ऑक्सीजन की कमी से टनों के हिसाब से मछलियों की मौत

ब्यूरो/अमर उजाला, रिवालसर (मंडी) Updated Fri, 21 Apr 2017 08:57 AM IST
Hundreds of fish dying in Rewalsar lake Mandi Himachal Pradesh
रिवालसर झील के प्रदूषित पानी की सैंपल रिपोर्ट आ गई है। इसमें ऑक्सीजन की अत्यधिक कमी पाई गई है। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने रिपोर्ट एसडीएम बल्ह को रिपोर्ट सौंप दी है। अभी झील के पानी के रंग बदलने के कारणों की फाइनल रिपोर्ट नहीं आई है। झील में वीरवार को भी मछलियों के मरने का सिलसिला जारी रहा। 
विभाग के अधिकारी मछलियों को बचाने में लगे हैं। इन्हें बीएसएल नहर में शिफ्ट किया जा रहा है। झील में ताजा पानी तथा ऑक्सीजन की पंपिंग कर मछलियों को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। मामले में जहर घोलने की शिकायत मिलने पर सीआईडी की टीम भी रिवालसर पहुंच गई है।

इन दिनों मछलियों की ब्रीडिंग का समय चला हुआ है। झील में कई वर्षों से मछलियों की तादात बढ़ गई है। लंबे अरसे से इन्हें झील से शिफ्ट नहीं किया गया है। इससे ये क्षमता से अधिक हो गई हैं। टनों के हिसाब से मछलियों की मौत के बाद प्रशासन ने झील के संरक्षण को सोसायटी का गठन तो कर दिया, लेकिन इन्हें बचाने के प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं।

बीते बुधवार तक मृत मछलियों को 12 से 15 ट्रैक्टर डंप किए जा चुके थे। एसडीएम बल्ह सिद्धार्थ आचार्य ने कहा कि बोर्ड की रिपोर्ट के अनुसार झील में आक्सीजन की बेहद कमी हो गई थी। इस कारण मछलियों की मौत हुई है। पानी के रंग बदलने के कारणों का पता नहीं चला है। हजारों मछलियों को झील से शिफ्ट किया गया है। 

कई वर्षों से नहीं हटी गाद, न शिफ्ट हुईं मछलियां
झील में कई वर्षों से जमी गाद और झील की गहराई में लगातार हो रही कमी को मछलियों की मौत का कारण माना जा रहा है। यह भी कयास लगाए जा रहे हैं कि कई वर्षों से झील के नीचे जो गंदगी जमी थी, उसमें मछलियों की हलचल से झील का रंग बदला है। कई वर्षों से झील से मछलियों को शिफ्ट नहीं किया है। इससे झील में क्षमता से कई गुना अधिक मछलियां हो गईं थीं, लेकिन इन्हें यहां से शिफ्ट नहीं किया गया था।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Lucknow

गोरखपुर उपचुनाव के लिए सपा ने घोषित किया उम्मीदवार, पीएनबी घोटाले पर अखिलेश का तंज

11 मार्च को होने वाले लोकसभा चुनावों के लिए गोरखपुर से प्रवीण निषाद सपा के उम्म्दीवाद होंगे।

18 फरवरी 2018

Related Videos

अब कुत्ते के काटने पर नहीं लगेंगे महंगे इंजेक्शन, हिमाचल के डॉक्टर ने की ये बड़ी खोज

हिमाचल प्रदेश के डॉ उमेश भारती ने एक नई खोज की है। जिसके बाद कुत्ते और बंदर के काटने पर मरीजों का इलाज और भी सस्ता हो जाएगा।

8 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen