विज्ञापन

खुले घूम रहे 20 आरोपी, फिर से गैंगवार का खतरा कायम

Bareily Bureau Updated Sun, 09 Sep 2018 12:11 AM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
खुले में घूम रहे 20 आरोपी, फिर से गैंगवार का खतरा
विज्ञापन
आवास विकास कॉलोनी में खौफ कायम, तीसरे दिन भी पुलिस तैनात
नामजद 17 आरोपियों की गिरफ्तारी मेें जुटी पुलिस की चार टीमें
फोटो-6
अमर उजाला ब्यूरो
शाहजहांपुर। सदर बाजार कोतवाली क्षेत्र की आवास विकास कॉलोनी में बृहस्पतिवार रात दो गुटों के बीच हुए गैंगवार के बाद शनिवार को तीसरे दिन भी यहां खौफ का माहौल रहा। दोनों पक्षों की ओर से 17 नामजद और तीन अज्ञात आरोपी अब भी खुले घूम रहे हैं। घनी आबादी के लिए हुए इस गैंगवार में एक पक्ष के दो (सगे भाइयों) और दूसरे पक्ष के एक व्यक्ति की गोलियां लगने से मौत हो गई थी। एहतियात के तौर पर शनिवार को भी मौके पर भारी तादाद में फोर्स तैनात रहा। इधर, अब तक आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से भी टेंशन बना हुआ है। दोनों गुटों के बीच फिर से गैंगवार की आशंका भी है।
आवास विकास कॉलोनी के मुशीर और इमरान के बीच चल रहे विवाद में बृहस्पतिवार रात दोनों गुट आमने-सामने आ गए थे। दोनों ओर से जमकर फायरिंग हुई थी। इसमें इमरान उसके भाई इसरार और दूसरे गुट के मुशीर की मौत हो गई थी। मुशीर की पत्नी परवीन ने आठ नामजद और तीन अज्ञात पर जबकि इमरान और इसरार के भाई इंतेसार ने नौ लोगों को नामजद करते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई थी। आरोपियों की गिरफ्तारी को पुलिस की चार टीमें लगाई गई हैं। इसके बावजूद पुलिस के हाथ अब तक खाली हैं। आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से कॉलोनी के लोग भी फिर से गैंगवार की आशंका को लेकर दहशत में हैं। फिलहाल दोनों पक्षों के घरों पर पुलिस तैनात है। सीओ सिटी सुमित शुक्ला का कहना है कि मामले में विवेचना चल रही है। आरोपियों की गिरफ्तारी में चार टीमें लगाई गई हैं। जल्द गिरफ्तारियां कर ली जाएंगी।
-------
कई मोबाइल नंबर सर्विलांस सेल के रडार पर
-गैंगवार मामले में फरार चल रहे 17 नामजद आरोपियों को ट्रेस करने में सर्विलांस सेल भी जुट गई है। सूत्रों की मानें तो दोनों पक्षों के एक दर्जन मोबाइल नंबर भी सर्विलांस पर लगाए गए हैं। इनमें नामजद आरोपियों के साथ उनके रिश्तेदारों और करीबियों के मोबाइल नंबर भी शामिल हैं। एक सफेदपोश की लोकेशन पर भी सर्विलांस सेल नजर रख रही है।
-------
लाइसेंसी असलहों की भी जुटाई जा रही जानकारी
- गैंगवार में 12 बोर, 315 बोर और 32 बोर के असलहों का इस्तेमाल किया गया था। मृतक मुशीर की जेब से 12 बोर के नौ जिंदा कारतूस और 315 बोर का तमंचा मिला था। घटना स्थल से भी पुलिस ने 315 बोर के दो खोखे और 12 बोर का एक तमंचा बरामद किया था। हालांकि, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मुशीर, इमरार और इसरार को 32 बोर की गोली लगने की बात सामने आई थी। इससे यह शक भी गहरा रहा है कि वारदात में लाइसेंस हथियारों का भी इस्तेमाल हुआ है। नामजद आरोपियों में किस-किस के नाम कौन सा लाइसेंसी असलह है पुलिस इसकी भी जानकारी जुटाने में लग गई है।

-------
तनवीर के नाम को लेकर बनी असमंजस की स्थिति
- गैंगवार में मरने वालों में सपा जिलाध्यक्ष तनवीर खां का ममेरा भाई मुशीर भी शामिल है। दूसरे पक्ष की ओर से इमरान और उसके भाई इसरार की जान गई। इमरान और इसरार के भाई इंतेसार की ओर से नौ लोगों के खिलाफ दर्ज कराई गई नामजद रिपोर्ट में एक आरोपी का नाम तनवीर खां भी है। ऐसे में इस नाम को लेकर भ्रम की स्थिति पैदा हो गई। तनवीर खां नाम को लेकर समझा जा रहा था कि सपा जिलाध्यक्ष की नामजदगी है। इस पर स्थिति पूरी तरह से साफ हो गई है। सपा जिलाध्यक्ष तनवीर खां की नामजदगी नहीं है। चूंकि वह मुशीर के फुफेरे भाई हैं तो उसकी पैरवी भी कर रहे हैं। ऐसे में उनकी भी जान को खतरे की बात कही जा रही है। पुलिस ने भी साफ किया है कि इमरान पक्ष की ओर से नामजद नौ आरोपियों में शामिल तनवीर खां नाम का आरोपी सपा जिलाध्यक्ष नहीं बल्कि अन्य कोई है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shahjahanpur

टीचर से तंग छात्रा ने तालाब में कूदकर दी जान

बात करने के लिए बनाता था दबाव, कई बार मोबाइल पर भी कॉल की

13 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

शाहजहांपुर में गिरी इमारत, पुलिस के शिकंजा कसते ही ठेकेदार की बिगड़ी तबीयत

शाहजहांपुर में दो मंजिला निर्माणाधीन कॉलेज की बिल्डिंग गिरने पर हुई तीन लोगों की मौत के बाद से पुलिस एक्शन में आ गई। जिलाधिकारी अमृत त्रिपाठी ने बताया है कि बचाव कार्य खत्म हो चुका है और अब पुलिस आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई में जुट गई है।

15 अक्टूबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree