विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम
Puja

मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

दिन दहाड़े महिला का पर्स चोरने वाला पकड़ा गया

अल्मोड़ा। तीन दिन पूर्व जिला महिला अस्पताल में दिन दहाड़े महिला के बैग से पर्स चोरी करने वाला छात्र पुलिस की गिरफ्त में आ गया है। इस मामले में पीड़ित महिला की ओर से कोतवाली में धारा-379 के तहत मुकदमा पंजीकृत था।

बुधवार 19 जून को महिला अस्पताल में इलाज कराने पहुंची लमगड़ा निवासी ममता के बैग में रखा रुपये से भरा पर्स गायब हो गया। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद पुलिस ने सीसीटीवी खंगालकर आरोपी राजेंद्र पांडे निवासी चिमार, धौलादेवी को गिरफ्तार कर लिया है।

उपनिरीक्षक नवीन जोशी ने बताया कि पर्स चोरने वाला एसएसजे परिसर में बीकॉम का छात्र है। उसने महिला के बैग से पर्स में रखे चार हजार रुपये नगद और आधार कार्ड चुरा लिया था। उन्होंने बताया कि राजेंद्र पांडे के कब्जे से 2800 रुपये नगद, पर्स और आधार कार्ड बरामद कर लिया गया है।
... और पढ़ें

कार में शराब ला रहे चार युवक गिरफ्तार, दोनों वाहन सीज


अल्मोड़ा। एसओजी और कोतवाली पुलिस की संयुक्त टीम ने नगर में दो अलग-अलग स्थानों पर दो कारों से शराब के साथ चार लोगों केे गिरफ्तार किया है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार एसओजी और कोतवाली पुलिस ने शुक्रवार को गैस गोदाम के पास होंडा सिटी कार डीएल 3 सीबीई0438 को चेक किया। वाहन में हरियाणा मार्का की 300 बोतल शराब बरामद कीं। पुलिस ने वाहन में सवार संदीप छिल्लर निवासी गडेरडाला दिल्ली, दीपक लोधी निवासी अढ़ोली, सरायछबिला बुलंदशहर यूपी को को पकड़ उनकी कार को सीज कर लिया।

इसके अलावा, टीम ने शैल बैंड के पास होंडा सिटी कार एचआर 26बीबी 3208 से हरियाणा मार्का शराब की 24 बेटियां बरामद की। पुलिस ने सोमवीर सिंह निवासी बिगरांव जिला बुलंदशहर, अनुुराग निवासी बहादुरगढ़, झज्जर हरियाणा को गिरफ्तार करते हुए वाहन सीज कर दिया है। दोनों मामलों में आरोपियों के खिलाफ आबकारी अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।
... और पढ़ें

मासूम संग छेड़छाड़ में अज्ञात पर मुकदमा


रानीखेत (अल्मोड़ा)। सात साल की बच्ची के साथ छेड़खानी के मामले में पुलिस ने पिता की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ पॉक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले की जांच भी शुरू कर दी गई है।

नगर निवासी एक व्यक्ति ने पुलिस को तहरीर देकर कहा कि नौ जून को उनकी सात साल की बालिका बाहर खेल रही थी। इस दौरान एक अज्ञात व्यक्ति उसे बहला फुसलाकर सुनसान जगह पर ले गया और बच्ची के साथ छेड़छाड़ करने लगा। किसी तरह आरोपी के चुंगल से छूटकर घर पहुंची मासूम ने परिजनों को आपबीती बताई। इस पर पीड़िता के पिता ने कोतवाली में तहरीर सौंपकर आरोपी की खोजबीन कर उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की। शुक्रवार को पुलिस ने मामले में पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले की जांच एसएसआई बसंती आर्या को सौंपी गई है।

