25 प्रधानाचार्यों के खिलाफ दर्ज होगी रिपोर्ट

ब्यूूराे, अमर उजाला, अलीगढ़। Updated Thu, 07 Dec 2017 02:02 AM IST
ख़बर सुनें
यूपी बोर्ड परीक्षा में पिछले शैक्षणिक सत्र में गड़बड़ी कराने वाले अलीगढ़ और आगरा के विद्यालयों के प्रधानाचार्यों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई ही नहीं होगी, बल्कि अब इनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज होगा। शासन द्वारा एफआईआर के इस नए आदेश के बाद यहां माध्यमिक शिक्षा महकमे में खलबली मच गई है। पिछले शैक्षणिक सत्र में अलीगढ़ के 25 व आगरा के नौ अग्रसारण केंद्रों पर गड़बड़ी हुई थी। इस कारण पूर्व में शासन ने सख्त आदेश दिया था। 
अब शासन ने दोनों जिलों के डीआईओएस को यह आदेश दिया है कि वह मुकदमा तत्काल दर्ज कराने की कार्रवाई तो करें ही और साथ ही इससे शासन व माध्यमिक शिक्षा परिषद को भी अवगत कराएं। 
यूपी बोर्ड परीक्षा के शैक्षणिक सत्र वर्ष 2017 की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की व्यक्तिगत परीक्षा में यहां और आगरा जिले में काफी ऐसे परीक्षार्थियों को व्यक्गित परीक्षा के लिए परीक्षा में शामिल करा दिया गया था, जोकि परीक्षा में शामिल होने के पात्र ही नहीं थे। अनर्हता/अहर्ता अप्राप्त छात्र-छात्राओं का विवरण ऑनलाइन अपलोड कराया गया। इससे काफी परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हो गए थे। इसकी शिकायत जब शासन स्तर से की गई तो शासन ने इन परीक्षार्थियों के रिजल्ट रोक दिए थे। साथ ही अग्रसारण केंद्रों के प्रधानाचार्यों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए थे। कार्रवाई की जद में अलीगढ़ के 25 व आगरा के नौ अग्रसारण केंद्र आए थे। शासन ने 14 सितंबर को यह आदेश दिया था कि अग्रसारण केंद्रों के प्रधानाचार्यों को निलंबित किया जाए। इन केंद्रों को अगले 10 साल तक व्यक्तिगत परीक्षार्थियों के आवेदन पत्र अग्रसारित करने व परीक्षा केंद्र बनाने से वंचित किया जाए। 

इन केंद्रों के परीक्षा सहायक व डीआईओएस ऑफिस के परीक्षा प्रभारी को अन्य जिलों के तबादला करते हुए भविष्य में इनकी तैनाती जेडी ऑफिस, डीआईओएस, बीएसए आदि महत्वपूर्ण ऑफिसों में न की जाए। तत्कालीन डीआईओएस को प्रतिकूल प्रविष्टि दी जाए। अर्ह परीक्षार्थियों के परीक्षाफल घोषित कि ए जाएं और अनर्ह परीक्षार्थियों के परीक्षाफल निरस्त किए जाएं। हाईस्कूल परीक्षा उत्तीर्ण अथवा कक्षा 11 उत्तीर्ण करने के बाद सीधे व्यक्तिगत परीक्षा के लिए इंटर के लिए आवेदन करने वाले अर्ह परीक्षार्थियों का पत्राचार का शुल्क कोषागार में जमा करा अर्ह परीक्षार्थियों का परीक्षाफल घोषित किया जाए। 
शासन के इस आदेश के बाद इस जिले में माफियाओं में खलबली मच गई थी। शासन ने आदेश पर माध्यमिक शिक्षा परिषद ने यह जानकारी मांगी थी कि जिस समय अग्रसारण केंद्रों पर गड़बड़झाला हुआ, उस समय वहां किस प्रधानाचार्य व परीक्षा सहायक की तैनाती थी।  अब शासन ने अग्रसारण केंद्रों के प्रधानाचार्यों के नाम स्पष्ट करते हुए डीआईओएस को स्पष्ट आदेश दिए हैं कि इन अग्रसारण केंद्रों के प्रधानाचार्यों/प्रबंधकों के खिलाफ तत्काल प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआईआर) भी दर्ज कराई जाए और इससे शासन के अलावा     परिषद को अवगत कराया जाए। परिषद की सचिव ने इस बाबत आदेश जारी कर दिए हैं।

इनके खिलाफ होगी कार्रवाई 
महात्मा गांधी इंटर कॉलेज विजयगढ़ के प्रधानाचार्य दिनेश कुमार, किसान इंटर कॉलेज बुढ़ासी के प्रधानाचार्य विशंभर दयाल, लै. नाहर सिंह इंटर कॉलेज कुवारसी के प्रधानाचार्य डॉ. श्यौदान सिंह, राष्ट्रीय इंटर कॉलेज गाजीपुर के प्रधानाचार्य अशोक कुमार, जनता विकास इंटर कॉलेज मथना कीलपुर के प्रधानाचार्य ओमप्रकाश शर्मा, आदर्श कृषि इंटर कॉलेज सारौल के प्रधानाचार्य हरिश्चंद्र सिंह,   बिहारीलाल भारती इंटर कॅालेज पालीमुकीमपुर के प्रधानाचार्य नरेंद्र पाल सिंह, राजकीय कन्या इंटर कॉलेज चंडौला सुजानपुर के छत्रपाल सिंह, राजकीय कन्या इंटर कॉलेज दत्ताचोली के महेशचंद यादव, राजकीय हाईस्कूल सिमरौठी की कविता सक्सेना, राष्ट्रीय विद्यालय इंटर कॉलेज खैर के रामवीर सिंह, ओपी मित्तल उमा विद्यालय खैर के अनूप कुमार मित्तल, जमुनाखंड इंटर कॉलेज टप्पल के राजेंद्र सिंह वर्मा, गंगाखंड इंटर कॉलेज खेड़ा दयालपुर के सुरेंद्र सिंह, सर्वोपयोगी इंटर कॉलेज पलसेडा के योगेश कुमार, एसजीएस इंटर कॉलेज अर्रना बझेडा देवेंद्रपाल सिंह, राजकीय कन्या इंटर कॉलेज गोधा के भजनलाल, बिसारा इंटर कॉलेज बिसारा के धनंजय सिंह, विक्रम विद्या इंटर कॉलेज बाकनेर के रवींद्र कुमार, सालपुर इंटर कॉलेज सालपुर के धर्मेंश कुमार शर्मा, राजकीय कन्या इंटर कॉलेज जट्टारी के विजय शर्मा, संकट मोचन हाईस्कूल मादक के प्रधानाचार्य रामचरन सिंह।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

Spotlight

Most Read

Chandigarh

थापर यूनिवर्सिटी से बीटेक कर रही छात्रा ने भाखड़ा में कूदकर दी जान, जानें क्यों

थापर यूनिवर्सिटी की छात्रा ने सोमवार सुबह अबलोवाल के नजदीक भाखड़ा नहर में कूदकर आत्महत्या कर ली।

16 जुलाई 2018

Related Videos

ईद से पहले एक्शन में यूपी पुलिस के अधिकारी

ईद के त्योहार से पहले प्रदेश में शांति व्यवस्था का जायजा लेने के लिए पुलिस महकमे के शीर्ष अधिकारियों ने प्रदेश के सभी जिलों में फ्लैग मार्च किया। यूपी पुलिस के डीजीपी, एडीजी लॉ एंड ऑर्डर समेत मेरठ जोन के एडीजी भी सड़कों पर फ्लैग मार्च के दौरान दिखे।

14 जून 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen