विज्ञापन

लोकसभा चुनाव 2019: अब अकाली दल के लिए गले की फांस बना नकोदर कांड, पंथक नेता नाराज

सुरिंदर पाल, अमर उजाला, जालंधर(पंजाब) Updated Wed, 17 Apr 2019 02:09 PM IST
विज्ञापन
सुखबीर बादल
सुखबीर बादल - फोटो : फाइल फोटो
ख़बर सुनें
शिरोमणि अकाली दल पंथक मुद्दों को लेकर बुरी तरह उलझता रहा है, एक के बाद एक मामला अकाली दल के गले की फांस बनता जा रहा है। कुंवर विजय प्रताप की शिकायत कर तबादला करवाना और नकोदर कांड से शिअद सुप्रीमो सुखबीर बादल व अकाली प्रत्याशी चरणजीत सिंह अटवाल का पल्ला झाड़ना नए मामले हैं, जिसमें अकाली दल घिर गया है।
विज्ञापन

वहीं खडूर साहिब में बीबी परमजीत कौर खालड़ा के खिलाफ बीबी जागीर कौर को उतारने के फैसले से भी अकाली दल पर दबाव बढ़ने लगा है, क्योंकि अकाली दल टकसाली ने अपने उम्मीदवार जेजे सिंह का नाम वापस ले लिया है। बहिबल कलां और कोटकपूरा गोलीकांड मामले में अकाली दल की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की गई और जस्टिस जोरा सिंह आयोग की रिपोर्ट पर भी कार्यवाई नहीं की गई। इससे पंथक लोग शिअद से पूरी तरह कट गए।
अकाली दल की तरफ से 2017 में डेरा सिरसा प्रमुख गुरमीत राम रहीम से समर्थन लेने से भी पंथक नेता व वोट बैंक पार्टी से नाराज था। 2015 में डेरा प्रमुख को श्री अकाल तख्त से माफी और फिर यूटर्न को लेकर भी अकाली दल का विरोध लोगों ने किया। पंजाब में कैप्टन सरकार बनने के बाद बहिबल कलां गोलीकांड की जांच के लिए जस्टिस रंजीत सिंह आयोग का गठन किया गया, जिस पर अकाली दल ने आरोप लगाकर रोकने की कोशिश की।
बाद में सरकार की तरफ से एसआईटी का गठन किया गया, जिसमें कुंवर विजय ने इस केस की परत दर परत खोलनी शुरू कर दी। इसके बाद पूर्व एसएसपी चरणजीत शर्मा के अलावा आईजी परमराज उमरानंगल को गिरफ्तार किया गया और अकाली नेता मनतार बराड़ भी इस मामले में जमानत लेने के लिए अदालत की शरण में चला गया। मामले में सांसद नरेश गुजराल ने आयोग से शिकायत कर कुंवर विजय प्रताप का तबादला करवा दिया गया। यह दांव अकाली दल को उल्टा पड़ गया और पार्टी बैकफुट पर चली गई।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us