विज्ञापन

जेल का हेडकांस्टेबल पगड़ी में छुपाकर नशे की खेप लाता गिरफ्तार

Panchkula bureau Updated Fri, 07 Sep 2018 10:56 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
जेल का हेडकांस्टेबल पगड़ी में छुपाकर नशे की खेप लाता गिरफ्तार
विज्ञापन
260 नशीली गोलियां, दो बंद और एक खुला तंबाकू का पैकेट बरामद
नशीली गोलियां पगड़ी और तंबाकू छुपा रखा था बूटों में
कपूरथला। एक बार फिर माडर्न जेल में नशे के नेटवर्क का खुलासा हुआ है। इस बार जेल का हेड कांस्टेबल भारी मात्रा में नशे की खेप अंदर ले जाता जामा तलाशी के दौरान धरा गया है। आरोपी हेड कांस्टेबल ने 260 नशीली गोलियां पगड़ी, दो बंद व एक खुला तंबाकू का छोटा पैकेट बूटों के अंदर छुपा रखा था। यह नशे की खेप वह जेल के अंदर बंद एक कैदी को पहुंचाने के लिए लाया था। लेकिन इससे पहले ही जेल प्रशासन के हत्थे चढ़ गया। थाना कोतवाली में आरोपी के खिलाफ एनडीपीएस और जेल मैनुअल एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने आरोपी को जेआईएमसी की अदालत में पेश करके जेल भेज दिया है। सहायक सुपरिंटेंडेंट माडर्न जेल कपूरथला सुशील कुमार ने बताया कि छह सितंबर को रात 12 बजे से सुबह 06 जब तक हेड कांस्टेबल जिंदर कुमार की ड्यूटी जेल की सुरक्षा वार्ड नं.2 में थी। जेल के अंदर अपनी ड्यूटी पर जाने के लिए वह अन्य कर्मचारियों के साथ जेल की ड्योढ़ी में दाखिल हुुआ। जहां पर कर्मचारियों की रुटीन चेकिंग के दौरान जिंदर कुमार की जामा तलाशी ली गई तो उसकी पगड़ी में से छुपा कर रखी 260 नशीली गोलियां बरामद हुई। बाद में उसके पहने हुए बूटों को उतरवाया गया तो उसमें से दो बंद और एक खुला हुआ तंबाकू का छोटा पैकेट बरामद हुआ। इस पर जेल प्रशासन ने उसे तुरंत दबोच लिया और थाना कोतवाली की पुलिस को सूचित किया। थाना कोतवाली के जांच अधिकारी एएसआई अवतार सिंह ने बताया कि आरोपी के खिलाफ एनडीपीएस और जेल मैनुअल एक्ट के तहत केस दर्ज करके गिरफ्तार कर लिया गया है और उसे जेआईएमसी पूनम कश्यप की अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है। एआईजी-कम-एसपी जेल सुरिंदरपाल खन्ना ने बताया कि आरोपी हेड कांस्टेबल करीब छह माह पहले ही पीएपी की 80 बटालियन से स्थानांतरण होकर जेल में आया था। यह नशे की खेप में जेल के अंदर बंद कैदी राजकुमार उर्फ काला को पहुंचाने के लिए लाया था। लेकिन उससे पहले ही जेल प्रशासन ने उसे दबोच लिया।


गिरफ्तारी से जेल में मोबाइल व नशे के नेटवर्क का खुलासा
अब कैदियों की तरह जेल स्टाफ की चेकिंग पीटर एंड टॉमी करेंगे : एआईजी जेल
इस साल में नशे की खेप के साथ पकड़े जेल स्टाफ की चौथी घटना
महेश कुमार
कपूरथला। भारी मात्रा में नशे की खेप जेल के अंदर ले जाते दबोचे गए हेड कांस्टेबल की घटना ने जेल में मोबाइल के माध्यम से नशे के नेटवर्क को चलाने का खुलासा कर दिया है। इस साल में जेल के अंदर नशे की आपूर्ति करवाने में जेल स्टाफ के कर्मचारियों के पकड़े जाने की चौथी घटना है। वहीं जिस कैदी को यह खेल पहुंचाई जानी थी, उसने ही जेल के अंदर से अपने बाहर बैठे किसी जानकार को एचसी को नशे की खेप देने का नाम सुझाया था। इससे साफ जाहिर होता है कि कहीं न कहीं माडर्न जेल में कैदियों व जेल स्टाफ की कुछ काली भेड़ों की मिलीभगत से नशीला कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है। क्योंकि आए दिन जेल में मोबाइल की बरामदगी इस मामले को पुख्ता कर रही है कि गैंगस्टर और नशे के सौदागर जेल के अंदर से बैठक कर ही अपना पूरा कारोबारा चला रहे हैं। थाना कोतवाली के जांच अधिकारी एएसआई अवतार सिंह ने बताय कि पुलिस पूछताछ में पता चला है कि एक कैदी जो पहले जेल में बंद था, इन दिनों सजा भुगतने के बाद बाहर चला गया। जोकि जेल में बंद कैदी राजकुमार उर्फ काला का जानकार था। काला ने ही जेल के अंदर से ही उसे नशे की खेप एचसी जिंदर कुमार को देने के लिए कहा था। उसी खेप को जिंदर कुमार छुपाकर अंदर राजकुमार को देने के लिए ले जा रहा था। वहीं एआईजी-कम-एसपी जेल सुरिंदर पाल खन्ना ने माना कि इस साल में जेल स्टाफ की ओर से नशे को छुपाकर अंदर लाने की यह चौथी घटना है। लेकिन इस बार नशे की खेप काफी ज्यादा है। जेल की ऐसेे काली भेड़ों को पकड़ने के लिए रुटीन चेकिंग के साथ-साथ कैदियों की तरह जेल स्टाफ कर्मियों की तलाशी डॉग स्कवायड में शामिल पीटर एंड टॉमी भी करेंगे। अब सवाल यह उठता है कि जेल स्टाफ की सख्ती के बावजूद अंदर मोबाइल व नशे की आपूर्ति चल रही है। बेशक एसपी जेल ऐसा नहीं मानते हैं। वह तो इन बरामदगी को जेल प्रशासन की उपलब्धि बता रहे हैं।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Chandigarh

जालंधरः नहर के किनारे झाड़ियों में रोती बिलखती मिली दो दिन की नवजात, एक कपड़ा नहीं था

मॉर्निंग वॉक करने निकले शख्स की आंखें भर आईं, जब उसने नहर के किनारे झाड़ियों में पड़ी नवजात बच्ची को देखा। वो भूख के मारे रो-रोकर बेहाल हो रखी थी।

23 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

लेडी खली कविता ने खोला राज, बताया कैसे पहुंची WWE तक

WWE में पहुंचनेवाली पहली भारतीय महिला कविता देवी ने अपने इंटरव्यू में की कई अहम मुद्दों पर खुलकर बात। कविता ने बताया कि उन्हें द ग्रेट खली से कितना सपोर्ट मिला और उन्हें ट्रेनिंग के कितने कड़े शेड्यूल से होकर गुजरना पड़ा।

21 अक्टूबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree