विज्ञापन
विज्ञापन
गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें
Myjyotish

गंभीर से गंभीर परेशानी होगी दूर,ललिता देवी शक्तिपीठ-नैमिषारण्य पर कराएं ललिता सहस्रनाम पाठ, मात्र रु:51/- में,अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

उत्तराखंड: आयुष्मान योजना में मुफ्त होगा किडनी प्रत्यारोपण और इलाज, एक नवंबर से मिलेगी सुविधा

उत्तराखंड अटल आयुष्मान योजना में अब गोल्डन कार्ड धारकों का किडनी प्रत्यारोपण (ट्रांसप्लांट) और इलाज निशुल्क किया जाएगा। एक नवंबर से गोल्डन कार्ड पर सूचीबद्ध अस्पतालों में इलाज की सुविधा मिलेगी। राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण ने इसकी मंजूरी देने के साथ इलाज की दरें भी तय कर दी है। इससे किडनी रोगियों को देश भर में 22 हजार से अधिक सूचीबद्ध अस्पताल में मुफ्त इलाज की सुविधा मिल सकेगी। 

प्रदेश सरकार ने राज्य अटल आयुष्मान योजना में सभी 23 लाख से अधिक परिवारों को शामिल किया है। जिसमें प्रत्येक परिवार को पांच लाख तक मुफ्त इलाज की सुविधा है। प्रदेश के सभी लोगों को इस सुविधा को देने में उत्तराखंड देश का पहला राज्य है। राज्य अटल आयुष्मान योजना के तहत सभी गोल्डन कार्ड धारकों को राष्ट्रीय पोर्टेबिलिटी से जोड़ा गया है। योजना में 1600 से अधिक बीमारियों के इलाज की पैकेज की दरें तय हैं लेकिन अभी तक किडनी प्रत्यारोपण का इलाज इसमें शामिल नहीं था।

अब सरकार ने गोल्डन कार्ड पर किडनी प्रत्यारोपण के इलाज की सुविधा देकर मरीजों को बड़ी राहत दी है। एक नवंबर से योजना में सूचीबद्ध अस्पतालों में किडनी रोगियों को गोल्डन कार्ड पर मुफ्त इलाज की सुविधा मिलेगी। प्रदेश में अटल आयुष्मान योजना के तहत 44 लाख लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बन चुके हैं। जिसमें 3.5 लाख लाभार्थियों ने विभिन्न बीमारियों का इलाज किया है। जिस पर सरकार ने 496 करोड़ की राशि व्यय की है। 

ये हैं इलाज की दरें
आयुष्मान योजना में किडनी प्रत्यारोपण इलाज की दरें राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण ने तय कर दी है। जिसमें किडनी की सर्जरी 2.15 लाख, इंडेक्शन चार्ज 40 हजार, इंटरवेशन एक्यूपमेंट रिजेक्शन 1.40 लाख, पोस्ट ट्रांसप्लांट इलाज का 1 से 3 माह तक 50 हजार, 3 से 6 माह तक 50 हजार, 6 से 12 माह तक 40 हजार धनराशि तय की गई है। 
 
अटल आयुष्मान योजना में गोल्डन कार्ड धारकों को अब किडनी प्रत्यारोपण का इलाज कराने की सुविधा मिलेगी। एक नवंबर से सभी अस्पतालों में किडनी प्रत्यारोपण के इलाज की सुविधा शुरू हो जाएगी।
- डीके कोटिया, अध्यक्ष राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण
... और पढ़ें
किडनी किडनी

उत्तराखंड: गोपेश्वर से हुई एयर एंबुलेंस की शुरुआत, पहले दिन सिलिंडर फटने से झुलसे तीन मरीजों को हायर सेंटर भेजा

उत्तराखंड में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनने के लिए शुक्रवार को चमोली जिले के गोपेश्वर से एयर एंबुलेंस सेवा का शुभारंभ हुआ। राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष पुष्पा पासवान और सीएमओ डा. एसपी कुड़ियाल ने एयर एंबुलेंस (हेलीकॉप्टर) को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। पहले दिन एयर एंबुलेंस से गैस सिलिंडर फटने से झुलसे तीन मरीजों को हायर सेंटर देहरादून भेजा गया।

गोपेश्वर पुलिस मैदान से अपराह्न तीन बजे एयर एंबुलेंस सेवा का शुभारंभ किया गया। राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष पुष्पा पासवान ने कहा कि एयर एंबुलेंस सेवा आपदा प्रभावित क्षेत्रों के लिए मील का पत्थर साबित होगी। दूर-दराज के गांवों के गरीब और आम मरीजों को इसका लाभ मिलेगा।

भाजपा के जिलाध्यक्ष रघुवीर सिंह बिष्ट ने कहा कि लंबे समय से प्रदेश में एयर एंबुलेंस सेवा के संचालन की मांग की जा रही थी। इस मौके पर चमोली जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष गजेंद्र सिंह रावत, महिला मोर्चे की जिलाध्यक्ष चंद्रकला तिवारी, जिला पंचायत सदस्य योगेंद्र सेमवाल, विक्रम बर्त्वाल, नगर मंडल अध्यक्ष विनोद कनवासी, जिला महामंत्री नवल भट्ट और दीपक भट्ट आदि मौजूद थे।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: हेमकुंड साहिब में सीजन की पहली बर्फबारी, जमी दो फीट तक बर्फ, देखें मनमोहक तस्वीरें

उत्तराखंड के हेमकुंड साहिब में सीजन की पहली बर्फबारी हुई है। बीते दिनों हुई बारिश-बर्फबारी के बाद शुक्रवार को हेमकुंड साहिब बर्फ से ढक गया है। बर्फबारी के बाद मौसम सामान्य होने पर हेमकुंड साहिब के प्राकृतिक सौंदर्य में निखार आ गया है। 

उत्तराखंड आपदा: 1993 के बाद पहली बार पानी से लबालब भरी सूखाताल झील, अब प्राकृतिक स्वरूप में होगी विकसित

हेमकुंड साहिब ट्रस्ट के उपाध्यक्ष नरेंद्रजीत सिंह बिंद्रा और गोविंदघाट गुरुद्वारे के वरिष्ठ प्रबंधक सरदार सेवा सिंह ने बताया कि हेमकुंड साहिब में दो फीट तक बर्फ जम गई है और यहां सीजन की पहली बर्फबारी हुई है। वहीं, पहाड़ी इलाकों में बारिश और बर्फबारी के बाद मौसम में भी ठंडक आ गई है। मैदानी इलाकों में भी सुबह की शुरुआत कोहरे के साथ होनी शुरू हो गई है। 

उत्तराखंड: हर्षिल-छितकुल लम्खागा पास से सात पर्यटकों के शव मिले, दो लापता की तलाश जारी
... और पढ़ें

देहरादून: सचिवालय पर गरजीं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, बैरिकेडिंग पर पुलिस से हुई धक्का-मुक्की, दो बेहोश, तस्वीरें

500 रुपये वेतन बढ़ोतरी के सरकार के प्रस्ताव के विरोध में शुक्रवार को देहरादून में सभी आंगनबाड़ी संगठनों ने एकजुट होकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला। बड़ी संख्या में पहुंची आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सचिवालय कूच के लिए बढ़ी तो यहां तैनात पुलिस बल ने बैरिकेडिंग लगाकर रोकने की कोशिश की।

इस बीच हुई धक्का मुक्की में दो आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बेहोश हो गईं, जबकि एक चोटिल हुई। देर शाम वार्ता के लिए पहुंचे मुख्यमंत्री के पीआरओ से मिले आश्वासन के बाद आंगनबाड़ी कार्यकर्ता शांत हुईं। 

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के सभी संगठनों ने शुक्रवार को एकजुट होकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। भारी संख्या में परेड ग्राउंड में एकत्रित हुईं कार्यकर्ताओं ने पहले यहां से नारेबाजी की।

‘हमें हमारा हक चाहिए, नहीं किसी से भीख चाहिए’ कैसी तानाशाही है, हमें सड़क पर लाई है...नारे लगाते हुए कार्यकर्ता सचिवालय कूच के लिए आगे बढ़ीं। यहां तैनात पुलिस बल ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सचिवालय गेट से पहले ही रोक दिया। इसी बीच आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की पुलिस से धक्का मुक्की व नोकझोंक शुरू हो गई।
... और पढ़ें

नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क: बारिश की वजह से क्षतिग्रस्त हुआ फूलों की घाटी का ट्रैक, पर्यटकों की आवाजाही पर रोक

आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन
फूलों की घाटी को जोड़ने वाला ट्रेक कई जगहों पर क्षतिग्रस्त होने के कारण नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क प्रशासन की ओर से पार्क में पर्यटकों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई है। प्रतिवर्ष घाटी को आगामी 31 अक्तूबर को शीतकाल के लिए बंद कर दिया जाता है, लेकिन बारिश से जगह-जगह ट्रेक ध्वस्त हो जाने से पार्क प्रशासन की ओर से घाटी में पर्यटकों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई है।

उत्तराखंड: हेमकुंड साहिब में सीजन की पहली बर्फबारी, जमी दो फीट तक बर्फ, देखें मनमोहक तस्वीरें

फूलों की घाटी के वन क्षेत्राधिकारी बृजमोहन भारती ने बताया कि हेमकुंड साहिब के प्रमुख पड़ाव घांघरिया से फूलों की घाटी के लिए ट्रेक जाता है। बीते दिनों हुई बारिश से यह ट्रेक ग्लेशियर प्वाइंट के साथ ही कई जगहों पर क्षतिग्रस्त पड़ा हुआ है। इसे देखते हुए घाटी में पर्यटकों की आवाजाही रोक ली गई है। घाटी को 31 अक्तूबर को पर्यटकों की आवाजाही के लिए बंद कर दिया जाएगा। 
... और पढ़ें

उत्तराखंड: हर्षिल-छितकुल लम्खागा पास से सात पर्यटकों के शव मिले, दो लापता की तलाश जारी

उत्तरकाशी के हर्षिल से छितकुल हिमाचल के ट्रेक से लापता पर्यटकों में से सात पर्यटकों को शव मिल गए हैं। बताया जा रहा है कि अभी भी दो पर्यटक लापता चल रहे हैं, जबकि एक घायल पर्यटक का हर्षिल और एक पर्यटक का जिला अस्पताल उत्तरकाशी में इलाज चल रहा है। 9 बिहार रेजीमेंट के कर्नल राजेंद्र प्रसाद ने बताया कि पर्यटकों की खोज के कार्य में वायुसेना और रेस्क्यू टीम युद्धस्तर से जुटी है। रेस्क्यू टीम ने पर्यटकों के शवों को हेलीकॉप्टर की मदद से निकाला है। शवों की पहचान अभी नहीं हो पाई है। 

चारधाम यात्रा 2021: हेमकुंड साहिब में बर्फबारी, यमुनोत्री धाम जाने के लिए जानकीचट्टी में उमड़ी तीर्थयात्रियों की भीड़

11 अक्तूबर को हर्षिल से रवाना हुआ था दल

जानकारी के अनुसार, पश्चिम बंगाल व अन्य स्थानों के आठ पर्यटकों का दल मोरी सांकरी की एक ट्रेकिंग एजेंसी के माध्यम से 11 अक्तूबर को हर्षिल से रवाना हुआ था। इस दल में तीन कुकिंग स्टाफ और छह पोर्टर भी शामिल थे। पोर्टर पर्यटकों का सामान छोड़कर 18 अक्तूबर को छितकुल पहुंचे थे। जिसके बाद से ये लापता थे। इनकी खोजबीन में गई टीम को गुरुवार को मौके पर पांच लोगों के शव दिखे थे। जिसके बाद रेस्क्यू टीम ने शुक्रवार को भी अभियान चलाया और वहां से सात शवों को बरामद किया। 





ये थे लापता
लापता लोगों की पहचान दिल्ली की अनीता रावत (38), पश्चिम बंगाल के मिथुन दारी (31), तन्मय तिवारी (30), विकास मकल (33), सौरभ घोष (34), सावियन दास (28), रिचर्ड मंडल (30), सुकेन मांझी (43) के रूप में हुई थी। खाना पकाने वाले कर्मचारियों की पहचान देवेंद्र (37), ज्ञानचंद्र (33) और उपेंद्र (32) के रूप में हुई है। ये तीनों उत्तरकाशी के पुरोला के रहने वाले हैं। 
... और पढ़ें

उत्तराखंड आपदा: 1993 के बाद पहली बार पानी से लबालब भरी सूखाताल झील, अब प्राकृतिक स्वरूप में होगी विकसित

नैनीताल में मैदान बन चुके सूखाताल में बीते दिनों हुई अतिवृष्टि के बाद लबालब पानी भर गया है, जिससे यह बहुत आकर्षक नजर आ रहा है। इससे यह लग रहा है कि यहां जो सौंदर्यीकरण प्रस्तावित है उसके बजाय यदि इसे इसी प्राकृतिक रूप में विकसित किया जाता तो अच्छा होता।

हालांकि प्रस्तावित किए गए मॉडल के बजाय अब इसे करीब इसी प्रकार विकसित करने की तैयारी है, जिससे इसके अधिकांश क्षेत्र में पानी रहेगा। अब इसके बीच में बनने वाले एक्टिविटी पार्क को न बनाने और उसकी जगह भी झील ही रखे जाने का निर्णय लिया गया है। इससे ऊपरी छोर पर बनने वाले पौंड के बजाय झील का क्षेत्र बढ़ जाएगा।

उत्तराखंड आपदा: कुमाऊं मंडल में फंसे 700 से अधिक पर्यटक, कई गांव का संपर्क नैनीताल से कटा

ड्रोन से बने वीडियो में बहुत सुंदर नजर आई सूखाताल झील
वर्ष 1993 के बाद पहली बार सूखाताल लबालब नजर आ रहा है। कुमंविनि ने इसे इसी रूप में विकसित करने के उद्देश्य से ड्रोन से इसका वीडियो बनवाया, जिसमें इसका सौंदर्य निखर कर सामने आया है। निगम ने नैनीझील का भी ऐसा ही वीडियो बनवाया है।

सौंदर्यीकरण का काम किया जा रहा
करीब 26 करोड़ रुपये की लागत से सूखाताल का सौंदर्यीकरण किया जा रहा है, जिसके तहत यहां रिचार्ज वैल, 9145 वर्ग मीटर में प्राकृतिक झील का निर्माण, झील के चारों ओर पैदल पथ निर्माण, ओपन एयर थियेटर, चिल्ड्रन पार्क, सूचना केंद्र, वुडन स्ट्रक्चर में क्योस्क, ग्रेवियार्ड संरक्षण एवं लैंड स्केप कार्य किया जाना था।

उत्तराखंड आपदा: कुमाऊं में पर्यटन कारोबार को 100 करोड़ से अधिक का नुकसान, देश भर से बुकिंग कैंसिल करा रहे सैलानी

परियोजना से जुड़े कुमाऊं मंडल विकास निगम के प्रबंध निदेशक नरेंद्र भंडारी ने बताया कि सौंदर्यीकरण के कार्यों पर निगरानी रखने के लिए नगर के गणमान्य नागरिकों व पर्यावरण विशेषज्ञों और भूवैज्ञानिकों के सुझाव पर इसके पूर्व निर्धारित डिजाइन में परिवर्तन करते हुए यहां बनने वाली दो झीलों के बीच में प्रस्तावित एक्टिविटी पार्क के बजाय अब उस क्षेत्र को भी बड़ी वाली ऊपरी लेक में शामिल किया जा रहा है।
... और पढ़ें

उर्स 2021: मेले से गिरफ्तार बांग्लादेशी नागरिक को भेजा जेल, अवैध तरीके से भारत में रह रहा था आरोपी

साबिर पाक के सालाना उर्स में खुफिया विभाग और कलियर पुलिस की टीम ने चेकिंग के दौरान एक बांग्लादेशी नागरिक को गिरफ्तार किया है। गुरुवार देर रात उसे हिरासत में लिया गया था। इसी महीने वह अवैध तरीके से बॉर्डर पार कर पश्चिम बंगाल होते हुए यहां आया था। उसके पास पासपोर्ट भी नहीं है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ विदेशी पासपोर्ट अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर लिया है। साथ ही कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया।

शुक्रवार को पिरान कलियर थाने में सीओ विवेक कुमार ने प्रेसवार्ता कर बताया कि साबिर पाक के सालाना उर्स के मद्देनजर एलआईयू और पुलिस की टीम मेला क्षेत्र में चेकिंग कर रही थी। इसी दौरान दरगाह किलकिली साहब के पास एक संदिग्ध युवक घूमता दिखा। पुलिस उसे पकड़कर थाने ले आई।

दिल्ली के पते का आधार कार्ड हुआ बरामद
तलाशी में उसके पास से दिल्ली के पते का आधार कार्ड बरामद हुआ। पूछताछ में युवक ने अपना नाम सोहेल बोयती पुत्र मतिउर रहमान निवासी कोटरी कंदी, कासिमपुर ढाका (बांग्लादेश) बताया। सीओ ने बताया कि वह पहले दिल्ली में रहा और फिर बांग्लादेश लौट गया था।

अवैध तरीके से बॉर्डर क्रॉस कर आयाथा भारत
अक्तूबर के पहले सप्ताह में अवैध तरीके से बॉर्डर पार कर भारत आया था। कोलकाता और बिहार होते हुए दिल्ली आया और 11 अक्तूबर को कलियर में अपनी परिचित महिला के साथ रहने लगा। उसके पास पासपोर्ट भी नहीं मिला है। स्थानीय आईडी मांगी गई तो उसने मोबाइल में बांग्लादेश की आईडी दिखाई।

कोर्ट में पेश कर जेल भेजा
सीओ ने बताया कि उसे कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया है। टीम में प्रशिक्षु सीओ नताशा सिंह, एसओ धर्मेंद्र राठी, एसआई लक्ष्मी प्रसाद बिजल्वाण, शिवानी नेगी, एलआईयू के एसआई राजेंद्र सिंह राय, किशन शाह, अमित गिरी, सतीश जोशी, मनोज कुमार, सुनीता, कांबोज, अरविंद कुमार, देवी प्रसाद उप्रेती, सोनू कुमार शामिल रहे।
... और पढ़ें

उत्तराखंड आपदा: चमोली पहुंचे सीएम पुष्कर सिंह धामी, आपदा पीड़ितों से मिलकर दिया मदद का आश्वासन

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी शुक्रवार को चमोली जिले के आपदा प्रभावित डुंग्री गांव पहुंचे और बारिश से हुए नुकसान का जायजा लिया। उन्होंने भूस्खलन में लापता दो लोगों के परिजनों से भेंट की। उन्होंने प्रभावित परिवारों को हरसंभव मदद की बात कही। इसके बाद उन्होंने गोपेश्वर जिला सभागार में अधिकारियों के साथ आपदा राहत कार्यों की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने आपदा प्रभावित क्षेत्रों में बिजली, पानी, संचार और सड़क मार्ग को जल्द से जल्द बहाल करने और आपदा पीड़ित परिवारों तक हरसंभव मदद पहुंचाने के निर्देश अधिकारियों को दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा के तहत होने वाले कार्यों में कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

शुक्रवार सुबह करीब साढ़े दस बजे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी आपदा प्रभावित डुंग्री गांव पहुंचे। इस दौरान उन्होंने अतिवृष्टि के कारण भूस्खलन में लापता दो लोगों के परिजनों से भेंट करते हुए परिवार को सांत्वना दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार प्रभावित परिवारों की हरसंभव मदद करेगी। उन्होंने डुंग्री गांव में आपदा से हुए नुकसान का जायजा लिया और अधिकारियों को राहत व बचाव कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने भरोसा दिलाया कि किसी भी संसाधन की कमी नहीं होने दी जाएगी। लोनिवि के अधिकारियों को आपदा से बंद सड़कों को शीघ्र खोलने के निर्देश दिए, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में आवागमन सुचारु हो सके। इसके करीब दो घंटे बाद मुख्यमंत्री गोपेश्वर पहुंचे और जिला सभागार में अधिकारियों से आपदा से हुए नुकसान की जानकारी ली।
मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए कि आपदा प्रभावित सभी क्षेत्रों में मेडिकल सुविधा एवं दवाइयां पहुंचाना सुनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि आपदा की इस घड़ी में लोगों के जीवन को बचाने के लिए पूरे प्रदेश में एयर एंबुलेंस की व्यवस्था की गई है। कहा कि आपदा राहत कार्यों में संसाधनों की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी। राहत कार्यों में यदि अतिरिक्त जेसीबी या कहीं पर जेसीबी, एयर लिफ्ट की आवश्यकता है तो संज्ञान में लाया जाए। प्रभावित क्षेत्रों में खाद्यान्न की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करें। जिन क्षेत्रों में दूरसंचार व्यवस्था बाधित हुई है वहां पर वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर डब्लूएलएल फोन की व्यवस्था की जाए। बैठक में पर्यटन एवं जनपद के प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज, आपदा प्रबंधन मंत्री डा. धन सिंह रावत, भाजपा जिलाध्यक्ष रघुवीर बिष्ट, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष गजेंद्र सिंह रावत, पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान और बीआरओ के कमांडर कर्नल मनीष कपिल आदि मौजूद थे।

उत्तराखंड आपदा: जान गंवाने वालों की संख्या 69 पहुंची, लापता लोगों की तलाश जारी

अतिवृष्टि से चमोली में हुई 6385 लाख की परिसंपत्तियों की क्षति
आपदा राहत कार्यों की समीक्षा के दौरान डीएम हिमांशु खुराना ने मुख्यमंत्री को बताया कि अतिवृष्टि के कारण जिले में 6385 लाख की विभागीय परिसंपत्तियों की क्षति हुई है। लोनिवि की 125 सड़क और 8 पुल क्षतिग्रस्त हुए हैं। लोनिवि की 125 में से 92 तथा पीएमजीएसवाई की 83 में से 40 सड़कें सुचारु कर दी गई हैं। जिले में बिजली के 450 पोल, 10 ट्रांसफार्मर सहित 92 किमी बिजली लाइन प्रभावित हुई है, जिसमें 205 लाख का नुकसान हुआ है। जोशीमठ में अनुमानित 97.96 लाख तथा गैरसैंण में 0.85 लाख की फसलों का नुकसान हुआ। नारायणबगड़ में 2 भवन क्षतिग्रस्त, एक महिला की मृत्यु और 2 लापता हुए हैं। थराली में 5 भवन क्षतिग्रस्त तथा जोशीमठ में 4 व्यक्ति घायल और 2 पशुहानि हुई है। घाट में 4 भवन क्षतिग्रस्त और 3 पशुहानि हुई है। गैरसैंण में भी पशुहानि हुई। जिलाधिकारी ने जिले में 66 केवी पुरानी बिजली लाइन की समस्या से भी मुख्यमंत्री को अवगत कराया। 

7 नवंबर तक सभी सड़कों को गड्ढामुक्त बनाने के निर्देश
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने लोनिवि के अधिकारियों को 7 नवंबर तक जिले की सभी सड़कों को गड्ढा मुक्त बनाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न की जाए। सड़कों के सुधारीकरण के लिए विभाग को समुचित बजट भी पूर्व में ही मुहैया करा दिया गया है।
 
... और पढ़ें

ऋषिकेश: नौकरी से हटाए जाने के विरोध में ओवरहेड वाटर टैंक पर चढ़े 11 कर्मचारी, मचा हड़कंप

ऋषिकेश में स्वर्गाश्रम स्थित गीता भवन की फार्मेसी से हटाए जाने से नाराज 11 कर्मचारी आश्रम परिसर में बने ओवरहेड टैंक पर चढ़ गए। इनमें एक कर्मचारी का 10 वर्षीय बेटा भी शामिल है। सूचना पाकर मौके पर पहुंची प्रशासन और पुलिस की टीम कर्मचारियों को मनाने का प्रयास कर रही है।

बता दें कि गीता भवन की फार्मेसी हरिद्वार के सिडकुल शिफ्ट हो गई थी। जिसके चलते फार्मेसी में तैनात 32 कर्मचारियों को निकाल दिया गया था। कर्मचारी पिछले दो साल से उनको वापस काम पर लेने की मांग कर रहे हैं। 

शुक्रवार को मनोरंजन पासवान, ललित पासवान, राम उत्तम पासवान, मानवराय, कमल राय, प्रमोद यादव, भोला यादव, विजेंद्र कुमार, बहादुर पासवान, ललित पासवान यहां आश्रम स्थित ओवरहेड वाटर टैंक पर चढ़ गए। उन्हें टैंक पर चढ़ा देख वहां अफरा-तफरी मच गई। 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00