रंजिश में मारी गई किसान को गोली

अमर उजाला ब्यूरो। Updated Tue, 17 Oct 2017 01:06 AM IST
farmer shot dead
demo pic
घाटमपुर।
कोतवाली क्षेत्र के पालपुर (किरांव) गांव में किसान को गोली मारकर घायल किए जाने की घटना के पीछे रंजिश बताई गई है। कोतवाली में दो लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है। वहीं, घायल को हैलट अस्पताल (कानपुर) में भर्ती कराया गया है।

गांव निवासी बृजनाथ पाल (55) किसान है। रविवार की रात वह अपने भाई बब्बूलाल पाल के साथ निजी नलकूप से खेतों की पलेवा करने गया था। रात में दोनों भाई नलकूप के पास बैठे थे। तभी उनके गांव के ही देेवेंद्र और महेंद्र पाल पुत्रगण गंगाराम पाल वहां पहुंचे।

बृजनाथ के पुत्र शैलेंद्र पाल ने बताया कि उसके पिता बीते वर्षों हुई गांव निवासी जगदेव पाल की हत्या में गवाह हैं। जबकि, देवेंद्र और महेंद्र गंगाराम पाल की हत्या में आरोपी हैं, जिसका मुकदमा अदालत में विचाराधीन है।

शैलेंद्र ने बताया कि खेतों पर पहुंचते ही दोनों भाइयों ने पिता पर दबाव बनाया कि वह गंगाराम हत्याकांड में गवाही न दे। लेकिन, पिता ने उनकी बात मानने से इंकार कर दिया। आरोप है कि इसी बात पर नाराज होकर देवेंद्र ने ललकारा और उसके भाई महेंद्र पाल ने तमंचा निकालकर गोली चला दी। गोली बृजनाथ पाल की पीठ पर लगी और वह गिरकर तड़पने लगा।

इधर, साथ में मौजूद बृजनाथ के भाई बब्बूलाल पाल ने शोर मचाया तो हमलावर वहां से भाग निकले। गोली चलने की आवाज और शोर सुनकर गांव के लोग भी दौड़े। घायल को रात में ही सीएचसी घाटमपुर में भर्ती कराया गया, जहां से डाक्टरों ने उसको हैलट अस्पताल कानपुर रेफर कर दिया।

कोतवाल देेवेंद्र कुमार दुबे ने बताया कि बृजनाथ पाल के पुत्र शैलेंद्र पाल की तहरीर के आधार पर देवेंद्र और महेंद्र पाल के खिलाफ हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया गया है। बताया कि आरोपियों की तलाश में पुलिस दल छापेमारी कर रहा है।

Spotlight

Most Read

Meerut

महिला टीचर की अश्लील फोटो फेसबुक पर वायरल, हिरासत में आरोपी

कोतवाली क्षेत्र की रहने वाली शिक्षिका के अश्लील फोटो एक युवक ने फेसबुक पर वायरल कर दिया। मामला दो समुदाय का होने के कारण क्षेत्र में तनावपूर्ण स्थिति बनी गई।

17 फरवरी 2018

Related Videos

माता के इस मंदिर में ‘सब्जी’ चढ़ाने से होगी मनोकामना पूरी

कानपुर के बिरहाना रोड में मां तपेश्वरी मंदिर में नवरात्र पर भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी। इस मंदिर का यहां चढ़ाए जाने वाले चढ़ावे की वजह से अलग ही महत्व है। मां तपेश्वरी मंदिर में प्रसाद के तौर पर सब्जियों को चढ़ाने की मान्यता है।

5 अप्रैल 2017

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen