विज्ञापन
विज्ञापन
महानवमी पर जरूर माँ सिद्धिदात्री की पूजन, दूर हो जाएंगी आर्थिक समस्या
Navratri Special

महानवमी पर जरूर माँ सिद्धिदात्री की पूजन, दूर हो जाएंगी आर्थिक समस्या

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

Unlock 5.0 In Uttarakhand: दो नवंबर से खुलेंगे स्कूल, अधिक छात्र आए तो दो पालियों में चलेंगी कक्षाएं

उत्तराखंड में दो नवंबर से 10वीं और 12वीं के छात्र-छात्राओं के लिए स्कूल खुल रहे हैं। शासन ने इसके लिए एसओपी जारी कर दी है। कहा गया है कि अगर अधिक छात्र आए तो स्कूल दो पालियों में चलाए जा सकते हैं।

एसओपी में कहा गया है कि स्कूलों में छात्रों के लिए छह फीट की दूरी पर बैठने की व्यवस्था की जाए। जो छात्र स्कूल नहीं आएंगे उनके लिए ऑनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था पहले की तरह जारी रहेगी। दो शिफ्टों में स्कूल चलाने की स्थिति में पहली शिफ्ट में 10वीं और दूसरी में 12वीं के छात्र-छात्राओं को बुलाया जाएगा।


यह भी पढ़ें: 
Unlock-5.0 in Uttarakhand: दो नवंबर से खुलेंगे स्कूल, प्रार्थना सभाओं और खेलकूद पर रोक

एक क्लास में अधिकतम 50 प्रतिशत छात्र ही बैठेंगे। जबकि शेष को अगले दिन बुलाया जाएगा। मुख्य सचिव ओमप्रकाश की ओर से जारी निर्देश में यह भी कहा गया है कि स्कूल खुलने से पहले उन्हें पूरी तरह से सैनिटाइज किया जाए, हर पाली के बाद यह किया जाए।

स्कूलों में सैनिटाइज, हैंडवॉश, थर्मल स्कैनिंग व प्राथमिक उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। यदि किसी छात्र, शिक्षक व कर्मचारी में खांसी जुखाम या बुखार के लक्षण हैं तो उन्हें प्राथमिक उपचार दे घर भेज दिया जाए।

ये भी रहेगी व्यवस्था
- आधी क्षमता के साथ चलेंगे स्कूल वाहन।
- खेलकूद और मनोरंजन संबंधी गतिविधियां नहीं होंगी। प्रार्थना क्लास रूम में ही की जाएगी।
- स्कूल वाहनों को नियमित रूप से कम से कम दो बार सैनिटाइज किया जाएगा।
... और पढ़ें

Dussehra 2020: आज तय होगी मद्महेश्वर और तुंगनाथ मंदिर के कपाट बंद होने की तिथि

विजयदशमी के पावन पर्व पर आज ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ और मार्केण्डेय मंदिर मक्कूमठ में द्वितीय केदार भगवान मद्महेश्वर व तृतीय केदार भगवान तुंगनाथ के कपाट शीतकाल के लिए बंद होने की तिथि तय की जाएगी। इसके साथ ही केदारनाथ धाम के कपाट बंद होने का समय भी तय होगा। धाम के कपाट भैयादूज पर बंद होते हैं। 

रविवार को विजयदशमी के पावन पर्व पर सुबह आठ बजे पंच केदार गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में कार्याधिकारी एनपी जमलोकी व अन्य हक-हकूकधारियों की मौजूदगी में वेदपाठियों द्वारा पंचांग गणना के आधार पर द्वितीय केदार भगवान मद्महेश्वर के कपाट शीतकाल के लिए बंद होने की तिथि व समय तय किया जाएगा।


वहीं, मार्केण्डेय मंदिर मक्कू में हक-हकूकधारियों की मौजूदगी में आचार्यगणों द्वारा तृतीय केदार भगवान तुंगनाथ के कपाट शीतकाल के लिए बंद होने की तिथि तय की जाएगी। इस वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण केदारनाथ समेत द्वितीय व तृतीय केदार में कपाटोद्घाटन के बाद लगभग सवा माह तक सन्नाटा पसरा रहा, लेकिन बीते एक माह से धामों में नियमित श्रद्धालु पहुंच रहे हैं।
... और पढ़ें

राज्यसभा चुनाव 2020:  भाजपा के पैनल में विजय बहुगुणा और महेंद्र पांडेय की दावेदारी मजबूत 

प्रदेश भाजपा की सिफारिश पर अमल हुआ तो पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा और राष्ट्रीय कार्यालय सचिव महेंद्र पांडेय में से कोई एक राज्य सभा में पहुंच सकता है। राज्यसभा में जाने के लिए भाजपा का प्रत्याशी होना ही काफी है। यही वजह है कि टिकट के लिए दावेदारों की लंबी कतार है और पार्टी को भी परंपरा से हटकर तीन के स्थान पर पांच नाम भेजने पड़े हैं।

कांग्रेस के कब्जे वाली इस सीट पर राजब्बर काबिज हैं। उनका कार्यकाल 25 नवंबर को खत्म हो रहा है। निर्वाचन आयोग ने उनके कार्यकाल से पहले नया सांसद चुनने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। भाजपा के पैनल में बहुगुणा और पांडेय के अलावा पूर्व प्रदेश महामंत्री नरेश बंसल का नाम तीसरे स्थान पर है, जबकि प्रदेश उपाध्यक्ष अनिल गोयल और पूर्व सांसद बलराज पासी के नाम की भी सिफारिश की गई है।

प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत के मुताबिक, पार्टी ने केंद्रीय नेतृत्व को नाम भेज दिए हैं। लेकिन यह जरूरी नहीं कि प्रदेश संगठन से भेजे गए नामों से ही प्रत्याशी तय हो। संसदीय बोर्ड पैनल से बाहर कोई अन्य नाम भी दे सकता है।

केंद्र का फैसला ही अंतिम होता है। बता दें कि पार्टी के प्रदेश प्रभारी रहे श्याम जाजू भी टिकट के प्रबल आकांक्षी माने जा रहे हैं। हालांकि प्रदेश संगठन की ओर से उनका नाम राज्य से पैनल में नही भेजा गया। इस पर भगत ने कहा कि उनका मसला केंद्र के स्तर का है। प्रदेश संगठन ने राज्य के स्तर पर नाम भेजे हैं। उनके अनुसार, पार्टी ने जो पांच नाम भेजे हैं वे संगठन और राजनीति के अनुभवी और वरिष्ठ नेता हैं।   
... और पढ़ें

Coronavirus in Uttarakhand : शनिवार को मिले 359 नए संक्रमित, 05 मरीजों की हुई मौत

प्रदेश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 60 हजार पार हो गया है। बीते 24 घंटे में पांच मरीजों की मौत हुई और 359 नए संक्रमित मिले हैं। 451 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया है। कुल संक्रमितों की संख्या 60155 हो गई है। 

देहरादून: कोरोना बीमारी के बीच स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को ढूढ़े नहीं मिल रहे डेंगू मच्छर

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार शनिवार को 12303 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। देहरादून जिले में सबसे अधिक 90 कोरोना मरीज मिले हैं। हरिद्वार में 63, नैनीताल में 48, चमोली में 31, पौड़ी में 24, उत्तरकाशी में 20, ऊधमसिंह नगर में 18, अल्मोड़ा में 18, रुद्रप्रयाग में 13, पिथौरागढ़ में 13, बागेश्वर में 12, टिहरी में सात और चंपावत जिले में दो कोरोनो संक्रमित मामले मिले हैं। 

प्रदेश में पांच मरीजों की मौत हुई है। इसमें एम्स ऋषिकेश में एक, हिमालयन हास्पिटल में एक, महंत इंद्रेश हास्पिटल में एक, एचएनबी बेस हास्पिटल में एक, विनय विशाल हेल्थ केयर हास्पिटल हरिद्वार में एक मरीज ने दमतोड़ा है। मरने वाले मरीजों की संख्या 984 हो गई है। वहीं, 451 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। इन्हें मिला कर अब तक 54169 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। 
... और पढ़ें

दशहरा 2020 : देहरादून बन्नू स्कूल में नहीं होगा रावण दहन, प्रेमनगर में भी अमजंस 

सांकेतिक तस्वीर
कोरोना संकट के बीच पहले ही देहरादून शहर में सिर्फ चुनिंदा जगह रावण दहन कार्यक्रम तय थे, मगर प्रशासन के सख्त नियमों के चलते बन्नू स्कूल में होने वाला सूक्ष्म रावण दहन भी रद्द कर दिया गया है। प्रशासन द्वारा मात्र 50 लोगों की उपस्थिति की शर्त पर बन्नू बिरादरी समिति ने नाराजगी जताते हुए यह फैसला लिया है। वहीं, प्रेमनगर में दशहरा की तैयारियां पूरी हैं, लेकिन यहां भी रावण की ऊंचाई को लेकर पेंच फंस सकता है।
 
बन्नू स्कूल रेसकोर्स में हुई पत्रकार वार्ता में बिरादरी के अध्यक्ष हरीश विरमानी ने कहा कि दशहरा की पूरी तैयारियां कर ली गई थीं। रावण के पुतले की ऊंचाई भी प्रशासन की गाइडलाइन के अनुसार 10 फीट रखी गई, लेकिन अब प्रशासन ने 50 लोगों की शर्त भी रखी है।

इस पर समिति ने आपत्ति जताई है। कहा कि समिति ने प्रशासन से विवाह समारोह की तर्ज पर 200 लोगों की अनुमति मांगी। क्योंकि, यह आयोजन देहरादून में 72 सालों से परेड ग्राउंड में होता आ रहा है। इस दौरान सचिव मनीष गेरा, संतोख नागपाल, अजय कथूरिया, चंद्र प्रकाश भाटिया उपस्थित रहे।
... और पढ़ें

Vijayadashami 2020: देहरादून को आठ जोन में बांटकर फोर्स तैनात, 21 सेक्टर और 50 उप सेक्टर में बांटा गया शहर 

दशहरा पर पुलिस ने चौकसी का इंतजाम पूरा कर लिया है। इसके लिए शहर को आठ जोन में बांटकर सुरक्षा व्यवस्था को फोर्स तैनात की गई है। सुरक्षा के मद्देनजर चार कंपनी पीएसी को भी लगाया गया है। साथ ही जोन और सेक्टर वार अग्निशमन की गाड़ियां भी तैनात कर दी गई हैं।

हर साल दशहरा पर शहर में भीड़भाड़ बढ़ जाती है। इस बार तमाम आयोजन तो नहीं हो सकेंगे, लेकिन बाजारों में भीड़ उमड़ने की संभावना जताई जा रही है। ऐसे में पुलिस ने किसी भी स्थिति और यातायात को सुचारू करने के लिए पूरी व्यवस्था की है। डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि शहर को आठ जोन, 21 सेक्टर और 50 उप सेक्टरों में बांटा गया है।

जोन की जिम्मेदारी सीओ, सेक्टर की थानाप्रभारी और उप सेक्टर की जिम्मेदारी चौकी प्रभारी को दी गई है। इस दौरान इनके साथ चार कंपनी पीएसी भी तैनात की गई है। जिन क्षेत्रों में पहले कभी कानून व्यवस्था बिगड़ी है या फिर इस बार कोई इनपुट है तो उसके आधार पर सुरक्षा का खाका खींचा गया है। ताकि, किसी भी स्थिति से समय रहते निपटा जा सके।
... और पढ़ें

एक्सक्लूसिव : केदारनाथ से 16 किमी ऊपर हिमालय की तलहटी पर मिला साफ पानी से लबालब पैया ताल

Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X