लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Lucknow ›   Help will be provided on pressing the panic button in trains: button ready for AC chaircar

ट्रेनों में पैनिक बटन दबाने पर सहायता : एसी चेयरकार के लिए बटन तैयार, प्रथम चरण में शताब्दी-तेजस में सुविधा

अमर उजाला ब्यूरो, लखनऊ Published by: पंकज श्रीवास्‍तव Updated Thu, 24 Nov 2022 01:21 PM IST
सार

डाटा केयर ने रेलवे अस्पतालों के लिए नर्स कॉल सिस्टम भी विकसित किया है, जिसे सप्लाई करने के लिए प्रस्ताव रेलवे बोर्ड को भेज दिया है। इसके तहत मरीज के बेड पर ही बटन लगाया जाएगा, जिसके दबते ही नर्स को मौके पर भेजा जाएगा।

तेजस एक्सप्रेस
तेजस एक्सप्रेस - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

एसी चेयरकार में सफर करने वाले यात्रियों को अब पैनिक बटन दबाने पर चिकित्सकीय या अन्य सहायता मुहैया कराई जाएगी। चेयरकार के लिए पैनिक बटन सिस्टम तैयार हो चुका है। पहले चरण में तेजस व शताब्दी में इसकी सुविधा दी जाएगी।



रेलवे बोर्ड ने यात्रियों की सुविधा के लिए चेयरकार ट्रेनों में सीसीटीवी कैमरे व पैनिक बटन या कॉल सिस्टम की घोषणा की थी। शताब्दी व डबलडेकर जैसी ट्रेनों में यह व्यवस्था होनी थी। इस क्रम में डाटा केयर इंडिया सिस्टम की ओर से पैनिक बटन कॉल सिस्टम विकसित किया गया है, जिसे हाल ही में आरडीएसओ में इनो रेल प्रदर्शनी में लगाया भी गया था। आरडीएसओ के डीजी संजीव भूटानी ने इस सिस्टम से जुड़ी सारी जानकारियां ली थीं। पैसेंजर कॉल सिस्टम को उत्तर रेलवे के जगधारी में इस्तेमाल भी किया जा रहा है। 


जल्द ही उत्तर रेलवे के लखनऊ मंडल, मुरादाबाद, दिल्ली, फिरोजपुर व अम्बाला मंडलों की एसी चेयरकार ट्रेनों में इसे इंस्टॉल किया जा सकता है। डाटा केयर के अमित सिंह ने बताया कि यह पैनिक बटन एसी चेयरकार की हर सीट पर लगाया जाएगा। मदद की आवश्यकता पर यात्री इस बटन को दबाएगा तो अटेंडेंट को स्क्रीन पर सीट नंबर की जानकारी मिल जाएगी। वह तत्काल यात्री की मदद करेगा। मेडिकल इमरजेंसी होने पर अटेंडेंट रेलवे कंट्रोल रूम को सूचित करेगा, जो यात्री के इलाज की व्यवस्था करेगा। इतना ही नहीं सिक्योरिटी से जुड़ा मुद्दा होने पर तत्काल आरपीएफ जवानों को सूचना दी जाएगी।

नर्स कॉल सिस्टम मरीजों के लाभकारी
उधर, दूसरी ओर डाटा केयर ने रेलवे अस्पतालों के लिए नर्स कॉल सिस्टम भी विकसित किया है, जिसे सप्लाई करने के लिए प्रस्ताव रेलवे बोर्ड को भेज दिया है। इसके तहत मरीज के बेड पर ही बटन लगाया जाएगा, जिसके दबते ही नर्स को मौके पर भेजा जाएगा। डाटा केयर की ओर से इंजन मॉनिटरिंग सिस्टम भी बनाया गया है, जो लोको की हर गतिविधि को मॉनिटर करेगा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00