विज्ञापन
विज्ञापन

एटीएम बदलकर रकम उड़ाने वाला गिरोह पकड़ा गया

अमर उजाला ब्यूरो, इलाहाबाद Updated Fri, 24 Jun 2016 01:32 AM IST
क्राइम
क्राइम - फोटो : अमर उजाला ब्यूरो, इलाहाबाद
ख़बर सुनें
एटीएम बदलकर रकम उड़ाने वाले गिरोह के मास्टर माइंड समेत चार बदमाशों को पुलिस ने पकड़ा है। तलाशी में उनके पास से 30 एटीएम कार्ड, दो बिना नंबर की पल्सर बाइक, छह मोबाइल और 19 हजार रुपये बरामद हुए। पूछताछ में शातिरों ने बताया कि एटीएम को हैंग कर देते हैं। फिर मदद के बहाने एटीएम कार्ड बदल देते और पासवर्ड देख लेते। इसके बाद रकम उड़ा देते थे। पकड़े गए शातिरों के खिलाफ सरायइनायत थाने में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई।
विज्ञापन
पुलिस लाइन में एसपी क्राइम रमाकांत प्रसाद और एसपी गंगापार राजेश श्रीवास्तव ने बताया कि सरायइनायत एसओ अमित मिश्र, एसआई आनंद कुमार वर्मा और, संतोष सिंह ने चेकिंग के दौरान प्रतापगढ़ में पूरे खुसई मोहनगंज के मनीष सिंह, अशोक नाई उर्फ मुन्ना, प्रतापगढ़ में कोतवाली सिटी के ढेरहन गांव के अनिल सिंह और प्रतापगढ़ में ही मोहनगंज खास राजपूत सब्जी मंडी निवासी मोहम्मद वसीम को चेकिंग के दौरान पकड़ लिया।

तलाशी में उनके पास दो बिना नंबर की नई पल्सर बाइक, 30 एटीएम कार्ड मिला। एक साथ बड़ी संख्या में एटीएम कार्ड मिलने के बाद पुलिस को शक हुआ तो कड़ाई से पूछताछ की गई। तब शातिरों ने बताया कि वे तीन से चार की संख्या में एटीएम बूथ में घुसते हैं। इसके बाद बांईं तरफ की ऊपर वाली बटन दबाकर एटीएम हैंग कर देते हैं। जब कोई रकम निकालने आता है तो उसकी मदद के बहाने एटीएम हाथ में लेते ही बदल देते हैं। इसी दौरान पासवर्ड भी देख लेते थे। युवक के जाने के बाद खाते से रकम उड़ा देते थे। आसपास के जनपदों प्रतापगढ़, वाराणसी, इलाहाबाद, भदोही, फतेहपुर, फैजाबाद में बाइक से घूमकर शिकार की तलाश करते थे। मनीष सिंह गिरोह का सरगना है।

उसके खिलाफ प्रतापगढ़, वाराणसी में कई मुकदमे दर्ज हैं। वे पहले भी जेल जा चुके हैं। पूछताछ में मनीष ने बताया कि वह पहले प्रतापगढ़ के विकास नामक युवक के साथ रहकर उसकी बाइक चलाता था। विकास ने ही उसे इस धंधे की ट्रेनिंग दी। विकास उसे प्रतिदिन के हिसाब से एक हजार रुपये देता था। पकड़े गए आरोपियों ने आसपास के जनपदों में हुई ऐसी कई घटनाओं में शामिल होने की बात कबूली है। एसओ सरायइनायत अमित मिश्र ने बताया कि मनीष के गांव के ज्यादातर युवक इसी धंधे में लिप्त हैं। वे एक दिन पचास से साठ हजार रुपये कमा लेते थे। महीने में दस से बीस लाख की कमाई करते थे। पकड़े गए आरोपियों के  खिलाफ मुकदमा लिखकर विधिक कार्रवाई की जा रही है।

गिरोह का मास्टर माइंड मनीष सिंह एलएलबी की पढ़ाई कर रहा है। पूछने पर बताया ताकि  पकड़े जाने पर पुलिस वालों पर रौब गांठ सके। उसने एनसीसी भी किया है। मुन्ना उर्फ अशोक भी बीए पास है। उसके गिरोह के लोग ज्यादा पढ़े लिखे नहीं हैं। वे लोगों की गाढ़ी कमाई को उड़ाने के बाद खूब अय्याशी करते थे। होटलों में रुकना और हर शौक को पूरा करना उनकी आदत बन गई थी। 

पकड़ा गया मुन्ना उर्फ अशोक नाई पहले प्रतापगढ़ स्टेशन पर चाय बेचता था। उसने मोदी को मन की बात में लिखा था कि सरकार स्टेशनों पर अवैध रूप से चना, चाय बेचने वाले वेंडरों को वैध कर दे तो इससे सरकार को करोड़ों की आय होगी, लेकिन उसकी बात नहीं सुनी गई। 
विज्ञापन

Recommended

पीरियड्स है करोड़ों लड़कियों के स्कूल छोड़ने का कारण
Niine

पीरियड्स है करोड़ों लड़कियों के स्कूल छोड़ने का कारण

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Prayagraj

प्लेटफार्म पर खड़ी प्रयागराज एक्सप्रेस के सामने गरजे रेलकर्मी

प्लेटफार्म पर खड़ी प्रयागराज एक्सप्रेस के सामने गरजे रेलकर्मी

24 अक्टूबर 2019

विज्ञापन
Prayagraj

जेई परीक्षा

24 अक्टूबर 2019

दबंग 3 का ट्रेलर लॉन्च, अपनी शादी को लेकर सलमान खान ने दिया ये जवाब

सलमान खान की फिल्म दबंग 3 का ट्रेलर लांच हो गया। मुंबई में हुए एक कार्यक्रम में 'चुलबुल पांडे' फिल्म की पूरी टीम के साथ पहुंचे। देखिए रिपोर्ट

23 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree