रक्त देकर बचा रहे जीवन

Jhansi Updated Mon, 20 Jan 2014 05:51 AM IST
झांसी। जागरूकता के कारण साल दर साल स्वैच्छिक रक्तदान करने वालों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। विगत एक दशक में जिला अस्पताल के ब्लड बैंक में रक्त देने वालों का ग्राफ एक हजार के करीब पहुंच गया है।
रक्त की आवश्यकता को देखते हुए सन् 1999 में जिला अस्पताल में ब्लड बैंक की स्थापना की गई। यहां पर खून के आदान प्रदान एवं कुछ माह तक सुरक्षित रखने की सुविधा उपलब्ध है। अज्ञानता एवं भ्रांतियों के कारण प्रारंभ में खून देने में लोग झिझक महसूस करते हैं। लेकिन, अब यह डर समाप्त होने लगा है। ब्लड बैंक के आंकड़ों के मुताबिक साल 2008 से पांच सौ से ज्यादा यूनिट खून एक साल में एकत्रित किया जा रहा है। जबकि, पूर्व में मात्र कुछ सौ यूनिट खून ही जमा किया जाता था। वहीं, साल 2013 में खून देने वालों की संख्या 903 पहुंच गई है।

‘‘ ब्लड बैंक में रक्तदान करने वालों की संख्या में जागरूकता के कारण वृद्धि हुई है। इससे अधिक से अधिक लोगों की जान बचाई जा सकेगी। ’’
डा. एम एस राजपूत
इंचार्ज, ब्लड बैंक
-------------------
वर्ष -- रक्त की यूनिट
1999 -- 29
2000 -- 172
2001 -- 167
2002 -- 223
2003 -- 213
2004 -- 316
2005 -- 438
2006 -- 272
2007 -- 363
2008 -- 540
2009 -- 517
2010 -- 534
2011 -- 676
2012 -- 681
2013 -- 903

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी के इस टोल प्लाजा पर MLA के रिश्तेदार का तांडव!

यूपी में टोल प्लाजा पर मारपीट की घटना कोई नई बात नहीं है। झांसी में टोल टैक्स मांगने पर खुद को विधायक का रिश्तेदार बताया और टोल कर्मियों की पिटाई कर दी। हालांकि ये साफ नहीं है कि ये कौन लोग हैं।

4 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls