बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

OMG! चार साल से बंद कोठी का बिल आया 76 हजार

ब्यूरो/अमर उजाला, मोहाली Updated Wed, 16 Dec 2015 09:36 PM IST
विज्ञापन
76 thousand electricity bill of closed house since four years
ख़बर सुनें
केयर टेकर के उस समय होश उड़ गए, जब उसने चार साल से बंद कोठी का बिजली का बिल 76 हजार रुपये देखा। मामला मोहाली के फेज-4 का है। यहां सालों से बंद पड़ी एक कोठी का बिजली का बिल 76920 रुपये आया है। इससे कोठी के केयर टेकर परेशानी में आ गए हैं।
विज्ञापन


जब उन्होंने इस संबंध में बिजली विभाग में पूछताछ की तो उन्हें जवाब मिला कि बिल इसी तरह आता रहेगा। हारकर उन्होंने इस संबंध में जिला उपभोक्ता फोरम में मामला ले जाने की तैयारी है। साथ ही केस में विभाग के अधिकारियों को भी पार्टी बनाने का फैसला लिया है।


जानकारी के मुताबिक, फेज-4 का मकान नंबर 662 दलीप सिंह नाम के व्यक्ति पर है। दलीप सिंह कोठी को पहले ही बेच चुके हैं। जबकि कोठी की देखभाल विनीत वर्मा कर रहे हैं। विनीत वर्मा ने बताया कि कोठी चार साल से बंद है। ऐसे में इस कोठी का बिल इतना ज्यादा आ जाना उनकी समझ से बाहर है।

उन्होंने बताया कि जब वह इस संबंध में विभाग के अधिकारियों से मिलने गए तो उनका जवाब था कि इसी तरह आगे भी एवरेज बिल आता रहेगा। भले ही कोठी बंद पड़ी हो।

उन्होंने बताया कि वैसे तो छह साल से कोठी बंद है। उसमें बिजली जली ही नहीं है। ऐसे मे एवरेज बिल कैसे आ सकता है। उन्होंने बताया कि विभाग उनका कोई भी तर्क सुनने को तैयार नहीं है। ऐसे में उन्होंने उपभोक्ता अदालत में मामले को लेेकर जाने की तैयारी की है।

पांच हजार कमरे का किराया, बिल भेजा डेढ़ लाख
अधिक बिल भेजने का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले सेक्टर-115 में पांच हजार के मासिक किराए पर रहने वाले व्यक्ति को डेढ़ लाख रुपये का बिल बिजली विभाग ने भेजा था। काफी समय तक व्यक्ति परेशानी उठाता रहा था। मामला ध्यान में आने के बाद विभाग ने उसकी शिकायत सुनी थी।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X