विज्ञापन
विज्ञापन
आज ही जानें कुंडली में मंगल योग, बनवाएं फ्री जन्मकुंडली
astrology

आज ही जानें कुंडली में मंगल योग, बनवाएं फ्री जन्मकुंडली

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

उत्तराखंड से लगी चीन सीमा पर चेतक हेलीकॉप्टर से पहुंचे वायुसेना के अधिकारी, लिया व्यवस्थाओं का जायजा 

उत्तराखंड का चिन्यालीसौड़ हवाई अड्डा भारतीय सेना का अस्थायी कैंप बना हुआ है। मंगलवार को वायुसेना के दो चेतक हेलीकॉप्टर हवाई अड्डे पहुंचे। इनमें आए वायुसेना के अधिकारियों ने व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

उत्तरकाशी जिले की करीब सवा सौ किमी सीमा चीन के साथ लगती है। यहां बॉर्डर की अग्रिम चौकियों पर आईटीबीपी के हिमवीर और सेना के जवान मुस्तैदी के साथ निगरानी कर रहे हैं। सेना के जवान सीमा से सबसे नजदीकी एयर बेस चिन्यालीसौड़ हवाई अड्डे में तैनात हो गए हैं।


यह भी पढ़ें: 
चीन से तनातनी के बीच चिन्यालीसौड़ एयरपोर्ट को अपना प्रमुख बेस कैंप बनाने में जुटी भारतीय सेना

मंगलवार को वायुसेना के दो चेतक हेलीकॉप्टर प्रयागराज एयरबेस से चिन्यालीसौड़ हवाई अड्डे पर पहुंचे। इनमें आए वायुसेना की छह सदस्यीय टीम ने यहां इमर्जेंसी ऑपरेशन के लिए व्यवस्थाओं का जायजा लिया।
... और पढ़ें
चेतक हेलीकॉप्टर चेतक हेलीकॉप्टर

Diwali 2020: उल्लुओं के शिकार को लेकर राजाजी टाइगर रिजर्व प्रशासन अलर्ट

वैसे तो दीपावली पर्व में अभी वक्त है लेकिन दीपावली पर्व पर शिकारी राजाजी टाइगर रिजर्व में दाखिल होकर उल्लुओं को पकड़ ना सकें इसके लिए टाइगर रिजर्व प्रशासन अभी से ही अलर्ट हो गया है। राजाजी टाइगर रिजर्व निदेशक डीके सिंह की ओर से सभी वार्डन, वन क्षेत्राधिकारियों को अभी से ही अलर्ट रहने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। 

बता दें,दीपावली पर बड़ी संख्या में शिकारी उल्लुओं को पकड़ने में जुट जाते हैं। ताकि इन उल्लुओं को दीपावली पर तंत्र साधना करने वाले अंधविश्वासियों को ऊंचे दामों में बेचा जा सके।  उल्लुओं को पकड़ने के लिए शिकारियों के गुट वन आरक्षित वन क्षेत्रों के अलावा राजाजी टाइगर रिजर्व में भी हर साल दाखिल होने की कोशिश करते हैं।

ऐसे में अब जबकि दीपावली नजदीक है तो पार्क अधिकारियों को उल्लुओं के शिकार होने का खतरा है। राजाजी टाइगर रिजर्व के निदेशक डीके सिंह का कहना है कि शिकारी पार्क के अंदर दाखिल होकर उल्लुओं को ना पकड़ सकें, इसके लिए अलर्ट जारी कर दिया गया है।

सभी वार्डन व वन क्षेत्राधिकारियों को हिदायत दी गई है कि वे अपने अपने क्षेत्रों में कर्मचारियों की कई टीमें गठित कर दिन रात गश्त कराएं। इसके लिए ड्रोन कैमरे की भी मदद ली जाएगी। उल्लुओं के शिकार के मामले में जो भी शिकारी पकड़े जाएंगे उनके खिलाफ वन्यजीव संरक्षण अधिनियम की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेजा जाएगा।
... और पढ़ें

राज्यसभा चुनाव 2020: अधिसूचना जारी, 27 तक नामांकन, दो नवंबर तक नाम वापसी

उत्तराखंड से राज्यसभा की एक सीट के लिए मंगलवार को निर्वाचन अधिकारी और विधानसभा के प्रभारी सचिव मुकेश सिंघल की ओर से अधिसूचना जारी कर दी गई है।  निर्वाचन अधिकारी ने अधिसूचना जारी करने के साथ ही चुनाव कार्यक्रम भी घोषित कर दिया है।

नामांकन पत्र विधानसभा के प्रभारी सचिव और निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय से ही 11 बजे से लेकर तीन बजे तक मिलेंगे। नामांकन पत्र जमा करने की आखिरी तारीख 27 अक्तूबर है।


28 अक्तूबर को नामांकन पत्रों की जांच होगी और इसके बाद दो नवंबर तक नाम वापसी हो सकेगी। चुनाव नौ नवंबर को होगा। यह सीट कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य राजबब्बर का कार्यकाल पूरा होने के कारण खाली हुई है।

अधिसूचना जारी होने के बाद भी प्रदेश की दोनों की प्रमुख दलों भाजपा और कांग्रेस ने अभी अपने पत्ते नहीं खोले हैं। संख्या बल के हिसाब से कांग्रेस के मैदान में उतरने की बहुत कम संभावना है। दूसरी ओर, एक से अधिक दावेदार होने के कारण भाजपा को प्रत्याशी चयन के लिए मशक्कत करनी पड़ रही है।
... और पढ़ें

भिक्षा मांगने वाली हंसी से मिलने पहुंचीं राज्य मंत्री रेखा आर्य, कहा - समाज कल्याण विभाग में मिलेगी नौकरी

कुमाऊं विश्वविद्यालय की होनहार और डबल एमए करने वाली अल्मोड़ा की हंसी के हरिद्वार में भिक्षा मांगने की खबर अमर उजाला में छपने के बाद मंगलवार को राज्य मंत्री रेखा आर्य उनसे मिलने पहुंचीं।    

विधानसभा चुनाव लड़ने वाली यह महिला आज मांग कर रही गुजारा, बोलती है फर्राटेदार अंग्रेजी, तस्वीरें

इस दौरान मंत्री रेखा आर्य ने हंसी को समाज कल्याण विभाग में नौकरी देने की बात कही। कहा कि नौकरी से पहले हंसी की काउंसिलिंग की जाएगी। जिस पर हंसी ने मंत्री से इस बारे में सोचने के लिए एक दिन का समय मांगा।

इस दौरान हंसी ने कहा कि वह अल्मोड़ा या देहरादून नहीं जाना चाहती हैं। वह हरिद्वार में रहना चाहती हैं। फिलहाल हंसी के रहने की व्यवस्था की जाएगी।

इससे पहले सोमवार को खबर छपने के बाद खुफिया विभाग ने जानकारी जुटाकर शासन को रिपोर्ट भेजी तो दूसरी तरफ कई लोग हंसी प्रहरी और उनके बेटे परीक्षित कुमार के चेहरे पर हंसी लाने के लिए सामने आए। कुछ लोगों ने तत्काल आर्थिक मदद भी मुहैया कराई। एसडीएम ने भी हंसी प्रहरी से मिलकर हालचाल जाना और तीन दिन के अंदर आवास दिलाने का आश्वासन दिया।

सोमवार के अंक में अमर उजाला ने अल्मोड़ा जिले के सोमेश्वर क्षेत्र के हवालबाग ब्लॉक के रणखिला गांव की हंसी प्रहरी के हरिद्वार में भिक्षा मांगने की खबर प्रमुुखता से प्रकाशित की थी। दोपहर तक यह बात शहर में आग की तरह फैल गई। सबसे पहले खुफिया तंत्र हरकत में आया और सत्यता जानने में जुट गया।
... और पढ़ें

हरिद्वार में कुंभ आयोजन को लेकर न फैलाएं भ्रांति: महंत हरिगिरि

राज्य मंत्री रेखा आर्य हंसी से मिलने पहुंचीं
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के महामंत्री महंत स्वामी हरिगिरि ने कहा कि कोई कुंभ को लेकर भ्रांति न फैलाए। ज्योतिषीय गणना के अनुसार इस बार 2022 के स्थान पर हरिद्वार कुंभ 2021 में हो रहा है। 

उन्होंने कहा कि वास्तविकता तो यह है कि हरिद्वार कुंभ का योग देवताओं के गुरु बृहस्पति के कुंभ राशि में संक्रमण करने पर बनता है। प्राचीन ऋषियों ने पूरे ब्रह्मांड को 360 डिग्री का भाग देकर उसके 12 भाग किए और उन्हें 12 राशियों में बांट दिया।

हमारे नौ ग्रह सूर्य आदि इन्हीं राशि चक्रों से गुजरते हुए विभिन्न योग बनाते हैं। महंत स्वामी हरिगिरि ने कहा कि पौराणिक ग्रंथों के अनुसार 12 कुंभ होते हैं, जिनमें चार कुंभ भारत में हरिद्वार, उज्जैन, नासिक और प्रयागराज में लगते हैं।

शेष आठ कुंभ देवलोक में होते हैं। इन चार स्थानों पर बृहस्पति के विभिन्न राशियों में संक्रमण और उसमें उपस्थिति अत्यंत महत्वपूर्ण है। उन्होंने बताया कि माना जाता है कि बृहस्पति एक राशि में एक वर्ष रहता है और 12 वर्ष में घूमकर पुन: उसी राशि में पहुंचता है, लेकिन वास्तविकता यह है कि बृहस्पति 4332.5 दिनों या 11 वर्ष 11 महीने और 27 दिनों में 12 राशियों की परिक्रमा पूरी करता है।

इस तरह 12 वर्षों में साढ़े 50 दिन कम हो जाते हैं और यह कभी-कभी बढ़ते-बढ़ते सातवें और आठवें कुंभ के बीच एक वर्ष के लगभग हो जाती है, इसलिए हर आठवां कुंभ 11 वर्ष बाद होता है।
... और पढ़ें

अब गोबर की लकड़ी से होगी कमाई, बचेगी पेड़ों की कटाई, वहीं धुआं भी होगा कम

अभी तक आपने गोबर से बनी खाद और उपलों के बारे में सुना होगा, लेकिन काशीपुर की एक डेयरी में गोबर की लकड़ी तैयार की जा रही है। इससे जहां लकड़ी के लिए पेड़ों का कटान कम होगा, वहीं धुआं कम होने से पर्यावरण के लिए भी यह कम नुकसानदेह साबित होगी।  

मूल रूप से चौखुटिया, मांसी के रहने वाले मोहित काशीपुर में अपने परिवार के साथ रहते हैं। करीब 11 वर्षों तक सऊदी अरब में बतौर प्रोडक्शन मैनेजर नौकरी करने के बाद 2017 में मोहित भारत लौटे और एक साल बाद गढ़ी इंद्रजीत में एक दूध डेयरी खोली। डेयरी का काम सही चलने पर मोहित ने गाय के गोबर का भी प्रयोग करने के लिए इंटरनेट पर खोजबीन शुरू की।

इसी बीच उन्हें जानकारी मिली कि पंजाब में बायो फ्यूल प्लांट नाम की एक मशीन का आविष्कार किया गया है, जिससे गोबर से लकड़ी तैयार की जाती है। मोहित ने मशीन खरीदी और गोबर की खाद से लकड़ी बनाने का काम शुरू कर दिया।

मोहित ने बताया कि करीब तीन क्विंटल गोबर से एक क्विंटल लकड़ी तैयार की जा सकती है, जिसे 600 से 700 रुपये क्विंटल बेचा जा सकता है। एक घंटे में चार फीट की 200 लकड़ियां तैयार होती हैं, जिन्हें जलौनी लकड़ी के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। 
... और पढ़ें

उत्तराखंड: रोडवेजकर्मियों ने भरी हुंकार, 28 से प्रदेशव्यापी कार्य बहिष्कार की चेतावनी

महाराष्ट्र के राज्यपाल व उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी को हाईकोर्ट ने जारी किया नोटिस

नैनीताल हाईकोर्ट ने आदेश के बाद भी सुविधाओं का बकाया जमा न करने पर महाराष्ट्र के राज्यपालव उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी को नोटिस जारी किया है। हाईकोर्ट ने चार सप्ताह में जवाब दाखिल करने के निर्देश दिए हैं।

सुप्रीम कोर्ट सुविधाओं के बकाया मामले में पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा व बीसी खंडूरी के खिलाफ जारी अवमानना के नोटिस पर रोक लगा चुका है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक बिजली, पानी का करीब 11 लाख रुपये बकाया जमा कर चुके हैं।

मामले के अनुसार पूर्व में रूरल लिटिगेशन एंड एनटाइटलमेंट केंद्र (रूलक) ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की थी।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X