विज्ञापन

प्रशासन से किया संवाद, मृतकों को सुपुर्द ए खाक पर बनी सहमति

Moradabad  Bureauमुरादाबाद ब्यूरो Updated Sun, 22 Dec 2019 01:06 AM IST
विज्ञापन
to death in sambhal volince
to death in sambhal volince - फोटो : SAMBHAL
ख़बर सुनें
संभल। जिला प्रशासन और मंडल प्रशासन के अधिकारियों ने शनिवार को रात सपा सांसद डा. शफीकुर्रहमान बर्क और शहर के चुनिंदा उलेमाओं के साथ संवाद किया। निरीक्षण भवन में बैठक हुई। मंडल प्रशासन के अधिकारियों में पुलिस महानिरीक्षक रमित शर्मा और जिला प्रशासन की ओर जिलाधिकारी अविनाश कृष्ण सिंह और पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने भाग लिया। बवाल से जुड़े मुद्दों पर बातचीत की गई।
विज्ञापन

बवाल के दौरान मौत का शिकार हुए बिलाल और शहरोज को दफन किए जाने पर रजामंदी बन गई। जबकि शनिवार को सुबह से आशंकाओं के चलते माहौल में तनावभरा माहौल था और दो मौतों का मातम भी चल रहा था। इसकी प्रतिक्रिया आने का अंदेशा होने की वजह से प्रशासन सुबह से ही सतर्क था। इसी सतर्कता के चलते वरिष्ठ अधिकारियों ने उलेमाओं के साथ संवाद किया।
संभल स्थित लोक निर्माण विभाग के निरीक्षण भवन में शनिवार को रातपौने आठ बजे से 9.40 बजे तक प्रशासन और उलेमाओं की बैठक हुई। जिलाधिकारी अविनाश कृष्ण सिंह ने कहा कि संभल ने अब तक सौहार्द की तमाम मिसालें कायम की हैं। अब तक एक-दूसरे के त्योहार में अपनी भागीदारी से आपसी सौहार्द की तमाम मिसालें कायम सामने आती रहीं हैं पर अमन को अब पता नहीं किसकी नजर लग गई। शुक्रवार को बिना नेतृत्व की भीड़ चंदौसी चौराहे पर एकत्र हुई जिसमें तमाम किशोर उम्र के बच्चे शामिल थे, जिन्हें बार बार समझाया गया। उन्होंने तथा आईजी ने माइक से इतना समझाया कि गला बैठ गया। लेकिन बच्चे नहीं मान रहे थे। ऐसी स्थिति अच्छी नहीं कही जा सकती। अब अमन के लिए एक फिर हम सबको मिलकर काम करना है।
इसकी मजबूत पहल हो गई है। उन्होंने यह भी कहा कि बवाल के दौरान जिन दो लोगों की मौत हुई है उनके परिजनों का दर्द प्रशासन समझता है। क्या हुआ है। कैसे मौत हुई है। इसकी पूरी जांच कराएंगे। पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने इसी बात को आगे बढ़ाया। उन्होंने कहा कि किसी भी निर्दोष को परेशान नहीं किया जाएगा। पीड़ितों को न्याय मिलेगा। इस बैठक में उलेमाओं ने अपनी बात रखी।
सपा के सांसद डा. शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा कि अब तक के बवाल और विवाद में अपना शहर बहुत जल गया। शहर में अब अमन कायम करो। शहर में ऐसा कोई विवाद न किया जाए जिससे अपने शहर के अमनो-अमान को आंच आए। इसके साथ ही उन्होंने बवाल के मामले में निर्दोष लोगों को फंसाए जाने और गिरफ्तार करने का मुद्दा भीे उठाया। निर्दोष लोगों को छोड़ने की मांग भी की।
शहर में अमन के लिए सबसे पहले अपनी ओर से अपील करने वाले इमाम-ए-ईदगाह मौलाना सुलेमान अशरफ हामिदी ने कहा कि जो दो युवक मौत का शिकार हुए हैं उन्हें आर्थिक मदद मिलनी चाहिए। किसी के साथ अन्याय नहीं किया जाए। इसके बाद कारी अलाउद्दीन ने अमन बनाए रखने पर जोर दिया। जियाउल मुस्तफा, कारी तंजीम अशरफ, मौलाना फाजिल मिस्वाही, कारी इरफान लतीफी, शफीक अशफाकी, मौलाना फैजान अशरफ हामिदी, कमर एडवोकेट आदि ने बैठक में भाग लिया। सपा जिलाध्यक्ष फिरोज खां ने कहा कि वह लोग पूरी तरह से अमन और शांति के लिए प्रशासन के साथ हैं। अमन के लिए लोगों के बीच अपील करेंगे। बैठक में पुलिस महानिरीक्षक ने कहा कि निर्दोष लोग नहीं फंसेंगे। इसका पुलिस प्रशासन पूरा ध्यान रखेगा लेकिन किसी भी दोषी को छोड़ा भी नहीं जाएगा।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us