विज्ञापन
विज्ञापन

किडनी दिलाने को करोड़ों में की डील, खुलासे से ठीक पहले दो रिसीवरों के साथ कोऑर्डिनेटरों ने की थी डील

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कानपुर Updated Wed, 17 Apr 2019 04:36 AM IST
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर
ख़बर सुनें

खास बातें

- पुलिस को दिल्ली व फरीदाबाद से मिले ये दो मरीज, इन्हें गवाह बनाने की तैयारी
- ईडी ने जांच शुरू कर एसआईटी से दोबारा मांगा ब्योरा 
किडनी कांड में स्पेशल एसआईटी को अस्पताल के कोऑर्डिनेटरों के खिलाफ अहम सुबूत मिले हैं। जांच टीम को दो ऐसे मरीज मिले हैं, जिन्हें किडनी ट्रांसप्लांट होनी थी। कोऑर्डिनेटरों ने इन दोनों के साथ करोड़ों की डील भी फाइनल कर ली थी लेकिन तभी बर्रा पुलिस ने मामले का खुलासा कर दिया। प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) ने जांच शुरू कर एसआईटी से एक बार फिर ब्योरा मांगा है। 
विज्ञापन
विज्ञापन
मामले में दिल्ली के अस्पताल पीएसआरआई के कोऑर्डिनेटर मिथुन व सुनीता वर्मा सहित फरीदाबाद के फोर्टिस अस्पताल की कोऑर्डिनेटर सोनिका की मिलीभगत सामने आई थी। पुलिस ने इन सभी को आरोपी बनाया है। एसआईटी में शामिल एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक, मामले का खुलासा होने से पहले इन तीनों ने दिल्ली व फरीदाबाद के एक-एक मरीज (रिसीवर) से सौदा पक्का कर लिया था। ये दोनों मरीज व्यवसायी है। दोनों मरीज व उनके परिजन पुलिस का साथ देने को तैयार है। पुलिस कोऑर्डिनेटरों पर शिंकजा कसने को इन्हें सरकारी गवाह बनाने की तैयारी में है। 

लखनऊ से भेजे जाने थे डोनर 
जेल में बंद टी राजकुमार और उसके साथी गौरव मिश्रा ने डोनर उपलब्ध करवाने की जिम्मेदारी भी ली थी। सूत्रों के मुताबिक, इन दोनों रिसीवरों के लिए लखनऊ से डोनर उपलब्ध कराए जाने थे। इसमें दोनों को तीन से चार लाख लाख एक डोनर का दिया जाना था।

आईएएस से पूछताछ करेगी एसआईटी  
रिसीवरों की सूची में आजमगढ़ के आईएएस की पत्नी, विधायक का भाई, कारोबारी और पुलिस अधिकारी शामिल हैं। इन सभी ने किडनी व लिवर खरीदे हैं।  इसके लिए फर्जी दस्तावेज भी लगाए हैं। इस फर्जीवाड़े की वजह से ये भी आरोपी बनाए जा सकते हैं। एसआईटी अब आईएएस से पूछताछ करने की तैयारी में है। आईएएस की पत्नी को लखनऊ के कैंपल रोड निवासी रोहित निगम ने किडनी दी थी। एसआईटी जल्द ही आईएएस व डोनर रोहित से पूछताछ करने के लिए लखनऊ जाएगी। 

ये हैं शामिल 
टी राजकुमार व गौरव मिश्रा के साथ मिलकर जुनैद ने आजमगढ़ के एक आईएएस अधिकारी की किडनी ट्रांसप्लांट करवाई थी। आजमगढ़ का एक दरोगा भी इस सूची में शामिल है। उत्तराखंड के एक विधायक के भाई व बुलंदशहर के कारोबारी के किडनी ट्रांसप्लांट इन्हीं आरोपियों ने कराए।

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

क्या आप इसका उपयुक्त समाधान नहीं खोज पा रहे हैं? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए
ज्योतिष समाधान

क्या आप इसका उपयुक्त समाधान नहीं खोज पा रहे हैं? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Kanpur

अखिलेश पर नरेश का एक और वार, बताया बिना रीढ़ का नेता, उमर और महबूबा भी निशाने पर

पूर्व सांसद नरेश अग्रवाल ने कहा कि अखिलेश यादव बिना रीढ़ के नेता हैं। जो बाप और चाचा का सगा नहीं हो पाया, वह जनता का सगा कभी नहीं हो सकता। सपा और बसपा में गठबंधन काली कमाई बचाने के लिए हुआ है और जनता यह बात समझती है।

24 अप्रैल 2019

विज्ञापन

पूर्वा ट्रेन हादसा उजागर कर रहा रेलवे की लापरवाही या फिर है कोई और वजह

उत्तजर प्रदेश के कानपुर के निकट कल रात बड़ा रेल हादसा हो गया। रात करीब 1 बजे तेज धमाका हुआ। इस धमाके के साथ ट्रेन दो हिस्से में बंट गयी। तेज झटके के कारण रात के वक्त गहरी नींद में सो रहे लोगों में दहशत फैल गई।

20 अप्रैल 2019

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election