विज्ञापन

दोस्त अजय ने ही की थी ऑटो चालक प्रवीण की हत्या, आरोपी गिरफ्तार:

Rohtak Bureauरोहतक ब्यूरो Updated Thu, 15 Mar 2018 03:11 AM IST
ख़बर सुनें
शराब पिलाकर सिर में मारा डंडा, हाथ-पैर बांधकर पत्नी
विज्ञापन
विज्ञापन
के सूट को फाड़ उसके टुकड़े से गला घोंटकर की हत्या

- पैसों के लेनदेन और पिटाई का बदला लेने के लिए दोस्त अजय ने की थी ऑटो चालक प्रवीण की हत्या, गिरफ्तार

अमर उजाला ब्यूरो
रोहतक।
सीआईए वन ने ऑटो चालक प्रवीण हत्याकांड का बुधवार को खुलासा कर दिया। प्रवीण की हत्या उसके दोस्त अजय ने अपने साथी कृष्ण के साथ मिलकर की थी। आरोपी ने पहले प्रवीण को शराब पिलाई। फिर पीछे से उसके सिर में डंडा मारकर हाथ पैर बांध दिये। इसके बाद आरोपी अजय ने अपनी पत्नी का सूट फाड़कर उसके टुकड़े से प्रवीण का गला घोंटकर हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी अजय को कोर्ट में पेश किया, यहां से उसे दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया।

बता दें कि गांव निंदाना निवासी ऑटो चालक प्रवीण की बदमाशों ने गला घोंटकर हत्या कर दी थी। इसके बाद उन्होंने शव के हाथ चुन्नी और पैर जूतों के फीते से बांधकर उसे गांव सिंहपुरा स्थित ड्रेन नंबर 8 में फेंक दिया। 23 फरवरी की सुबह नहर में शव मिलने के बाद हत्या का खुलासा हुआ था। इस संबंध में सदर थाने में अज्ञात के खिलाफ हत्या व सबूत खुर्द-बुर्द करने का केस दर्ज किया गया था। प्रवीण चार दिन से घर से लापता था। उसके ऑटो को मकड़ौली टोल से कुछ दूरी पर बरामद किया गया था।

आरोपी अजय तक यूं पहुंची पुलिस
मामले में कोई भी सुराग नहीं मिलने के बाद एसपी पंकज नैन ने सदर थाना पुलिस से जांच सीआईए वन को सौंपी गई थी। सीआईए वन में तैनात एएसआई विनोद कुमार और सुशील कुमार टीम ने पड़ताल शुरू की। सबसे पहले पुलिस ने मृतक के परिजनों के शक के आधार पर एक महिला से पूछताछ की। लेकिन हत्या में उसकी संलिप्तता सामने नहीं आई। कई संदिग्धों से पूछताछ करने के बाद सामने आया कि प्रवीण का पड़ोसी और दोस्त सूर्यनगर निवासी अजय हत्या के बाद से घर से गायब है। एएसआई विनोद ने बताया कि जांच के दौरान आरोपी अजय को जींद चौक से गिरफ्तार किया गया। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने प्रवीण की हत्या की वारदात कबूल की। वारदात में अजय के साथ उसका दोस्त शास्त्रीनगर निवासी कृष्ण भी साथ था। पुलिस को अभी तक कृष्ण के बारे में कोई सुराग नहीं मिला है। रिमांड अवधि में आरोपी अजय से कृष्ण के बारे में पूछताछ की जा रही है।

पैसों के लेनदेन और पिटाई का बदला लेने के लिए की हत्या
मूलरूप से गांव गांधरा निवासी आरोपी अजय ने खुलासा किया उसने पैसों के लेनदेन और पिटाई का बदला लेने के लिए प्रवीण की हत्या की। अजय प्रवीण के ऑटो पर ही काम करता था। उसका कहना है कि प्रवीण उसे हिस्से से कम पैसे देता था। आरोपी ने बताया कि 20 फरवरी की रात को वह अपने घर पर प्रवीण के साथ शराब पी रहा था। इसी बीच पैसों के लेन देन को लेकर दोनों के बीच झगड़ा हो गया। यहां पर प्रवीण ने अजय की पिटाई कर दी। ज्यादा नशा होने के कारण दोनों सो गये। फिर 21 फरवरी की सुबह प्रवीण अपना ऑटो लेकर चला गया। अजय ने बताया कि सुबह उठ ने के बाद उसके मन में पिटाई का बदला लेने की बात आई। इस पर आरोपी प्रवीण को तलाश करता हुआ माता दरवाजा पहुंच गया। यहां पर उसे प्रवीण मिल गया। फिर अजय शराब पीने की बात कहकर प्रवीण को दोबारा घर लेकर आ गया। अजय की पत्नी ने कुछ दिन पहले बेटी को जन्म दिया था। इस कारण वह अपने मायके में थी। वारदात के समय घर पर कोई नहीं था।


