विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Uttarakhand LockDown: रुड़की के तीन गांव की 17,500 की आबादी पर नजर रखने को टीमें तैयार

उत्तराखंड में रविवार को पांच और जमाती कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए। प्रदेश में कुल 27 मरीज संक्रमित हो चुके हैं।

6 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

बागेश्वर

मंगलवार, 7 अप्रैल 2020

Uttarakhand Lockdown: एसपी ने थानों में बनाया सामुदायिक भोजनालय, भूखे लोगों को कराया जा रहा भोजन

पुलिस अधीक्षक रचिता जुयाल ने असहाय लोगों की मदद के लिए अहम फैसला लिया है। एसपी ने जिले के सभी थानों के भोजनालयों को सामुदायिक भोजनालय बना दिया है। इनमें भूखे लोगों को भोजन कराया जा रहा है। पुलिस असहाय लोगों को राशन भी बांट रही है।

लॉकडाउन के समय सख्ती दिखा रही जिले की पुलिस जरूरतमंदों की मदद के लिए भी आगे आई है। पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर सभी थानों के भोजनालयों में भूखे लोगों को भोजन कराया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक खुद इस व्यवस्था का जायजा भी ले रही हैं।

एसपी का कहना है कि जिले में कोई भी भूखा न रहे, इसके लिए थाने के भोजनालयों में लोगों को भोजन कराया जा रहा है। पुलिस गरीब/मजदूर/असहाय लोगों को राशन भी वितरित कर रही है। जिले के थाना क्षेत्रों में सौ से अधिक परिवारों को राशन वितरित किया गया है। थाने के भोजनालयों में सुबह 07 बजे से दोपहर एक बजे तक और शाम को 7 बजे से रात 10 बजे तक भोजन कराया जा रहा है।
... और पढ़ें

हिमालयी क्षेत्र में हुई बारिश

कौसानी में फंसे बागाली पर्यटकों ने लगाई घर भेजने की गुहार

गरुड़/कौसानी/बागेश्वर। लॉकडाउन के चलते 35 बंगाली पर्यटकों समेत कुल 120 पर्यटक कौसानी के होटलों में ठहरे हैं। अब ये लोग जिला प्रशासन और सरकार से घर भेजने की गुहार लगा रहे हैं। डीएम रंजना राजगुरु का कहना है कि पर्यटकों के आवागमन पर केंद्र सरकार की रोक है। सैलानियों के दवा, भोजन आदि जरूरतों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है।
एक पर्यटक सुदिप्ता चक्रवर्ती ने मीडिया को जारी संदेश में कहा है कि 35 सदस्यीय पर्यटन दल कौसानी के हिमालया माउंट व्यू रिसॉर्ट में रुका है। अब दवा, पानी, भोजन की दिक्कत होने लगी है। अब सभी लोग सकुशल घर जाना चाहते हैं।
डीएम रंजना राजगुरु का कहना है कि राज्य और केंद्र सरकार के आदेश पर ही अगला कदम उठाया जाएगा। सैलानियों के दवा, भोजन आदि जरूरतों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है और इसके लिए बाकायदा अधिकारी, कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष शिव सिंह बिष्ट भी शनिवार को इन पर्यटकों से मिले। उन्होंने पर्यटकों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया। बताया कि स्थानीय प्रशासन के अलावा नवीन आलू मंडी हल्द्वानी, होटल स्वामी भानू नेगी भी इन पर्यटकों की मदद कर रहे है। इस दौरान जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी अरुण बर्थवाल, जेई संजय पांडे, हरीश रावत, एडवोकेट जगदीश आर्या, शशांक रावत आदि ने गरीब लोगों को रसद बांटी। जिला पंचायत के कर्मचारियों ने कौसानी में फिनायल आदि कीटनाशकों का छिड़काव भी किया।
ञ्जशह्वह्म्द्बह्यह्ल द्बठ्ठ रुशष्द्मस्रश2ठ्ठ
... और पढ़ें

पुड़कुनी के जंगल में आग लगाने वाला गिरफ्तार, आग की चपेट में आने से दो महिलाओं की हो गई थी मौत

बागेश्वर/कपकोट। कपकोट के पुड़कुनी (चचई) के जंगल में आग लगाने के मामले में पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है। जंगल में लगी आग की चपेट में आने से चचई गांव की दो महिलाओं की मौत हो गई थी। आरोपी 64 साल का बुजुर्ग है। उसके खिलाफ मृतका नंदी देवी के पति ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार जंगल की आग की चपेट में आने से मरी मृतका नंदी देवी के पति मदन राम निवासी चचई ने रविवार को मौके पर ही कपकोट थाने के प्रभारी निरीक्षक तिलक राम वर्मा को तहरीर दी कि उसकी पत्नी की मृत्यु धरम सिंह निवासी पुड़कुनी के जंगल में लगाई आग से हुई हैै।
मदन राम की तहरीर के आधार पर थाना कपकोट में आईपीसी की धारा 304, 26 (ख) वन अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए प्रभारी निरीक्षक ने टीम गठित की थी। उप निरीक्षक सुष्मिता राणा के नेतृत्व में गई पुलिस टीम ने आरोपी धरम सिंह को रविवार शाम पुड़कुनी से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार आरोपी ने जंगल में आग लगाने की बात स्वीकार की है। आरोपी का कहना है कि आग लगाने के बाद नई घास आती है, इसीलिए उसने जंगल में आग लगाई थी।
आरोपी को गिरफ्तार करने वाली टीम में कांस्टेबल भगत राम, कांस्टेबल त्रिभुवन मर्तोलिया शामिल थे। बता दें कि शनिवार को पुड़कुनी के जंगल में लगी आग से चचई निवासी नंदी देवी और इंदिरा देवी की मौत हो गई थी। एक अन्य महिला गंगा देवी घायल हो गई थी।
... और पढ़ें
बागेश्वर के कपकोट में पुलिस की गिरफ्त में जंगल में आग लगाने का आरोपी। संवाद न्यूज एजेंसी बागेश्वर के कपकोट में पुलिस की गिरफ्त में जंगल में आग लगाने का आरोपी। संवाद न्यूज एजेंसी

जरूरतमंदों को 14 तक एकमुश्त राशन उपलब्ध कराएं

बागेश्वर। जिले की प्रभारी मंत्री रेखा आर्य ने जिला पूर्ति अधिकारी को गरीब, मजदूर और असहाय लोगों को 14 अप्रैल तक का एकमुश्त राशन देने के निर्देश दिए हैं। मंत्री ने कोरोना संक्रमण के लिए जिले में किए उपायों के लिए जिला प्रशासन और पुलिस को शाबासी दी। कहा कि जिले में एक भी संक्रमित व्यक्ति का न होना चुस्त और दुरुस्त होने का प्रमाण है।
सोमवार को कलक्ट्रेट सभागार में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जिले में किए गए उपायों की समीक्षा करते हुए मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन की अवधि में असंगठित मजदूरों को खाद्यान की कोई कमी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने नगर और ग्रामीण क्षेत्रों में भी सफाई पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए।
कपकोट के विधायक बलवंत सिंह भौर्याल ने कस्बाई बाजारों में खाद्यान सामग्री की कमी का मामला उठाया। उनका कहना था कि ग्रामीण क्षेत्र की दुकानों में जरूरी सामान की आपूर्ति के लिए ठोस कदम उठाए जाने चाहिए। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में मनमाने दाम वसूलने का भी मामला उठाया। पालिकाध्यक्ष सुरेश खेतवाल ने कहा कि पूर्ति विभाग जरूरत के अनुसार लोगों तक राशन नहीं पहुंचा पा रहा है। इस पर मंत्री ने 14 अप्रैल तक का राशन एकमुश्त देने के निर्देश दिए। डीएम रंजना राजगुरु और एसपी रचिता जुयाल ने जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए किए जा रहे उपायों की जानकारी दी। बैठक में भाजपा जिलाध्यक्ष शिव सिंह बिष्ट, विभागीय अधिकारी मौजूद थे।
-
जिला अस्पताल की अव्यवस्था का सवाल उठा
बागेश्वर। विधायक बलवंत सिंह भौर्याल और जिला पंचायत अध्यक्ष बसंती देव ने जिला अस्पताल की अव्यवस्थाओं का मामला उठाते हुए कहा कि अस्पताल में व्हीलचेयर और स्ट्रेचर तक की व्यवस्था नहीं है। इस पर मंत्री ने तत्काल व्यवस्था करने के निर्देश दिए। अस्पताल के सीडीओ डीडी पंत ने बताया कि व्हीलचेयर और स्ट्रेचर की खरीद की जा रही है। सीएमओ डॉ. बीएस रावत ने बताया कि विभाग के पास पांच हजार मास्क पहले से थे। 20 हजार और मंगा लिए गए हैं। 544 सैनिटाइजर हैं। 305 पीपीई किट जिलेभर में उपलब्ध हैं। बताया कि जिले से पांच संदिग्ध लोगों के सैंपल भेजे गए थे, सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। संवाद
-
जिले में कोई जमाती नहीं
बागेश्वर। एसपी रचिता जुयाल ने मंत्री को बताया कि जिले से कोई भी व्यक्ति जमात में नहीं गया और न वहां से कोई यहां आया है। बताया कि तब्लीगी जमात में शामिल लोगों की पूरी सूची उन्होंने मंगाई, उसमें कोई भी जिले का व्यक्ति शामिल नहीं है। इसकी पूरी पड़ताल कर ली गई है। संवाद
-
जिले में 2900 लोग होम क्वारंटीन
बागेश्वर। डीएम रंजना राजगुरु ने मंत्री को बताया कि जिले में बाहरी क्षेत्र से लौटे करीब 2900 लोगों को होम क्वारंटीन किया गया है। इनमें से करीब 800 लोगों की 10 दिन की अवधि पूरी हो गई है। उन्होंने बताया कि जिले में इस समय 22 विदेशी नागरिक हैं। जिन्हें होटलों, गेस्टहाउसों में क्वारंटीन किया गया है। हाल में फ्रांस के दो नागरिकों को स्वदेश भेजा गया है। जिले में 120 विभिन्न राज्यों के सैलानी हैं, जिनकी पूरी व्यवस्था की जा रही है। होम क्वारंटीन किए गए लोगों पर सख्त निगाह रखी जा रही है। संवाद
... और पढ़ें

दीये से घर किए रोशन

बागेश्वर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुुक्रवार की सुबह देश के नाम संदेश में रविवार को रात 9 बजे से 9 मिनट के लिए घर की लाइट बंद कर दीये जलाने का आह्वान किया था। लोगों ने पीएम के इस आह्वान को अंगीकार किया और रविवार की रात घरों की रोशनी बंद कर दीये जलाए। पीएम ने अपनी अपील में इसे देश के 130 करोड़ लोगों के महाशक्ति जागरण का नाम दिया था। इस महाशक्ति जागरण को लोगों का भरपूर साथ मिला। घरों में लोगों ने रात 9 बजे से पहले ही दीये तैयार कर लिए थे। जैसे ही रात के 9 बजे लोग घरों की लाइट बंद कर हाथों में दीये लेकर बाहर निकल आए। लोगों ने दिवाली की तरह घरों को दीये से रोशन किया। बच्चों ने आतिशबाजी भी की। लोगों का मानना था कि पीएम ने इस संकट की घड़ी में लोगों में तनाव कम करने और एकता का संदेश देने के लिए यह कार्यक्रम रखा। यह कार्यक्रम को देश को एक सूत्र में पिरोने का काम करेगा। संवाद ... और पढ़ें

पुड़कुनी के जंगल में आग लगाने वाला गिरफ्तार

संवाद न्यूज एजेंसी बागेश्वर/कपकोट। कपकोट के पुड़कुनी (चचई) के जंगल में आग लगाने के मामले में पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है। जंगल में लगी आग की चपेट में आने से चचई गांव की दो महिलाओं की मौत हो गई थी। आरोपी 64 साल का बुजुर्ग है। इसके खिलाफ मृतका नंदी देवी के पति ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार जंगल की आग की चपेट में आने से मौत के मुंह में समाई मृतका नंदी देवी के पति मदन राम पुत्र तिलराम निवासी चचई ने रविवार को मौके पर ही कपकोट थाने के प्रभारी निरीक्षक तिलकराम वर्मा को तहरीर दी कि उसकी पत्नी की मृत्यु धरम सिंह पुत्र श्री लछम सिंह निवासी पुड़कुनी द्वारा जगंल में लगाई आग से हुई हैै। तहरीर के आधार पर थाना कपकोट में आईपीसी की धारा 304, 26 (ख) वन अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए प्रभारी निरीक्षक ने टीम गठित की। उप निरीक्षक सुष्मिता राणा के नेतृत्व में गई पुलिस टीम ने आरोपी धरम सिंह को रविवार शाम पुड़कुनी से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार आरोपी ने जंगल में आग लगाने की बात स्वीकार की है। आरोपी का कहना है कि आग लगाने के बाद नई घास आती है। इसीलिए उसने जंगल में आग लगाई। आरोपी को गिरफ्तार करने वाली टीम में कांस्टेबल भगत राम, कांस्टेबल त्रिभुवन मर्तोलिया शामिल थे। बता दें कि शनिवार को पुड़कुनी के जंगल में लगी आग से चचई निवासी नंदी देवी और इंदिरा देवी की मौत हो गई थी। एक अन्य महिला गंगा देवी घायल हो गई थी। ... और पढ़ें

कोरोना पीड़ित होने की झूठी सूचना देने वाला सिरफिरा गिरफ्तार

संवाद न्यूज एजेंसी बागेश्वर। पुलिस हेल्पलाइन 112 पर कॉल कर खुद को कोरोना पीड़ित बताने वाले सिरफिरे युवक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसके खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। उसने सूचना देते समय अपना गलत नाम बताया था। पुलिस मीडिया सेल से मिली जानकारी के अनुसार, 4 अप्रैल को अज्ञात व्यक्ति ने अपना नाम प्रकाश राम पुत्र शेर राम निवासी ओखलधार कपकोट बताते हुए पुलिस हेल्पलाइन नंबर 112 पर काॅल कर खुद को कोरोना वायरस से पीड़ित होने की सूचना दी। कपकोट पुलिस की जांच में मामला झूठा पाया गया। कपकोट थाने में आईपीसी की धारा 177/188 और 54 आपदा प्रबंधन अधिनियम में अभियोग पंजीकृत किया गया। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक रचिता जुयाल ने गलत सूचना देने वाले की तलाश और गिरफ्तारी के लिए कपकोट थाने के प्रभारी निरीक्षक टीआर वर्मा को निर्देश दिए। कपकोट की पुलिस उपाधीक्षक संगीता के पर्यवेक्षण में प्रभारी निरीक्षक कपकोट ने टीम गठित की। पुलिस ने रविवार को नरगड़ा कपकोट से गलत सूचना देने वाले युवक को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने अपना नाम योगेश हरड़िया पुत्र आन सिंह निवासी नरगड़ा कपकोट बताया। बताया कि उसने ही पुलिस हेल्पलाइन नंबर पर प्रकाश राम के नाम से कोरोना वायरस से संक्रमित होने की गलत सूचना दी थी। गिरफ्तार करने वाली टीम में उप निरीक्षक अकरम अहमद, कांस्टेबल गिरी आनंद, रमेश गड़िया शामिल थे। ... और पढ़ें

बाजारों में सामाजिक दूरी बनाकर निकल रहे लोग

चचई के मृतकों के रिश्तेदार लालकुंआ से पहुंचे बागेश्वर

बागेश्वर। कपकोट तहसील के चचई गांव की दो महिलाओं की आग से मौत के बाद बाहरी क्षेत्र से उनके रिश्तेदार यहां पहुंचने लगे हैं। रविवार को लालकुआं से बागेश्वर पहुंचे वाहन चालक समेत सात लोगों का प्रशासन के निर्देश पर स्वास्थ्य परीक्षण कराया। एसडीएम राकेश चंद्र तिवारी ने बताया कि लालकुआं से पहुंचे सभी लोग नैनीताल के जिला प्रशासन की अनुमति से आए हैं। उनके साथ चचई में मारी गई एक मृतका की लड़की भी है, जिसे बुखार की शिकायत है। अन्य स्वस्थ हैं। सभी लोगों को बागेश्वर के टीआरसी स्थित संस्थागत क्वारंटीन में लाया गया है। डॉक्टर परीक्षण कर रहे हैं। डॉक्टरों की सलाह पर ही कोई कदम उठाया जाएगा। ... और पढ़ें

देहरादून से पैदल बागेश्वर पहुंचे दो लोग, होम क्वारंटीन में रखे

बागेश्वर। दो स्थानीय युवक देहरादून से पैदल चलकर शनिवार को बागेश्वर पहुंच गए। दोनों को प्रशासन ने होम क्वारंटीन में रखा है। शनिवार रात दिल्ली और मुरादाबाद से आए पांच लोगों को केएमवीएन गेस्ट हाउस स्थित क्वारंटीन में भी रखा है। अब क्वारंटीन में रखे गए लोगों की संख्या 22 हो गई है। देहरादून से पैदल शनिवार को बागेश्वर पहुंचे कठायतबाड़ा निवासी पहुंचे चाचा, भतीजे को होम क्वारंटीन में रख दिया गया है। इन लोगों को स्थानीय लोगों की सूचना पर रविवार सुबह जिला अस्पताल में जांच की गई। दोनों लोग 30 मार्च को देहरादून से पैदल चले थे। एसडीएम राकेश चंद्र तिवारी ने बताया कि दोनों लोगों की मेडिकल जांच सामान्य पाई गई है। इसके चलते दोनों को होम क्वारंटीन में रखा गया है। बताया कि पूरे परिवार की मेडिकल जांच की गई है। इन लोगों को घर में रहने के निर्देश दिए गए हैं। बाकायदा दोनों लोगों के घर पर कोरोना संक्रमण की शर्तों को लेकर पर्चे चस्पा किए गए हैं। इनसे स्वघोषणा पत्र भरवाया गया है। 14 दिन तक होम क्वारंटीन में रहने को कहा गया है। इन पर प्रशासन की नजर हैं। लापरवाही बरतने पर कार्रवाई की जाएगी। ... और पढ़ें

गंगा की तरह भाग लेते तो शायद बच जाती नंदी और इंदिरा

बागेश्वर। गंगा देवी भाग्यशाली थी कि कपकोट के पुड़कुनी (चचई) के जंगल में धधकी आग की चपेट में आने से बच गई। गंगा ने भागकर अपनी जान बचाई। गंगा देवी ने नंदी देवी और इंदिरा देवी को भी आवाज लगाकर भागने को कहा, लेकिन काल के वश में आई दोनों महिलाएं आग से पार नहीं पा सकीं और जान से हाथ धो बैठीं।
रविवार को गंगा देवी को भी परिजन इलाज के लिए जिला अस्पताल लेकर आए। गंगा देवी के बाएं पैर में गंभीर चोट है। गंगा देवी ने बताया कि वे सुबह सात बजे घास काटने के लिए पुड़कुनी के जंगल पहुंच गई थीं। तीनों जंगल में घास काट रही थीं। नंदी और इंदिरा एक साथ घास काट रहीं थीं, वह (गंगा) उनसे काफी दूर दूसरी पहाड़ी में घास काट रहीं थीं। गंगा बताती हैं कि सुबह करीब 11 बजे जंगल में अचानक आग लग गई। धीरे-धीरे आग उनकी ओर बढ़ने लगी तो गंगा ने जान बचाने के लिए दौड़ लगा दी।
गंगा ने बताया कि उन्होंने नंदी और इंदिरा को भी भागने के लिए आवाज लगाई लेकिन दोनों भाग नहीं पाईं और आग की लपटों से घिर गईं। गंगा ने बताया कि भागने के दौरान वह कई बार गिरी लेकिन उसने हिम्मत नहीं हारी और आग के दायरे से बाहर आकर ही रुकी। वहीं से उसने नंदी और इंदिरा के आग की चपेट में आने की सूचना गांव के लोगों को दी।
नंदी के चार तो इंदिरा के हैं पांच बच्चे, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल
बागेश्वर। मृतका नंदी देवी के चार और इंदिरा देवी के पांच बच्चे हैं। दोनों के परिवार खेतीबाड़ी और मजदूरी कर परिवार का भरण, पोषण करते हैं। पोस्टमार्टम हाउस के बाहर गमगीन नंदी के पुत्र नरेश कुमार (20) ने बताया कि उन्होंने एक भैंस और एक बकरी पाली है। उन्हीं के लिए चारा लेने मां जंगल गई थी। नंदी देवी की बेटी रवीना (16), हिमानी (14), लड़के लक्ष्मण (12) और पति मदन राम का रो-रोकर बुरा हाल है। पोस्टमार्टम हाउस के बाहर बैठे मृतका इंदिरा देवी के पति तारा चंद्र आर्या ने बताया कि उनकी एक भैंस, एक गाय और दो बकरियां हैं। उन्हीं के लिए चारा लेने के लिए रोज की भांति पत्नी जंगल गई थी। तारा चंद्र आर्या का कहना है कि इस घटना से उनका परिवार बिखर गया है। वह अकेले कैसे परिवार का भरण पोषण करेंगे, इसकी चिंता सता रही है। तारा चंद्र की तीन पुत्रियां सोनी (16), रेनू (13), दिव्या (4), पुत्र राहुल (11) और कमल (8) है। मां की मौत से बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है।
वन विभाग पर लापरवाही का आरोप
बागेश्वर। कपकोट के पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण ने वन विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि जंगल सुबह 11 बजे से धधक रहा था लेकिन वन कर्मी रात 10 बजे तक मौके पर नहीं पहुंचे थे। वन विभाग के आला अधिकारियों को रात तक घटना की जानकारी नहीं थी। कहा कि फायर सीजन में भी आग बुझाने के पर्याप्त इंतजाम न होने के कारण दो महिलाओं को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। इस घटना से वन विभाग के इंतजामों पर गंभीर सवाल उठे हैं। पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण, जिला पंचायत सदस्य रेखा देवी ने मृतकों के परिवार को कम से कम 20 लाख रुपये की मदद देने की मांग सरकार से की है।
परिजनों ने लगाया जानबूझकर आग लगाने का आरोप
बागेश्वर। पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे नंदी देवी के पुत्र नरेश कुमार और मृतका इंदिरा देवी के पति तारा चंद्र आर्या ने पुड़कुनी के जंगल में जानबूझ कर आग लगाने का आरोप लगाया है। इन लोगों ने कहा है कि एक चरवाहे ने जंगल में आग लगाई थी, इसकी जांच होनी चाहिए।
गमगीन माहौल में बागेश्वर सरयू श्मशान घाट में हुआ अंतिम संस्कार
बागेश्वर। आग की चपेट में आने से मारी गईं नंदी देवी और इंदिरा देवी का रविवार को बागेश्वर के सरयू श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार किया गया। कपकोट के पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण ने दोनों के अंतिम संस्कार के लिए आर्थिक मदद दी। अंतिम संस्कार में चचई गांव के तमाम लोग शामिल थे।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us