कोतवाल नारायण सिंह ने बताया कि पाक्सो की विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच भी शुरू कर दी गई है। आरोपी को शीघ्र गिरफ्तार किया जाएगा। इधर नगर में लगातार आपराधिक गतिविधियां बढ़ने से स्थानीय लोगों में भारी आक्रोश है। लोगों का कहना है कि रानीखेत जैसे शांत शहर में इस तरह की वारदात होना गंभीर मसला है, पुलिस को मुस्तैदी से सुरक्षा व्यवस्था संभालनी चाहिए।

एनडीपीएस एक्ट में वांछित को भेजा जेल
रानीखेत। पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट में लंबे समय से वांछित चल रहे अभियुक्त चार्ली उर्फ देवकीनंदन को लखनऊ से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। कोतवाल नारायण सिंह ने बताया कि इसी साल फरवरी में घिंघारीखाल पर पुलिस ने भारी मात्रा में गांजा पकड़ा था। दो अभियुक्तों को जेल भेज दिया था, पूछताछ में सरगना का नाम चार्ली बताया गया था, तब से उसकी खोजबीन चल रही थी।
... और पढ़ें

छात्रवृति घोटाला: रानीखेत पुलिस ने की पहली गिरफ्तारी, हापुड़ की यूनिवर्सिटी का कर्मचारी गिरफ्तार

उत्तराखंड में एससी-एसटी ओबीसी दशमोत्तर छात्रवृत्ति अनियमित्ता मामले में रानीखेत पुलिस ने पहली गिरफ्तारी की है। 14,23080 रुपये के गबन मामले में एसआईटी की जांच के बाद इसी साल 10 जनवरी को मुकदमा दर्ज हुआ था।

रानीखेत क्षेत्र के विद्यालयों से 18 छात्र-छात्राओं के छात्रवृत्ति के फर्जी  फॉर्म भरवाए गए थे। इस मामले में उपनिबंधक मोनार्ड यूनिवर्सिटी हापुड़ के छात्रवृत्ति सेक्सन इंचार्ज को रानीखेत पुलिस ने हापुड़ से गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, इसके बाद उसे जेल भेज दिया है।


विवेचना में जुटी एसएसआई बसंती आर्या ने बताया कि छात्रवृत्ति घोटाले की जांच एसआईटी टीम द्वारा की गई। 10 जनवरी 2020 को कोतवाली रानीखेत में उपनिबंधक मोनार्ड यूनिवर्सिटी हापुड़ व अज्ञात बिचौलियों के विरुद्ध, जिला समाज कल्याण कार्यालय अल्मोड़ा से प्राप्त छात्रवृत्ति की धनराशि 14,23080  रुपये के कूटरचित दस्तावेज तैयार कर आपराधिक षडयंत्र रचकर गबन करने के संबंध में अभियोग पंजीकृत किया गया था।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: दुष्कर्म और लैंगिक अपराध के मामलों में आरोपियों की जमानत याचिका खारिज, वीडियो कांफ्रेंसिंग से हुई सुनवाई

उत्तराखंड के अल्मोड़ा में  विशेष सत्र न्यायाधीश प्रदीप पंत की अदालत ने दुष्कर्म के मामले में नैनीताल जिले के निवासी आरोपी की जमानत खारिज कर दी है। मामले में वीडियो कांफ्रेंसिंग से बहस हुई। एक अन्य मामले में भी आरोपी को जमानत नहीं दी गई। नगर के एक मोहल्ले में किराए के कमरे में रहने वाली एक नाबालिग गत 14 फरवरी को घर से आईटीआई जाने के लिए निकली, लेकिन घर नहीं लौटी।

इसके बाद उसके पिता ने 18 फरवरी को नाबालिग पुत्री की गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई। पुलिस ने एक माह बाद 18 मार्च को मिडल फील्ड गार्डन, सभरपुर सेक्टर गुरुग्राम हरियाणा से रवींद्र कुमार जीना के साथ नाबालिग को बरामद किया। आरोपी रवींद्र कुमार जीना ग्राम कूल पट्टी प्यूड़ा जिला नैनीताल का मूल निवासी है।
... और पढ़ें

राष्ट्रीय जूनियर बैडमिंटन खिलाड़ी से अल्मोड़ा में दुष्कर्म, कोलकाता पुलिस पहुंची

शर्मनाकः नाबालिग के साथ नाना ने किया दुष्कर्म, किशोरी गर्भवती हुई तो खुला मामला

अल्मोड़ा की तहसील सोमेश्वर के अंतर्गत एक गांव की किशोरी के साथ उसके रिश्ते के नाना द्वारा दुष्कर्म किए जाने का मामला सामने आया है। मंगलवार को महिला अस्पताल में जांच कराने ीपर किशोरी के गर्भवती होने की पुष्टि पर मामला खुला। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। 

जानकारी के मुताबिक किशोरी के पिता दिल्ली में नौकरी करते हैं। किशोरी भी वहां अपने माता-पिता के साथ ही रहती थी। बीते दिनों उसे पीलिया हो गया। पीलिया को झड़ाने के लिए परिजनों ने उसे करीब एक माह पहले गांव भेज दिया था। पिछले कुछ दिनों से उसका स्वास्थ्य लगातार खराब चल रहा था। मंगलवार को उसकी रिश्ते की मौसी उसे महिला अस्पताल लेकर आई।

वहां जांच में उसके सात माह के गर्भ की पुष्टि हुई। जब डॉक्टरों ने उसे यह बात बताई तो किशोरी रोने लगी। पूछताछ में उसने बताया कि दिल्ली में रहने वाले उसके रिश्ते के नाना ने उसके साथ दुष्कर्म किया था। बाद में उसे घर भेज दिया गया। इधर, मामले की सूचना पुलिस को दे दी गई है। हालांकि अभी तक परिजनों अथवा किशोरी की ओर से इस मामले में एफआईआर दर्ज नहीं कराई गई है।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: कुमाऊं में सामने आए दुष्कर्म के तीन मामले, कांस्टेबल पर मुकदमा तो एक जगह बच्ची हुई गर्भवती

Rape Victim
उत्तराखंड के कुमाऊं में दुष्कर्म के तीन मामले सामने आए हैं। काशीपुर में एक कांस्टेबल पर मुकदमा दर्ज किया गया तो अल्मोड़ा में किशोरी से दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। वहीं किशोरी गर्भवती भी है। उधर, रामनगर में भी पांच साल की बच्ची से दुष्कर्म का प्रयास किया गया। 

काशीपुर में एक युवती ने आईआरबी (बैलपड़ाव) के कांस्टेबल पर दुष्कर्म, जबरन गर्भपात कराने और जान से मारने की धमकी देने के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया है। मुख्य आरोपी का सहयोग करने पर आरोपी की बहन और छह अन्य को भी नामजद किया गया है।

आईटीआई थाना क्षेत्र की युवती ने पुलिस अधिकारियों को भेजी तहरीर में कहा कि वह वर्ष 2015 में कक्षा नौ में पढ़ती थी। इस दौरान बरखेड़ा पांडे निवासी दीपक सागर से उसकी पहचान हो गई। दोनों मोबाइल पर बातें करने लगे। दीपक और उसके साथियों ने मोबाइल पर हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग उसके परिजनों को भेजने की धमकी देकर उस पर दबाव बनाया।

दीपक ने शादी का झांसा देकर कई होटलों में उसके साथ दुष्कर्म किया। वर्ष 2016 में दीपक की नियुक्ति आईआरबी में हो गई। इसके बाद भी दीपक उसे डरा धमकाकर अलग-अलग स्थानों और दोस्तों के घर ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म करता रहा। आरोपियों ने उसकी आपत्तिजनक वीडियो भी बना ली। फरवरी 2019 में वह गर्भवती हुई तो आरोपी ने जबरन उसका गर्भपात करा दिया।

पीड़िता का आरोप है कि 31 जुलाई को दीपक ने उसे काशीपुर बुलाया। वहां से उसे वह बाइक पर कुंडेश्वरी रोड स्थित एक रेस्टोरेंट में ले गया और शादी की बात से इनकार कर दिया। विरोध करने पर आरोपी ने उसका वीडियो वायरल करने की धमकी दी। एक अगस्त 2019 को दीपक उसे कुंडेश्वरी-केलामोड़ मार्ग पर ले गया।

वहां उसे जबरन जहर देने का प्रयास किया। इस पर उसने उल्टी कर दी और शीशी सड़क पर फोड़ दी। इसके बाद आरोपी की बहन पूजा, भाई विपिन और मां इंद्रावती ने फोन पर उसके साथ अभद्रता करते हुए जान से मारने की धमकी दी।  आईटीआई थानाध्यक्ष कुलदीप अधिकारी ने बताया कि इस मामले में बरखेड़ा पांडे निवासी कांस्टेबल दीपक सागर, महिला दरोगा पूजा, विपिन और इंद्रावती के अलावा हिमांशु, विशाल और नितिन शर्मा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।
... और पढ़ें

प्रतिबंधित वन्य जीव पेंगोलिन की तस्करी में एसटीएफ और डब्ल्यूसीसीबी ने तीन लोगों को किया गिरफ्तार

वन्य जीव-जंतुओं की तस्करी में लिप्त लोगों की धरपकड़ में जुटी स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) कुमाऊं परिक्षेत्र और वाइल्ड क्राइम कंट्रोल ब्यूरो (डब्ल्यूसीसीबी) ने वन्य जीवों की तस्करी करने वाले तीन लोगों को गिरफ्तार कर उनके पास से स्तनधारी सरीसृप वर्ग का एक पेंगोलिन बरामद किया है। पेंगोलिन जीव को दुर्लभ जीवों के शेड्यूल वन की श्रेणी में रखा गया है। 

बीते बुधवार एसटीएफ कुमाऊं परिक्षेत्र को दिनेशपुर क्षेत्र में वन्य जीव जंतुओं की तस्करी की सूचना मिली थी। साथ ही वन्य जीवों की तस्करी की एक सूचना नई दिल्ली स्थित वाइल्ड क्राइम कंट्रोल ब्यूरो को भी मिली थी। सूचना पर एसटीएफ और डब्ल्यूसीसीबी ने दिनेशपुर क्षेत्र में संयुक्त रूप से छापा मारा। इस दौरान टीम को दिनेशपुर-जाफरपुर मोड़ पर एक कार में कुछ संदिग्ध लोग मिले। तलाशी लेने पर कार से टीम को दुर्लभ प्रजाति का एक पेंगोलिन बरामद हुआ।  टीम ने कार सवार तीन युवकों को हिरासत में ले लिया। 

पूछताछ में युवकों ने अपना नाम जुगल मिस्त्री निवासी सारनी थाना घोड़ा डोंगरी जिला बैतुल (मध्य प्रदेश), संजीव गाईन और अमरेंदर सिंह निवासीगण दिनेशपुर (रुद्रपुर) बताया। एसटीएफ कुमाऊं प्रभारी एमपी सिंह ने बताया कि ये लोग पेंगोलिन को बिलासपुर (यूपी) क्षेत्र से रुद्रपुर में बेचने के लिए लाए था। बरामद पेंगोलिन का वजन करीब 15 किलो तीन सौ ग्राम है। पेंगोलिन को दुर्लभ वन्य जीवों के शेड्यूल वन की श्रेणी में रखा गया है।

अंतरराष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संघ (आईयूसीएन) ने भी इसे अपनी रेड लिस्ट में रखा है। इसके कारण इसकी तस्करी पूरी तरह से प्रतिबंधित है। पेंगोलिन को वन विभाग के सुपुर्द कर तीनों अभियुक्तों के खिलाफ दिनेशपुर थाने में वन्य जीव जंतु संरक्षण अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया है।
... और पढ़ें

गोलना की युवती की शादी को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म


भिकियासैंण/अल्मोड़ा। स्याल्दे क्षेत्र निवासी मदन राम की बुधवार संदिग्धावस्था में हुई मौत के मामले को क्षेत्र की एक युवती की शादी से जोड़कर देखा जा रहा है। क्षेत्र में यह चर्चा जोरों पर है कि बिचौलियों ने लेनदेन करके युवती की जबरन मेरठ में एक व्यक्ति से शादी कर दी गई। हालांकि इस मामले में अभी तक किसी पक्ष ने रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई है। इधर एसडीएम ने बताया है कि गांव लौटने के बाद शुक्रवार को युवती के बयान लिए गए लेकिन उसने किसी पर आरोप नहीं लगाया है। एसडीएम ने बताया है कि शनिवार को ग्राम प्रधान और गांव के अन्य जिम्मेदार लोगों के समक्ष युवती के बयान लिए जाएंगे। युवती के बयानों के बाद ही मामले में कार्रवाई होगी।
बता दें कि बुधवार को स्याल्दे क्षेत्र निवासी मदन राम का शव क्षेत्र में एक मंदिर के पास पड़ा मिला। बताया गया है कि कुछ लोगों ने मदन राम पर क्षेत्र के एक गांव की एक युवती की शादी को लेकर बिचौलिये की भूमिका अपनाने का आरोप लगाया था। इसके बाद राजस्व पुलिस ने उससे पूछताछ की थी। उसके बाद मदन राम की संदिग्ध मौत हो गई थी। बताया गया है कि युवती के पिता की मौजूदगी में युवती की मेरठ में एक व्यक्ति के साथ शादी करने का प्रयास किया गया लेकिन बताया गया है कि युवती ने शादी से इंकार कर दिया। साथ ही पूर्व में कुछ लोगों पर पैसे लेकर शादी करवाने का जुबानी आरोप भी लगाया था।
इधर एसडीएम अभय प्रताप सिंह ने बताया कि पूर्व में यह सूचना मिली थी कि क्षेत्र किसी नाबालिग लड़की की शादी करवाई जा रही है लेकिन बाद में पता लगा कि लड़की बालिग है। उन्होंने बताया कि युवती मेरठ से अपने गांव लौट चुकी है और शुक्रवार को राजस्व पुलिस कर्मियों को दिए बयानों में उसने किसी पर जबरन शादी कराने के आरोप नहीं लगाए हैं। एसडीएम ने बताया कि इस मामले में अभी तक कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं है। शनिवार को राजस्व पुलिस की टीम ग्राम प्रधान और गांव के जिम्मेदार लोगों के सामने युवती के एक बार फिर बयान लेगी। युवती के बयानों के आधार पर ही आगे कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि अभी मामला अस्पष्ट है और युवती के बयान के बाद ही इस मामले का खुलासा हो सकेगा।
... और पढ़ें

आबकारी और एसओजी टीम ने दुकान से पकड़ी शराब, एक गिरफ्तार

आबकारी और एसओजी टीम ने दुकान से पकड़ी शराब, एक गिरफ्तार
अल्मोड़ा। आबकारी और एसओजी विभाग की टीम ने मनिआगर स्थित एक दुकान से अवैध शराब बरामद की है।

टीम ने मामले में एक व्यक्ति को आबकारी अधिनियम के तहत गिरफ्तार कर लिया है। आबकारी निरीक्षक तारा चंद्र पुरोहित ने बताया कि आरोपी दीवान सिंह निवासी चनौली का मनिआगर में ढाबा है। चेकिंग के दौरान दुकान में उसके दुकान से सात पेटी देसी गुलाब के पव्वे, चार पेटी देशी और एक पेटी अंग्रेजी शराब के पव्वे और 12 बोतल अंग्रेजी शराब बरामद हुई।

आरोपी के खिलाफ 60 आबकारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है। टीम में एसओजी प्रभारी नीरज भाकुनी, एसओ मोहन सिंह सोन, राजेंद्र चौसाली, हेमंत कुमार, राजस्व उपनिरीक्षक कृपाल सिंह बेलवाल आदि शामिल थे।
... और पढ़ें

बलात्कार मामले में मेडिकल को भेजी गई पीड़िता


चौखुटिया (अल्मोड़ा)। तहसील के एक गांव में दिव्यांग किशोरी के साथ एक व्यक्ति ने पांच महीने के दौरान कई बार दुष्कर्म किया। यही नहीं किशोरी के गर्भवती हो जाने पर उसका गर्भपात भी करा दिया। इस काम में आरोपी के भाई ने भी भी आरोपी का साथ दिया। पुलिस ने पीड़िता के पिता की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर पीड़िता को मेडिकल के लिए अल्मोड़ा भेज दिया है।
पीड़िता के पिता ने पुलिस को दी गई तहरीर में आरोप लगाया है कि इंदर कुमार नाम का व्यक्ति अक्तूबर 2018 से फरवरी 2019 तक उसकी दिव्यांग बेटी के साथ दुराचार करता रहा। बेटी के गर्भवती होने पर उनको मामले की जानकारी हुई। आरोपी के भाई ने उन्हें डरा धमकाकर देहरादून ले जाकर किशोरी का गर्भपात करा दिया। आरोपी के परिजनों के भय के चलते प्राथमिकी दर्ज कराने में विलंब हुआ। थानाध्यक्ष रमेश सिंह बोहरा ने बताया कि इस मामले आरोपी इंदर कुमार के खिलाफ 376/2, 452, 506, 342, 313 व 120 बी धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि पीड़िता को मेडिकल के लिए अल्मोड़ा भेजा गया है। ब्यूरो
... और पढ़ें

अस्पताल में उत्पात मचा रहे शराबी को पुलिस ने दबोचा

अल्मोड़ा। जिला अस्पताल में बृहस्पतिवार सुबह एक शराबी ने काफी उत्पात मचाया। अस्पताल परिसर में घूमते हुए शराबी गाली-गलौच और अभद्र भाषा का प्रयोग करता रहा। बाद मेें सूचना मिलने पर अस्पताल पहुंची पुलिस शराबी को पकड़कर ले गई।

ओपीडी में और चिकित्सकों के कमरे में भीड़ के दौरान अस्पताल पहुंचा एक शराबी गाली गलौच और अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने लगा। शराबी के उत्पात से अस्पताल पहुंचे रोगियों के अलावा डॉक्टरों को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

इस दौरान शराबी एक वरिष्ठ चिकित्सक के कमरे में भी पहुंच गया और गाली गलौच करने लगा। इसी दौरान अस्पताल के गार्डों ने पुलिस को बुला लिया। कुछ देर बाद पहुंची पुलिस शराबी को पकड़कर ले गई। अस्पताल में पहुंचे रोगियों का कहना था कि अस्पताल में कभी मरीजों के पर्स चोरी हो जाते हैं तो कभी शराबी उत्पात मचाने लगते हैं। उन्होंने अस्पताल में पुलिस सुरक्षा की मांग की। इधर चिकित्सकों ने भी अस्पताल में इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाने की मांग की है।

चिकित्सकों का कहना है कि शाम के समय भी कई बार शराबी अस्पताल में घुस आते हैं और हंगामा खड़ा कर देते हैं। अस्पताल के पीएमएस डॉ. प्रकाश वर्मा ने बताया कि अस्पताल परसिर में इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए तैनात सुरक्षा गार्डों को भी निर्देश दिए गए हैं कि किसी भी तरह की अराजकता करने वाले को तुरंत पुलिस को सौंप दिया जाए।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन