Hindi News ›   Jammu and Kashmir ›   Jammu ›   Construction of State Cancer Institute begins in Jammu, 100-bed hospital to be built

जम्मू में स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट का निर्माण शुरू, बनेगा 100 बेड का अस्पताल

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Published by: Pranjal Dixit Updated Sat, 04 Jan 2020 01:17 AM IST
राज्य कैंसर संस्थान (एससीआई) का निर्माण शुरू
राज्य कैंसर संस्थान (एससीआई) का निर्माण शुरू - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें
केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में कैंसर देखभाल सेवाओं को मजबूत करने के लिए जम्मू के सुपर स्पेशलिटी अस्पताल परिसर में प्रतिष्ठित राज्य कैंसर संस्थान (एससीआई) का निर्माण शुरू किया गया है। अनुमानित 120 करोड़ रुपये की लागत वाले इस प्रोजेक्ट में बेसमेंट के साथ कुल पांच मंजिला भवन का निर्माण किया जा रहा है।
विज्ञापन


इसके लिए 43 करोड़ रुपये की पहली अनुदान राशि जारी की गई है। वहीं श्रीनगर में स्किम्स सौरा के लिए भी एक राज्य कैंसर संस्थान का निर्माण किया जाना है। इसके लिए 47.25 करोड़ की पहली अनुदान राशि जारी की जा चुकी है। यह संस्थान कैंसर मरीजों के लिए वरदान साबित होगा। 


जम्मू में कैंसर इंस्टीट्यूट के लिए वर्ष 2014 में कवायद शुरू हुई थी। सुपर स्पेशलिटी में निर्माणाधीन राज्य कैंसर संस्थान के बेसमेंट को मार्च 2020 तक मुकम्मल बनाने का लक्ष्य रखा गया है। बेसमेंट में आधुनिक मशीनें स्थापित की जाएंगी। नेचुरल सर्फेस लेवल से साढ़े दस फीट नीचे बेसमेंट का निर्माण किया जा रहा है।

इसी तरह ग्राउंड लेवल पर रिसेप्शन, स्टाफ रूम, डॉक्टर केबिन, ब्लड स्टोरेज आदि, पहले फ्लोर पर वार्ड जिम, हाइड्रो थैरेपी, ट्रांसप्लांट चैंबर, फिजियोथैरेपी, वेटिंग क्षेत्र, दूसरे फ्लोर पर वार्ड, नर्सिंग स्टेशन, डिमानस्ट्रेशन और तीसरे फ्लोर पर माडलर और सामान्य ऑपरेशन थियेटर, प्री, पोस्ट ऑपरेटिव केंद्र आदि का निर्माण किया जाएगा। प्रोजेक्ट में 38 करोड़ रुपये से सिविल ढांचे का निर्माण किया जाएगा। इसमें बाकी राशि से आधुनिक उपकरण, मशीनों के अलावा अन्य सामग्री खरीदी जाएगी। 

यह सुविधाएं होंगी
इस केंद्र प्रायोजित योजना में रेडिएशन ऑन्कोलॉजी, मेडिकल ऑन्कोलॉजी, सर्जिकल ऑन्कोलॉजी, आईसीयू, पैलिएटिव केयर सर्विसेज, कैंसर पुनर्वास सेवाएं, कैंसर मनोरोग सेवा, व्यापक कैंसर निदान सेवाओं के अलावा आधुनिक उपकरणों में लिनीयर एक्सलरेटर, पीईटी स्कैन, ब्रैकीथेरेपी, 4डी सीटी सिम्युलेटर, पैथोलॉजी लैब के उन्नयन, कोबाल्ट विकिरण स्रोत, पारंपरिक सिम्युलेटर आदि स्थापित होगा। जम्मू में आधुुनिक चिकित्सा सुविधाएं मिलने से मरीजों को विशेष उपचार विशेष रूप से पीईटी स्कैन के लिए राज्य से बाहर नहीं जाना पड़ेगा।

हर साल 2500 कैंसर के मामले आ रहे सामने
जम्मू-कश्मीर में हर साल 2000 से 2500 के बीच कैंसर के नए मामले आ रहे हैं। तंबाकू पदार्थों के सेवन से युवाओं में मुंह और गले (थ्रोट) के कैंसर की शिकायत बढ़ी हैं। पुरुषों में मुंह, गले के बाद फेफड़े, फूड पाइप और मैदे का कैंसर सामान्य है, जबकि महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर की समस्या बढ़ी है। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00