‘हुजूर! बच्ची को मरवा देगा पीयूष’

ब्यूरो, अमर उजाला कानपुर Updated Thu, 09 Apr 2015 03:09 AM IST
jyoti murder case
ख़बर सुनें
ज्योति हत्याकांड के आरोपी रेनू ने दूसरे आरोपी पीयूष श्यामदासानी के खिलाफ बेटी और परिवार को जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है। इस संबंध में रेनू ने जिला जज की कोर्ट में अर्जी दी है। अर्जी को संज्ञान में लेते हुए कोर्ट ने एसएसपी को नियमानुसार कार्रवाई के लिए कहा है।
उधर जिला जज अरुण कुमार गुप्ता की कोर्ट में ज्योति मर्डर केस में चार्ज बनाने और रिवीजन अर्जी पर सुनवाई हुई। दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद कोर्ट ने दोनों मामलों की सुनवाई के लिए 16 अप्रैल की तारीख तय कर दी है। इधर प्रदेश सरकार ने अभियोजन की तरफ से केस लड़ने की जिम्मेदारी एडीजीसी धर्मेंद्र पाल सिंह को दी है।

ज्योति मर्डर केस के अभियुक्त पीयूष श्यामदासानी, मनीषा मखीजा, अवधेश, सोनू, रेनू और आशीष को जेल से कड़ी सुरक्षा में कोर्ट लाया गया। पिछली तारीख में मारपीट होने के कारण सतर्क पुलिस ने पीयूष और बाकी के अभियुक्तों को अलग-अलग रखा था।

शासकीय अधिवक्ता फौजदारी संतोष यादव ने बताया कि कागजात नहीं मिलने के रिवीजन और अभियुक्तों पर चार्ज तय करने के मामले में अब 16 को सुनवाई होगी। अभियुक्त रेनू कनौजिया के अधिवक्ता अहमद अली खान ने बताया कि रेनू की तरफ से कोर्ट में अर्जी दी गई।

इसमें कहा गया है कि मुख्य अभियुक्त पीयूष श्यामदासानी उसकी बच्ची और परिवारवालों की हत्या करवा सकता है। उसकी बच्ची और परिवार की सुरक्षा की जाए। एसएसपी से सुरक्षा के लिए पुलिस व्यवस्था की मांग की।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

Spotlight

Most Read

Dehradun

चार-पांच युवकों ने युवक पर पेट्रोल डालकर लगाई आग 

देर शाम श्यामपुर गांव में एक युवक पर कुछ लोगों ने पेट्रोल डालकर आग लगा दी।

24 मई 2018

Related Videos

VIDEO: पुलिस कस्टडी में एक-दूजे के हुए प्रेमी, रचाई अनोखी शादी

कन्नौज में बड़ा ही अनोखा नजारा देखने को मिला जहां एक प्रेमी जोड़े ने पुलिस की पनाह में शादी रचाई ली। दरअसल लड़की के परिवार के कुछ सदस्य इनकी शादी के खिलाफ थे। जिसके डर की वजह से इस जोड़े ने पुलिस से मदद मांगी थी।

23 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen