लेहः कंटेनमेंट जोन घोषित गांव में पुलिस-प्रदर्शनकारी भिड़े, कई घायल, सात के खिलाफ एफआईआर

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Updated Sat, 16 May 2020 05:20 PM IST
विज्ञापन
लेह
लेह - फोटो : अमर उजाला, फाइल
ख़बर सुनें
लेह जिले में कंटेनमेंट जोन घोषित चुशोत योकमा क्षेत्र में लोगों और पुलिस में टकराव हो गया। यह लोग सील किए गए इलाके में सुविधाओं के अभाव और क्वारंटीन केंद्रों की व्यवस्था के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। पुलिस के रोकने पर मामला भड़क गया। इस दौरान लाठीचार्ज किया गया। गुरुवार की इस घटना में कुछ लोग घायल भी हो गए हैं। पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ पांच अलग-अलग धाराओं के तहत मामले दर्ज किए हैं।
विज्ञापन

जानकारी के अनुसार चुशोत योकमा गांव कंटेनमेंट जोन घोषित है। यहां सैकड़ों लोग दूसरे राज्यों से लौटे हैं जिन्हें क्वारंटीन केंद्रों में रखा गया था। इन लोगों का कहना था कि पहले तो क्वारंटीन केंद्राें में उनसे अत्यधिक पैसा लिया गया। कंटेनमेंट जोन के भीतर भी कई सुविधाएं नहीं दी जा रहीं।
इसे लेकर प्रशासन की अनदेखी पर वह शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे। इसी दौरान उन पर लाठीचार्ज कर दिया गया। वहीं घटना के बाद जिला उपायुक्त लेह सचिन कुमार वैश्य और एसएसपी लेह सरगुन शुक्ला ने संयुक्त पत्रकार वार्ता में कहा कि कंटेनमेंट जोन के नियम कायदे किसी हाल में तोड़े नहीं जा सकते।
प्रदर्शनकारी निर्माणाधीन चोगलामसर पुल पर आ गए थे, जिससे हादसा हो सकता था। जब इन्हें रोका गया तो कुछ शरारती तत्वों ने माहौल खराब कर दिया। कुछ लोगों को पुल पर पड़े सरिया, कील व अन्य सामग्री से चोटें आई हैं। सात लोगों पर आईपीसी की धारा 147, 188, 323, 336 और डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट की धारा 51 के तहत मामला दर्ज किया गया है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

प्रशासन का तर्क

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us