आग से झुलसी तीन किशोरियों की मौत

Bareilly Updated Fri, 11 May 2012 12:00 PM IST
शादी के घर में गैस सिलेंडर फटने से हुआ था हादसा
बिथरी चैनपुर। गांव रामचंद्रपुर में सप्ताह भर पहले गैस सिलेंडर फटने से झुलसी तीन किशोरियों ने बृहस्पतिवार को दम तोड़ दिया। तीनों चचेरी-चहेरी बहनें थीं। एक के बाद एक तीन मौतों की खबर ने न सिर्फ परिवार बल्कि गांव के लोगों को भी हिला दिया। डेढ़ साल की एक और बच्ची की हालत नाजुक है।
घटना दो मई को हुई थी। भगवान देई की बेटी सोमवती की 30 अप्रैल को शादी हुई थी, लेकिन शादी के मौके पर आए कई रिश्तेदार उनके घर पर ही थे। दोपहर के वक्त घर के बरामदे में चूल्हे पर खाना बनाया जा रहा था। इसी दौरान पास ही रखे पांच किलोग्राम के गैस सिलेंडर ने आग पकड़ ली। जब तक पास बैठे लोग संभल पाते, सिलेंडर जोरदार धमाके के साथ फट गया। इस घटना में भगवान देई के अलावा उनकी तेरह वर्षीय बेटी भूरी, आठ वर्षीय ममता, भूपराम की 15 वर्षीय बेटी सरस्वती, फतेहगंज पश्चिमी के गांव रहपुरा के नारायनदास की 14 वर्षीय बेटी रजनी, आठ महीने का बेटा गौतम, डेढ़ साल की बेटी नीतू, आंवला के गांव रमपुरा के जयपाल की 16 वर्षीय बेटी रूपवती, छेदालाल की 14 वर्षीय बेटी पूनम और कल्यानपुर गांव के रहने वाले बुजुर्ग रामसनेही बुरी तरह झुलस गए थे। इन सभी लोगों को शहर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन बाद में पूनम को छोड़कर बाकी सभी के परिजन उन्हें घर ले गए। बृहस्पतिवार दोपहर पूनम ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। इसके कुछ ही देर बाद घर पर ही इलाज करा रही भूरी और रजनी की भी मौत हो गई। डेढ़ वर्षीय नीतू की भी हालत नाजुक है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

प्रेम में बदनामी के डर से नाबालिग ने खुद को फूंका

शाहजहांपुर में एक नाबालिग लड़की ने बदनामी के डर से आग लगाकर जान दे दी। लड़की के प्रेमी ने लड़की के घर फोन करके दोनों के प्रेम प्रसंग की बात कही। जिसके बाद लड़की ने बदनामी से बचने के लिए ये कदम उठाया।

22 जनवरी 2018