बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

तीन स्तरीय सुरक्षा में होंगे मुख्यमंत्री

बरेली।   Updated Sun, 21 May 2017 01:40 AM IST
विज्ञापन
तीन स्तरीय सुरक्षा में होंगे मुख्यमंत्री
तीन स्तरीय सुरक्षा में होंगे मुख्यमंत्री - फोटो : तीन स्तरीय सुरक्षा में होंगे मुख्यमंत्री

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
मुख्यमंत्री लिए पांच घंटे एयरबेस से सर्किट हाउस तक कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। विकास भवन शनिवार शाम को ही छावनी में तब्दील कर दिया गया। बम निरोधक दस्ते ने सर्किट हाउस और विकास भवन में सघन जांच अभियान चलाया गया।  एंटी सबोटाज टीम फूलों की माला और गुलदस्तों की जांच के बाद ही किसी को सीएम तक पहुंचने देगी। बिना पहचान पत्र कोई भी विकास भवन तक नहीं पहुंच सकेगा। कोई व्यक्ति थैला और ब्रीफकेस के साथ दिखने पर पुलिस तत्काल कार्रवाई करेगी। 
विज्ञापन

सीएम का काफिला तीन स्तरीय सुरक्षा चक्र में रहेगा।  लखनऊ से स्पेशल सिक्योरिटी दस्ते ने पहुंचकर मुख्यमंत्री की सुरक्षा का जायजा लिया। भाजपा के पदाधिकारियों को भी सुरक्षा जांच से गुजरना पड़ेगा।  एनएसजी टीम शनिवार को बरेली पहुंच गई। एयरबेस, सर्किट हाउस और विकास भवन का जायजा लेने के बाद अधिकारियों के साथ सुरक्षा पर मंथन किया गया। सादी वर्दी में एलआईयू के अधिकारी तैनात रहेंगे। सुरक्षा की दृष्टि से एयरबेस से लेकर विकास भवन तक के रास्ते को पुलिस ने पांच सेक्टर में बांटा है। एयरफोर्स बेस से सौ फुटा रोड और बजरंग ढाबा तक दो सेक्टर का सुरक्षा प्रभारी एसपी क्राइम मार्तण्ड प्रकाश को बनाया गया है। वहीं बाकी तीन सेक्टरों के सुरक्षा प्रभारी शाहजहांपुर के एसपी रमेश कुमार रहेंगे। पुल, पुलिया और मोड़ पर विशेष सुरक्षा रखी जानी है। ऊंचे भवनों पर टॉफ रूफ सिक्योरिटी के लिए पुलिसकर्मियों की तैनाती रहेगी। करीब 25 से ज्यादा भवन चिह्नित किए गए हैं।  


एयरबेस के तीन किमी में तलाशे गए संदिग्ध
त्रिशूल एयरबेस के तीन किमी में कोई संदिग्ध प्रवेश नहीं कर सकेगा। शनिवार शाम से ही चेकिंग शुरू  हो गई। इज्जतनगर इंस्पेक्टर गीतेश कपिल की अगुवाई में अभियान छेड़ा गया। त्रिशूल एयरबेस के पास सीएम सुरक्षा का प्रभारी सीओ तीन इंदु प्रभा सिंह को बनाया गया है।   

14 गाड़ियों का होगा काफिला 
मुख्यमंत्री के काफिले में 14 गाड़ियां शामिल होंगी। इस काफिले के आगे डेमो स्क्वाड चलेगा, जो सुनिश्चित करेगा कि कोई प्रदर्शनकारी काफिले के सामने न आए। काले झंडे न दिखाए जाएं। इस काफिले में एंबुलेंस और जैमर भी मौजूद रहेगा। इस फ्लीट के प्रभारी सीओ रमनपाल को बनाया गया है। 

दो अस्पताल में बने सेफ जोन 
रुहेलखंड मेडिकल कॉलेज और मिशन अस्पताल को सेफ जोन अस्पताल बनाया गया है। मुख्यमंत्री के लिए ब्लड डोनर की भी व्यवस्था रखी गई है। 12 क्यूआरटी टीमें लगातार मूवमेंट में रहेंगी। एक महिला थाना, दो सर्किट हाउस और दो विकास भवन में तैनात रहेंगी। बाकी रूट पर तैनात रहेंगी। 

व्हाट्सऐप पर पुलिसकर्मी भेजेंगे तस्वीरें 
एसएसपी ने रविवार दोपहर 12 बजे सभी पुलिसकर्मियों को ड्यूटी स्पॉट पर ब्रिफिंग करने की हिदायत दी है। सभी पुलिसकर्मी व्हाट्सऐप पर तस्वीर भेजकर तैनाती की पुष्टि करेंगे। ड्यूटी पर लापरवाही करने वाले पुलिसकर्मियों को सस्पेंड करने की चेतावनी दी गई है। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us