बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन

ऊधम सिंह नगर

विज्ञापन
कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें
Myjyotish

कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

उत्तराखंड: नानकमत्ता के जंगल में पकड़ी अवैध हथियार बनाने की फैक्टरी, भारी मात्रा में मिले कारतूस 

उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर जिले के नानकमत्ता में पुलिस ने ग्राम ध्यानपुर के जंगल में छापा मारकर अवैध हथियार बनाने वाली फैक्टरी पकड़ी है। पुलिस ने मौके से दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया, जबकि तीन फरार हो गए। पुलिस ने शस्त्र निर्माण में प्रयुक्त होने वाले उपकरण, 315 बोर की एक पोनिया राइफल, 315 बोर के दो तमंचे, तीन कारतूस, खोखा, 312 बोर के तीन कारतूस, 13 खोखे और एक वेल्डिंग मशीन बरामद की है। इसके अलावा, तीन बाइकें तथा एक कार भी जब्त की है। केस दर्ज करने के बाद पकड़े गए आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। 

बृहस्पतिवार की देर रात थानाध्यक्ष कमलेश भट्ट को ग्राम ध्यानपुर के जंगल में अवैध शस्त्र निर्माण की सूचना मिली। सूचना पर थानाध्यक्ष ने पुलिस टीम के साथ जंगल में छापा मारा। ध्यानपुर तथा सरोंजा के घने जंगल के बीच तस्कर अवैध रूप से शस्त्रों का निर्माण कर रहे थे।

उतराखंड में साइबर अपराध: चार महीने में 200 से अधिक मुकदमे दर्ज, 14 आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने मौके से ग्राम दीननगर निवासी गुरमीत सिंह तथा ग्राम टुकड़ी निवासी मक्खन सिंह को पकड़ लिया, जबकि टुकड़ी गांव निवासी बलवीर सिंह, बिचवा भूड़ निवासी सुक्खा सिंह तथा ग्राम पहसैनी निवासी एक अज्ञात आरोपी फरार हो गए। टीम में एसआई अवनीश कुमार, एसआई नवीन बुधानी, ललित नेगी, हरीश चंद, हेमचंद फुलारा, प्रकाश आर्या, मोहित वर्मा और वोबिन्दर कुमार आदि शामिल थे।

2019 में हरिद्वार में भी पकड़ी थी फैक्टरी
बता दें कि साल 2019 में  पुलिस ने हरिद्वार में लक्सर के गिद्धावाली गांव में भी अवैध हथियार बनाने की फैक्ट्री का खुलासा किया था। इस दौरान पुलिस ने बड़ी संख्या में देसी तमंचे, देसी बंदूक और कारतूस बरामद किए थे। साथ ही मुख्य सरगना समेत तीन आरोपियों को भी गिरफ्तार किया था। तीनों के खिलाफ केस दर्ज कर कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया था। 
... और पढ़ें

रुद्रपुर : विवाद में पूर्व बीडीसी को गोली मारी विधायक राजकुमार ठुकराल पर फायर हुआ मिस, बाल-बाल बचे

रुद्रपुर शहर की पॉश कॉलोनी एलायंस के गेट पर कारों की टक्कर को लेकर विवाद हो गया। आवेश में आए युवक ने पहले बीच बचाव कर रहे विधायक राजकुमार ठुकराल पर फायर किया, जो मिस हो गया। इसके बाद उसने पूर्व बीडीसी सदस्य को गोली मार दी जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इस बीच, हमलावर अपनी कार छोड़कर भाग गया। सूचना मिलने पर एसएसपी दलीप सिंह कुंवर, एसपी सिटी ममता बोहरा टीम के साथ मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली।

ग्राम रामकोट नंबर 6 निवासी नरेंद्र उर्फ भोला छाबड़ा पूर्व बीडीसी सदस्य हैं। शनिवार की रात नरेंद्र एलायंस कॉलोनी से कार से अपने घर जा रहे थे। कॉलोनी के गेट के पास पहुंचते ही उनकी कार की आरोपी युवक की कार से मामूली क्कर हो गई, जिसके बाद कार सवार युवक का नरेंद्र के साथ विवाद हो गया। इसी बीच विधायक राजकुमार ठुकराल वहां से गुजर रहे थे।

विधायक ने बताया कि उन्होंने बीच बचाव करने का प्रयास किया लेकिन सामिया कॉलोनी निवासी युवक ने पिस्टल से पहला फायर उनके सीने की तरफ किया जो मिस हो गया। इसके बाद आरोपी ने नरेंद्र पर फायर किया जो उनके माथे के पास लगा।

इसके बाद हमलावर अपनी कार छोड़कर पैदल ही फरार हो गया। घायल नरेंद्र को इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया है। घटना के समय विधायक के साथ गनर नहीं था। इसके बाद वहां लोगों की भीड़ लग गई। एसएसपी कुंवर भी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और विधायक से मामले की जानकारी ली। सीओ सिटी अमित कुमार ने बताया कि गोली चलने की घटना हुई है। मामले की जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

सिडकुल घोटाला : अधिकारियों को मिला था 12 प्रतिशत कमीशन, एसआईटी और तकनीकी कमेटी की जांच में खुलासा

सिडकुल के निर्माण कार्य में अधिकारियों ने कमीशन का खेल खेला था। यूपी की निर्माण इकाई को काम देने के एवज में 12 प्रतिशत कमीशन अधिकारियों को देने की बात सामने आई है। एसआईटी और तकनीकी कमेटी की जांच में यह खुलासा हुआ है। कमीशन लेने वाले अधिकारियों के नाम उजागर किए बिना टीम ने इनके खिलाफ गोपनीय जांच शुरू कर दी है।

वर्ष 2012 से 2017 तक पंतनगर सिडकुल में बनाए गए सिटी पार्क में यूपी निर्माण निगम की ओर से कई निर्माण कार्य किए गए थे। सरकार की ओर से कराए गए ऑडिट में निर्माण कार्यों के साथ ही कर्मचारियों की नियुक्ति और वेतन निर्धारण में अनियमितताएं मिलीं थीं। जांच के लिए शासन के आदेश पर एसआईटी का गठन कर दिया गया था।

एसआईटी को सिडकुल में स्थापित सिटी पार्क की जांच में पार्क के मुख्य द्वार, शौचालय, फव्वारे, सीसी मार्ग व चहारदीवारी निर्माण में वित्तीय अनियमितताएं मिली थीं। इसके अलावा काशीपुर एस्कार्ट फार्म स्थित सिडकुल इंडस्ट्रियल एरिया में विभिन्न सेक्टरों को जाने वाली सड़कों के किनारे बरसाती पानी की निकासी के लिए बनाए स्ट्रांग वाटर ड्रेन में भी वित्तीय अनियमितताएं उजागर हुईं। 

इसी तरह सितारगंज सिडकुल में यूपी निर्माण निगम ने सड़क, वाटर टैंक व नालियों का निर्माण किया था। इसके लिए साढ़े तीन करोड़ रुपये का खर्च दिखाया गया था। दस्तावेज और निर्माण कार्यों का भौतिक सत्यापन करने पर अनियमितता सामने आ गई थी। निर्माण कार्य की गुणवत्ता को परखने के लिए तकनीकी कमेटी बनाई गई।

एसआईटी और तकनीकी दोनों टीमों ने निर्माण कार्य की जांच शुरू कर दी है। जांच में खुलासा हुआ है कि यूपी निर्माण निगम को काम देने की एवज में अधिकारियों ने 12 प्रतिशत कमीशन लिया। सीसी मार्ग, चहारदीवारी, पार्क का मुख्य द्वार बनाने में गुणवत्ता में भी कमी पाई गई है। इन्हीं कामों के लिए कमीशन सबसे अधिक लिया। 

112 फाइलों की होनी है जांच 

सिडकुल घोटाले की जांच को लेकर एसआईटी ने 112 फाइलें बनाई हैं। एसआईटी सूत्रों के अनुसार अब तक 24 फाइलों की जांच पूरी कर ली गई है। लोनिवि व जल संस्थान की तकनीकी कमेटी ने अपनी रिपोर्ट बनाकर एसआईटी को सौंप दी थी। इसके बाद इन सभी फाइलों को पुलिस मुख्यालय भेज दिया गया है। तकनीकी जांच में निर्माण कार्यों में अनियमितताएं मिली हैं। (संवाद)

यूपी निर्माण इकाई के कर्मचारियों से होगी पूछताछ 

पुलिस अधिकारियों के अनुसार सिडकुल घोटाले की जांच को इसी साल पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। जांच में गड़बड़ी मिलने पर यूपी निर्माण इकाई पर कार्रवाई होना तय है। दस्तावेजों का भौतिक सत्यापन करने व अन्य मामलों की जानकारी के लिए यूपी निर्माण इकाई कर्मचारियों से पूछताछ की जाएगी। (संवाद)

सिडकुल घोटाले में 112 फाइलों की जांच शुरू हो गई है। तकनीकी कमेटी के साथ मिलकर एसआईटी रिपोर्ट तैयार कर रही है। रिपोर्ट बनाकर पुलिस मुख्यालय भेजी जा रही है। एसआईटी सभी कोणों पर काम कर रही है। काम के दौरान कुछ अधिकारियों के 10 से 12 प्रतिशत कमीशन लेने की बात सामने आ रही है। इसकी भी गहराई से जांच हो रही है।
- डीएस कुंवर, एसएसपी
 
... और पढ़ें

उत्तराखंड: ऑनलाइन सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, चार युवक-युवती दबोचे, आपत्तिजनक सामग्री भी मिली

उत्तराखंड के कुमाऊं के दो जिलों में चल रहे ऑनलाइन सेक्स रैकेट का पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। गूगल वेबसाइट पर संचालित स्कोर्ट सर्विस नाम के रैकेट के दो सदस्यों को दो युवतियों के साथ अनैतिक देह व्यापार करते धर दबोचा। उनके कब्जे से आपत्तिजनक सामग्री भी मिली, जबकि गिरोह का मुख्य सरगना फरार हो गया।

मंगलवार शाम करीब पांच बजे एसएसपी डीएस कुंवर ने पुलिस कार्यालय में प्रेस कान्फ्रेंस कर रैकेट का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि ऊधमसिंह नगर और नैनीताल जिले के विभिन्न कस्बों में स्कोर्ट सर्विस नाम से गूगल वेबसाइट पर कॉल गर्ल नाम का एक रैकेट चल रहा था। इस पर एसपी सिटी ममता बोहरा ने एसओजी प्रभारी कमलेश भट्ट और एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल की निरीक्षक बसंती आर्या के नेतृत्व में टीम गठित की।

टीम ने दिनेशपुर थाना क्षेत्र के जयनगर में एक घर पर छापा मारा। यहां अनैतिक देह व्यापार करते राधाकांतपुर थाना दिनेशपुर के दिलीप शिकारी, जेलकैंप नंबर चार शक्तिफार्म के बलराम मंडल, रविंद्रनगर धोबीघाट थाना ट्रांजिट कैंप व बड़ाखेड़ा रुद्रपुर की दो युवतियों को पकड़ लिया। 

बताया कि आरोपियों के कब्जे से चार मोबाइल फोन, एक आल्टो कार, एक स्कूटी, एक बाइक और आपत्तिजनक सामग्री बरामद हुई। गिरोह का सरगना लक्खीपुर थाना दिनेशपुर निवासी सूरज विश्वास मौके से फरार हो गया। आरोपियों ने दिलीप शिकारी को तनख्वाह पर रखा था। पुलिस ने उनके खिलाफ दिनेशपुर थाने में आईपीसी की धारा 370, 372, 373 व 3/4/5/6/8 अनैतिक देह व्यापार अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया है। 
... और पढ़ें
सेक्स रैकेट का पुलिस ने भंडाफोड़ किया सेक्स रैकेट का पुलिस ने भंडाफोड़ किया

गजब:  मृत युवक के आधार कार्ड पर जारी कर दिए 32 सिम, तीन आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने एक आधार कार्ड पर 32 सिम कार्ड जारी किए जाने का मामला पकड़ा है। बताया गया है कि जिस युवक के नाम पर सिम जारी किए गए हैं, उसकी इसी साल जुलाई में मौत चुकी है। मामले में पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया है।

21 जुलाई 2021 को हुई धीरज कुमार की मौत 
आईजी के निर्देश पर हुई जांच में पुलिस ने पाया कि जियो कंपनी के पश्चिमी यूपी सर्किल के 32 सिम कार्ड में से 21 कार्ड एयरटेल कर्नाटक सर्किल में पोर्ट किए जा रहे हैं। जांच में सामने आया कि 32 सिम कार्ड के लिए केवाईसी (नो योर कस्टमर) के लिए धीरज कुमार निवासी नरखेड़ा के आधार कार्ड का प्रयोग किया गया था। धीरज कुमार की 21 जुलाई 2021 को मौत हो चुकी है।
 
धीरज कुमार ने बेरिया दौलत रोड स्थित संदीप गोयल की गोयल मोबाइल गैलरी में तीन साल तक काम किया था। धीरज ने आत्महत्या की थी जिसका मुकदमा कोतवाली बाजपुर में दर्ज है। इस प्रकरण में कई युवकों से पूछताछ की गई तो सामने आया कि उक्त 32 कार्ड में से 21 कार्ड एयरटेल कंपनी के कर्नाटक सर्किल में सक्रिय हैं। विभिन्न मोबाइल नंबरों पर संपर्क करने पर पता चला कि ये नंबर बाजपुर की गोयल मोबाइल गैलरी से खरीदे गए हैं। 

सीओ वंदना वर्मा ने बताया कि साइबर क्राइम थाना रुद्रपुर के एसआई विपिन चंद जोशी की जांच में सामने आया कि कूटरचित तरीके से एक ही आधार कार्ड पर 32 सिम जारी हुए थे। पुलिस ने मोहल्ला सूद कॉलोनी निवासी संदीप कुमार गोयल, मोहल्ला संजय कॉलोनी निवासी गौरव कुमार, नगर के वार्ड नंबर दस चीनी मिल कॉलोनी निवासी सुमन के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 467, 471 के तहत मुकदमा दर्ज किया है।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: प्रेमी निकला शादीशुदा तो उसके घर पहुंच गई प्रेमिका, गुस्से में आकर पाटल से काट दी गर्दन

रुद्रपुर के संजय नगर खेड़ा में ठेकेदार ने पाटल से वार कर प्रेमिका की हत्या कर दी। ठेकेदार के शादीशुदा होने का पता चलने के बाद प्रेमिका परिवार में दखल दे रही थी। बताया जा रहा है कि इससे ठेकेदार तनाव में था। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करने के साथ ही हत्या में प्रयुक्त पाटल कब्जे में ले लिया है। बीचबचाव में चोटिल हुई आरोपी की मां का पुलिस ने जिला अस्पताल ले जाकर प्राथमिक इलाज कराया और मृतका के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
 
किंकर ने कई वार किए, मौके पर ही हो गई मौत
संजयनगर खेड़ा निवासी ठेकेदार किंकर उर्फ भोला मंडल पत्नी बबीता और परिजनों के साथ रहता है। उसका निर्मला गोस्वामी (26) निवासी तामली चंपावत से प्रेम प्रसंग था और दोनों का एक बेटा भी है। निर्मला अपने बेटे के साथ मलिक कॉलोनी में किराए पर रहती थी। किंकर के शादीशुदा होने की जानकारी होने के बाद से महिला का उसके साथ विवाद चल रहा था।

रविवार की शाम निर्मला किंकर के घर पहुंच गई जहां उसका किंकर के साथ झगड़ा हो गया। दोनों के बीच हाथापाई हुई तो किंकर की मां आनंदी देवी ने बीच-बचाव की कोशिश की। इससे उसके हाथों में भी चोट आ गई। आवेश में आकर किंकर ने पाटल से निर्मला की गर्दन पर वार कर दिया। इससे वह लहूलुहान होकर जमीन पर गिर पड़ी। इसके बाद भी किंकर ने उस पर वार किए और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद किंकर भाग गया जिसे बाद में पकड़ लिया गया। 
... और पढ़ें

सितारगंज: हथियारबंद बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर फायरिंग, कांस्टेबल घायल, दो बदमाश पकड़े

हथियारबंद बदमाशों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर बदमाशों ने फायरिंग कर दी। इस दौरान एक कांस्टेबल घायल हो गया। उसके सिर पर गंभीर चोट आई है। मुठभेड़ के बाद पुलिस ने दो बदमाशों को धर दबोचा जबकि तीन मौके से फरार हो गए। पुलिस ने पकड़े गए बदमाशों के खिलाफ जानलेवा हमले समेत कई संगीन धाराओं में केस दर्ज कर जेल भेज दिया। पुलिस ने बदमाशों की तीन बाइकें, दो तमंचे और कारतूस जब्त किए हैं। 

बदमाशों की क्षेत्र में बड़ी वारदात को अंजाम देने की मुखबिर की सूचना पर कोतवाल प्रकाश सिंह दानू ने तीन टीमों का गठन कर एसएसआई सुधाकर जोशी के नेतृत्व में रंसाली जंगल से सटे नलई और बिजराटा गांवों में घूम रहे असलहाधारियों को पकड़ने के लिए रवाना किया। गांव नलई में नदी किनारे ट्यूबवेल के पास मौजूद बदमाशों को जब पुलिस टीम ने घेरा तो उन्होंने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी।

करीब चार राउंड फायरिंग से बचने के बाद पुलिस ने दो बदमाशों को धर दबोचा। मुठभेड़ के दौरान बदमाशों ने कांस्टेबल संजय के सिर पर तमंचे के बट से हमला कर दिया। वह लहूलुहान होकर मौके पर ही अचेत अवस्था में गिर पड़ा। पूछताछ में पकड़े गए बदमाशों ने अपना नाम ग्राम पहसैनी निवासी कुलदीप सिंह व टीला नंबर चार थाना हजारा जिला पीलीभीत निवासी लखविंदर सिंह बताया।

पुलिस ने कुलदीप के कब्जे से एक 12 बोर तमंचा, कारतूस और लखविंदर के कब्जे से एक 315 बोर का तमंचा और कारतूस बरामद किए हैं। साथ ही घटना में प्रयुक्त तीन बाइकें भी जब्त कर लीं। पकड़े गए बदमाशों के साथी बिचुवा थाना नानकमत्ता निवासी हरजिंदर सिंह उर्फ मिंदर, पहसैनी गांव निवासी हरजिंदर उर्फ जिंदर व राजदीप उर्फ राजा फरार हैं।

एसएसआई जोशी ने बताया कि आरोपियों पर विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया है। फरार बदमाशों की गिरफ्तारी के प्रयास जारी हैं। टीम में एसआई धीरेंद्र सिंह परिहार, कांस्टेबल मोहित वर्मा, बलवंत सिंह, राकेश मलकानी, अशोक बोरा, किरण कुमार मेहता, संजय व केसर सिंह आदि थे।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: रुद्रपुर में कैश कलेक्शन कंपनी के कर्मचारी से दिनदहाड़े तमंचे के बल पर 11 लाख की लूट 

प्रतीकात्मक तस्वीर
उत्तराखंड के रुद्रपुर में बाजार चौकी क्षेत्र की सुभाष कॉलोनी में बाइक सवार बदमाशों ने दिनदहाड़े तमंचे के बल पर एक कैश कलेक्शन कंपनी के कर्मचारी से 11 लाख रुपये लूट लिए। बदमाश कर्मचारी के हाथ में चाकू मारकर फरार हो गए। घटनास्थल के पास एक होटल के सीसीटीवी कैमरे में पूरी वारदात कैद हुई है। एसएसपी डीएस कुंवर सहित पुलिस अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली। बदमाशों को पकड़ने के लिए टीमें गठित कर दी गई हैं। 

यूपी के रामपुर जिले के बाकराबाद पोस्ट लोहा मिलक निवासी आदित्य कुमार रंपुरा में किराये के मकान में रहकर सीएमएस कैश मैनेजमेंट सर्विस कंपनी में कैश कलेक्शन का काम करता है। सोमवार को वह शहर के अलग-अलग जगहों से कैश कलेक्शन कर सुभाष कॉलोनी में एक कूरियर पर कैश लेने के लिए गया था। वहां से लौटते वक्त होटल राजमहल के पास पहले से मौजूद बाइक सवार दो युवकों ने तमंचे के बल पर उसे रोक लिया। हाथ पर चाकू से हमला कर बदमाश रुपये से भरा बैग लूट कर  फरार हो गए। आदित्य ने बताया कि उसने अलग-अलग कंपनियों से 11 लाख रुपये एकत्र कर बैग में रखे थे।

कलेक्शन कर्मी से पुलिस ने की पूछताछ 
दिनदहाड़े लूट की सूचना से पुलिस महकमे में खलबली मच गई। सूचना पर एसएसपी डीएस कुंवर, एएसपी ममता बोहरा, एएसपी क्राइम मिथिलेश सिंह पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे। कलेक्शन कर्मी से पूछताछ के बाद एसएसपी ने कोतवाल और एसओजी टीम को बदमाशों को शीघ्र पकड़ने के निर्देश दिए हैं। पुलिस ने घटनास्थल के आसपास और अन्य जगहों पर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगालना शुरू कर दिया है। 
... और पढ़ें

उत्तराखंड : वीडियो वायरल करने की धमकी देकर जीजा करता था दुष्कर्म, साली ने जहर खाकर जान दी

जीजा की प्रताड़ना से त्रस्त युवती ने जहर खाकर जान दे दी है। आरोप है कि वीडियो वायरल करने की धमकी देकर जीजा उसके साथ दुष्कर्म करता था। मृतका की मां की तहरीर पर आईटीआई थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है।

आईटीआई थाना क्षेत्र के एक गांव में रहने वाली युवती का विवाह नौ साल पहले प्रतापपुर चौकी क्षेत्र के ग्राम गढ़ीगंज निवासी युवक के साथ हुआ था। कुछ माह पहले उसकी छोटी बहन उससे मिलने उसकी ससुराल गई थी। आरोप है कि जीजा ने उसके साथ दुष्कर्म किया और वीडियो बना ली।

वीडियो वायरल करने की धमकी देकर आरोपी ने उसका मुंह बंद करा दिया। तब से युवती काफी तनाव में थी। इस दौरान कई जगहों से उसके रिश्ते भी आए लेकिन जीजा ने दबाव डालकर हर बार उसका रिश्ता तुड़वा दिया। 

गुरुवार देर शाम युवती ने अपने घर पर जहर खा लिया। हालत बिगड़ने पर परिजन उसे एक निजी अस्पताल में ले गए, जहां उसने दम तोड़ दिया। सूचना पर एसआई नीलम मेहता ने युवती के शव का पंचनामा भरा।

मृतका की मां की तहरीर पर आईटीआई पुलिस ने आरोपी जीजा के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज कर लिया है। थाना प्रभारी विद्यादत्त जोशी ने बताया कि आरोपी अभी फरार है।
... और पढ़ें

रुद्रपुर डबल मर्डर: एक ही चिता पर हुआ दोनों भाइयों का अंतिम संस्कार, हर आंख से बहे आंसू, तस्वीरें... 

उत्तराखंड में रुद्रपुर के प्रीतनगर गांव में मेड़ के विवाद में हुई दो किसान भाइयों की हत्या के बाद बुधवार को दोनों के शवों का अंतिम संस्कार कर दिया गया। सगे भाइयों के अटूट प्रेम को देखते हुए उनके शवों को एक ही चिता पर मुखाग्नि दी गई। श्मशान घाट में दो भाइयों के शव एक चिता पर जलते देख हर किसी की आंखे भर आईं। 

उत्तराखंड डबल मर्डर: पिता की आंखों के सामने हुई जिगर के टुकड़ों की हत्या, खून से लथपथ शव देख सहमे लोग, तस्वीरें...

इस दौरान एएसपी ममता बोहरा और एसडीएम विशाल मिश्रा भी मौजूद रहे। पूर्व मंत्री तिलकराज बेहड़ भी सैकड़ों लोगों के साथ अंतिम यात्रा में शामिल हुए। बता दें कि मंगलवार को ग्राम लंका मलसी निवासी गुरकीर्तन सिंह (30) और उसके भाई गुरपेज सिंह (28) की प्रीतनगर गांव में हत्या के बाद परिजनों और ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया था। देर शाम डीएम की अनुमति के बाद शवों का पोस्टमार्टम हुआ।

बुधवार की सुबह पुलिसकर्मियों ने दोनों शव उनके घर पहुंचाए। गांव में बवाल की आशंका को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया था। सुबह नौ बजे मृतक गुरकीर्तन सिंह और गुरपेज सिंह का गांव के पास श्मशान घाट में अंतिम संस्कार किया गया। वहां पर सीओ सिटी अमित कुमार पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष संदीप चीमा, भाजपा नेता अजय तिवारी, विक्रमजीत सिंह आदि थे।
... और पढ़ें

उत्तराखंड : पहले दो युवकों ने महिला का दुष्कर्म करने वाले युवक को पीटा, फिर खुद बनाया शिकार

एक महिला ने तीन लोगों पर दुष्कर्म कर अश्लील वीडियो बनाने का केस दर्ज करवाया है। महिला का आरोप है कि जब उसके साथ पहली बार दुष्कर्म हुआ तो मोहल्ले के दो लोगों ने आरोपी की जमकर पिटाई की थी। इसके बाद इन दोनों युवकों ने भी उसके साथ दुष्कर्म किया।

जिला बिजनौर निवासी एक महिला ने कहा कि उसका पति विदेश में नौकरी करता है। वह अपने दो बच्चों के साथ घर में अकेली रहती है। कुछ समय पहले उसकी पहचान मोहल्ला नई बस्ती के निकट रहने वाले एजाज से हुई। 30 मई की रात एजाज उसके घर में घुसा और दुष्कर्म किया।

शोर मचाने पर पहुंचे मोहल्ले के कासिम और फैसल ने एजाज को पकड़कर पीटा। एजाज ने भविष्य में गलती न करने का वादा किया। उसी दिन से कासिम और फैसल उस पर बुरी नजर रखने लगे। इसके बाद दो जून की रात कासिम और फैसल उसके घर में घुसे और दोनों ने दुष्कर्म किया।

उन्होंने मोबाइल से उसकी अश्लील वीडियो भी बना ली। उसने घटना की जानकारी अपने माता-पिता को दी तभी से वह अपने मायके में रह रही है। अब दोनों आरोपी वीडियो की आड़ में उस पर शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव बना रहे हैं। कोतवाल जेएस देउपा ने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।
... और पढ़ें

उत्तराखंड डबल मर्डर: पिता की आंखों के सामने हुई जिगर के टुकड़ों की हत्या, खून से लथपथ शव देख सहमे लोग, तस्वीरें...

उत्तराखंड के रुद्रपुर में गुरकीर्तन सिंह और गुरपेज सिंह की हत्या से पूरा गांव सहमा हुआ है। दोहरे हत्याकांड की दास्तां जिसने भी सुनीं, वह भौचक्का रह गया। ग्रामीण दौड़े-दौड़े घटनास्थल पर पहुंच गए। आसपास के लोगों के अनुसार हत्यारोपियों ने पिता की आंखों के सामने जिगर के टुकड़ों की गोली मारकर हत्या कर दी। निहत्थे पिता चाहकर भी कुछ नहीं कर सके। 

मृतक गुरकीर्तन सिंह और गुरपेज सिंह अपने व्यवहार से पूरे गांव में प्रिय थे। हर कोई उनकी बातों को और खेती के कामकाज का कायल था। मंगलवार को जिस समय मृतक गुरकीर्तन सिंह ट्रैक्टर चला रहे थे और उनका छोटा भाई मेड़ बना रहा था। उस समय पिता अजीत सिंह दूर एक पेड़ के नीचे छांव में बैठे थे।

उत्तराखंड: मेड़ के विवाद में दो किसान भाइयों की गोली मारकर हत्या, आरोपी फरार, गांव में तनाव की स्थिति

उन्होंने अपने दोनों बेटों से घर चलकर खाना खाने के लिए कहा था। तीनों कुछ देर बाद घर के लिए निकलते इससे पहले राकेश मिश्रा उर्फ पप्पू अपने भतीजों के साथ मौके पर पहुंचा और ताबड़तोड़ तीन चार राउंड फायरिंग कर गुरपेज को मौत के घाट उतार दिया।

इसके बाद गुरकीर्तन की गोली मारकर हत्या कर दी थी। मृतक के पिता पेड़ के नीचे से उठकर जब तक घटनास्थल पर पहुंचे हत्यारोपी फरार हो चुके थे। उन्होंने बेटों को बचाने के लिए ग्रामीणों से गदद की गुहार भी लगाई। एक बेटे की अस्पताल और दूसरे बेटे की मौके पर ही मौत हो गई। दो बेटों की मौत से पिता के आंसू थम नहीं रहे थे। वह कभी खुद को कोसते तो कभी हत्यारोपियों को अंजाम भुगतने की धमकी देते दिखे।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: मेड़ के विवाद में दो किसान भाइयों की गोली मारकर हत्या, आरोपी फरार, गांव में तनाव की स्थिति

उत्तराखंड में रुद्रपुर कोतवाली थाना क्षेत्र के प्रीतनगर गांव में मंगलवार को मेड़ के विवाद में दो किसान भाइयों की गोली मारकर हत्या कर दी गई। एक भाई की मौके पर जबकि दूसरे ने निजी अस्पताल में मौत हो गई। हत्या के बाद आरोपी फरार हो गया। सूचना पर एसएसपी सहित अन्य अधिकारियों ने घटनास्थल पर पहुंचकर जानकारी ली। गांव में तनाव की स्थिति को देखते हुए भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है। दिनदहाड़े हुई इस वारदात से गांव में सनसनी फैल गई।

उत्तराखंड: नौगांव में पत्नी ने की पति की हत्या, कुल्हाड़ी से गर्दन पर वार कर उतारा मौत के घाट

जानकारी के अनुसार ग्राम प्रीतनगर निवासी अजीत सिंह और राकेश मिश्रा उर्फ पप्पू की बहन के खेत एक दूसरे की जमीन से सटे हैं। मंगलवार को अजीत सिंह के बेटे गुरकीर्तन सिंह (30) और गुरपेज सिंह (28) धान के खेत तैयार कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने  राकेश की बहन की जमीन के बगल में मेड़ बना ली। राकेश मौके पर पहुंचा और मेड़ देखकर आग बबूला हो गया। देख लेने की धमकी देकर वह चला गया।

थोड़ी देर बाद वह अपने दो भतीजों के साथ राइफल लेकर पहुंचा। उसने गुरपेज को सड़क पर बुलाया और उस पर दो गोलियां दाग दीं। गुरकीर्तन सिंह वहां पहुंचा तो आरोपी ने उसे भी गोली मार दी। गुरकीर्तन की मौके पर मौत हो गई, जबकि गुरपेज ने एक निजी अस्पताल में दम तोड़ दिया। घटना के बाद आरोपी फरार हो गए। सूचना पर एसएसपी डीएस कुंवर, एसपी सिटी ममता बोहरा, एसपी क्राइम मिथिलेश सिंह भी मौके पर पहुंचे। एसएसपी ने बताया कि मुख्य आरोपी राकेश का भाई काठगोदाम थाने में दरोगा है। 
... और पढ़ें
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00