विजयदशमी: दशानन के साथ समस्याओं के खात्मे का लें संकल्प...आगरा की बुराइयों का 'रावण' होगा खत्म

अमर उजाला ब्यूरो, आगरा Published by: Abhishek Saxena Updated Fri, 15 Oct 2021 01:44 PM IST
रावण को हराना मुश्किल क्यों था
1 of 6
विज्ञापन
इस दशहरा नए संकल्प और संदेश के साथ जीवन को आगे बढ़ाएं। कुछ ऐसा संकल्प लें, जो व्यक्तिगत तौर पर आपके और परिवार, समाज व शहर के लिए मिसाल बने। इन संकल्पों में अपनी कुछ बुरी आदतों को छोड़ना भी शामिल है। अपनी कुछ गलत आदतों को त्याग देना ही बुराई पर अच्छाई की विजय का सबसे बेहतर उदाहरण है। जब आप कोई संकल्प लेते हैं और उसे पूरा करते हैं तो यह समाज के लिए एक संदेश भी होता है।

प्रदूषण को खत्म करने आगे आएं सभी
देश के सबसे प्रदूषित शहरों में से एक है आगरा, जहां अक्तूबर से फरवरी के बीच बेहद खतरनाक स्तर पर हवा में जहर घुलता है। धूल कणों, कार्बन मोनोऑक्साइड, सल्फर डाईऑक्साइड, पीएम कणों की 8 गुना तक मौजूदगी ताजमहल के शहर के लोगों की सेहत बिगाड़ रही है।
 
आगरा के कमिश्नर और प्रभारी सीडीओ
2 of 6
संकल्प-अमित गुप्ता, कमिश्नर एवं चेयरमैन टीटीजेड
मैं इस विजय दशमी पर संकल्प लेता हूं कि प्रदूषण की रोकथाम के लिए प्रयास करूंगा। आम लोगों को भी जागरूक होना होगा। वह भी संकल्प लें कि वायु, जल व अन्य प्रदूषण नहीं फैलाएंगे। सभी को प्रदूषण खत्म करने के लिए आगे आना चाहिए।

प्लास्टिक से मुक्ति का प्रयास
शहर की सड़कों, नालियों, नालों में भरी सिंगल यूज प्लास्टिक सबसे बड़ी मुश्किल बनी हुई है। शहर के 91 नालों को चोक करने, मिट्टी को प्रदूषित करने वाली सिंगल यूज प्लास्टिक, पॉलिथीन कानून बनने पर भी बंद नहीं हो सकी।

संकल्प-भीमजी उपाध्याय, प्रभारी मुख्य विकास अधिकारी
मैं प्लास्टिक मुक्त समाज बनाने का संकल्प लेता हूं। आमजन को भी शपथ लेनी चाहिए कि वह इसका इस्तेमाल नहीं करेंगे। तभी समाज से प्लास्टिक, पॉलिथीन जैसी समस्या खत्म हो सकेगी। पानी, मिट्टी में पॉलिथीन कभी नष्ट नहीं होती।
विज्ञापन
आगरा: मेयर नवीन जैन और नगरायुक्त
3 of 6
अगली विजयदशमी तक कचरा मुक्त सड़कें 
ताजमहल जितना खूबसूरत है, ताजनगरी की सड़कें और मोहल्ले उतने ही गंदे है। कचरा प्रबंधन में लापरवाही और कचरे का निस्तारण न होने के कारण ताजनगरी आने वाले पर्यटकों की निगाह में आगरा गंदा शहर है। 

संकल्प- निखिल टी फुंडे, नगर आयुक्त
शहर में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन को 100 फीसदी घरों तक पहुंचा कर सड़कों से कचरा खत्म करना मेरा संकल्प है। उम्मीद है कि अगली विजयदशमी से पहले शहर की सफाई में बड़ा बदलाव ला सकेंगे। डस्टबिन मुक्त करने की दिशा में आगे बढ़ेंगे और कचरे से बिजली बनाने वाले शहर बनेंगे।

सीवर नेटवर्क में लाएंगे सुधार
शहर में 910 किमी सीवर नेटवर्क का 500 किमी हिस्सा चोक है। घरों के अंदर और बाहर सीवर बहने से शहर के 40 वार्डों के लोग परेशान हैं। 48 करोड़ रुपये खर्च होने पर भी शहर के लोगों के सामने सीवर बड़ी समस्या बनी हुई है।

संकल्प-नवीन जैन, मेयर
प्रदेश के चुनिंदा शहरों में आगरा एक है जहां सीवर नेटवर्क की सफाई और एसटीपी संचालन के लिए निजी कंपनी को जिम्मेदारी दी गई है। गलियों, कॉलोनी में बहते सीवर की समस्या खत्म करने के लिए इस साल प्रयास होगा।
आगरा जलकल विभाग के अधिकारी और विवि के कुलपति
4 of 6
गंगाजल की बर्बादी हो दूर
130 साल पुरानी जर्जर हो चुकी पाइपलाइनों से शहर में जलापूर्ति हो रही है। पुरानी लाइनों के फटने, लीकेज होने से कीमती गंगाजल बर्बाद होता है, जिसे 130 किमी दूर बुलंदशहर के पालड़ा फाल से 2894 करोड़ रुपये खर्च करके आगरा तक पाइपलाइन से लाया गया है।

संकल्प-आरएस यादव, महाप्रबंधक जलकल
बहुत कुछ बदला है, लेकिन इस साल जर्जर पाइपलाइनों और बड़े लीकेज वाले हिस्से के पाइप बदलेंगे। गंगाजल की एक एक बूंद बचाने का प्रयास होगा। ताजगंज, बोदला, शाहगंज, दयालबाग के बड़े हिस्से में पानी पहुंचाएंगे।

छात्रों की समस्याओं को करेंगे दूर
डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय में 7.50 लाख छात्रों की डिग्री लंबित है। मार्कशीट और डिग्री के लिए भटक रहे छात्र आंदोलन के बाद भी अपनी डिग्री नहीं पा सके। परीक्षा, परिणाम और प्रवेश तीनों में विवि पटरी पर नहीं आ पाया।

संकल्प-प्रो. आलोक राय, प्रभारी कुलपति, विवि
विश्वविद्यालय के सभी घटकों को साथ लेकर छात्र हित को केंद्रित करके काम करेंगे। नई सदी और नई शिक्षा नीति की आवश्यकता के अनुरूप अपने कर्तव्यों का सम्यक निर्वहन कर सकें, इस आशय का संकल्प लेना है।
विज्ञापन
विज्ञापन
आगरा: आबकारी अधिकारी और एसएन के प्राचार्य
5 of 6
बदहाल हैं स्वास्थ्य सेवाएं
मरीजों को सभी दवाएं एसएन मेडिकल कॉलेज में नहीं मिल पातीं। बाहर से अधिकतर दवाएं लेनी पड़ती हैं। मरीजों की शिकायत है कि उन्हें समय से उचित इलाज नहीं मिल पाता। डेंगू, कोरोना जैसी बीमारियों में भी स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार नहीं हो पाया।

संकल्प-डॉ. प्रशांत गुप्ता, प्राचार्य एसएन मेडिकल कॉलेज   
इमरजेंसी सहित सभी विभागों में मरीजों को बेहतर इलाज देने का संकल्प है। मरीज और चिकित्सकों के बीच बेहतर समन्वय बनाएंगे। अधिकतर दवाएं यहां मरीजों को उपलब्ध हों, इसके लिए शासन से मांग की जाएगी।

शराब माफिया पर लगाएंगे लगाम
जहरीली शराब से अलीगढ़ और फिर आगरा में कई लोगों की मौत हुई। ताजनगरी में शहर से लेकर देहात तक शराब माफिया का जाल फैला है। देहात में कच्ची, अपमिश्रित और दूसरे राज्यों से लाई गई शराब की अवैध बिक्री ज्यादा होती है।

संकल्प-नीरेश पालिया, जिला आबकारी अधिकारी
नकली व अपमिश्रत शराब सेवन हानिकारक है। तस्करों व माफिया पर लगाम लगाने के लिए दो महीने से लगातार मुहिम चला रहे हैं। जल्द आगरा शराब माफिया से मुक्त हो जाएगा।
 
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00