विज्ञापन
विज्ञापन
UP Board Result 2019 UP Board Result 2019

खादर क्षेत्र में सुलग रही कच्ची शराब की भट्ठियां, नशीले पदार्थ, केमिकल्स मिलाकर बना रहे जहर

अमर उजाला/ब्यूरो, मुजफ्फरनगर Updated Tue, 11 Sep 2018 12:26 AM IST
खादर क्षेत्र में कच्ची शराब बनाता युवक।
खादर क्षेत्र में कच्ची शराब बनाता युवक। - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
मोरना (मुजफ्फरनगर)। प्रदेश सरकार की सख्ती के बावजूद भी गंगा खादर क्षेत्र में कच्ची शराब का कारोबार नहीं रुक पा रहा है। पुरकाजी, शुक्रताल और रामराज तक फैले इलाके में शराब माफिया का राज है। यूरिया, नशीले पदार्थ मिला कर कच्ची शराब तैयार की जाती है, जिसकी आपूर्ति बाइकों से ग्रामीणों तक हो रही है। दूर के गांवों तक शराब पहुंचाने के लिए छोटे वाहनों का प्रयोग होता है।  
विज्ञापन
विज्ञापन
गंगा खादर क्षेत्र में कच्ची शराब का धंधा लघु उद्योग बन चुका है। भारी मुनाफा कमाने के लिए माफिया इलाके में जानलेवा शराब बेच रहे हैं। पुलिस प्रशासन और आबकारी विभाग की कार्रवाई सिर्फ खानापूर्ति है। शामली में हाल ही मेें कच्ची शराब पीने से छह लोगों की मौत हो गई थी। बावजूद इसके पुरकाजी से रामराज और गंगा बैराज तक शराब की भट्ठियां खादर के जंगल में सुलग रही है।

रात के अंधेरे में केन, ट्यूब, ड्रम आदि लेकर निजी वाहनों से शराब तस्कर पहुंचते हैं और बोतलें तैयार की जाती है। ग्रामीण क्षेत्र में आपूर्ति बाइकों से हो रही है। शराब में केमिकल्स आदि मिला दिए जाते है। अधिक नशा देने की वजह से इस शराब की डिमांड रहती है। क्षेत्रीय किसानों के मुताबिक रात के समय शराब तस्कर सक्रिय हो जाते हैं।

क्षेत्र के जिन गांव में अवैध शराब का धंधा रोजी-रोटी का जरिया बन चुका है, उनमें अमलावाला, चमरावाला, जिंदावाला, डुंढी घाट, खुशीपुरा, मज्जलिसपुर तोफीर, सिताबपुरी, महाराजनगर, लुकादडी, शिवपुरी, निजामपुर, हैदरपुर, रहडवा, धारीवाला, दरियाबाद, भुवापुर, कल्याणपुर, महमूदपुर डूंगर, जमालपुर बेहडा, मीरावाला, योगेंद्रनगर, बिहारगढ़ आदि शामिल है। मिलीभगत के बिना लाखों का कच्ची शराब का धंधा नहीं फैल सकता। छापे की कार्रवाई से पहले ही खादर में सूचना पहुंच जाती है।  

दलदल के रास्तों से भट्ठियों तक पहुंचते हैं तस्कर
मोरना। शराब तस्करों ने जहां भट्ठियां लगाई है, वहां पहुंचने के रास्ते कांटेदार और दलदल से भरे हैं। दो से तीन किलोमीटर पैदल चलने के बाद कच्ची शराब तैयार की जाती है। चार से पांच मीटर के चकोर गड्ढे में गुड़, लाहन आदि डाल कर तीन दिन तक सड़ा कर यह जहर बनता है।  जितना ज्यादा बदबू व कीडे़ होगा उतना ज्यादा नशा मिलता है।

कच्ची शराब पीने से शरीर रोगों की चपेट में आ जाता है। कंपन, स्किन और पेट की बीमारियों बढ़ जाती है। बतातें है कि शराब तस्कर अधिक नशे के लिए कच्ची शराब में मृत सांप, छिपकली के अलावा केमिकल्स मिला रहे है।
 गंगा खादर क्षेत्र में कच्ची शराब की भट्ठियां चलने की जानकारी मिली है। पुरकाजी और भोपा थाना प्रभारी निरीक्षकों को कार्रवाई के निर्देश दिए गए है। आबकारी विभाग की टीम भी छापे में शामिल की जाएगी। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। - आरबी चौरसिया, एसपी क्राइम मुजफ्फरनगर

Recommended

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम
UP Board 2019

UP Board Results देखने के लिए आज ही 8929470909 नंबर पर मिस्ड कॉल करें और फोन पर पाएं परिणाम

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?
ज्योतिष समाधान

कब और कैसे मिलेगी सरकारी नौकरी ?

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Meerut

अचानक बदला मौसम का मिजाज, पश्चिमी यूपी में कई जगह बूंदाबांदी व ओलावृष्टि, किसानों की चिंता बढ़ी

पश्चिमी यूपी के एकाएक बदले मौसम के मिजाज ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। यहां मेरठ मुजफ्फरनगर सहित कई जिलों में दोपहर से ही आसमान पर काले बादल छा गए -

25 अप्रैल 2019

विज्ञापन

सीएम योगी के मंत्री का ‘महागठबंधन’ पर तंज, दे दिया ये नाम

यूपी सरकार में मंत्री सुरेश खन्ना ने महागठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि ये सब फ्यूज्ड ट्रांसफॉर्मर हैं. इनकी क्या चर्चा करना. सुनिए क्या बोले बीजेपी नेता सुरेश खन्ना।

25 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election