दोबारा शराब पीने के बहाने बुलाकर की हत्या
प्रवीण को घर लाने से पहले ही आरोपी ने अपने दोस्त कृष्ण को पूरे मामले के बारे में बता दिया था। अजय और प्रवीण सुबह आठ बजे ही शराब पीने लगे। कुछ देर बाद कृष्ण आ गया। नशा होने के बाद अजय ने पीछे से प्रवीण के सिर पर डंडे से हमला कर दिया। इससे प्रवीण बेसुध हो गया। इसके बाद दोनों आरोपियों ने प्रवीण के हाथ पैर बांध दिये। जब प्रवीण ने शोर मचाया तो आरोपियों ने उसके मुंह में कपड़ा ठूस दिया। फिर डंडे और लात घूसों से प्रवीण की पिटाई की। इसके बाद आरोपी अजय ने अपनी पत्नी के सूट को फाड़ा और उसके टुकड़े से प्रवीण का गला घोंटकर हत्या कर दी। हत्या करने के बाद दोनों आरोपी मकान का ताला लगाकर चले गये। अजय दिन भर प्रवीण का ऑटो चलाता रहा। रात करीब साढ़े नौ बजे अजय घर आया और प्रवीण के शव को ऑटो में रखकर ड्रेन नंबर आठ की तरफ ले गया। यहां प्रवीण की लाश फेंकने के बाद आरोपी ने ऑटो को मकड़ौली टोल प्लाजा के पास खड़ा किया और मौके से फरार हो गया। प्रवीण के ऑटो में चारों तरफ परदे लगे थे, इस कारण रास्ते में भी किसी ने लाश को नहीं देखा।

हत्या के बाद अजय बालाजी मेहंदीपुर के बाद पहुंचा मामा के घर
हत्या करने के बाद आरोपी अगले दिन मेहंदीपुर बालाजी गया था। यहां से आने के बाद आरोपी सोनीपत के गांव सरगथल में अपने मामा के घर पहुुंचा। अजय के पिता की दो शादी हुई थी। जांच अधिकारी एएसआई विनोद ने बताया कि बचपन में ही अजय की मां ने आग लगाकर आत्महत्या कर ली थी। इसके बाद अजय के पिता ने दूसरी शादी की थी। उसके पिता का सरगथल में आना जाना नहीं था जबकि अजय मामा के घर जाता था। किसी को शक न हो इस कारण आरोपी अपने मामा के घर पहुंचा था। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि उसने प्रवीण का मोबाइल मेहंदीपुर बालाजी में ही फेंक दिया था। अब पुलिस आरोपी को बालाजी धाम लेकर जाएगी।

एक साल से थी दोस्ती, 15 दिन पहले आया प्रवीण के साथ
आरोपी अजय की करीब एक साल से प्रवीण के साथ दोस्ती थी। अजय भी ऑटो चलाता था लेकिन कुछ समय पहले उसका ऑटो छूट गया था। कोई काम धंधा न होने के कारण करीब 15 दिन पहले उसने प्रवीण के ऑटो पर काम करना शुरू किया था। दिनभर काम करने के बाद प्रवीण अजय को उसके हिस्से के पैसे देता था। लेकिन अजय ज्यादा हिस्से की मांग करता था। इसी बात को लेकर दोनों के बीच मनमुटाव हुआ था।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Rohtak

गीता जयंती : श्लोकोच्चारण प्रतियोगिता में फरीदाबाद के आदर्श ने लिया प्रथम स्थान

गीता जयंती : श्लोकोच्चारण प्रतियोगिता में फरीदाबाद के आदर्श ने लिया प्रथम स्थान

16 दिसंबर 2018

विज्ञापन

बच्चे शोर कर रहे थे तो महिला टीचर ने दी ये सजा, स्कूल प्रशासन ने टीचर को निकाला

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में महिला टीचर बच्चों के शोर करने पर उनके मुंह पर टेप चिपका रही है। देखिए रिपोर्ट।

8 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree