बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

पत्नी कहती रही खुदा से डरो लेकिन घर पर करता रहा गरीबों के खून का धंधा

ब्यूरो/अमरउजाला, लखनऊ Updated Tue, 06 Jun 2017 03:02 PM IST
विज्ञापन
आरोपी आरिफ
आरोपी आर‌िफ - फोटो : amar ujala

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
लखनऊ के ठाकुरगंज में दो साल से घर पर ब्लड बैंक खोलकर गरीबों का खून बेचने वाले शातिर को सोमवार देर रात क्राइम ब्रांच की टीम ने दबोच लिया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी के घर से चार यू‌न‌िट ब्लड व 13 यून‌िट प्लाज्मा,  ब्लड प्रेशर नापने की मशीनें, भारी मात्रा में सिरिंज, खून से भरे और खाली पाउच व अन्य उपकरण बरामद हुए हैं।
विज्ञापन


पु‌ल‌िस ने बताया क‌ि जीवन अस्पताल, मड़‌ियांव का एसएस अस्पता, कै‌र‌िअर अस्पताल की ब्लड बैंक, मीरान अस्पताल, फैम‌िली अस्पताल और बालागंज के एक अस्पताल सह‌ित कई अस्पतालों में सप्लाई होती थी।
 
पुलिस सूत्रों ने बताया कि पकड़ा गया शातिर मो. आरिफ हुसैनाबाद पुरानी चौकी के पास स्थित नौशाद के मकान में परिवार सहित किराए पर रह रहा था। वह दो साल से खून बेचने का धंधा कर रहा था।
 
आरिफ अपने एजेंटों के जरिए सीतापुर, हरदोई व आसपास के जनपदों से प्रोफेशनल ब्लड डोनर्स के अलावा रिक्शा चालकों, मजदूरों, ठेले-खोमचेवालों से संपर्क कर उन्हें घर बुलाता था और खून निकालकर पुराने लखनऊ के निजी ब्लड अस्पतालों व ब्लड बैंकों में सप्लाई करता था।
 
उसके संपर्क में पुराने लखनऊ के कई निजी अस्पताल व ब्लड बैंक थे। वह रोज दस से 15 लोगों का ब्लड निकालकर फ्रीजर में रख लेता था। जरूरत पड़ने पर इस ब्लड की सप्लाई कर दी जाती थी। ब्लड की व्यवस्था अगर ज्यादा हो जाती थी तो वह उसे निजी ब्लड बैंक में सुरक्षित रखवा देता था।
 
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

इंजेक्शन से निकालता था खून

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us