चोरी के कंटेंट से थीसिस तैयार करने वालों पर कसेगा शिकंजा

अमर उजाला ब्यूरो, इलाहाबाद Updated Sat, 13 Jan 2018 01:51 AM IST
Kigga screws on those who prepare the thesis from stolen content
books, jhansi hindi news - फोटो : demo
किसी शोधार्थी ने चोरी के कंटेंट से थीसिस तैयार की तो विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की ओर से तैयार किया गया सॉफ्टवेयर इस गड़बड़ी को पकड़ लेगा और चोरी किया गया कंटेंट मानक से अधिक है तो थीसिस एवार्ड नहीं होगी। शुक्रवार को इलाहाबाद विश्वविद्यालय (इविवि) के केंद्रीय पुस्तकालय एवं इंफिलिबनेट के सहयोग से सीनेट हाल में आयोजित शोध गंगा एवं एंटी प्लेज्यरिज्म पर एक आयोजित जागरूकता कार्यक्रम में यह जानकारी दी गई, जिसमें विश्वविद्यालय के सात सौ से अधिक शिक्षकों एवं शोधार्थियों ने प्रतिभाग किया।

प्लेज्यरिज्म यानी थीसिस में चोरी के कंटेंट को शामिल किया जाना। यूजीसी की ओर से लागू योजना शोध गंगा के तहत सभी केंद्रीय विश्वविद्यालय के नि:शुल्क उलपब्ध कराए गए उर्कुंड सॉफ्टवेयर ने चोरी के कंटेंट से थीसिस तैयार करने वालों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता इंफिलिबनेट, गांधीनगर गुजरात के वरिष्ठ वैज्ञानिक मनोज कुमार ने बताया कि  यूजीसी ने शोध गंगा की वेबसाइट पर सभी शोध प्रतिवेदनों को अपलोड करना अनिवार्य कर दिया है। वेबसाइट पर अब तक 1.77 लाख शोध प्रतिवेदन अपलोड हो चुके हैं। शोध गंगा का पाठक किसी भी प्रकार के शोध प्रतिवेदन को वेबसाइट पर खोजकर उसे डाउनलोड कर सकता है।

यह भी बताया गया कि यूजीसी की ओर से विश्वविद्यालयों को उर्कुंड एंटी प्लेज्यरिज्म सॉफ्टवेयर नि:शुल्क उपलब्ध कराया गया है। थीसिस एवार्ड करने से पहले उसे उर्कुंड सॉफ्टवेयर के परीक्षण से होकर गुजरना पड़ता है। सॉफ्टवेयर कुछ ही घंटों में बता देगा कि थीसिस का कितना कंटेंट चोरी किया गया है और चोरी का कंटेंट कहां से लिया गया है। अगर चोरी किया गया कंटेंट 10 फीसदी तक है तो ठीक, इससे अधिक होने पर थीसिस एवार्ड नहीं होगी। इविवि के कुलपति प्रो. आरएल हांगलू ने राष्ट्र के निर्माण में शोध की उपयोगिता पर प्रकाश डाल और कहा कि इस तरह के आयोजनों से विश्वविद्यालय के शैक्षिक वातावरण में नवीन ऊर्जा का संचार होगा। कार्यक्रम का संचालन एवं अतिथियों का स्वागत पुस्तकालयाध्यक्ष डॉ. बीके सिंह ने किया।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: मौनी अमावस्या पर संगम में डुबकी लगाने के लिए उमड़े लाखों श्रद्धालु

मौनी अमावस्या पर संगम में डुबकी लगाने के लिए लाखों श्रद्धालु इलाहाबाद पहुंच चुके हैं। संगम तट पर चल रहे माघ मेले के मद्देनजर पुलिस ने सुरक्षा के विशेष बंदोबस्त किए हुए हैं।

16 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper