स्वर्ग प्रवास से माघ संक्रांति को देवालय लौटे देवी देवता

Shimla Bureau Updated Sun, 14 Jan 2018 09:50 PM IST
स्वर्ग प्रवास से माघ संक्रांति को देवालय लौटे देवी देवता
Devta Temple - फोटो : amarujala
कुल्लू/बंजार। एक माह पूर्व पोष संक्रांति को स्वर्ग प्रवास पर गए जिला के सैकड़ों देवी-देवता मकर संक्रांति को अपने देवालय लौट आए हैं। हरियानों, कारकूनों और देवलुओं ने देवी-देवताओं का देव परंपरा के अनुसार स्वागत किया है। एक माह तक बंद पड़े देवी-देवताओं के कपाटों को भी हरियानों की ओर से खोल दिया है। माघ संक्रांति को कुल्लू घाटी में धूमधाम से मनाया गया। एक महीने के लिए स्वर्ग प्रवास पर गए देवी-देवताओं के देवालय लौटने पर देव समाज में खुशी का माहौल है। अब घाटी में पुन: देव कारज व मेलों का आयोजन शुरू होगा। देवता खुडीजल, टकरासी नाग, ब्यास ऋषि समेत सैकड़ों देवता स्वर्ग प्रवास से लौट आएं हैं। सभी देवी-देवताओं के मंदिरों को देव परंपरा के अनुसार खोला गया और देवी देवताओं के मुख्य दरबार से पर्दा हटाया गया है। श्रद्धालुओं ने रविवार सुबह तड़के ही स्नान कर अपने आराध्य देवी देवताओं की पूजा अर्चना कर सुख-शांति की कामना के साथ आने वाले साल में खुशहाली की दुआ की। उधर, देवता खुडीजल व अधिष्ठाता ब्यास ऋषि के देवालय में भक्तों का सुबह से तांता लगा रहा और ढोल-नगाड़ों, नरसिंगों और करनाला की स्वरलहरियों से पूरी घाटी का वातावरण देवमय हो उठा। इस संबंध में जिला देवी देवता कारदार संघ के अध्यक्ष दोत राम ठाकुर ने कहा कि पोष संक्रांति को स्वर्ग प्रवास पर गए अधिकतर देवी देवता मकर संक्रांति को लौट आए हैं। बावजूद कई देवता अगले माह फाल्गुन संक्रांति को लौटेंगे। देवता बिजली महादेव तीन माह बाद चैत्र संक्रांति को स्वर्ग प्रवास से अपने देवालय लौट आएंगे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बर्फ से ढकी हिमाचल की सड़कों पर पहली बार चली ये खास मशीन

हिमाचल प्रदेश ऊंचे इलाकों में बर्फबारी लगातार हो रही है। इस कारण रास्ते जाम हो गए हैं। इस हालात से निपटने के लिए पहली बार स्नो कटर का इस्तेमाल हो रहा है यहां के जलोड़ी दर्रा नेशनल हाईवे पर।

17 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls