पत्नी कहती रही खुदा से डरो लेकिन घर पर करता रहा गरीबों के खून का धंधा

ब्यूरो/अमरउजाला, लखनऊ Updated Tue, 06 Jun 2017 03:02 PM IST
आरोपी आरिफ
आरोपी आर‌िफ - फोटो : amar ujala
ख़बर सुनें
लखनऊ के ठाकुरगंज में दो साल से घर पर ब्लड बैंक खोलकर गरीबों का खून बेचने वाले शातिर को सोमवार देर रात क्राइम ब्रांच की टीम ने दबोच लिया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी के घर से चार यू‌न‌िट ब्लड व 13 यून‌िट प्लाज्मा,  ब्लड प्रेशर नापने की मशीनें, भारी मात्रा में सिरिंज, खून से भरे और खाली पाउच व अन्य उपकरण बरामद हुए हैं।
पु‌ल‌िस ने बताया क‌ि जीवन अस्पताल, मड़‌ियांव का एसएस अस्पता, कै‌र‌िअर अस्पताल की ब्लड बैंक, मीरान अस्पताल, फैम‌िली अस्पताल और बालागंज के एक अस्पताल सह‌ित कई अस्पतालों में सप्लाई होती थी।
 
पुलिस सूत्रों ने बताया कि पकड़ा गया शातिर मो. आरिफ हुसैनाबाद पुरानी चौकी के पास स्थित नौशाद के मकान में परिवार सहित किराए पर रह रहा था। वह दो साल से खून बेचने का धंधा कर रहा था।
 
आरिफ अपने एजेंटों के जरिए सीतापुर, हरदोई व आसपास के जनपदों से प्रोफेशनल ब्लड डोनर्स के अलावा रिक्शा चालकों, मजदूरों, ठेले-खोमचेवालों से संपर्क कर उन्हें घर बुलाता था और खून निकालकर पुराने लखनऊ के निजी ब्लड अस्पतालों व ब्लड बैंकों में सप्लाई करता था।
 
उसके संपर्क में पुराने लखनऊ के कई निजी अस्पताल व ब्लड बैंक थे। वह रोज दस से 15 लोगों का ब्लड निकालकर फ्रीजर में रख लेता था। जरूरत पड़ने पर इस ब्लड की सप्लाई कर दी जाती थी। ब्लड की व्यवस्था अगर ज्यादा हो जाती थी तो वह उसे निजी ब्लड बैंक में सुरक्षित रखवा देता था।
 
 
आगे पढ़ें

इंजेक्शन से निकालता था खून

Recommended

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

Spotlight

Most Read

Shimla

भाजपा नेत्री पर अभद्र टिप्पणी पर पूर्व कांग्रेस विधायक पर केस

भाजपा नेत्री पर अभद्र टिप्पणी करने पर कांग्रेस के पूर्व विधायक और पूर्व संसदीय सचिव नीरज भारती पर पुलिस ने केस दर्ज किया है।

20 अगस्त 2018

Related Videos

VIDEO: घोड़े 250, घुड़सवार 100 ये है यूपी पुलिस का हाल

यूपी पुलिस जहां सिपाहियों की कमी से जूझ रही हैं, वहीं पुलिस के घुड़सवार विभाग में भी कर्मचारियों की भारी कमी बताई जा रही है। घुड़सवार पुलिस में घोड़े 250 हैं और घुड़सवार की संख्या महज 100 है। देखिए रिपोर्ट।

20 अगस्त 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree