घने कोहरे ने बढ़ाई मुश्किलें, ठंड का असर कम नहीं

Meerut Bureau मेरठ ब्यूरो
Updated Wed, 22 Jan 2020 12:39 AM IST
नगर में घने कोहरे के बीच जाती युवतियां।
नगर में घने कोहरे के बीच जाती युवतियां। - फोटो : MUZAFFARNAGAR
विज्ञापन
ख़बर सुनें
घने कोहरे ने बढ़ाई मुश्किलें, ठंड का असर कम नहीं
विज्ञापन

मुजफ्फरनगर। कोहरे और ठंड का कहर कम नहीं हो रहा है। मंगलवार को भी सुबह घना कोहरा छाया रहा और ठंड भी काफी रही। अधिकतम तापमान में गिरावट से ठंड का असर और ज्यादा बढ़ गया है। दिन में भी ठिठुरन कम नहीं हो रही है। साथ ही मौसम में नमी अधिक होने के चले बारिश के आसार बने हुए हैं।
करीब एक महीने से जबर्दस्त ठंड पड़ रही है। सुबह को घना कोहरा आने से जनजीवन प्रभावित हो जाता है। मंगलवार को भी अलसुबह से ही घना कोहरा छा गया था। इसका असर दोपहर तक बना रहा। घने कोहरे के चलते वाहन चालकों की मुसीबतें बढ़ी रही। बस और ट्रेन यातायात प्रभावित रहा। दोपहर में थोड़ी देर के लिए धूप निकली, लेकिन यह भी बेअसर रही। थोड़ी देर बाद ही बादल छा गए और ठंड में और ज्यादा इजाफा हो गया। जिले का अधिकतम तापमान 15.4 तथा न्यूनतम 8.2 डिग्री रिकार्ड यिा गया। आर्द्रता 100 प्रतिशत रही। बीते कई दिनों से मौसम में नमी बढ़ी हुई है। इसके चलते बारिश के आसार बन रहे हैं।

गलन वाली सर्दी से परेशान हो रहे लोग
बीते कई दिनों से गलन वाली सर्दी पड़ रही है। हाथ-पैर सुन्न हो रहे हैं। सुबह-शाम कड़ाके की सर्दी के चलते बाजार भी देरी से खुल रहे हैं और शाम को जल्दी दुकानें बंद हो जाती हैं। रात्रि आठ बजे से ही बाजार में सन्नाटा पसर जाता है।
कई ट्रेनें विलंब से पहुंची
मुजफ्फरनगर। मंगलवार सुबह घने कोहरे का असर सड़क के अलावा रेल संचालन पर भी पड़ा। यहां से गुजरने वाली कई ट्रेन देरी से पहुंची। ऋषिकेश पैसेंजर एक घंटे 11 मिनट, उत्कल एक्सप्रेस एक घंटा 47 मिनट, नौचंदी एक्सप्रेस सवा घंटे, निजामुद्दीन अंबाला पैसेंजर सवा दो घंटे, अंबाला-दिल्ली पैसेंजर एक घंटा पांच मिनट, सुपर 47 मिनट, सहारनपुर-दिल्ली पैसेंजर 44 मिनट, कलिंगा एक्सप्रेस एक घंटा देर से यहां पहुंची। देहरादून सुपर फास्ट भी सवा घंटे देरी से चल रही थी।
रोडवेज में यात्री घटे
मुजफ्फरनगर। घने कोहरे और सर्दी का असर रोडवेज की आय पर भी पड़ रहा है। अधिक ठंड होने के कारण रात्रि कालीन सेवाओं में यात्री कम सफर कर रहे है, जिससे डिपो की आय प्रभावित हो रही है। मुजफ्फरनगर डिपो के केंद्र प्रभारी राजकुमार तोमर ने बताया कि सर्दी के कारण रोडवेज बसों का लोड फैक्टर कम होने के कारण प्रतिदिन की आय करीब तीन लाख रुपये कम हो गई है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00