Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Agra ›   crop damaged by hailstorm, heavy rain

आसमां से बरसा कुदरत का कहर, कराह उठे किसान

Agra Bureau आगरा ब्यूरो
Updated Sun, 09 Jan 2022 10:51 PM IST
कासगंज गंजडुंडवारा क्षेत्र में मटर की फसल में गिरे ओले
कासगंज गंजडुंडवारा क्षेत्र में मटर की फसल में गिरे ओले - फोटो : KASGANJ
विज्ञापन
ख़बर सुनें
कासगंज/गंजडुंडवारा। शनिवार को दिनभर कभी रुक-रुककर तो कभी हुई झमाझम बारिश के बाद दिन रात ओलावृष्टि हुई। आसमां से कुदरत का कहर बरपा, जिससे लोग कराह उठे। जलभराव से जहां एक ओर शहरी व कस्बाई लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ा। वहीं, ओलावृष्टि और फसलों में पानी भर जाने से अन्नदाता की मुसीबतें बढ़ गईं हैं। सरसों, आलू, मटर की फसल में बेहद नुकसान है।
विज्ञापन

बारिश व ओलावृष्टि ने किसानों की मेहनत पर पानी फेर दिया है। शनिवार को रात में रुक-रुककर बारिश हुई तो रविवार को दिन में कई बार रिमझिम मेघा बरसे। जिले के गंजडुंडवारा क्षेत्र के गांव अलाहपुर, करमपुर, खरपरा, रामछितौनी, लहरा, बहोटा सहित कई क्षेत्रों में देर रात ओलावृष्टि हुई। आसमां से ओले गिरे तो मटर, चना, मसूर आदि दलहन, तिलहन की फसलों की बर्बाद हुई। बारिश से गेहूं की फसल को फायदा हो रहा था, लेकिन ओलावृष्टि से गेहूं की फसल बर्बाद हो गई। किसान बेहद परेशान नजर आए। किसानों की चिंताएं बढ़ गईं हैं। किसानों का मानना है कि फसलों की लागत निकालना मुश्किल हो जाएगा।

जलभराव से परेशान हुए लोग
बारिश से निचली बस्तियों में जलभराव हो गया है। नालियां ओवरफ्लो हो जाने से गंदापानी सड़कों पर है। शहर के मोहल्ला सिटी, गली जाटवान में जलभराव हो गया है। पानी निकासी के रास्ते गंदगी से अट गए हैं। जिससे राह निकलना दूभर हो रहा है। लोग परेशान हैं।
ओलावृष्टि व शीतलहर से बढ़ी ठंड
शनिवार रात हुई ओलावृष्टि के बाद देर रात ठंडी हवाएं चलीं। जिससे मौसम में ठंडक बढ़ गई। ठिठुरन व गलन भरी सर्दी रही। लोगों ने सर्दी से बचाव के लिए अलाव का सहारा लिया। इधर ठंड और रविवार को दिनभर बूंदाबांदी रहने से बाजार भी ठंडा रहा।
गली में पानी भर गया है। राह निकलना मुश्किल हो रहा है। पालिका को ध्यान देना चाहिए- महेश कुमार, मोहल्ला सिटी।
देर रात ओलावृष्टि हुई। जिससे फसलों को बेहद नुकसान हुआ है। किसान काफी परेशान हैं- प्रमोद कुमार, किसान।
बारिश से किसानों की फसलों को नुकसान है। जिन क्षेत्रों में ओलावृष्टि है वहां भी नुकसान है। गेहूं, जौ की फसल को नुकसान नहीं है। जिले में गेहूं, जौ की फसल सबसे अधिक होती है। - सुमित चौहान, जिला कृषि अधिकारी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00