विज्ञापन
विज्ञापन
कुंडली के यह योग दिलाते है राजयोग, फ्री जन्मकुंडली बनवाएं और जानें क्या आपकी कुंडली में है यह योग ?
Kundali

कुंडली के यह योग दिलाते है राजयोग, फ्री जन्मकुंडली बनवाएं और जानें क्या आपकी कुंडली में है यह योग ?

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

400 साल आगे व पीछे ले जाएगा ये अनोखा स्मार्ट कैलेंडर, 70 वर्षीय विजय मेहरा ने किया है तैयार

70 वर्षीय विजय मेहरा ने खास स्मार्ट कैलेंडर तैयार किया है। इस कैलेंडर की खासियत है कि इसकी मदद से पिछले व भविष्य के 400 सालों की जानकारी ली जा सकती है...

25 नवंबर 2020

आपकी आवाज़

अपने शहर के मुद्दे और शिकायतों को यहां शेयर करें
विज्ञापन
Digital Edition

Corona In Uttarakhand: 389 नए संक्रमित संक्रमित मिले, आठ की मौत, मरीजों की संख्या 74 हजार पार

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा रविवार को 74 हजार पार हो गया है। पिछले 24 घंटे में आठ संक्रमित मरीजों की मौत हुई और 389 नए संक्रमित मरीज मिले हैं। देहरादून और पौड़ी जिले में संक्रमित मामले बढ़े हैं। संक्रमितों की तुलना में कम मरीज ठीक हुए हैं। वहीं, सक्रिय मरीजों की संख्या भी 5000 के करीब पहुंच चुकी है।  

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, रविवार को 11400 सैंपल जांच में निगेटिव मिले हैं। बीते 24 घंटे में सबसे अधिक 146 संक्रमित मरीज देहरादून जिले में मिले हैं। पौड़ी में 57, हरिद्वार में 49, ऊधमसिंह नगर में 33, टिहरी में 24, चमोली में 21, उत्तरकाशी में 18, चंपावत में 10, रुद्रप्रयाग में नौ, पिथौरागढ़ में सात, अल्मोड़ा में सात, नैनीताल में छह, बागेश्वर जिले में दो संक्रमित मिले हैं। 


यह भी पढ़ें: 
Coronavirus: देहरादून के बाजारों में फिर लगा 'लॉकडाउन' तो दिखा कुछ ऐसा नजारा, तस्वीरें...

आज मृतक आठ मरीजों में से एम्स ऋषिकेश में दो, हिमालयन हॉस्पिटल में तीन, कैलाश हॉस्पिटल में दो, दून मेडिकल कॉलेज में एक मरीज ने दम तोड़ा है। अब तक प्रदेश में 1222 संक्रमित मरीजों की मौत हो चुकी है। 

वहीं, आज 278 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया। इन्हें मिला कर 67475 मरीज स्वस्थ  हो चुके हैं। ठीक होने वाले मरीजों से ज्यादा संक्रमित मामले मिलने से सक्रिय मरीज 4970 हो गई है। 
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

Corona In Uttarakhand: सार्वजनिक आयोजनों में अधिकतम 100 लोग ही होंगे शामिल, नई एसओपी जारी

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश में अब विवाह सहित धार्मिक, खेल, राजनीतिक समेत अन्य सार्वजनिक आयोजनों में अधिकतम 100 लोग ही शामिल हो सकेंगे। रविवार को जारी एसओपी में यह व्यवस्था की गई है। अभी तक ऐसे कार्यक्रमों में 200 लोगों को शामिल करने की अनुमति थी। वहीं, नाइट कर्फ्यू लगाने का अधिकार जिलाधिकारियों को दिया गया है।

रविवार को जारी एसओपी में प्रदेश सरकार ने सार्वजनिक आयोजनों में उपस्थित होने वाले लोगों की संख्या को 100 तक सीमित कर दिया है। दरअसल विवाह समेत कई अन्य आयोजनों के लिए कई लोग पहले ही बुकिंग आदि कर चुके हैं, ऐसे लोगों की असुविधा को देखते हुए सरकार इससे बचने की कोशिश में भी थी।


यह भी पढ़ें:
 Corona In Uttarakhand: 389 नए संक्रमित संक्रमित मिले, आठ की मौत, मरीजों की संख्या 74 हजार पार

एसओपी के मुताबिक सामाजिक, धार्मिक, खेल, सांस्कृतिक, मनोरंजन आदि आयोजनों में हॉल की कुल क्षमता के 50 प्रतिशत या अधिकतम 100 लोगों के शामिल होने की ही अनुमति होगी। वहीं, सिनेमा हॉल और थियेटर की कुल क्षमता के 50 प्रतिशत के उपयोग की ही अनुमति दी गई है। स्वीमिंग पूल सिर्फ प्रशिक्षण के लिए ही उपयोग में लाए जाएंगे।
... और पढ़ें

कार्तिक पूर्णिमा 2020: बाहरी प्रदेशों से उत्तराखंड आ रहे 2000 से ज्यादा वाहनों को पुलिस ने बॉर्डर से लौटाया

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर कार्तिक पूर्णिमा पर हरिद्वार और ऋषिकेश में गंगा स्नान पर प्रतिबंध के चलते बाहरी प्रदेशों से पहुंचे दो हजार से अधिक वाहनों को पुलिस ने बॉर्डर से ही लौटा दिया।

इन वाहनों में सवार लोग गंगा स्नान के लिए हरिद्वार या ऋषिकेश आना चाहते थे। इस दौरान यात्रियों और पुलिस के बीच तीखी नोकझोंक होती रही। केवल उन्हीं लोगों को प्रदेश में आने की अनुमति दी गई, जो अस्थि विसर्जन या फिर किसी जरूरी काम से आ रहे थे। राज्य के लोगों को उनकी आईडी की जांच के बाद प्रवेश दिया गया।


यह भी पढ़ें: 
Chandra Grahan 2020: कार्तिक पूर्णिमा पर चंद्र ग्रहण के समय नहीं लगेगा सूतक, बन रहा खास योग

सोमवार को कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान प्रतिबंधित होने के चलते पुलिस ने स्नानार्थियों को रोकने के लिए जिले से लगती प्रदेश की सीमाओं पर सुबह से ही सख्ती बढ़ा दी थी। नारसन, मंडावर, खानपुर समेत सभी बॉर्डर पर भारी पुलिस बल तैनात रहा।

दिल्ली, गाजियाबाद, मेरठ आदि क्षेत्रों से पहुंचे करीब एक हजार वाहनों को नारसन से लौटा दिया गया। भगवानपुर क्षेत्र में मंडावर बॉर्डर पर यूपी, पंजाब हरियाणा समेत अन्य प्रदेशों से आए 200 से अधिक लोगों को बैरंग लौटा दिया गया।
... और पढ़ें

धूप खिली तो और निखरी बर्फ से सराबोर औली की खूबसूरती, नए साल के जश्न के लिए आ रही एडवांस बुकिंग

तीर्थनगरी ऋषिकेश में कार्तिक पूर्णिमा के दिन होगा रावण दहन, तैयारियां जोरों पर, पीछे है ये वजह... 

उत्तराखंड: सीएम त्रिवेंद्र ने सूर्यधार झील का किया लोकार्पण, टूरिस्ट डेस्टिनेशन के रूप में होगी विकसित

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने ड्रीम प्रोजेक्ट सूर्यधार बांध का निर्माण पूरा होने पर रविवार को उसका लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उम्मीद जताते हुए कहा कि बांध क्षेत्र के विकास में कारगर भूमिका का निवर्हन करेगा। बांध को पर्यटन के नए डेस्टीनेशन के रूप में विकसित करने की योजना पर काम होगा। उनका अगला प्रोजेक्ट सांइस कॉलेज की स्थापना करना है, जिससे शोध को बढ़ावा दिया जा सके।

थानो न्याय पंचायत के सिल्ला चौकी क्षेत्र में जाखन नदी पर आयोजित लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने विकास को लेकर अपनी प्राथमिकताएं बताई। कहा कि उन्होंने सुचारू पेयजल और बिजली के अलावा स्वास्थ्य के क्षेत्र में सरकार ने उल्लेखनीय काम किया। ग्रामीण क्षेत्रों में एक रुपये में पेयजल कनेक्शन दिया। अटल आयुष्मान से 22 हजार अस्पतालों में उपचार का लाभ राज्य के लोग ले सकते हैं।


कहा कि किसानों का पसीना सूखने से पहले उनका भुगतान देने की योजना पर काम करते हुए गन्ना किसानों का शत-प्रतिशत भुगतान हुआ। कहा कि सूर्यधार बांध से हजारों हेक्टेयर भूमि की सिंचाई की जा सकेगी। लंबे समय तक लोगों को सुुचारू पेयजल भी मुहैया हो जाएगा। 400 करोड़ के व्यय से बनाए जाने वाले सांइस कॉलेज के लिए करीब 35-40 हेक्टेयर भूमि को चिह्नित भी किया चुका है।

सिंचाई विभाग के विभागाध्यक्ष मुकेश मोहन ने सूर्यधार परियोजना के संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि कोविड के समय थोड़ा विलंब जरूर हुआ, लेकिन रिकार्ड समय पर परियोजना को तैयार कर लिया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के ओएसडी धीरेन्द्र पंवार, वन पंचायत सलाहकार परिषद उपाध्यक्ष करन बोरा, अन्य पिछड़ा आयोग उपाध्यक्ष खेम सिंह पाल, सीएम के भाई वीरेन्द्र रावत, भाजपा जिलाध्यक्ष शमशेर सिंह पुंडीर, जिला उपाध्यक्ष विक्रम सिंह नेगी, डोईवाला अध्यक्ष विनय कतंडवाल, राजेंद्र मनवाल, दीवान सिंह रावत, पूर्व दायित्वधारी संदीप गुप्ता और अमित शाह आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम में सांस्कृतिक टीमों ने विभिन्न प्रस्तुतियों से लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया।  
... और पढ़ें

Corona In Uttarakhand: जरूरी सेवाओं को छोड़कर आज बंद रहे देहरादून के बाजार 

देहरादून में साप्ताहिक बंदी का दिन पूरी तरह से शांतिपूर्वक बीत गया। इस दौरान पुलिस शहर क्षेत्र के बाजारों से लेकर पर्यटन स्थलों के आसपास भी तैनात रही। पुलिस अधिकारियों के अनुसार रविवार को बंदी के दिन किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई करने की नौबत नहीं आई। हालांकि, दे रात तक अधिकारी मामले में अपडेट लेने में लगे थे।
 
दरअसल, पहले भी यह बात देखने में आई थी कि बंद के दौरान लोग पर्यटन स्थलों का रुख कर लेते हैं। लॉकडाउन के दौरान ऐसे कई स्थानों पर पुलिस ने कार्रवाई की थी। इसी को ध्यान में रखते हुए एसपी सिटी श्वेता चौबे के निर्देश पर पुलिस को पर्यटन स्थलों पर तैनात किया गया था। शहर के सभी 10 थानों में पड़ने वाले पर्यटन स्थलों के बाहर किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। एसपी सिटी श्वेता चौबे ने बताया कि सभी जगहों पर पुलिस मुस्तैद रही। 

इस दौरान आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को छोड़कर सारे प्रतिष्ठान बंद रहे। इसकी निगरानी करने के लिए जगह-जगह पर पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई थी। इस बात की नौबत ही नहीं आई कि किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई की जाए। उन्होंने बताया कि अगले सप्ताह के लिए भी पुलिस इसी तरीके पर काम करेगी।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X