विज्ञापन
विज्ञापन

पुलिस-प्रशासन में ठनी, किसी तरह हुई पैमाइश

ब्यूरो, अमर उजाला, वाराणसी Updated Sat, 25 Jun 2016 01:32 AM IST
ख़बर सुनें
कपसेठी थाना क्षेत्र के गहरपुर में शुक्रवार को कब्रिस्तान की जमीन की पैमाइश कराने को लेकर पुलिस और प्रशासनिक अफसरों में ही ठन गई। मामला बढ़ता देख जिलाधिकारी को हस्तक्षेप करना पड़ा, तब पैमाइश का काम शुरू हुआ। हालांकि इस दौरान एक ही पक्ष के लोग मौजूद थे।
विज्ञापन
अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) सीताराम गुप्ता के साथ एसपी ग्रामीण आशीष तिवारी, नौ थानाध्यक्ष और एक कंपनी पीएसी के साथ गहरपुर में पैमाइश कराने पहुंचे थे। पैमाइश शुरू होने के पूर्व एसपी ग्रामीण ने एसडीएम राजातालाब त्रिभुवन राम को मौके से हटा दिया। इससे नाराज एसडीएम विरोध करते हुए दूर चले गए। एसडीएम के हटते ही हरिभानपुर के वहाब अली के साथ आए लोगों ने पैमाइश कराने से इंकार कर दिया। वहाब ने अफसरों से कहा कि एसडीएम नहीं रहेंगे तो हम पैमाइश स्थल पर नहीं जाएंगे। इस पर एडीएम और एसपी ग्रामीण ने एसडीएम को मौके पर बुलाया लेकिन उन्होंने आने से इंकार कर दिया।

इसके बाद एसपी ग्रामीण ने मामले की जानकारी डीएम विजय किरन आनंद को दी। फिर डीएम के आदेश पर एसडीएम और वहाब सहित अन्य लोग पैमाइश स्थल पर गए, तब विवादित स्थल आराजी नंबर 251 रकबा 10 एकड़ 49 डिसमिल की पैमाइश की गई। इस बारे में एसपी ग्रामीण का कहना है कि किसी अधिकारी को हटाया नहीं गया था, हम सभी साथ थे। पैमाइश हो गई है, नक्शे का काम अभी फाइनल नहीं हुआ।

दोनों पक्षों को नक्शा दिखाकर उनकी राय और सहमति के आधार पर मामले का निस्तारण कराया जाएगा। उधर, एसडीएम त्रिभुवन ने कहा कि एसपी ग्रामीण ने हमें मौके से हटा दिया था। डीएम के आदेश पर पुन: पैमाइश स्थल पर गया। इसके बाद मिलकर पैमाइश कराई गई।

सबकी जुबां पर एक सवाल, एसडीएम ने जमीन पर क्यों चलाया फावड़ा
हरिभानपुर, गहरपुर, जगतीपुर, कालिका धाम, गैरहा, तारापुर और बाराडीह के लोगों की जुबान पर एक ही सवाल है कि आखिरकार एसडीएम ने विवादित स्थल पर फावड़ा क्यों चलाया। बुजुर्गों की बात सुनने की बजाय उन्हें डांट कर क्यों भगाया। शुक्रवार को गहरपुर में पैमाइश के दौरान पुलिस से लेकर सभी की जुबान पर एसडीएम द्वारा फावड़ा चलाए जाने की चर्चा होती रही।

ग्रामीणों के अनुसार हरिभानपुर निवासी सुलेमान की पत्नी नसीरुन के इंतकाल के बाद बुधवार को गहरपुर के कब्रिस्तान में शव दफनाने को लेकर हुए विवाद के बाद एसडीएम राजातालाब त्रिभुवन ने मौके पर पहुंच कर फावड़ा चलाने के साथ ही बुजुर्गों को डांटकर भगा दिया था। इसके बाद मामले ने इतना तूल पकड़ा कि दो वर्गों के बीच मारपीट के बाद हत्या हो गई। लोगों का कहना था कि एक प्रशासनिक अधिकारी को ऐसा नहीं करना चाहिए था। हालांकि, एसडीएम ने इन बातों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि मैं तो मामले का निबटारा कराने का प्रयास कर रहा था।

 
विज्ञापन

Recommended

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Varanasi

मऊ सिलेंडर हादसा: मृतकों के आश्रितों को मिलेंगे दस-दस लाख, मकान गिरने का मुआवजा भी

मऊ के वलीदपुर रसोई गैस सिलेंडर हादसे पर मंगलवार की सुबह जिलाधिकारी ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी ने कलेक्ट्रेट सभागार में प्रेसवार्ता की। उन्होंने बताया कि घटना में मारे गए लोगों के आश्रितों को दैवी आपदा के साथ-साथ

15 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

मध्य-प्रदेश सरकार में मंत्री पीसी शर्मा ने कैलाश विजयवर्गीय और हेमा मालिनी पर दिया बेतुका बयान

मध्य-प्रदेश सरकार में मंत्री पीसी शर्मा ने सड़कों के बहाने कैलाश विजयवर्गीय और भाजपा सांसद हेमा मालिनी को लेकर बेतुका बयान दिया है।

15 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree