लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Agra ›   three children ran away from home in agra

घर वालों ने ये काम करने से रोका तो तीन बच्चे भागकर चले गए दिल्ली

न्यूज डेस्क, अमर उजाला आगरा Updated Mon, 15 Jan 2018 11:42 PM IST
demo pic
demo pic - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें
आगरा के कमला नगर के शांति नगर में तीन बच्चों को घर में 15 हजार रुपए की चोरी करने पर परिवारीजनों ने डांट दिया तो तीनों घर से भाग गए। इनमें दो सगे भाई हैं, तीसरा उनका चचेरा भाई। रविवार रात 1:30 बजे घर से निकल गए। 


सोमवार सुबह दिल्ली में सराय काले खां पर ऑटो चालक हसीन ने उन्हें देखा तो शक हुआ। वह उन्हें घर ले गया। इसके बाद घर फोन कर दिया। देर रात परिवारीजन उन्हें दिल्ली से ले आए।


कारोबारी के परिवार के इन बच्चों में एक 15 साल का है। वह दसवीं कर चुका है। दो उससे छोटे हैं। तीनों ने मौज मस्ती से लिए घर में ही चोरी का प्लान बनाया। एक ने तीन दिन पहले 15 हजार रुपए चोरी कर लिए। 

इसका पता परिवारीजनों को चला तो उनकी डांट लगा दी। उनके टीवी देखने पर पाबंदी लगा दी। परिवार के लोग ठीक से बोल नहीं रहे थे।

ऑटो चालक ने दिखाई समझदारी 

इस पर तीनों ने घर से भागने का प्लान बना लिया। रात के डेढ़ बजे निकल गए। आईएसबीटी से बस पकड़ी और दिल्ली पहुंच गए। वहां आटो चालक हसीन ने देखा तो शक हो गया। वह उन्हें बातों में लगाकर घर ले गया। 

देर शाम तक उन्होंने किसी का मोबाइल नंबर नहीं दिया। तब उसने छोटे बच्चे से अलग ले जाकर कहा कि तेरी मां रो रही होगी।
इस पर उसने मोबाइल नंबर दे दिया। 

हसीन की सूचना पर परिवारीजन पहुंच गए। उनके साथ चौकी इंचार्ज के अलावा पार्षद प्रदीप अग्रवाल, रवि शर्मा, समाजसेवी पंकज अग्रवाल, अमित अग्रवाल, पुलकित शर्मा, भानू शर्मा भी रहे।

कुछ भी कर लेंगे, पर घर नहीं जाएंगे

बच्चों ने दिल्ली में आटो चालक से कहा कि परिवार के लोग बहुत नाराज हैं। अब कभी घर नहीं जाएंगे। उन्होंने कहा कि वे होटल में बर्तन साफ करने का काम कर लेंगे। कुछ काम नहीं मिला तो बच्चों को ट्यूशन पढ़ा लेंगे, पर कभी घर नहीं लौटेंगे।

कमला नगर के सीसीटीवी कैमरों में साफ नजर आ रहा है कि बच्चे रात में डेढ़ बजे पैदल जा रहे हैं। उनके हाथ में अटैची भी थी। इसके बावजूद पुलिस ने उन्हें कहीं पर भी नहीं रोका। 

इस लापरवाही पर मोहल्ले को लोगों में नाराजगी है। उनका कहना है कि अगर पुलिस उन्हें टोक भी देती, तो शायद इतनी परेशानी न होती।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00