विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम
Puja

मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

लुधियाना में संदिग्ध हालत में महिला कांस्टेबल ने जहर निगला, पटियाला में प्रवासी मजदूर फंदे पर झूला

पुलिस क्वार्टर में रहने वाली महिला कांस्टेबल कमलजीत कौर ने सोमवार की रात को संदिग्ध हालात में जहरीला पदार्थ निगल लिया। डीएमसी अस्पताल में मंगलवार की सुबह उनकी मौत हो गई। थाना डिवीजन आठ की पुलिस ने परिजनों के बयान दर्ज करने के बाद पोस्टमार्टम करा शव सौंप दिया है। एसएचओ इंस्पेक्टर जरनैल सिंह ने बताया कि कमलजीत कौर के दो बच्चे हैं। 

पिछले कुछ समय से उसका अपने पति के साथ विवाद चल रहा था। इस पर वह पति से अलग पुलिस क्वार्टर में रह रही थी। पिछले कुछ दिनों से वह दिमागी रूप से परेशान थी और इलाज भी चल रहा था। सोमवार की रात को वह घर पर ही थी और कोई जहरीला पदार्थ निगल लिया। डीएमसी अस्पताल में मंगलवार की सुबह इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। 


यह भी पढ़ें-
पिता ने थमाई थी हॉकी, जुनून ने बनाया दुनिया का सितारा, पढ़ें- दिग्गज खिलाड़ी बलबीर सिंह की अनसुनी बातें

पटियाला: प्रवासी मजदूर ने फंदा लगाकर जान दी
घन्नौर की अनाज मंडी में मंगलवार को एक प्रवासी मजदूर ने फंदा लगाकर जान दे दी। 19 साल का यह लड़का लॉकडाउन के कारण परेशान था। थाना घन्नौर के इंचार्ज एसआई सुखविंदर सिंह ने बताया कि पिता राज बली ने पुलिस को बयान दिया है कि उसका बेटा गोबिंद प्रसाद घन्नौर में निहाल चंद शिव कुमार आढ़ती की दुकान पर लोडिंग व अनलोडिंग का काम करता था। वह वहीं बने एक कमरे में रहता था। 

राजपुरा में काम कर रहे पिता राज बली को मंगलवार को घन्नौर से फोन आया कि उनके लड़के ने फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। जब वह अपने भतीजे को साथ लेकर वहां पहुंचा तो देखा कि गले में तार डालकर लड़के ने फंदा लगा रखा था। पिता के बयान के मुताबिक गोबिंद प्रसाद कई दिनों से मानसिक तौर पर परेशान रहता था। लॉकडाउन के बाद से ही वह परेशान था। इस कारण उसने यह कदम उठाया है। 
... और पढ़ें

अमृतसरः नहर के पास खड़े तीन लोगों को कार से रौंदने की कोशिश, एक की मौत, दो गंभीर घायल

सुल्तानविंड के साथ बहने वाली अपर दोआबा नहर के पास खड़े तीन लोगों को रविवार देर एक अज्ञात तेज रफ्तार कार चालक ने रौंदने की कोशिश की। हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गई। दो लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए। मारे गए व्यक्ति का नाम करणशेर है।

घायलों के नाम जतिंदर सिंह और सुरजन सिंह हैं। दोनों घायलों को अमृतसर के अलग-अलग निजी अस्पतालों में दाखिल करवाया गया है। यहां उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है। दोनों को गहरी चोटें लगी हैं और शरीर के कई भागों की हड्डियां टूट गई हैं।

थाना सुल्तानविंड के एएसआई प्रद्युमन सिंह ने बताया की पुलिस ने करणशेर के भाई की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है। करणशेर के शव का पोस्टमार्टम करवाकर वारिसों को सौंप दिया है। पुलिस इस पूरे रास्ते में लगे सीसीटीवी की फुटेज खंगाल रही है।

लोगों ने बताया कि कार इतनी तेज थी कि करणशेर कई फुट दूर जाकर गिरा। उसके सिर और चेहरे पर गंभीर चोटें आ गई थीं। दोनों घायलों को कार की साइड लगने से गंभीर चोटें आई हैं। कार चालक फरार है। पुलिस की तलाश जारी है।
... और पढ़ें

लुधियाना में नाबालिग प्रवासी की गला घोंटकर हत्या, पुलिस ने कमरे से शव बरामद किया

पंजाबी बाग से लगते खेत से बीते दो दिनों से लापता नाबालिग प्रवासी का शव सोमवार को एक कमरे में बरामद हुआ है। नाबालिग का शव नग्न हालत में पड़ा था। शुरुआती जांच में पता चला है कि तार से गला घोंटकर हत्या की गई है। मामले की जानकारी मिलते ही एसएसपी देहात विवेकशील सोनी सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस इस हत्या की कई एंगल से जांच कर रही है।

जानकारी के अनुसार मृतक संजय कुमार (17) पुत्र हरी उड़ीसा का रहने वाला था। फरवरी 2020 से पंजाबी बाग के साथ लगते खेत मालिक मनजीत सिंह के पास काम कर रहा था। 23 मई की रात की संजय ने अपने मालिक मनजीत सिंह को कहा कि वह खेत में मोटर पर नहाने के लिए जा रहा है। सुबह तक वह घर नहीं लौटा तो 24 मई को मनजीत सिंह ने गुमशुदा होने की शिकायत पुलिस को दी। सोमवार सुबह उसका शव एक कमरे से बरामद हुआ। पुलिस जांच कर रही है।
... और पढ़ें

फिरोजपुर: बच्चा न होने पर बहू से करते थे नफरत, जमीन हड़पने के लिए मारी गोली

थाना लक्खोके बहराम के तहत गांव मतड़ हिठाड़ में जमीन के विवाद में ससुरालियों ने गोली मारकर बहू की हत्या कर दी। लगभग पंद्रह साल शादी के बाद बहू के बच्चा न होने के कारण ससुराल वाले उससे नफरत करते थे और उसके हिस्से की जमीन लेने के लिए पिछले कई वर्षों से विवाद चल रहा था। उधर, मृतक महिला के भाई के बयान पर थाना लक्खोके बहराम पुलिस ने शनिवार को ससुराल पक्ष के छह लोगों के खिलाफ मामला दर्जकर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है। सभी आरोपी फरार हैं।

जीत सिंह निवासी कलू अराइयां हिठाड़, थाना ममदोट जिला फिरोजपुर ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि उसकी बहन माला रानी की शादी जोगिंदर सिंह पुत्र टहल सिंह के साथ लगभग 16 साल पहले हुई थी। शादी के बाद बहन के घर कोई बच्चा नहीं हुआ। ससुराली माला के बच्चा न होने पर उससे नफरत करते थे। माला अपने पति के साथ ससुरालियों से अलग रहती थी।


यह भी पढ़ें-
शादी के लिए नई शर्त, प्रदेश से बाहर गई बरात तो दूल्हा-दुल्हन समेत बराती होंगे होम क्वारंटीन

माला का घर काफी नीचे थे, बारिश के दिनों में पानी भर जाता था। माला मिट्टी डलवाने लगी थी। ससुराल वाले उसे ऐसा नहीं करने दे रहे थे। क्योंकि आरोपी उसकी जमीन हड़पना चाहते थे। जीत ने बताया कि माला घर पर तंदूर में रोटी बना रही थी कि सभी आरोपी उसके घर पहुंच गए। आरोपियों ने 12 बोर बंदूक से माला पर गोली दाग दी। गोली माला की पीठ पर लगी और उसकी मौत हो गई।

वारदात की तफ्तीश कर रहे सब-इंस्पेक्टर गुरभेज सिंह के मुताबिक जीत सिंह के बयान पर आरोपी टहल सिंह, बगीचा सिंह, मेजर सिंह, महिंदो बीबी, बलविंदर सिंह व जीत सिंह पुत्र टहल सिंह के खिलाफ मामला दर्जकर लिया है। सभी आरोपियों की तलाश जारी है।
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

खूनी संघर्ष में बदला जमीन विवाद, छोटे भाई और भतीजे ने पीट-पीटकर बुजुर्ग को मार डाला

अमलोह के गांव माजरा मन्ना सिंह वाला में जमीन विवाद को लेकर बड़े भाई की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई है। मृतक की पहचान बलवंत सिंह (75) निवासी गांव मन्ना सिंह वाला के तौर पर हुई है। थाना अमलोह पुलिस ने मृतक के बेटे मनिंदरजीत सिंह की शिकायत पर चाचा और उसके बेटे के खिलाफ केस दर्ज किया है। 

एसएचओ कुलविंदर सिंह ने बताया कि माजरा मन्ना सिंह वाला गांव में बलवंत सिंह और बलदेव सिंह सगे भाई हैं। दोनों के बीच जमीन का विवाद पिछले काफी समय से चल रहा था। शिकायतकर्ता मनिंदरजीत सिंह ने बयान दर्ज करवाया है कि 28 मई की शाम को वह अपने खेत में आड़ की बहाई करके घर को लौट रहा था।

इस दौरान उसके चाचा बलदेव सिंह और चचेरा भाई रोबिन सिंह मोटर साइकिल पर सवार होकर उसके घर में आ धमके। पिता बलवंत सिंह घर के बाहर बैठे थे। चाचा और उसके बेटे ने आते ही उसके पिता बलवंत सिंह के साथ मारपीट शुरू कर दी। इससे पिता बलवंत सिंह गंभीर जख्मी हो गए। जख्मी हालात में उन्हें अमलोह सिविल अस्पताल में ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत करार दे दिया। पुलिस ने आरोपी बलदेव सिंह और रोबिन सिंह के खिलाफ केस दर्जकर जांच शुरू कर दी है। 

एचएचओ कुलविंदरर सिंह ने बताया कि मृतक बलवंत सिंह समेत चार सगे भाई हैं, जिनकी गांव में जमीन है। खेत में आड़ की बहाई को लेकर बलदेव सिंह और रोबिन सिंह बलवंत सिंह का विरोध कर रहे थे, जिससे झगड़े के हालात पैदा हुए और गुरुवार शाम को दोनों परिवारों में झगड़ा हुआ। इसमें बलवंत सिंह जख्मी होने के बाद दम तोड़ गया। अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।
... और पढ़ें

मोहालीः नाका देखकर वापस मोड़ने लगे थे कार, पुलिस ने होशियारी दिखाकर दबोचे तीन तस्कर

भले ही कोरोना के चलते शहर में लॉकडाउन और रात को कर्फ्यू चल रहा है और पुलिस जिले की सीमाएं सील करने का दावा करती है लेकिन नशा तस्करों में खौफ पूरी तरह से खत्म नहीं हो पाया है। ताजा मामला थाना फेज-एक के अधीन दारा स्टूडियो के पास का है। जहां पर पुलिस ने तीन कार सवारों को 90 ग्राम हेरोइन समेत दबोचा है। साथ ही थाना फेज-एक में आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज किया है।

आरोपियों की पहचान मनोज कुमार यादव निवासी रामदरबार फेज-दो चंडीगढ़, सचिन निवासी जट्टा वाला मोहल्ला मनीमाजरा चंडीगढ़ व जतिंदर सिंह लुधियाना देहात के रूप में हुई है। थाना फेज-एक के एसएचओ मनफूल सिंह ने आरोपियों को दबोचने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि मामले की जांच चल रही है। 

जानकारी के मुताबिक पुलिस ने दारा स्टूडियो के पास स्पेशल नाका लगाया था। इसमें चंडीगढ़ की तरफ से आने वाले वाहनों की चेकिंग की जा रही थी। तभी एक मानसा नंबर की कार आई। कार चालक नाके पर गाड़ियों की चेकिंग देखकर घबरा गया व कार को पीछे की तरफ मोड़ने लगा। लेकिन वहां पर गाड़ियों की भीड़ होने के चलते वह ऐसा नहीं कर पाया। इसके बाद पुलिस ने उक्त कार सवारों को दबोच लिया। गाड़ी की तलाशी लेने पर 90 ग्राम हेरोइन बरामद हुई। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया है।
... और पढ़ें

आठ माह की गर्भवती को जबरन जहर खिलाकर मार डाला, पति, सास और जेठ पर केस दर्ज

हरियाणा की थाना गुहला पुलिस ने पंजाब के समाना में सीआईए स्टाफ में तैनात पंजाब पुलिस के एक एएसआई गुरसेवक सिंह, उसके छोटे भाई गुरमित्तर सिंह व मां के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया है। यह पर्चा एएसआई के छोटे भाई गुरमित्तर सिंह की पत्नी लखविंदर कौर की मौत के मामले में दर्ज हुआ है। आरोप है कि तीनों ने जबरन जहर खिलाकर लखविंदर कौर को मारा है। जो करीब आठ महीने की गर्भवती भी थी। 

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक लखविंदर कौर की शादी 2004 में थाना गुहला के गांव दाबा निवासी गुरमित्तर सिंह से हुई थी। शादी के बाद से लखविंदर कौर को दहेज के लिए परेशान किया जाता था। पहले तो विवाहिता के मायके वालों ने ससुराल वालों की डिमांड पूरी कर दी। गुरमित्तर ने जर्मनी जाने के लिए पांच लाख की मांग की थी। बाद में जब उनकी मांग पूरी करनी बंद कर दी तो लखविंदर कौर व उसके बच्चों को मायके आने-जाने नहीं दिया जाता था। उसके साथ मारपीट भी की जाती थी। 


यह भी पढ़ें-
पाकिस्तानी की गुहार, 'मोदी साहब! मेरा कबूतर वापस कर दीजिए, मैं बहुत चाहता हूं', पढ़ें- मामला

बुधवार को गंभीर हालत में लखविंदर कौर को पटियाला के एक निजी अस्पताल में दाखिल कराया गया। जहां गुरुवार को उसकी मौत हो गई। पुलिस के मुताबिक विवाहिता के परिजनों का आरोप है कि पति, जेठ व सास ने उसे जबरन जहर खिलाकर मार डाला है। ऊपर से वह आठ महीने की गर्भवती भी थी। ससुराल वाले उसके बच्चे को भी गिराना चाहते थे। पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है।
... और पढ़ें

गढ़शंकर में महिला सरपंच ने जहर निगलकर जान दी, बटाला में विवाहिता फंदे पर झूली

सांकेतिक तस्वीर।
गढ़शंकर के गांव मैरा की महिला सरपंच ने जहर निगलकर आत्महत्या कर ली। महिला सरपंच के पिता के बयान पर ससुर, जेठ व जेठानी के खिलाफ परेशान कर आत्महत्या करने को मजबूर करने का मामला दर्ज किया है। महिला सरपंच का ससुर सेवानिवृत्त अध्यापक और जेठ मौजूदा नंबरदार है।

सुनीता देवी पत्नी कुलदीप कुमार गांव मैरा की  सरपंच थी। उसने 25 मई को जहर निगल लिया। इसके बाद परिवार वालों ने उसे गढ़शंकर के निजी अस्पताल में भर्ती करवाया था। लेकिन गुरुवार को शाम उसकी मौत हो गई। जिसके बाद महिला सरपंच सुनीता देवी के पिता हरमेश सिंह निवासी नैनवों ने पुलिस को शिकायत दी कि सुनीता देवी का करीब 16 वर्ष पहले गांव मैरा के कुलदीप कुमार से विवाह हुआ था। 


यह भी पढ़ें-
पाकिस्तानी की गुहार, 'मोदी साहब! मेरा कबूतर वापस कर दीजिए, मैं बहुत चाहता हूं', पढ़ें- मामला

कुछ समय पहले दर्शन राम ने अपने पुत्र संदीप कुमार, कुलदीप कुमार व प्रगट सिंह के नाम अपनी जमीन की वसीयत कर दी और सभी को जमीन बांट दी। इसके बाद अपने हिस्से की जमीन पर सभी खेती करने लगे। लेकिन दिसंबर 2019 में दर्शन राम ने वसीयत को बदल दिया और अपने दो पुत्रों संदीप कुमार व प्रगट सिंह के नाम पर सारी वसीयत कर दी। 

जमीन को लेकर महिला सरपंच सुनीता देवी को ससुर दर्शन राम, जेठ संदीप कुमार, जेठानी रणजीत कौर हमेशा तंग परेशान करते थे और 25 मई को भी तीनों ने सुनीता देवी को इतना परेशान किया कि सुनीता देवी ने जहर निगल लिया। गढ़शंकर पुलिस ने ससुर दर्शन राम, जेठ संदीप कुमार व जेठानी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया।
... और पढ़ें

खन्ना: शराब देने से किया इंकार तो कर्मचारी की कर दी पिटाई, मौत, पुलिस जांच में जुटी

पंजाब में नशा तस्करी: भारत-पाकिस्तान सीमा से आठ किलो 30 ग्राम हेरोइन और अफीम बरामद

पुलिस ने भारत-पाकिस्तान सीमा पर एक किसान के खेत में छुपाकर रखी 8 किलो 30 ग्राम हेरोइन और कुछ मात्रा में अफीम बरामद की है।  एसएसपी ध्रुव दहिया ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि भारत-पाकिस्तान सीमावर्ती गांव रतोके के किसान गुरलाल सिंह ने अपने कुछ साथियों की सहायता से अपने खेत में पाकिस्तानी तस्करों द्वारा भेजी गई हेरोइन दबा रखी है। 

पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए किसान गुरलाल सिंह के खेत से 8 किलो 30 ग्राम हेरोइन और 30 ग्राम अफीम बरामद की। एसएसपी ने बताया कि पुलिस ने गुरलाल सिंह को गिरफ्तार कर लिया है।


यह भी पढ़ें-
पाकिस्तानी की गुहार, 'मोदी साहब! मेरा कबूतर वापस कर दीजिए, मैं बहुत चाहता हूं', पढ़ें- मामला

गुरलाल सिंह पहले से भी गैस कटर से एक एटीएम मशीन काटने के मामले में पुलिस का वांछित था। उन्होंने बताया कि पुलिस गुरलाल सिंह का रिमांड प्राप्त कर इस मामले के अन्य आरोपियों को भी शीघ्र पकड़ेगी।
... और पढ़ें

अमृतसर का तस्कर गिरफ्तार, दो बार में 11 किलो हेरोइन पकड़ी, राशन के थैले में छिपा रखा था

पाकिस्तान के तस्करों से व्हाट्सएप कॉल पर संपर्क कर हेरोइन की खेप मंगवाने वाले एक आरोपी को एसटीएफ  ने गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। कुछ दिन पहले एसटीएफ ने बीएसएफ के साथ मिलकर सूचना के आधार पर जीरो लाइन से छह किलो हेरोइन बरामद की थी। आरोपी वहां से फरार हो गया था। 

पुलिस ने इस मामले में अमृतसर के गांव कोटली औलख निवासी प्रताप सिंह (37) के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था। बीती रात को पुलिस ने फिरोजपुर रोड पर नाकाबंदी कर रखी थी। इसी दौरान पुलिस को सूचना मिली कि आरोपी हेरोइन की खेप देने लुधियाना आ रहा है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से पांच किलो चालीस ग्राम हेरोइन बरामद की। 


यह भी पढ़ें-
पाकिस्तानी की गुहार, 'मोदी साहब! मेरा कबूतर वापस कर दीजिए, मैं बहुत चाहता हूं', पढ़ें- मामला


पुलिस ने आरोपी के खिलाफ दूसरा मामला दर्जकर उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के कब्जे से पुलिस ने कुल 11 किलो चालीस ग्राम हेरोइन और बाइक बरामद कर लिया है। पुलिस आरोपी से पूछताछ करने में जुटी है। एसटीएफ में तैनात सब इंस्पेक्टर जसपाल सिंह ने बताया कि पुलिस पार्टी को कुछ दिन पहले सूचना मिली थी कि आरोपी प्रताप सिंह हेरोइन तस्करी करता है। 
... और पढ़ें

बेटे ने नहीं उठाया फोन, पिता को हुई अनहोनी की आशंका, इस हाल में कमरे में मिला शव

मोहल्ला नानक नगर इलाके में रहने वाले दलजीत सिंह (22) ने मंगलवार रात अपने किराए के घर में संदिग्ध हालात में फंदा लगाकर जान दे दी। घटना का पता बुधवार सुबह उस समय चला जब दलजीत ने परिजनों का फोन नहीं उठाया। उन्होंने इसकी जानकारी दलजीत के मालिक राहुल को दी। राहुल जब घर गया तो दरवाजा अंदर से बंद था। उसने दूसरी चाबी से ताला खोला तो अंदर दलजीत का शव पड़ा था। टूटी रस्सी पंखे से लटक रही थी। 

मूलरूप से फिल्लौर के गांव रसुलपुर का रहने वाला दलजीत सिंह इलेक्ट्रानिक सामान रिपेयर करने का काम करता था। वह राहुल एयरकंडीशन नाम की दुकान पर काम करता था। उसे रोजाना फिल्लौर से आना होता था। दलजीत के मालिक राहुल ने उसे नानक नगर में एक घर किराए पर ले दिया था। जब दलजीत लेट हो जाता था तो वहां सो जाता था। 


इसे भी पढ़ें-
लॉकडाउन में नौकरी गई, वीडियो बना सुनाई दास्तां फिर नहर में कूदकर दे दी जान

दलजीत चार दिन पहले ही घर से लौटा था। मंगलवार की शाम उसने राहुल से दो सौ रुपये लिए और नानक नगर स्थित घर जाने की बात कही। देर शाम को दलजीत के पिता गुरचरण ने फोन किया तो उसने नहीं उठाया। एक दो बार फोन करने पर गुरचरण को लगा कि दलजीत कहीं व्यस्त होगा वह सुबह बात कर लेंगे। 

सुबह कई बार फोन मिलाने पर दलजीत ने फोन नहीं उठाया तो उन्होंने राहुल को फोन कर जानकारी दी। राहुल नानक नगर स्थित घर पहुंचा और उसने भी दलजीत को फोन किए लेकिन उसने फोन नहीं उठाया। घर की एक चाबी राहुल के पास थी तो उसने दूसरी चाबी से ताला खोला तो अंदर बेड पर दलजीत का शव पड़ा था। थाना दरेसी के एसएचओ इंस्पेक्टर विजय कुमार ने बताया कि मृतक के पास से कोई सुसाइड नोट तो नहीं मिला है। प्रेम संबंधों की अभी जांच की जा रही है। परिजनों को सूचना दे दी गई है। उनके बयान दर्ज होने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। 
... और पढ़ें

पति ने प्रेमी से मिलने को किया मना तो पत्नी ने लगा दिया ठिकाने, रची खौफनाक साजिश

थाना कैंट पुलिस ने पति को नहर में धक्का देकर हत्या करने के आरोप में पत्नी और उसके प्रेमी समेत तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। बंटी निवासी खटीक मंडी फिरोजपुर छावनी ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि उसके ताया का बेटा रमेश कुमार उर्फ मुस्तफा (36) अपने परिवार समेत उनके घर के सामने रहता था। 

रमेश की पत्नी किरणदीप और जपान सिंह निवासी रुकना बेगू के बीच संबंध थे। इस बात की भनक रमेश को थी। रमेश पत्नी को जपान से मिलने से रोकता था। इसी बात पर रमेश और किरणदीप के बीच झगड़ा होता था। 21 मई की रात लगभग नौ बजे जपान अपनी बाइक पर बैठाकर रमेश को किसी जरूरी कामकाज संबंध में कहीं ले गया, उसके बाद से रमेश घर नहीं लौटा। इस संबंध में पुलिस को सूचित किया। परिजनों को किरणदीप पर शक था। 


इसे भी पढ़ें-
लॉकडाउन में नौकरी गई, वीडियो बना सुनाई दास्तां फिर नहर में कूदकर दे दी जान

पुलिस ने किरणदीप से सख्ती से पूछताछ की तो उसने बताया कि रमेश उससे झगड़ा करता था। इसीलिए उसके प्रेमी जपान और जपान के दोस्त आकाश निवासी श्मशान घाट नजदीक फिरोजपुर कैंट ने दिल्ली पब्लिक स्कूल के पास से गुजरती पक्की नहर में रमेश को धक्का देकर मार दिया है। पुलिस ने बंटी के बयान पर आरोपी पत्नी किरणदीप, जपान सिंह व आकाश के खिलाफ मामला दर्जकर कार्रवाई शुरू कर दी है।

पुलिस ने किरणदीप को पकड़ा लिया है, जबकि जपान सिंह व आकाश की तलाश जा रही है। वारदात की तफ्तीश कर रहे इंस्पेक्टर कृपाल सिंह के मुताबिक तीनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्जकर लिया है। जपान सिंह व आकाश की तलाश की जा रही है। लेकिन अभी तक रमेश कुमार की लाश बरामद नहीं हुई है। नहर में रमेश की लाश को खोजा जा रहा है। जल्द ही बाकी आरोपियों को काबू कर लिया जाएगा।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन