाम लगाने के मकसद से शुरू हुआ होम आइसोलेशन मॉडल बेहद सफल साबित हुआ है। संक्रमित लोगों को होम आइसोलेशन की अनुमति मिलने के बाद संक्रमण का डबलिंग रेट बढ़कर 194 दिन तक पहुंच गया है। वहीं संक्रमितों का मौजूदा रिकवरी रेट 92.28 फीसदी है। वहीं होम आइसोलेट किए गए 91.2 प्रतिशत लोग स्वस्थ भी हो चुके हैं।

हरिद्वार में जुलाई के अंत तक कोरोना संक्रमण का डबलिंग रेट 20 दिन तक पहुंच गया था। वहीं मरीजों का रिकवरी रेट 33 फीसदी तक गिर गया था। ऐसे में अगस्त में जिलाधिकारी सी रविशंकर ने हरिद्वार में होम आइसोलेशन की व्यवस्था लागू करने का बड़ा निर्णय लिया।

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एसके झा और उनकी टीम ने होम आइसोलेशन का पूरा खाका तैयार किया। अब तक जिले में 10032 कोरोना संक्रमितों के मामले सामने आए। इनमें से 1738 संक्रमितों को होम आइसोलेट किया गया। इनमें से 1586 संक्रमित बिल्कुल स्वस्थ हो चुके हैं। केवल आठ लोगों को ही स्वास्थ्य बिगड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। जबकि अस्पतालों और कोविड सेंटर में भी अब 64 संक्रमित भर्ती हैं।
... और पढ़ें

Unlock 5.0 in Uttarakhand :  नैनीताल और ऋषिकेश में वीकेंड पर सैलानियों का सैलाब

शुक्रवार से रविवार तक तीन दिन की छुट्टियां होने से सैलानी नैनीताल की ओर रुख कर रहे हैं। नैनीताल में करीब पांच हजार पर्यटकों के पहुंचने से पर्यटक स्थल पैक रहे। संभावना है कि आगामी दो दिन भी नैनीताल में पर्यटन व्यवसाय से जुड़े कारोबारियों के लिए राहत भरे होंगे।

शुक्रवार से रविवार तक तीन दिन की छुट्टियां होने से सैलानियों ने नैनीताल की ओर रुख कर रहे हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि शनिवार (आज) और रविवार (कल) को पर्यटन कारोबार फिर से रफ्तार पकड़ लेगा। अधिकतर पिकनिक स्पॉट सैलानियों से गुलजार हैं। चाट पार्क में दिन भर सैलानी व्यंजनों का स्वाद लेते नजर आ रहे हैं।

माल रोड, चिड़ियाघर, नयना देवी मंदिर, गुरुद्वारा, पंत पार्क, तल्लीताल, मल्लीताल, भोटिया मार्केट में भी खासी भीड़ है। इससे लॉकडाउन की मार झेल चुके पर्यटन कारोबारियों के चेहरों खिले नजर आ रहे हैं।

बॉटनिकल गार्डन से लेकर चिड़ियाघर तक रौनक

शुक्रवार को नैनीताल नगर के प्रमुख दर्शनीय स्थलों में से एक चिड़ियाघर में 478 सैलानियों ने उच्च स्थलीय वन्य प्राणियों के दीदार किए। केव गार्डन में 375, हिमालयन बॉटनिकल गार्डन में 82 पर्यटक प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद लेने पहुंचे। वहीं, नैनीताल-कालाढूंगी मोटर मार्ग स्थित वाटरफॉल में 342 पर्यटकों ने मौज मस्ती की।
 
यहां भी पहुंच रहे पर्यटक

नैनीताल पहुंचे पर्यटक हनुमानगढ़ी, बारापत्थर, किलबरी, पंगूट, हिमालय दर्शन, स्नोव्यू के साथ ही भवाली, भीमताल, घोड़ाखाल, श्यामखेत, कैंची, मुक्तेश्वर, गागर समेत अन्य स्थानों पर भी भ्रमण रहे हैं।
... और पढ़ें

Weathet Today: उत्तराखंड में मौसम विभाग की एडवाइजरी, अगले एक हफ्ते रहेगा ठंड और फ्लू का खतरा

उत्तराखंड के ज्यादातर हिस्सों में एक हफ्ते के दौरान ठंड और फ्लू का खतरा ज्यादा रहेगा। मौसम विभाग ने एडवाइजरी जारी कर लोगों से ठंड से बचाव करने की अपील की है। मौसम विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार, प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में आजकल दिन और रात के (अधिकतम व न्यूनतम) तापमान में 18 डिग्री से अधिक का अंतर बना हुआ है।

विशेषकर मैदानी क्षेत्रों में अंतर 18 डिग्री से भी ज्यादा है। शुक्रवार को भी तापमान में 18.8 डिग्री का अंतर रिकॉर्ड किया गया। ऐसी स्थिति में ठंड लगने और फ्लू के फैलने का खतरा बढ़ जाता है। इसको देखते हुए मौसम विभाग ने लोगों से ठंड से बचाव करने को कहा है। 


मौसम केंद्र निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि अधिकतम तापमान सामान्य से करीब तीन डिग्री अधिक और न्यूनतम तापमान करीब एक डिग्री कम बना हुआ है। अगले एक हफ्ते तक मौसम इसी तरह का बना रहने का अनुमान है। उन्होंने कहा कि इस समय सुबह और शाम की ठंड खतरनाक साबित हो सकती है। 

हल्की बारिश व बर्फबारी का अनुमान
मौसम केंद्र प्रदेश के कई पहाड़ी जिलों में हल्की बारिश और बर्फवारी का अनुमान जताया है। विभागीय बुलेटिन के मुताबिक उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हल्की बारिश व बर्फवारी हो सकती है। अन्य स्थानों पर मौसम सामान्य रहने की संभावना है। 
... और पढ़ें

एक्सक्लूसिव: पासपोर्ट बनवाने के लिए अब नहीं काटने पड़ेंगे देहरादून के चक्कर

पासपोर्ट बनाने के लिए अब दूरस्थ और पर्वतीय जिलों के लोगों को देहरादून के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। पिछले लगभग आठ महीने से बंद पासपोर्ट सेवा केंद्रों (पीएसके) को खोलने के लिए विदेश मंत्रालय के निर्देश पर तैयारी अंतिम चरण में है। इससे दूरस्थ क्षेत्रों के लोगों को सहूलियत मिलेगी।

विदेश मंत्रालय ने लंबे समय से चली आ रही मांग के बाद प्रदेश के रुड़की, श्रीनगर गढ़वाल, अल्मोड़ा, रुद्रपुर, काठगोदाम और नैनीताल में पोस्ट ऑफिस के साथ मिलकर पासपोर्ट सेवा केंद्र खोले थे। जिनमें पासपोर्ट कार्यालय के अधिकारियों और अन्य कर्मचारियों के सहयोग से पोस्ट ऑफिस के स्टाफ की ओर से बायोमेट्रिक जांच की जाती थी।

यह भी पढ़ें:
 फर्जी वेबसाइटों से ऐसे हो रही पासपोर्ट आवेदकों से धोखाधड़ी, विदेश मंत्रालय ने जारी किया अलर्ट


इसके लिए आवेदक को बायोमेट्रिक जांच के लिए देहरादून स्थित हाथीबड़कला पासपोर्ट सेवा केंद्र में नहीं आना पड़ता था। कुछ जटिल मामलों में ही आवेदकों को एमकेपी रोड स्थित क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय के मुख्य कार्यालय में ऑनलाइन अपॉइंटमेंट लेकर आना होता था।
... और पढ़ें

कर्मकार बोर्ड: पूर्व और वर्तमान अध्यक्ष आमने-सामने, दमयंती को हटाने के बाद अब फाइलों का विवाद गहराया

अच्छी खबर: औली में अब स्कीइंग के साथ आइस स्केटिंग का भी उठा सकेंगे लुत्फ 

औली में आइस स्केटिंग रिंक बनकर तैयार हो गया है। देश-विदेश से आने वाले सैलानियों और स्कीयर्स को स्कीइंग के अतिरिक्त यहां इसी साल से आइस स्केटिंग की सुविधा भी मिलेगी। उचित तापमान मिलने के बाद रिंक में बर्फ जमाने का काम भी शीघ्र शुरू हो जाएगा।

औली में 2010-11 में सैफ विंटर गेम्स के दौरान आइस स्केटिंग रिंक को बनाने का काम शुरू हुआ था, लेकिन सैफ गेम्स होने के बाद रिंक का निर्माण कार्य अधूरा छूट गया। जीएमवीएन (गढ़वाल मंडल विकास निगम) और पर्यटन विभाग ने निर्माण पूरा करने के लिए बजट की मांग की लेकिन बजट मंजूर नहीं हुआ।


सात साल बाद वर्ष 2017 में शासन ने रिंक निर्माण के लिए राज्य योजना के तहत 138.79 लाख रुपये का बजट स्वीकृत किया। 15 दिसंबर 2018 को काम शुरू हुआ जो अब दो साल बाद पूरा हो गया है। रिंक में मशीनों से बर्फ जमाने के बाद सैलानी औली स्लोप पर स्कीइंग करने के साथ ही आइस स्केटिंग रिंक का भी भरपूर मजा ले सकेंगे। 
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X