बस एक ही सपना, फौजी कहलाने का

Ghazipur Updated Fri, 25 Jan 2013 05:30 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

विज्ञापन
गाजीपुर। नौकरी के साथ देशसेवा का जज्बा युवाओं में इस वक्त कुछ ऐसा छाया है जिले के युवा इस समय जमकर पसीना बहा रहे हैं। उन्हें न तो खेतीबारी की चिंता है और न ही पढ़ाई की। कड़ाके की ठंड की भी उन्हें कोई फिक्र नहीं है। इसलिए भोर में ही उठकर वह कोसों दूर से दौड़ लगाकर आरटीआई मैदान में पहुंच रहे हैं। कोई दौड़ लगा रहा है तो कोई कूद। कोई बीम खींच रहा है तो कोई सपाट मार रहा है। मकसद सभी का एक है, चितकबरी वर्दी पाने का।
28 जनवरी से जिले में होने जा रही सेना भरती का समय जैसे-जैसे नजदीक आ रहा, युवाओं के दिलों की धड़कन जहां तेज हो रही है। वहीं वह इस मौके को यादगार बनाने के लिए कड़ी मेहनत भी कर रहे हैं। सुबह होते ही युवा अभ्यास में जुट जा रहे हैं। शहर के आरटीआई मैदान में इस समय जो नजारा देखने को मिल रहा है, उनमें युवाओं की फौज सेना भरती के लिए पसीना बहा रही है। कोई एमए पास है तो बीकाम, बीए कर रहा है। इंटर पास अभ्यर्थी भी सेना में भरती होने की ललक पाले हैं। गुरुवार को आरटीआई मैदान में अभ्यास कर रहे नसरतपुर के तुलसी यादव, हंसराजपुर के हरिश्चंद विश्वकर्मा, मनिहारी के प्रवेश राजभर, नसरतपुर के रामजीत यादव, विशुनपुरा के अरविंद यादव, शिवधन, पांडेयपुर राधे के रवींद्र राजभर तथा संजय राजभर का कहना था कि जिले में होने जा रही इस सेना भरती से बहुत उम्मीद है। आरटीआई मैदान अपना ग्राउंड है। भरती भी यहीं होनी है। इसलिए पिछले एक माह से इस मैदान पर निरंतर अभ्यास किया जा रहा है। यदि इस मैदान से सेलेक्शन पक्का हुआ तो सेना में भरती होकर हम सभी जहां देश की रक्षा में अपना अहम योगदान देंगे, वहीं जिले का नाम भी रोशन करेंगे। घर वाले भी सेना में भरती होने के लिए उन्हें प्रेरित करते रहे हैं। अब जब मौका आया है तो घर वाले भी उनका खूब साथ दे रहे हैं।


रखें इनका ध्यान
सेना भर्ती के लिए जनपदवार तिथियां निश्चित हैं। अत: अभ्यर्थी अपने जनपद के निर्धारित तिथि में ही आएं और अनुशासन रखें।
अभ्यर्थियों को केवल एक बार ही परीक्षण का अवसर मिलेगा। अत: अपनी पूर्ण तैयारी एवं संपूर्ण मूल दस्तावेजों और उनकी छायाप्रति जरूर लाएं।
परीक्षण समाप्ति के बाद असफल अभ्यर्थियों को रेलवे, बस स्टेशन तक वापसी की भी व्यवस्था कराई गई है। अत: इसका लाभ उठाएं।
हेराफेरी का प्रयास न करें। अभ्यर्थी दोबारा परीक्षण में सम्मिलित न हों इसके लिए अभ्यर्थी के मूल दस्तावेज के पीछे एवं अंगुली पर भी स्थाई चिह्न लगाए जाएंगे।
किसी दलाल या अन्य व्यक्ति के बहकावे में ना आए। यदि कोई ऐसा वायदा करता है तो उसकी सूचना टेलीफोन नंबर 100 या मोबाइल नंबर 9454417476 पर अथवा अन्य संबंधित अधिकारियों को दें।
वीडियोग्राफी एवं पर्याप्त सीसीटीवी कैमरों की बराबर पूरी प्रक्रि या पर नजर रहेगी। अत: किसी भी प्रकार का कोई उपद्रव एवं गड़बड़ी पैदा न करें अन्यथा विधिक कार्रवाई हो सकमी है।
यही नहीं अभ्यर्थी को अव्यस्था उपद्रव या अनियमित कार्य करते चिह्नित होने पर उसका अभ्यर्थन किसी भी आगामी परीक्षाओं में सम्मिलित होने लायक नहीं रह जाएगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X