युवती की हत्या में दो को उम्रकैद

अमर उजाला जालौन Updated Sat, 22 Apr 2017 12:20 AM IST
Life imprisonment for two young men
court shimla
दोस्त के साथ मिलकर पत्नी की हत्या करने के आरोपी पति और उसके साथी पर दोष सिद्ध हो गया। इस पर एफटीसी तृतीय नरेंद्र कुमार की अदालत ने दोनों को सश्रम आजीवन कारावास और 25-25 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है।
सात जुलाई 2104 की रात जालौन कोतवाली के गांव सारंगपुर के प्रधान रामराज सिंह गुर्जर ने कोतवाली पुलिस को सूचना दी कि उनके गांव के बाहर खेत में 20 वर्षीय युवती का शव पड़ा है। उसकी सिर कूंचकर हत्या की गई थी। सूचना पाकर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन शव की पहचान नहीं हो पाई। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने शव की पहचान के लिए कई जिलाें की पुलिस से संपर्क साधा। इस पर पिता यशरीन निवासी हमीरपुर थाना ठठिया जिला कन्नौज ने शव की शिनाख्त अपनी बेटी नरगिस (20) के रूप में की।

उसने पुलिस को बताया कि बेटी का विवाह कानपुर देहात के रहीम नगर रसूलाबाद निवासी गुलमदार उर्फ बबलू के साथ 24 मार्च 2014 को किया था। शादी के बाद भी दामाद का किसी लड़की से प्रेम-प्रसंग था। उसने दोस्त के साथ मिलकर नरगिस की हत्या कर दी। पुलिस ने पति गुलमदार उर्फ बबलू को गिरफ्तार कर उससे कड़ाई से पूछताछ की तो वह टूट गया। बताया कि सात जुलाई को पत्नी नरगिस को इलाज के बहाने पुखरायां ले जाने की बात कहकर बाइक से ले गया।

रास्ते में मोहल्ले के दोस्त छोटे उर्फ प्रदीप को भी बाइक पर बैठा लिया। रात के अंधेरे में हरिपुरा और सारंगपुर के बीच खेतों में नरगिस की सिर कूंचकर हत्या कर दी। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर दोनों को जेल भेज दिया और आरोप पत्र कोर्ट में दाखिल किया। एफटीसी जज नरेंद्र कुमार तृतीय ने दोनों पक्षों के अधिवक्ताओं की दलीलें सुनने के बाद दोनों आरोपियों को हत्या का दोषी पाया। दोनों दस साल सश्रम आजीवन कारावास और 25-25 हजार रुपये की सजा सुनाई। जुर्माना अदा न करने पर एक-एक साल की अतिरिक्त सजा भुगतनी पड़ेगी। शासन की ओर से पैरवी शासकीय अधिवक्ता मोतीलाल पाल ने की।

Spotlight

Most Read

National

शादी के उपहार में आई शुभकामना ने बनाया दुल्हन को विधवा

ओडिशा के बोलांगिर जिले के पटनागढ़ में शादी की खुशी में अचानक मातम पसर गया यहां रिसेप्शन समारोह में किसी ने गिफ्ट पैक में विस्फोटक भेज दिया।

24 फरवरी 2018

Related Videos

उरई के रिजवान के घर आई ‘तीन गुनी खुशी’

उरई के एक घर में बच्चा पैदा होने की तीन गुनी खुशी मनाई जा रही है, वजह बेहद खास है। उरई के सदन पुरी इलाके में रहनेवाले रिजवान की पत्नी ने एक साथ तीन बच्चों को जन्म दिया।

24 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen