आपका शहर Close

वैंकेया ने की दिल की बातें : 'मैं किसी एक का नहीं, सभी पार्टियों का हूं'

i am not from a single party i am from every party

उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने शपथ ग्रहण के बाद राज्यसभा के पदेन सभापति की कुर्सी मानसून सत्र के अंतिम दिन संभाल ली। विपक्ष की ओर से स्वागत भाषण में उठी आशंकाओं पर उन्होने स्पष्ट किया वे किसी एक पार्टी के नहीं सभी पार्टियों के हैं। वैंकेया ने अपने भाषण में सदस्यों की ओर से आईं नसीहतों और सुझावों को गंभीरता से सुना। उन्होंने निष्पिक्षता के साथ सदन की परंपराओं, समय प्रबंधन और कार्य पद्धति में गुणात्मक सुधार का भी आश्वासन दिया। वैंकेया ने कहा कि ये उनके दिल की बातें हैं। 
वैंकेया ने कहा कि मैं पहली बार 1958 में सदन आया था तो कल्पना नहीं की थी। लोकतंत्र का चमत्कार है मेरे जैसे आम आदमी पर भी ये जिम्मेदारी डाल सकती है। मुझे गर्व है कि मैं किसान का बेटा और खेतिहर हूं। मैं राजनीति से ऊपर उठकर काम करूंगा। मैं किसी पार्टी का व्यक्ति नहीं हूं मैं सभी पार्टी का हूं। हमारी कोशिश होगी सदन की कार्यवाही सुचारू चले नियमों का पालन हो और सभी सदस्यों को बोलने का मौका मिले।

Comments

Most Viewed

संसद परिसर में हुआ कुछ ऐसा कि आडवाणी के लिए भीड़ से बाहर आए राहुल और पकड़ा लिया उनका हाथ

rahul gandhi helped lk advani to get proper place to stand on 16th anniversary of parliament attack
  • बुधवार, 13 दिसंबर 2017
  • +

भारत की शानदार जीत पर धोनी के 'ससुराल' से रोहित शर्मा के लिए आया खास संदेश, पढ़िए...

 ind vs sl victory ms dhoni laws house send blessing for rohit sharma
  • बुधवार, 13 दिसंबर 2017
  • +

सावधान! इन 6 दवाओं के सैंपल फेल, पूरा स्टॉक होगा वापस, कहीं आपने तो नहीं खरीदी

Drug regulation 6 medicines sold by top firms fail quality tests
  • बुधवार, 13 दिसंबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!