विज्ञापन
विज्ञापन

पुलिस बोली- सेक्स के बाद चंद्रशेखर के मकान में लूटपाट का था प्लान

अमर उजाला ब्यूरो Updated Fri, 24 Jun 2016 02:07 AM IST
रिया और पुष्पेंद्र का फोटो
रिया और पुष्पेंद्र का फोटो - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
 शास्त्रीनगर के सनसनीखेज ट्रिपल मर्डर केस में सेक्स स्कैंडल के साथ लूटपाट का भी कनेक्शन सामने आया है। कातिलों का पहले सेक्स और फिर चंद्रशेखर गुप्ता के मकान में लूट करने का प्लान था। यह दावा करते हुए पुलिस ने कहा है कि वह कातिल के करीब है। बस, उसकी गिरफ्तारी बाकी है। कातिलों की गिरफ्तारी के लिये पुलिस ने माधवपुरम में अपना जाल बिछा रखा है। इसके अलावा पुलिस की एक टीम कातिल की तलाश में दिल्ली भी रवाना हुई है।
विज्ञापन
शास्त्रीनगर सेंट्रल मार्केट गोल मंदिर के सामने शनिवार को बीमा कंपनी मैनेजर चंद्रशेखर गुप्ता उनकी पत्नी पूनम गुप्ता और एक युवती रिया उर्फ रेनू का मर्डर हुआ था। पुलिस अधिकारी इस मामले को सेक्स स्कैंडल से जोड़कर जांच में जुटे थे। बुधवार को पुलिस अधिकारियों ने खुलासा किया था कि कातिल माधवपुरम के रहने वाले हैं और उन्होंने लिसाड़ीगेट से फर्जी आईडी पर सिम खरीदा था। बृहस्पतिवार को पुलिस ने दावा किया कि माधवपुरम निवासी सचिन सक्सेना और रिया एक-दूसरे को अच्छी तरह जानते थे। सचिन मौज मस्ती में ऐसा डूबा कि वह लाखों रुपये के कर्ज में डूब गया।  परिवार से उसकी अनबन हुई तो वह घर छोड़कर चला गया। देनदारी से छुटकारा पाने के लिये उसने अपने दो साथियों के साथ लूटपाट का प्लान बनाया। उसने चंद्रशेखर गुप्ता के मकान को टारगेट किया। इसी प्लानिंग के तहत शनिवार सुबह पौने नौ बजे सचिन ने रिया को नए नंबर से फोन कर शास्त्रीनगर में चंद्रशेखर के घर बुलाया था।

एक-एक कर तीनों को मार डाला
आरोपियों को उम्मीद थी कि चंद्रशेखर के घर में लाखों रुपये की नकदी और जेवरात मिलेंगे। आरोपियों ने सेक्स करने के बाद मकान में लूटपाट शुरू कर दी। विरोध करने पर आरोपियों ने पहले रिया को मारा। इसके बाद चाकू से पूनम गुप्ता की गर्दन रेतकर मौत के घाट उतार दिया। चीख-पुकार मची तो चंद्रशेखर भी अंदर पहुंचे, जहां आरोपियों ने उसे भी मारा डाला।

अलमारी में मिले थे खून के धब्बे
घटनास्थल पर जांच करने के लिये फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट और डॉग स्क्वायड को बुलाया गया था। चंद्रशेखर गुप्ता के मकान में रखी अलमारी खुली हुई थी, जिसमें खून के निशान मिले। फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट की रिपोर्ट में भी इस बात की पुष्टि हुई है। इससे स्पष्ट होता है कि कातिलों ने मकान में लूट भी की। हालांकि, इस बात का खुलासा अभी बाकी है कि लूट में कितना सामान कातिल ले गए।

सचिन और उसके दोस्तों की तलाश
पुलिस ने बृहस्पतिवार को दिनभर माधवपुरम और आसपास के इलाके में सचिन सक्सेना और उसके दो दोस्तों की तलाश की। शाम ढलते ही सादी वर्दी में माधवपुरम को छावनी में तब्दील कर दिया गया। चप्पे चप्पे पर पुलिस का पहरा था। पुलिस ने सचिन के परिवार के एक सदस्य को पूरा घटनाक्रम बताया। इस दौरान उससे मिली जानकारी के आधार पर पुलिस आरोपियों की तलाश में रिश्तेदारों और अन्य संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है।

17 दिन से सचिन नहीं आया
सचिन की बहन ज्योति ने बताया कि उनके पिता टॉफी बनाने का काम करते हैं। सचिन छह बहन-भाइयों में सबसे छोटा है। उसने लाखों रुपये का कर्ज कर लिया है। 17 दिन से वह घर नहीं आया। ज्योति ने बताया कि उसे और परिजनों को इस मामले की कोई जानकारी नहीं है। लेकिन, सचिन इतनी बड़ी वारदात नहीं कर सकता। वारदात में सचिन का नाम आया तो पूरा परिवार दहशत में आया गया।
विज्ञापन

Recommended

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश
Dholpur fresh

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Baghpat

केबीसी-11: शहीदों के नाम पर पूछा 25 लाख का सवाल, बागपत के 'लाल' बने सही उत्तर,ग्रामीणों ने जताई खुशी

सोनी टीवी पर चल रहे सीजन-11 के कौन बनेगा करोड़पति के शो में बागपत के शहीदों को याद किया गया। हालांकि हॉट सीट पर बैठे शिक्षक सही जवाब नहीं दे पाएं और हार गए।

16 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

कांग्रेस अपने परिवार में भारत रत्न समेंटना चाहती है: रविशंकर प्रसाद

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा की वीर सावरकर को भारत रत्न मिलना चाहिए। कांग्रेस सिर्फ अपने परिवार में भारत रत्न समेंटना चाहती है।

16 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree