विज्ञापन

दिल्ली

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

दिल्ली: लूटपाट का विरोध करने पर जवान को बदमाशों ने चाकू से गोदा, चलती ट्रेन से फेंका, हालत गंभीर

दया बस्ती रेलवे स्टेशन के पास बदमाशों ने रविवार तड़के दुरंतो एक्सप्रेस में सवार सेना के एक जवान के साथ लूटपाट की और विरोध करने पर चलती ट्रेन से फेंक दिया। घायल होने के बावजूद जवान भाग रहे बदमाशों से भिड़ गया। बदमाशों ने जवान पर चाकू से ताबड़तोड़ हमला दिया। गंभीर रूप से जख्मी जवान का बेस अस्पताल में इलाज चल रहा है। सराय रोहिल्ला थाना पुलिस मामला दर्ज कर फरार बदमाशों की पहचान करने में जुटी है।

घायल जवान की पहचान गांव कलिंगा, भिवानी निवासी कुलदीप के रूप में हुई है। वह सेना के राजपुताना राइफल में सिपाही है। कुलदीप की जम्मू-कश्मीर में तैनाती थी। जहां से उसका तबादला जयपुर हुआ था। 19 दिसंबर को वह दुरंतो एक्सप्रेस से जयपुर जा रहा था। सुबह करीब पौने चार बजे ट्रेन दया बस्ती स्टेशन से आगे निकली। उस समय ट्रेन की रफ्तार कम थी। रफ्तार कम होने की वजह से तीन बदमाश ट्रेन में सवार हो गए।

बदमाशों ने कुलदीप से फोन लूट लिया। विरोध करने पर बदमाशों के साथ उसकी हाथापाई हो गई। इस दौरान तीन बदमाशों ने उसे चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया। घायल होने के बावजूद वह भाग रहे बदमाशों का पीछा कर उन्हें पकड़ लिया। लेकिन बदमाशों ने चाकू से पेट, सीने, गर्दन और पीठ पर वार कर उसे बुरी तरह से घायल कर दिया। ट्रैक की देखभाल करने वाले कर्मचारियों की नजर घायल जवान पर पड़ी। पुलिस ने कुलदीप को बाड़ा हिंदूराव अस्पताल में भर्ती कराया। बाद में उसे दिल्ली कैंट स्थित बेस अस्पताल में भर्ती कराया। सिपाही की हालत नाजुक बनी हुई है।
... और पढ़ें

दिल्ली: लूटपाट का विरोध करने पर बदमाशों ने सेना के जवान को चलती ट्रेन से फेंका, चाकू से किया हमला, फौजी की हालत नाजुक

सराय रोहिल्ला रेलवे स्टेशन के पास बदमाशें ने दुरंतो एक्सप्रेस में सवार सेना के एक जवान के साथ लूटपाट की और विरोध करने पर उसे चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया। घायल होने के बावजूद जवान भाग रहे बदमाशों से भिड़ गया। बदमाशों ने जवान पर चाकू से ताबड़तोड़ हमला कर उसे बुरी तरह से घायल कर दिया। इसके बाद वे मौके से फरार हो गए। घायल जवान की हालत नाजुक बनी हुई है और उसका बेस अस्पताल में इलाज चल रहा है।

सराय रोहिल्ला थाना पुलिस मामला दर्ज कर फरार बदमाशों की पहचान करने में जुटी है। घायल जवान की पहचान गांव कलिंगा, भिवानी हरियाणा निवासी कुलदीप के रूप में हुई है। वह सेना के राजपुताना राइफल में बतौर सिपाही कार्यरत है। कुलदीप की जम्मू कश्मीर में तैनाती थी, जहां से उसका तबादला जयपुर हुआ था। 19 दिसंबर को वह दुरंतो एक्सप्रेस से जयपुर जा रहा था। सुबह करीब पौने चार बजे ट्रेन दया बस्ती स्टेशन से आगे निकली। उस समय ट्रेन की रफ्तार कम थी।
... और पढ़ें

दिल्ली: शादी का झांसा देकर युवती के साथ दुष्कर्म, पुलिस कर रही आरोपी की तलाश

उत्तर-पूर्वी दिल्ली के वेलकम इलाके में शादी का झांसा देकर 20 वर्षीय एक युवती के साथ दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। आरोपी पिछले दस माह से लगातार वारदात को अंजाम दे रहा था। अब शादी करने की बात पर आरोपी और उसका परिवार युवती को जान से मारने की धमकी दे रहा था। परेशान होकर पीड़िता ने रविवार को मामले शिकायत पुलिस से की।

पुलिस के मुताबिक सलमा (20 साल, बदला हुआ नाम) परिवार के साथ जनता कॉलोनी, वेलकम में रहती है। परिवार में माता-पिता व अन्य सदस्य हैं। इसके पड़ोस में ही अमान नामक युवक रहता है। दोनों बचपन से एक दूसरे को जानते हैं। सलमा के मुताबिक पिछले करीब तीन साल से एक दूसरे से बातचीत करने लगे। अमान सलमा से प्यार का इजहार कर उससे शादी की बात करता। इसी साल मार्च में आरोपी मौजपुर के होटल में ले गया। वहां उसने जल्द ही शादी की बात कर पीड़िता के साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद सितंबर में दोबारा वारदात को अंजाम दिया। यह सिलसिला चलता रहा।

जब भी पीड़िता उससे शादी की बात करती तो वह उसे टाल देता था। अमान और सलमा के बीच संबंध की बात लड़के परिवार को पता चल गई थी। इस वजह से उन्होंने अमान का रिश्ता कहीं और कर दिया। अमान ने भी अब सलमा को नजर अंदाज करना शुरू कर दिया। सलमा ने दबाव बनाया तो अमान के परिवार व उसने उसे जान से मारने की धमकी दी। परेशान होकर सलमा रविवार को अपनी बुआ के साथ थाने पहुंची और मामला दर्ज कराया। पुलिस से शिकायत का पता चलते ही आरोपी फरार हो गया।
... और पढ़ें

दिल्ली: बेटी की बीमारी से परेशान रहता था पिता, मासूम की मौत के बाद लगा ली फांसी, हत्या की भी जताई जा रही आशंका

नरेला औद्योगिक क्षेत्र के मेट्रो विहार इलाके में मंगलवार दोपहर दस साल की मासूम बेटी की मौत के बाद एक पिता ने फांसी लगाकर जान दे दी। मृतक के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। आशंका जताई जा रही है कि मृतक ने अपनी बेटी की हत्या करने के बाद फांसी लगाकर जान दी है। उधर, पुलिस का कहना है कि बच्ची के शरीर पर कोई चोट या फिर गला दबाए जाने का निशान नहीं मिला है। पुलिस बच्ची की स्वाभाविक मौत से भी इनकार नहीं कर रही है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही बच्ची की मौत के कारणों का खुलासा हो पाएगा। 

मृतक की शिनाख्त सुरेश(32) और बेटी की पहचान मानसी के रूप में हुई है। सुरेश सपरिवार मेट्रो विहार के एक मकान की चौथी मंजिल पर रहता था। परिवार में पत्नी रमा देवी, दो बेटे और एक बेटी मानसी थी। मंगलवार दोपहर करीब पौने चार बजे पुलिस को सुरेश के खुदकुशी किए जाने की जानकारी मिली। मौके पर पहुंची पुलिस ने देखा कि सुरेश पंखे के रॉड में फंदा लगाकर खुदकुशी की है। दवाब की वजह से वह बिस्तर पर झुका हुआ था। वहीं बिस्तर पर उसकी बेटी पड़ी थी, जिसपर कंबल डाला हुआ था। पुलिस को मौके पर सुरेश का भतीजा रोहन मिला। जिसने बताया कि उसकी दादी खाना खाने के लिए चाचा को बुलाने गई थी। लेकिन चाचा को फंदे से लटका देख वह चीखने चिल्लाने लगी। वह भागकर ऊपर की मंजिल पर पहुंचा और पुलिस को घटना की जानकारी दी। 
... और पढ़ें
After death of daughter father hanged himself was upset due to illness After death of daughter father hanged himself was upset due to illness

डेढ़ करोड़ की लूट का खुलासा: परिचित ने दी थी सूचना, पांच आरोपियों से एक करोड़ बरामद

सिविल लाइंस इलाके के चंदगीराम अखाड़े के पास दो मार्च को हुई 1.15 करोड़ रुपये की लूट की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है। पुलिस ने एक करोड़ से अधिक की रकम बरामद कर पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। एक जूलर के पूर्व कर्मचारी की सूचना पर बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया। जिला पुलिस उपायुक्त सागर सिंह कलसी ने मामले को सुलझाने की पुष्टि की है, लेकिन वह शुक्रवार को प्रेसवार्ता कर इसकी जानकारी देने की बात कर रहे हैं। पुलिस सूत्रों का कहना है कि सीसीटीवी कैमरों से पहचान कर पुलिस आरोपियों तक पहुंची। पुलिस को मामले में अभी कुछ और आरोपियों की तलाश है। कई टीमें उनकी तलाश में जुटी हैं।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि अनाज कारोबारी करण अग्रवाल के कर्मचारी नरेंद्र अग्रवाल और गोविंद दो मार्च की शाम कूचा महाजनी पेमेंट लेने गए थे। दो बैग में 1.15 करोड़ की पेमेंट लेकर वह स्कूटी से ख्याला स्थित दफ्तर के लिए निकले। इस बीच दोनों आउटर रिंग रोड होते हुए अपने दफ्तर जा रहे थे। चंदगीराम अखाड़े के पास बाइक सवार तीन बदमाशों ने स्कूटी में टक्कर मारकर उन्हें गिरा दिया। इसके बाद आरोपियों ने पिस्टल दिखाई और रुपयों के बैग लूटकर फरार हो गए। पुलिस ने सिविल लाइंस थाने में मामला दर्ज कर जांच शुरू की। नरेंद्र और गोविंद से लंबी पूछताछ के बाद कुछ हाथ नहीं लगा। इसके बाद पुलिस ने कूचा महाजनी से लेकर घटनास्थल तक लगे सभी सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला। इससे कुछ लोगों की पहचान हुई। लंबी पड़ताल के बाद पुलिस ने बुधवार को मामले में आरोपी बॉबी, टैनी, स्पर्श और बेबी व एक अन्य को गिरफ्तार कर लिया।

इनके पास से लूट में इस्तेमाल किया गया हथियार बरामद कर लिया गया। पूछताछ में आरोपियों ने खुलासा किया कि उन्होंने एक जूलर के पूर्व कर्मचारी की सूचना पर घटना को अंजाम दिया। इसमें छह से सात लोगों के शामिल होने की बात सामने आ रही है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि उनकी तलाश में दबिश जारी है। लूट की ज्यादातर रकम बरामद हो गई है।

लूट की मांगी थी मन्नत, एक लाख दान पेटी में डाले
आरोपियों ने खुलासा किया है कि गिरोह के सरगना ने बड़ी लूट के लिए भगवान से मन्नत मांगी थी। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी राजस्थान के खाटू श्याम मंदिर पहुंचे। वहां पूजा करने के बाद मन्नत पूरी होने पर मंदिर की दान पेटी में उन्होंने एक लाख रुपये दान किए।

अब कभी नहीं...इन पैसों से करेंगे कारोबार
लौटते समय आरोपियों ने मौज-मस्ती कर एक लाख रुपये खाने-पीने में उड़ा दिए। इन लोगों ने कसम खाई थी कि अब यह कभी लूट न करके इन पैसों से कारोबार करेंगे, लेकिन पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार कर इनके सपनों पर पानी फेर दिया। लूट की गुत्थी सुलझने के बाद चांदनी चौक के कारोबारी खुश हैं। उनका कहना है कि दिल्ली पुलिस आयुक्त के कहने पर चंद रोज पहले इलाके में 300 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। उनकी मदद से आरोपियों को पकड़ा गया है। कूचा महाजनी की द बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन के चेयरमैन योगेश सिंघल ने पुलिस को धन्यवाद करते हुए पत्र लिखा है।

कारोबारी के कर्मी से 90 लाख की लूट, 2 हिरासत में
मध्य दिल्ली के देशबंधु गुप्ता रोड इलाके में स्कूटी सवार बदमाशों ने बैट्री कारोबारी के दो कर्मचारियों से 90 लाख रुपये लूट लिए। दोनों कर्मचारी चांदनी चौक इलाके से पेमेंट लेकर करोल बाग स्थित दफ्तर लौट रहे थे। इस बीच न्यू रोहतक -फैज रोड की लाल बत्ती पर बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया। बदमाशों के जाने के बाद पीड़ितों ने मालिक को खबर दी। बाद में पुलिस से शिकायत की गई। पुलिस ने मामला दर्ज कर लूट की गुत्थी को सुलझाने का दावा किया है। फिलहाल पुलिस बृहस्पतिवार को दो आरोपियों को हिरासत में लेने की बात कर रही है। सूत्रों का कहना है कि शुक्रवार को पुलिस इसका खुलासा कर सकती है।

अनिल गोयल नामक कारोबारी का करोल बाग इलाके में बैट्री का बड़ा कारोबार है। इनके यहां मनोज व शिवम नामक कर्मचारी पिछले काफी समय से काम कर रहे हैं। सोमवार को अनिल को किसी काम से बाहर जाना था। दुुकान पर इनका भांजा रोहित मौजूद था। रोहित ने मनोज व शिवम को चांदनी चौक से एक कारोबारी से 90 लाख रुपये लाने के लिए कहा। दोनों बाइक से वहां पहुंचे और रुपये लेकर दुकान पर वापस लौटने लगे। 
... और पढ़ें

दिल्ली: युवती से दुष्कर्म करने वाले एक पाखंडी को पुलिस ने दबोचा, झाड़ फूंक से इलाज का करता था दावा

मंगोलपुरी इलाके में झाड़ फूंक से बीमारी को दूर करने का दावा कर एक युवती से दुष्कर्म करने वाले पाखंडी बाबा को पुलिस ने सीमापुरी से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने इलाज करवाने आई एक युवती को कुछ सुंघाया और वारदात को अंजाम दिया। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने दुष्कर्म का मामला दर्ज कर लिया है। 

पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार आरोपी की पहचान मंगोलपुरी निवासी यामिन(45) के रूप में हुई है। पालम इलाके में रहने वाली 20 साल की युवती काफी दिन से बीमार थी। किसी ने उसकी मां को बताया कि मंगोलपुरी में रहने वाला बाबा झाड़ फूंक के जरिए बीमारी को जड़ से खत्म कर देता है। युवती की मां बाबा के पास गई। बाबा ने बताया कि युवती को देखने के बाद ही उसका इलाज करेगा। 

एक दिन युवती की मां उसे लेकर बाबा के पास पहुंची। वहां से जाने के बाद 12 फरवरी को उसने अपनी मां से बताया कि आरोपी ने इलाज के बहाने उसके साथ यौन शोषण किया था। उसके बाद युवती की मां ने पुलिस से इसकी शिकायत की। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की। जांच में पता चला कि आरोपी घटना के बाद से मंगोलपुरी से फरार हो गया है। रविवार को तकनीकी जांच में पता चला कि आरोपी सीमापुरी इलाके में छुपा हुआ है। पुलिस की टीम ने छापा मारकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।


 
... और पढ़ें

दिल्ली: ससुराल जाने से मना करने पर पत्नी पर जानलेवा हमला कर युवक ने की खुदकुशी

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल
ख्याला इलाके में शुक्रवार सुबह ससुराल जाने से मना करने पर एक युवक ने अपनी पत्नी पर सर्जिकल ब्लेड से जानलेवा हमला करने के बाद खुदकुशी कर ली। आरोपी ने पत्नी पर सर्जिकल ब्लेड से करीब पचास वार करने के बाद उसे मृत समझकर वहां से फरार हो गया। घटना के समय महिला अपने घर पर अकेली थी। पुलिस आरोपी की तलाश ही कर रही थी कि इसी दौरान उसके खुदकुशी कर लेने की जानकारी पुलिस को मिली। आरोपी ने पत्नी की फोटो को अपनी मां और दोस्त के व्हाट्सएप पर भेजकर लोनी गाजियाबाद में अपनी बहन के घर में खुदकुशी कर ली। 

शुक्रवार सुबह पुलिस को दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल से एक महिला पर जानलेवा हमला किए जाने की जानकारी मिली। अस्पताल पहुंची पुलिस को पता चला कि घायल महिला का नाम मानसी(21) है। वह बयान देने की स्थित में नहीं थी। उसकी सहेली ने बताया कि मानसी पर उसके पति रामकुमार ने सर्जिकल ब्लेड से हमला किया है। महिला के गले, चेहरे और पैर पर ब्लेड मारे जाने के दर्जनों घाव थे। 

छानबीन के दौरान पता चला कि पति से किसी बात पर विवाद होने पर मानसी रघुवीर नगर स्थित अपने मायके आ गई थी। शुक्रवार को उसका पति उसे वापस लेने के लिए आया था। रामकुमार लोनी के गुलाब विहार में अपनी बहन के घर में रहता था। मानसी के वापस जाने से इंकार करने पर आरोपी ने उसपर सर्जिकल ब्लेड से ताबड़तोड़ हमला करने लगा और तब तक हमला करता रहा जब तक वह अचेत नहीं हो गई। आरोपी को लगा कि मानसी की मौत हो गई है।

आरोपी ने उसकी जख्मी हालत में फोटो खींचने के बाद वहां से फरार हो गया। उसके जाने के बाद उसकी एक सहेली उसके घर पहुंची और मानसी को घायल अवस्था में देखकर उसे अस्पताल में भर्ती कराया। मानसी के शरीर से काफी खून निकल गया था। पुलिस कर्मी को पता चला कि उसे खून की आवश्यकता है तब सिपाही सुधीर ने उसे खून दिया। पुलिस के मुताबिक उसकी हालत स्थिर है। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू की। 

पुलिस आरोपी रामकुमार की धरपकड़ के लिए उसके घरवालों से संपर्क किया तो पता चला कि रामकुमार ने लोनी के नसीब विहार स्थित अपनी बहन के घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली है। आरोपी ने खुदकुशी करने से पहले अपनी मां और एक दोस्त को पत्नी का फोटो भेजा था। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
... और पढ़ें

दिल्ली : पत्नी से बदसलूकी के शक में चालक की आंख में सुआ घोंपा, मुख्य आरोपी फरार

राजौरी गार्डन इलाके में एक युवक ने साथियों के साथ मिलकर ई-रिक्शा चालक की आंख में सुआ घोंपकर उसे बुरी तरह से घायल कर दिया। घटना को अंजाम देकर आरोपी साथी के साथ फरार हो गया, लेकिन मौके पर मौजूद लोगों ने दो हमलावरों को दबोचकर पिटाई कर दी।

दोस्तों ने ई-रिक्शा चालक को पास के अस्पताल में भर्ती करवाया। घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों हमलावरों को हिरासत में लेकर उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया।

ई-रिक्शा चालक के दोस्त के बयान पर पुलिस ने हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर फरार मुख्य आरोपी समेत अन्य की तलाश कर रही है। जिला पुलिस उपायुक्त उर्विजा गोयल ने बताया कि पकड़े गए दोनों आरोपियों में से एक नाबालिग है जबकि दूसरे की पहचान निलोठी निवासी अनुज के रूप में हुई है। बृहस्पतिवार शाम सात बजे पुलिस को गुरु गोविंद सिंह अस्पताल से एक युवक की आंख में सुआ घोंपे जाने की जानकारी मिली।
... और पढ़ें

दिल्ली:  एएटीएस ने कुख्यात वाहन चोर-झपटमार को दबोचा, तीन मोबाइल-सात स्कूटी और बाइक बरामद

मध्य जिला के एएटीएस (एंटी ऑटो थेफ्ट स्क्वाड) ने एक ऐसे बदमाश को दबोचा है जो झपटमारी करने के लिए बाइक व स्कूटी चोरी करता था। तीन-चार वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी चोरी के वाहनों को बदल दिया करता था। पकड़े गए आरोपी की पहचान पहाड़गंज निवासी मोरिशन उर्फ खोलके (24) के रूप में हुई है। पुलिस ने इसकी गिरफ्तारी से लूटपाट और चोरी के 10 मामले सुलझाने का दावा किया है। पुलिस पकड़े गए आरोपी से पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है।

उत्तरी जिले की पुलिस उपायुक्त श्वेता चौहान ने बताया कि पिछले काफी समय से बदमाश पहाड़गंज और सदर बाजार इलाके में झपटमारी की वारदातों को अंजाम दे रहे थे। इसके अलावा वहां लगातार वाहन भी चोरी हो रहे थे। एसआई संदीप गोदारा व अन्यों की टीम लगातार जांच में जुटी थी। काफी छानबीन के बाद पुलिस को पता चला कि वारदात को अंजाम देने वाला आरोपी रविवार को कमला मार्केट के पास आने वाला है।

सूचना के बाद पुलिस ने मौके पर ट्रैप लगा दिया। पुलिस ने बाइक सवार आरोपी को रोकने का इशारा किया, लेकिन उसने भागने का प्रयास किया। कुछ दूर पीछा कर आरोपी को काबू कर लिया गया। उसके पास से बरामद बाइक राजेंद्र नगर इलाके से चोरी की मिली। छानबीन के दौरान पुलिस को पता चला कि आरोपी मोरिशन उर्फ खोलके पहले भी 11 वारदातों में शामिल रहा है। पुलिस ने  उसकी निशानदेही पर तीन मोबाइल व बाकी छह स्कूटी-मोबाइल फोन बरामद कर लिये। आरोपी से पूछताछ कर पुलिस अब मामले की छानबीन कर रही है।
... और पढ़ें

दिल्ली: पुलिस से मुठभेड़ में हथियार तस्कर गिरफ्तार, 13 पिस्तौल और 38 कारतूस बरामद

दिल्ली के रोहिणी इलाके में सोमवार देर रात पुलिस और हथियार तस्कर के बीच मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने एक अपराधी को गिरफ्तार करने में सफलता पाई। अपराधी के पास से 38 कारतूस और 13 पिस्तौल बरामद हुए हैं।

डीसीपी आउटर नॉर्थ बृजेंद्र यादव के अनुसार, आरोपी 13 पिस्तौल और 38 कारतूसों से भरा एक बैग ले जा रहा था। वह 17 अन्य मामलों में शामिल रहा है। इसके साथ ही  वर्तमान में वह नंदू और सिसोदिया गिरोह को हथियारों की आपूर्ति कर रहा है। आरोपी की पहचान जहांगीरपुरी निवासी शकील उर्फ शेरनी के रूप में हुई है।

बताया कि पुलिस को सूचना मिली। जिसके आधार पर रोहिणी सेक्टर-35 में यूईआर-द्वितीय के पास जाल बिछाया गया। जहां आरोपी को बाइक से आने के दौरान रोका गया। पुलिस को देखते ही आरोपी ने पांच राउंड फायरिंग की। पुलिस ने भी सात राउंड फायरिंग की और उसे गिरफ्तार करने में सफलता पाई।
 
... और पढ़ें

युवती से सामूहिक दुष्कर्म:  नौकरी दिलाने के नाम पर बुलाया था ऑफिस, मुख्य आरोपी का दोस्त गिरफ्तार

दिल्ली के प्रेम नगर इलाके में नौकरी दिलाने का झांसा देकर 22 वर्षीय युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। पीड़िता का आरोप है कि नौकरी दिलाने की बात कहकर आरोपी ने अपने कार्यालय बुलाया। जिसके बाद दोस्त के साथ मिल नशीला पदार्थ पिलाकर सामूहिक दुष्कर्म किया। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म और जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मुख्य आरोपी के दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है। मुख्य आरोपी फरार है, जिसकी तलाश में पुलिस दबिश दे रही है। 

पुलिस को दी शिकायत में पीड़िता ने बताया कि वह पांच साल से प्रेमनगर इलाके में रहती है। वह एक निजी कंपनी में काम करती थी। लॉकडाउन के दौरान उसकी नौकरी छूट गई। उसके बाद से वह लगातार नौकरी की तलाश कर रही थी।

बातचीत के दौरान आरोपियों ने कोल्डड्रिंक दी
एक परिचित के कहने पर शर्मा नाम के व्यक्ति से संपर्क किया। शर्मा ने नौकरी के बाबत बातचीत करने के लिए पिछले साल 15 दिसंबर को मुबारकपुर स्थित अपने कार्यालय में बुलाया। कार्यालय में उसका दोस्त असलम भी मौजूद था। बातचीत के दौरान आरोपियों ने कोल्डड्रिंक पीने के लिए दी। जिसके पीते ही उस पर बेहोशी छाने लगी। उसके बाद आरोपियों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। आरोपियों ने किसी को बताने पर उसे जान से मारने की धमकी दी। घटना के बाद से वह काफी डर गई थी। लेकिन उसने साहस कर 9 जनवरी को थाने पहुंची और आरोपियों के खिलाफ शिकायत दी। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक मुख्य आरोपी शर्मा फरार है, जिसकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। उसका दोस्त गिरफ्तार किया गया है।
... और पढ़ें

बहन का बदला बहन से: इस बात पर जीजा से खफा था साला, बोला- सबक सिखाने के लिए चुना ये रास्ता, पढ़ें पूरा क्या है मामला

अपने जीजा को सबक सिखाने की नीयत से एक युवक ने उसकी बहनों की अश्लील तस्वीरें बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दीं। उसने एक फर्जी फेसबुक अकाउंट खोला और जीजा की दो बहनों की तस्वीरें पोस्ट कर दीं। पीड़िता को जैसे ही इसका पता चला उसने मामले की सूचना कमला मार्केट थाना पुलिस को दी। छानबीन के बाद पुलिस ने आरोपी युवक को गांव मोहम्मदपुर झारसा, गुरुग्राम से दबोच लिया। उसके पास से मोबाइल फोन भी बरामद हुआ है। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है।

मध्य जिला पुलिस उपायुक्त श्वेता चौहान ने बताया कि कमला मार्केट थाने में तीन जनवरी को एक युवती ने शिकायत दर्ज कराई थी। पीड़िता ने बताया कि किसी ने उसका फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाकर उसकी व बड़ी बहन की अश्लील फोटो पोस्ट कर दी है। शिकायत मिलने के बाद कमला मार्केट थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की। छानबीन के दौरान पुलिस ने टेक्निकल सर्विलांस की मदद से जांच शुरू की। छानबीन के बाद पुलिस ने आरोपी को गुरुग्राम से दबोच लिया।
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00