बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

फसलों की सुरक्षा को किसान पहरा देने को मजबूर

Updated Sun, 14 Jan 2018 11:21 PM IST
विज्ञापन
फसलों की सुरक्षा को किसान पहरा देने को मजबूर
- फोटो : फाइल फोटो
ख़बर सुनें
बड़सर(हमीरपुर)। उपमंडल बड़सर के किसान लावारिस पशुओं से फसलों की सुरक्षा करने के लिए पहरा देने को मजबूर हैं। क्षेत्र में लावारिस पशुओं से निजात दिलाने में प्रदेश की सरकारें पूरी तरह से नाकाम साबित हो रही हैं। सरकार की पंचायतों में गौसदन बनाने की योजना भी सिरे नहीं चढ़ पाई है। किसान लावारिस पशुओं से फसलों को बचाने के लिए कांटेदार बाड़ लगा रहे हैं। इसके बावजूद लावारिस पशु फसलों को तबाह कर रहे हैं। क्षेत्र के किसानों ने लावारिस पशुओं से निजात के लिए ठोस योजना बनाने की मांग की है। बड़सर उपमंडल की पंचायतों बड़सर, बल्याह, ग्यारह ग्रां, उसनाड़, झंझयाणी, घंघोट, क्याराबाग, बणी, गारली, ननावां, भकरेड़ी सहित अधिकतर पंचायतों के लोग लावारिस पशुओं से परेशान हैं। पंचायतों के कई गांवों में किसान रात को पहरा दे रहे हैं। कई पंचायतों के लोगों ने पहरेदार रखे हुए हैं। इसके बावजूद लावारिस पशु फसलों को तबाह कर दे रहे हैं।
विज्ञापन

किसानों ने फसल सुरक्षा का प्रबंध करने के लिए सरकार से ठोस नीति बनाने की मांग कई बार की है। इसके बावजूद कोई ठोस प्रबंध नहीं हो पाया है। गारली पंचायत क्षेत्र के गांवों गारली, बाहिना, कोटलू, करमाकड़, बनन, मोहलवीं तथा खेड़ी आदि गांवों में फसलों की रखवाली को पहरेदार रखा हुआ है। क्षेत्र के किसानों लेख राम, देश राज, देव राज, करतार सिंह, हाकम सिंह, राकेश कुमार, संजीव ङ्क्षसह, भाग सिंह, पृथी सिंह, हंसराज, केशव दत्त, हरिचंद, चंद्र स्वरूप, कमलजीत, मनोज कुमार, राजेंद्र कुमार, सुरेश कुमार का कहना है कि इस पर उनका लागत से अधिक खर्च हो रहा है। क्षेत्र के किसानों जगदीश चंद, हंस राज, देश राज का कहना है कि पहले महंगे बीज, खादी, बुआई, कटाई आदि पर काफी खर्च हो रहा है। कई किसानों ने कांटेदार बाड़ तक लगा ली है। उन्होंने सरकार से लावारिस पशुओं से फसलों को सुरक्षा के लिए ठोस कदम उठाने की मांग की है।

उधर, एसडीएम बड़सर धनवीर ठाकुर का कहना है कि कई पंचायतों को गौसदन बनाने के लिए भूमि उपलब्ध करवाई थी, लेकिन बजट राशि का प्रावधान नहीं होने से समस्या बनी रही। उन्होंने कहा कि बजट होने पर पंचायतें ठोस प्रयास कर सकती हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X