बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
धन - धान्य प्राप्ति हेतु बगलामुखी जयंती पर कराएं सामूहिक 36000 मंत्रों का जाप
Myjyotish

धन - धान्य प्राप्ति हेतु बगलामुखी जयंती पर कराएं सामूहिक 36000 मंत्रों का जाप

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

पत्नी के भरण पोषण मामले में फरार वारंटी दबोचा

बागेश्वर। राजस्व पुलिस ने पत्नी के भरण पोषण के मामले में फरार चल रहे वारंटी को पकड़ लिया है। राजस्व उप निरीक्षक जगत सिंह कोरंगा ने बताया कि नंदन सिंह की पत्नी ने तीन साल पहले राजस्व पुलिस में भरण पोषण का मामला दर्ज कराया था।

घरेलू विवाद के बाद आरोपी नंदन सिंह पुत्र हीरा सिंह सात क्वैराली निवासी को पत्नी के भरण पोषण का खर्चा देना था। परंतु खर्च देने के बजाय वह घर से फरार हो गया था। तीन साल बाद घर आने पर राजस्व पुलिस को उसके घर में होने की सूचना मिली ।

इस पर राजस्व विभाग ने शुक्रवार की सुबह चार बजे उसके घर से दबिश देकर गिरफ्तार कर लिया। बाद में उसे शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया गया।
... और पढ़ें

परचून की दुकान में 33 हजार की अंग्रेजी शराब बरामद

घास काटने गई महिला पेड़ से गिरकर घायल

उत्तराखंड: नौ साल के बच्चे ने चिढ़ाया तो गुस्से से भर गया युवक, बैट से पीटकर कर दी हत्या

उत्तराखंड के बागेश्वर में कपकोट थाना क्षेत्र के सूपी गांव में घर में घुसे एक युवक ने नौ वर्षीय बालक की क्रिकेट के बल्ले से पीट कर हत्या कर दी। ग्रामीणों की सूचना के बाद पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया। उसे न्यायालय में पेश करने के बाद अल्मोड़ा जेल भेज दिया गया है। हत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है। बेटे की मौत के बाद परिवार सदमे में है।

पुलिस के अनुसार सूपी गांव का रहने वाला राकेश कुमार (9) पुत्र मंगल राम 25 जनवरी की रात बड़े भाई भरत कुमार (15) के साथ कमरे में बैठकर टीवी देख रहा था। इसी दौरान पड़ोस में रहने वाला कैलाश राम (20) पुत्र मलक राम खिड़की के रास्ते कमरे में घुसा।

उसने आते ही कमरे में रखा क्रिकेट का बैट उठाया और राकेश के सिर पर चार-पांच वार किए जिससे मासूम राकेश बेहोश हो गया। भरत अपने माता-पिता को बुलाने दूसरे कमरे की ओर दौड़ा। इस दौरान आरोपी ने राकेश को उठाकर घर के अंदर रखी अटैची में डालकर बंद कर दिया और भाग गया।

माता-पिता ने राकेश को अटैची से बाहर निकाला और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कपकोट ले गए। वहां से डॉक्टरों ने उसे हायर सेंटर भेज दिया। हल्द्वानी ले जाते राकेश ने अल्मोड़ा के पास दम तोड़ दिया।
... और पढ़ें
मृतक राकेश मृतक राकेश

ऑनर किलिंग: पिता ने ही किया गर्भवती बेटी का कत्ल, दफनाए गए शव को निकाला, तब सामने आया सच

कांडा के एक गांव में खुदकुशी की बात प्रचारित करके दफनाई गई गर्भवती किशोरी की हत्या उसके ही पिता ने की थी। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में किशोरी के पेट में 16 हफ्ते का गर्भ होने की पुष्टि हुई है।

उत्तराखंड: गर्भवती किशोरी की मौत, तीन लोगों पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज, पुलिस ने गड्ढे से निकलवाया शव

आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया और पुलिस ने उसे हिरासत में भी ले लिया है। किशोरी को गर्भवती किसने किया था यह पता लगाने के लिए पुलिस अब कुछ लोगों के डीएनए सैंपल लेने के तैयारी कर रही है। आरोपित को रविवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा। 

एसपी रचिता जुयाल ने संज्ञान में मामला आने पर उसकी छानबीन शुरू कराई। इधर, नौ जुलाई को किशोरी की मां ने कांडा थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ उसकी नाबालिग बेटी से दुष्कर्म कर उसे खुदकुशी के लिए प्रेरित करने की तहरीर दी, जिसके आधार पर थाना कांडा में आईपीसी की धारा 376/306 और 5 (एल)/6 पॉक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया गया।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: गर्भवती किशोरी की मौत, तीन लोगों पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज, पुलिस ने गड्ढे से निकलवाया शव

उत्तराखंड के बागेश्वर जिले में कांडा के एक गांव में गर्भवती किशोरी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। परिजनों का कहना है कि उसके साथ दुष्कर्म हुआ था इसी कारण उसने आत्महत्या की है। हालांकि उन्होंने किसी को भनक नहीं लगने दी और किशोरी के शव को दफना दिया।

इसका पता चलने पर पुलिस ने शव को गड्ढे से निकलवा लिया है। मृतका की मां ने तीन लोगों के खिलाफ दुष्कर्म, पॉक्सो अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कराया है। परिजनों की ओर से मामला छिपाए जाने के कारण किशोरी की मौत की गुत्थी उलझ गई है।

संदिग्ध परिस्थितियों में मरी किशोरी गांव में अपने दादा-दादी के साथ रहती थी और उसके माता-पिता तीन किमी दूर दूसरे गांव में रहते थे। एसपी रचिता जुयाल को बुधवार को सूचना मिली थी कि कांडा तहसील क्षेत्र के एक गांव की गर्भवती किशोरी लापता है।

इस पर उन्होंने बृहस्पतिवार को कपकोट की सीओ संगीता, कांडा के एसओ प्रह्लाद सिंह को पुलिस बल के साथ गांव भेजा। पहले तो परिजन घटना से इंकार करने लगे लेकिन पुलिस की सख्ती के आगे टूट गए। उन्होंने बताया कि 17 साल की बेटी की मौत हो गई थी।
... और पढ़ें

बागेश्वर में बुजुर्ग महिला की बेरहमी से हत्या, भारी हथियार से सिर कूचकर उतारा मौत के घाट

उत्तराखंड के बागेश्वर में कपकोट थाना क्षेत्र के दुर्गम और सांसद गांव सूपी में लूट के इरादे से धारदार और भारी हथियार से सिर कूचकर बुजुर्ग महिला की हत्या कर दी गई। शांत इलाके में हुए इस बर्बर हत्याकांड से लोग सहमे हुए हैं।
 
इधर, पुलिस ने पंचनामा भरने के बाद शव पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है। वारदात के बाद से लापता पड़ोसी के खिलाफ महिला के बेटे की तहरीर पर पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज करके आरोपी की तलाश में दबिश देनी भी शुरू कर दी है।

कपकोट थाना क्षेत्र के सांसद ग्राम सूपी में लछम सिंह की पत्नी सरुली देवी (67) की हत्या कर दी गई। सुबह बहू कमला देवी चाय देने सास के कमरे में गई तो घटना का पता चला। सूचना पर एसपी प्रीति प्रियदर्शिनी, सीओ महेश चंद्र जोशी, एसओ सुखवंत सिंह ने भी मौका मुआयना किया।
... और पढ़ें

पत्नी के थे किसी और से संबंध, पति को पता चल गया तो उसने रची साजिश और खेला खूनी खेल

नाबालिक बालिका के साथ छेड़छाड़ करने वाले आरोपी को जेल भेजा

बागेश्वर। किशोरी से छेड़छाड़ करने और जान से मारने की धमकी देने के आरोपी को पुलिस ने नया सरयू पुल बागेश्वर से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस के अनुसार बागेश्वर शहर निवासी एक महिला ने थाना कोतवाली में तहरीर देकर उसके साथ रहने वाले उसके मुंह बोले भाई पर उसकी नाबालिक बेटी के साथ छेड़छाड़ व गाली-गलौच करने और जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है।

तहरीर के आधार पर पुलिस ने आरोपी दिनेश कुमार के खिलाफ धारा- 354(क)/323/504/506 भादवि व 7/8 पॉक्सो अधिनियम के तहत केस दर्ज कर लिया। पुलिस ने आरोपी को नया सरयू पुल बागेश्वर से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी को जिला एवं सत्र न्यायाधीश के न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे 14 दिन के न्यायिक अभिरक्षा में जिला कारागार अल्मोड़ा भेज दिया है। आरोपी को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में उप निरीक्षक निशा पांडेय, वीरेंद्र गैड़ा, नरेंद्र गोस्वामी आदि शामिल थे।
... और पढ़ें

4.03 ग्राम स्मैक के साथ स्मैक तस्कर को गिरफ्तार किया


बागेश्वर। हल्द्वानी से स्मैक लाकर बागेश्वर में बेच रहे एक स्मैक तस्कर को पुलिस ने दबोच लिया है। तस्कर डिग्री कॉलेज के छात्रों को स्मैक बेचता था। उसके पास से 4.03 ग्राम स्मैक बरामद हुई है। जिसकी कीमत पचास हजार रुपये आंकी गई है। बागेश्वर जिले में स्मैक बेचने का यह पहला मामला बताया जा रहा है।

पुलिस को लंबे समय से बागेश्वर में स्मैक तस्करों द्वारा स्मैक की खरीद फरोख्त की सूचना मिल रही थी। पुलिस स्मैक तस्करों पर नजर रखे थी। शनिवार को पुलिस ने राजकीय स्नाकोत्तर महाविद्यालय बागेश्वर के गेट के पास से एक स्मैक तस्कर नीरज सिंह कपकोटी निवासी गैरखेत, कपकोट को गिरफ्तार कर लिया। तस्कर के पास से पुलिस ने 4.03 ग्राम स्मैक बरामद की है।

आरोपी ने बताया कि वह हल्द्वानी से स्मैक लाकर बागेश्वर में महंगे दामों में बेचता था। पुलिस ने इस मामले में थाने में धारा- 8/22 एनडीपीएस एक्ट पंजीकृत किया है। पुलिस के मुताबिक जिले में स्मैक तस्करी का यह पहला मामला है। स्मैक तस्कर को गिरफ्तार करने वाली टीम में उप निरीक्षक अकरम अहमद, संतोष राठौर, रमेश गढ़िया शामिल हैं।

हल्द्वानी से लाता था स्मैक
बागेश्वर। हल्द्वानी, अल्मोड़ा के बाद अब बागेश्वर में भी स्मैक तस्कर सक्रिय हो गए हैं। पुलिस के मुताबिक पकड़ा गया स्मैक तस्कर नीरज सिंह कपकोटी ग्रेजुएट है। वह पिछले दो साल से स्मैक की तस्करी कर रहा है। पुलिस पूछताछ में नीरज ने बताया कि वह हल्द्वानी से स्मैक लाता है और बागेश्वर में डिग्री कॉलेज के छात्रों को बेचता है। 23 साल का यह तस्कर काफी शातिर है।
... और पढ़ें

महिला पर जानलेवा हमला करने वाले को सात साल कैद

बागेश्वर। अपर सत्र न्यायाधीश की अदालत ने महिला पर जानलेवा हमले के आरोपी को दोषी करार देते हुए सात साल की कैद और 20 हजार रुपये जुर्माने की सजा दी है।

अभियोजन पक्ष के अनुसार चार जनवरी 2019 को मुन्नी देवी पत्नी नंदा बल्लभ बागनाथ मंदिर के पास गरीबों को वस्त्र बांट रही थी। इस बीच खीम सिंह मेहरा निवासी चौखुटिया ने उस पर चाकू से जानलेवा हमला कर दिया। महिला ने खुद को बचाने की कोशिश की तो उसके हाथ, सिर पर गंभीर चोटें आई। बाद में महिला के पुत्र व अन्य राहगीरों ने उसको बचाकर जिला अस्पताल में भर्ती कराया था जहां उसको 24 टांके लगे थे।

इधर पुलिस ने आरोपी को गोमती पुल के समीप टैक्सी स्टैंड के पास से पकड़ लिया था। इधर अभियोजन ने छह गवाह पेश किए। गवाहों और दलीलों को सुनने के अपर सत्र न्यायाधीश कुलदीप शर्मा की अदालत ने आरोपी को दोषी करार देते हुए सात साल की सजा और 20 हजार रुपये जुर्माने की सजा दी है। अभियोजन पक्ष की ओर से जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी आबिद हसन और सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता चंचल पपोला ने पैरवी की।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X