बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

दिव्यांग सफाई कर्मी के हमलावर और उसके भाई को जेल

ब्यूरो, अमर उजाला/ बिजनौर Updated Mon, 01 Oct 2018 11:51 PM IST
विज्ञापन
आरोपी सुलेमान।
आरोपी सुलेमान। - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
बिजनौर के नजीबाबाद में दिव्यांग सफाई कर्मचारी नवीन पर हुए जानलेवा हमले के आरोपी सुलेमान और उसके भाई को साजिश के आरोप पुलिस ने सोमवार को जेल भेज दिया। घायल सफाई कर्मचारी नवीन के स्वास्थ्य में सुधार आने से सफाई कर्मचारियों और वाल्मीकि समाज के लोगों ने राहत की सांस ली है। उधर, प्रकरण दो संप्रदाय के बीच का होने से प्रशासन ने सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए है। एक ओर जहां रात भर एडीजी नगर में ही कैंप किए रहे जबकि पुलिस और प्रशासनिक अफसर गश्त कर माहौल का जायजा लेते रहे। वहीं सोमवार को सुरक्षा की दृष्टि से नगर को छावनी में तब्दील किया गया है। हालांकि सोमवार को स्कूल, कॉलेज और बाजार आम दिनों की तरह ही खुले।
विज्ञापन




जाब्तागंज निवासी दिव्यांग सफाई कर्मचारी नवीन कुमार को सफाई करते समय रविवार की तड़के एक युवक ने चाकू से वार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया था। मामला दो संप्रदाय को होने से वाल्मीकि समाज में आक्रोश फैल गया था। दिन भर हंगामा, जाम और प्रर्दशन हुआ तो कार्यवाहक डीआईजी जे रविंद्र ने मौके पर पहुंच कर स्थिति को संभाला था। मामले की गंभीरता को देखते हुए रात में एडीजी प्रेम प्रकाश ने भी नजीबाबाद पहुंच कर पीड़ित पक्ष से बात की थी। साथ ही अफसरों को त्वरित कार्रवाई का आदेश दिया था। इस मामले में सीसीटीवी कैमरे में हुलिया कैद होने तथा सूचनाओं के आधार पर पुलिस ने चारबाग नई बस्ती निवासी सुलेमान को गिरफ्तार कर उसके पास से हमले में प्रयुक्त धारदार हथियार बरामद किया था। इसके बाद ही वाल्मीकि समाज के लोगों का गुस्सा शांत हुआ था। मगर, कुछ संगठन पुलिस के खुलासे से संतुष्ट नहीं थी और हमले का वीडियो वायरल होने से मामला ज्यादा गंभीर हो गया था। इसी को देखते हुए एडीजी प्रेम प्रकाश ने पूरी रात नगर में कैंप किया। एसडीएम डॉ. पंकज कुमार वर्मा, सीओ अरुण कुमार सिंह ने घटनास्थल के आसपास रह रहे लोगों सहित  पूरे नगर क्षेत्र को सुरक्षित वातावरण देने के लिए देर रात तक गश्त की।



एडीजी, एसडीएम और सीओ देर रात तक नगर के मोहल्ला जाब्तागंज, चारबाग और पठानपुरा में डेरा डाले रहे। नगर के चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा और ऐतिहात की दृष्टि से बिजनौर, मुरादाबाद, अमरोहा का पुलिस बल और आरएएफ की कंपनी तैनात रही। सोमवार को भी पुलिस के व्यापक सुरक्षा प्रबंध रहे। थानाध्यक्ष देवेंद्र सिंह ने बताया कि सोमवार को सुलेमान के भाई इमरान को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। उस पर हत्या की साजिश रचने का आरोप है। यह लोग मीट का कारोबार करते है। दोनों आरोपियों से पूछताछ की गई है, हत्या के कारणों की जांच की जा रही है।




पुलिस ने जारी किया नवीन का वीडियो क्लिप
नजीबाबाद। हमले में घायल दिव्यांग सफाईकर्मी नवीन को स्वास्थ्य लाभ हो रहा है। मेरठ के प्राइवेट नर्सिंग होम में प्रशासन की निगरानी में उसका उपचार चल रहा है। बीच-बीच में अफवाहों को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने सोमवार की दोपहर नवीन की मेरठ से पुलिस द्वारा लिए गए बयान की वीडियो क्लिप जारी की है। वीडियो क्लिपिंग में नवीन खुलकर बोल रहा है। नवीन ने हमलावर के नौजवान होने और पहले उसे न देखने की बात कही है।



आम दिनों के तरह खुले स्कूल और बाजार
नजीबाबाद। प्रशासन की सूझबूझ और मुस्तैदी से नगर में रविवार की रात पूरी तरह शांति बनी रही। सोमवार को तड़के आम दिनों की तरह नगर में चहल-पहल रही। स्कूल, कॉलेज और बाजार सामान्य रूप से खुले। स्कूलों में भी बच्चों की उपस्थिति औसतन रही। बाजारों में खरीदारी के लिए आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से ग्राहक पहुंचे। मगर, आम दिनों की तरह ग्राहकों में कमी देखी गई।



छावनी में तब्दील किया नगर
नजीबाबाद। इंचार्ज डीआईजी जे रविंदर, एसपी सिटी दिनेश कुमार, सीओ अरुण कुमार सिंह और थाना प्रभारी डीएस धामा ने रविवार देर शाम नगर की शांति व्यवस्था कायम रखने और शरारती तत्वों पर निगाह रखने के लिए नगर क्षेत्र में एक कंपनी आरएएफ, दो कंपनी पीएसी, गैर जनपद के तीन सीओ, छह एसओ, 46 एसआई, 100 सिपाही, 14 मोबाइल बाइक और 10 अतिरिक्त यूपी 100 वाहन सुरक्षा की दृष्टि से तैनात किए।



एसडीएम, सीओ के नेतृत्व में किया फ्लैग मार्च
नजीबाबाद। एसडीएम डॉ. पंकज कुमार वर्मा, सीओ अरुण कुमार सिंह, प्रभारी डीएस धामा के नेतृत्व में पीएसी, आरएएफ और पुलिस बल की टुकड़ी ने नजीबाबाद के पठानपुरा, चारबाग, जाब्तागंज, हवेलीतला सहित नगर के सार्वजनिक स्थानों और मुख्य बाजार से फ्लैग मार्च निकाला। एसडीएम और सीओ ने पठानपुरा और चारबाग क्षेत्र के धर्मस्थलों की देखरेख कर रहे लोगों से शरारती तत्वों पर निगाह रखने, सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने वाले शरारती तत्वों पर निगाह रखने को कहा।



अमन को बनाने में दिया योगदान
नजीबाबाद। गंगा-जमुनी रिवायत में यकीन करने वाले नागरिकों ने एक बार फिर से अफवाहों पर ध्यान न देकर नगर के अमन को कायम रखने में प्रशासन का सहयोग किया। दिव्यांग सफाईकर्मी पर कातिलाना हमले से हर कोई आहत दिखाई दिया। परिजनों से और वाल्मीकि समाज से सबकी सहानुभूति दिखाई दी। नगर में इससे पूर्व भी सतीश कांड और वर्ष 1990 के तनावपूर्ण माहौल में भी नगर की जनता ने संयम और सूझबूझ से काम लेकर नगर की सौहार्द की परंपरा को कायम रखा था।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X