विज्ञापन
विज्ञापन

निजी बस सेवाएं ठप, खुले रहे बाजार

Shimla	 Bureauशिमला ब्यूरो Updated Mon, 10 Sep 2018 10:34 PM IST
कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदर्शन करते हुए।
कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदर्शन करते हुए। - फोटो : अमर उजाला ब्यूराे
ख़बर सुनें
अमर उजाला ब्यूरो
विज्ञापन
विज्ञापन
ऊना/मैहतपुर/अंब(ऊना)। समय: 9:30। स्थान ऊना बस अड्डा। अमर उजाला की टीम ने सोमवार को यहां का दौरा किया। बस अड्डे में निजी बसों की हड़ताल के चलते एचआरटीसी की बसें यात्रियों से खचाखच भरी थीं। दूसरी ओर निजी बस ऑपरेटर पेट्रोल अज्ञैर डीजल की कीमतों में हो रही वृद्धि को लेकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए दिखाई दिए।

बस अड्डे में एचआरटीसी समेत दूसरे राज्यों की यात्रियों से भरी बस अड्डे में आ रही थीं। निजी बस सेवा ठप होने से जिले में करीब 320 लोकल रूटों पर सेवाएं प्रभावित हुईं। बस सेवा ठप होने से यात्रियों का परेशानियों का सामना करना पड़ा। इसके अलावा स्कूलों और कॉलेजों मेें पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को भी शिक्षण संस्थानों में पहुंचने के लिए परेशानियों का सामना करना पड़ा। सरकारी व निजी कार्यालयों के कर्मचारियों को भी दफ्तर पहुंचने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

अजौली, झलेड़ा, मुबारिकपुर में कई लंबे रूटों की बसें नहीं रुकीं। इससे यात्रियों को बस अड्डे पर कई घंटे बस का इंतजार करना पड़ा। टैक्सी चालकों ने भी सेवाएं पूरी तरह से बंद रखीं। इसके अलावा ऊना बाजार में भारत बंद बेअसर रहा। जहां ट्रांस्पोर्टरों ने बंद के आह्वान पर अमल करते हुए बसों के चक्के जाम रखे, वहीं दुकानदारों ने इससे किनारा करते हुए अधिकांश दुकानें खुली रखीं।

कांग्रेस की अपील पर बुलाए भारत बंद का ऊना के सरहदी क्षेत्र मैहतपुर में कोई असर देखने में नहीं मिला। मैहतपुर तथा आसपास के इलाके में कारोबारियों ने दुकानें, व्यापारिक प्रतिष्ठान खुले रखे। सामान्य दिनों की तरह की कामकाज होता रहा। निजी बसों के सड़क पर न आने से लोकल सवारियों को समस्या अवश्य पैदा हुई, लेकिन निगम की बसों ने उनकी कमी को खलने नहीं दिया।

सरकारी बसों में यात्रियों को सफर करते देखा गया। पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों के विरोध में कांग्रेस के भारत बंद को समर्थन न मिलने से कहीं न कहीं आए दिन बंद को एक तरह से लोगों ने नकार दिया है। स्थानीय पेट्रोल पंप, उद्योग, तथा अन्य व्यापारिक संस्थान पूरी तरह से खुले रहे। सामान्य दिनों की ही तरह कामकाज हुआ। कॉलेज आने-जाने वाले छात्र-छात्राएं जो अकसर निजी बसों में आते-जाते हैं, सोमवार को सरकारी बसों से कॉलेज पहुंचे। छात्रों ने कहा कि उन्हें थोड़ी मुश्किल तो जरूर हुई, लेकिन सरकारी बसें चलने से उन्हें ज्यादा समस्या पेश नहीं आई। स्थानीय व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने कहा कि वह किसी भी सियासी दल के बुलावे पर कारोबार को बंद नहीं करेंगे।

आए दिन कोई न कोई दल अथवा संगठन बंद की अपील कर देता है, जिससे जनता को परेशान उठानी पड़ती है। पेट्रोल पंप पर तेल भरवाने आई महिला रीना शर्मा, रेनू तथा मंजीत ने कहा कि बेशक पेट्रोल के दाम बढ़ रहे हैं, लेकिन राजनीतिक पार्टियों तो अपनी राजनीति करती हैं। कांग्रेस के सत्ताकाल में भी तो ऐसे ही दाम बढ़ते थे। बंद करवाना तो सियासी दलों का महज ड्रामा है, इससे ज्यादा कुछ नहीं।

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

क्या आप जीवन में किसी चिंता से परेशान है? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए
ज्योतिष समाधान

क्या आप जीवन में किसी चिंता से परेशान है? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Una

बाइक के आगे कुता आने से हादसा, युवक की मौत

बाइक के आगे कुता आने से हादसा, युवक की मौत

23 अप्रैल 2019

विज्ञापन

हिमाचल में बारिश और बर्फबारी ने मचाया कहर, अभी है फिलहाल ये हालात

हिमाचल में भारी बारिश-बर्फबारी से दूसरे दिन भी जनजीवन अस्तव्यस्त रहा। कुल्लू, लाहौल, किन्नौर, शिमला, मंडी और चंबा में बर्फबारी और अन्य इलाकों में बारिश के चलते हालात खराब हैं। हिमाचल प्रदेश में मौसम की पूरी जानकारी देखिए इस रिपोर्ट में।

22 फरवरी 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election