तेजधार हथियार से फाइनेंसर की हत्या

अमर उजाला ब्यूरो Updated Fri, 02 Dec 2016 01:05 AM IST
bhiwani news, crime, sharp weapon, financer, murder
murder

भिवानी में बस स्टैंड के पास अपने कार्यालय में सोये फाइनेंसर पर बृहस्पतिवार सुबह सात-आठ युवकों ने तेजधार हथियार से हमला कर दिया। सिर और गर्दन पर तेजधार हथियार से वार किए। पीजीआई में उपचार के दौरान फाइनेंसर की मौत हो गई। बताया जाता है कि हमलावरों ने फाइनेंस पर रुपये लिए हुए थे और लौटाने से बचने के लिए हमला किया। पुलिस ने सूचना के बाद जांच शुरू कर दी है।

मामला बृहस्पतिवार सुबह करीब छह बजे का है। बस स्टैंड के पास विद्यानगर वासी फाइनेंसर करीब 28 वर्षीय सोनू का कार्यालय है। बुधवार रात को वह अपने कार्यालय में सोया था। बृहस्पतिवार सुबह करीब छह बजे सात-आठ युवकों ने उस पर तेजधार हथियार से हमला कर दिया। सिर व गर्दन पर गंभीर चोटें मारी गई। गर्दन पर लगी चोट ज्यादा गंभीर थी। सूचना पर परिजन पहुंचे और घायल को उपचार के लिए सामान्य अस्पताल लाया गया। यहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया गया। परिजन पीजीआई रोहतक ले जाने की बजाए हिसार के एक निजी अस्पताल ले गए। हिसार में भी चिकित्सकों ने पीजीआई रोहतक ले जाने की सलाह ली। पीजीआई पहुंचने के बाद सायं करीब साढ़े सात बजे सोनू ने दम तोड़ दिया।

मृतक के चचेरे भाई सुनील ने बताया कि सिर और गर्दन पर तेजधार हथियार से अनेक वार किए गए। जिस कारण सोनू की मौत हुई। सोनू से कुछ लोगों ने फाइनेंस पर रूपये लिए थे। लौटाने से बचने के लिए यह हमला किया गया। हमलावर सात-आठ है और एमसी कॉलोनी, भारत नगर के रहने वाले है। जैन चौक चौकी में शिकायत दे दी है और तीन के नाम भी बताये है। सोनू दो भाईयों में बड़ा था और अविवाहित था। उसके पिता महेंद्र सिंह फौज में थे, जिनका पहले ही निधन हो चुका है।

मामले में जैन चौक चौकी से इंचार्ज एसआई रामधारी ने बताया कि युवक  सोनू की हत्या का मामला प्रकाश में आया है। युवक ने पीजीआई में दम तोड़ा है। पुलिस पीजीआई पहुंच रही है और परिजनों के बयान के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Spotlight

Most Read

Nainital

नारी निकेतन से पति के घर गई विवाहिता

नारी निकेतन से पति के घर गई विवाहिता

25 फरवरी 2018

Related Videos

डॉक्टर साहब गए आराम फरमाने, गार्ड ने ऐसे किया इलाज

हरियाणा के सिरसा में एक डॉक्टर की संवेदनहीनता देखने को मिली। यहां पर डॉक्टर साहब घायल शख्स का इलाज करने के बजाय आराम फरमाने चले गए। जिसके बाद मौके पर मौजूद एक सफाईकर्मी ने घायल शख्स को टांके लगाए।

19 सितंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen