हरियाणा, उतराखंड़ और दिल्ली में राठी गैंग के सदस्यों की तलाश

Meerut Bureau Updated Fri, 13 Jul 2018 01:24 AM IST
ख़बर सुनें
बागपत/रोहतक। पूर्वांचल के डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद पुलिस ने आरोपी सुनील राठी के गुर्गों की हरियाणा, दिल्ली, उत्तराखंड में भी तलाश शुरू कर दी है। राठी गैंग से हरियाणा के युवक भी जुड़े हैं। पुलिस का संदेह है कि गैंग के यूपी के सदस्य हरियाणा में छिपे हो सकते हैं। इनसे पूछताछ के बाद वारदात में अहम जानकारी मिल सकती है।
बागपत की जिला जेल में डॉन मुन्ना बजरंगी की गोली मारकर हत्या कर दी । हत्या का आरोप सुनील राठी पर लगा था। जेल से ही पुलिस को एक पिस्टल भी मिली। वारदात के तार जेल के अंदर और बाहर जोड़ने के लिए राठी गैंग के शातिरों की पुलिस तलाश कर रही है। सुनील राठी के लिए जेल में सामान पहुंचाने वाले गिरोह के सदस्य की हरियाणा के सोनीपत और दिल्ली के बवाना में गिरोह के अन्य साथियों के छिपे होने की आशंका है। हरियाणा के अलावा बागपत के कई युवक तभी से फरार चल रहे हैं। बागपत पुलिस ने गोपनीय तरीके से सुनील राठी गैंग के इस सदस्य को पकड़ने के लिए जाल बिछा दिया है। हरियाणा के सोनीपत और दिल्ली के बवाना में भी बागपत की पुलिस टीम खोजबीन कर रही है। हरियाणा पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस बागपत पुलिस ने गिरोह के सदस्य को पकड़वाने में सहयोग मांगा है। पुलिस भी सुनील राठी गिरोह के सदस्य को पकड़वाने में सहयोग कर रही है।
एसपी जयप्रकाश का कहना है कि हरियाणा में बड़ौत के एक मामले में दबिश दी गई है। बजरंगी हत्याकांड के मामले में छानबीन चल रही है। जेल में पिस्टल कैसे पहुंची, इसकी जांच जेल प्रबंधन की ओर से कराई जा रही है।

नीरज बवाना भी है गिरोह का सदस्य
बागपत/रोहतक। दिल्ली का नीरज बवाना भी सुनील राठी गैंग का सदस्य है। वर्ष 2014 में वह कुख्यात भूरा को छुड़वाने में भी शामिल रहा । बाद में नीरज को पुलिस ने गिरफ्तार किया। नीरज बवाना ही सुनील राठी के कहने पर गिरोह के सदस्यों को हथियार उपलब्ध कराता है।

राठी को हरियाणा के गिरोह के सदस्यों से कराई जाती है वीआईपी मुलाकात
रोहतक। बागपत जेल प्रशासन की लापरवाही से ही जेल में डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या हुई। कचहरी से लेकर जेल के अंदर ही सुनील राठी की
हरियाणा और दिल्ली के गिरोह के सदस्यों से वीआईपी मुलाकात कराई जाती है। सुनील राठी द्वारा जेल से ही गिरोह संचालित करना कोई नई बात नहीं है। उत्तराखंड की जेल में बंद रहने के दौरान भी सुनील राठी ने चीनू गैंग के चार सदस्यों की हत्या कराई । इसके बाद सुनील राठी दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद रहा। इसके बाद उसे बागपत की जेल में शिफ्ट कर दिया। डेढ़ साल पहले बागपत कचहरी में पेशी के दौरान हरियाणा के सोनीपत, पानीपत और दिल्ली के आठ गिरोह के सदस्य सुनील से मिलने के लिए पहुंचे। जिन्हें बागपत की स्वाट टीम ने पकड़ लिया था। पकड़े गए आरोपियों में छह हरियाणा के थे। हरियाणा के गिरोह के सदस्यों पर है पुलिस रका फोकस
वर्ष 2014 में बागपत से भूरा फरारी प्रकरण के बाद दिल्ली, हरियाणा के सदस्यों और भूरा ने हरियाणा में ही शरण ली । गिरोह के सदस्य सद्दाम ने शरण दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी। सद्दाम ने खुलासा किया था कि गिरोह में हरियाणा के 10 से अधिक सदस्य हैं। इसलिए किसी भी वारदात में सुनील राठी का नाम आने के बाद पुलिस हरियाणा की तरफ दौड़ती है।

Recommended

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

Spotlight

Most Read

Lucknow

बसपा विधायक से एक करोड़ रंगदारी मांगने वाला गिरफ्तार, सामने आई सच्चाई इसलिए मांगे थे इतने रुपये

बलिया के रसड़ा से बसपा विधायक उमाशंकर सिंह को जान से मारने की धमकी देकर एक करोड़ की रंगदारी मांगने वाले मऊ जिला निवासी राहुल को पुलिस ने मंगलवार को गुड़गांव से दबोच लिया।

15 अगस्त 2018

Sultanpur

रेलवे-1

14 अगस्त 2018

Related Videos

कांवड़ लाने के लिए मुस्लिम शिवभक्त को मिली ये सजा, हो गया बवाल

बागपत में एक मुस्लिम युवक के लिए कांवड़ लाना मुसीबत का सबब बन गया। बताया जा रहा है कि जो मुस्लिम शख्स कांवड़ लेकर आया था उसे मस्जिद में नमाज नहीं  पढ़ने दी गई और जलील भी किया गया, देखिए ये रिपोर्ट।

11 अगस्त 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree