बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

देसी शराब की दो पेटियों के साथ एक धरा

35 वर्षीय व्यक्ति का शव सड़क के किनारे पड़ा मिला


सोमेश्वर (अल्मोड़ा)। तहसील क्षेत्र के अंतर्गत कस्यून मार्ग के किनारे 35 वर्षीय व्यक्ति का शव पड़ा मिला। पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

कस्यूना गांव के ग्रामीणों ने बृहस्पतिवार सुबह सड़क के किनारे 35 वर्षीय व्यक्ति बलवंत राम पुत्र पन राम का शव पड़ा देखा। गांव के प्रधान देवेंद्र राम ने इसकी सूचना सोमेश्वर थाना पुलिस को दी। कोतवाल दौलत राम, एसआई हरीश मेहर, भूपेंद्र मेहता पुलिस कर्मियों के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने पंचनामा भरकर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस ने बताया कि परिजनों के अनुसार बुधवार को सुबह से ही बलवंत शराब पीए हुए था। ब्यूरो
... और पढ़ें

लापता बरोलिया का सत्रह दिन से नहीं लगा पायी पुलिस सुराग


गरुड़(बागेश्वर)। ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष और टैक्सी यूनियन गरुड़ के पूर्व अध्यक्ष चंदन बरोलिया का राजस्व पुलिस पता नहीं लगा पायी। सत्रह दिन बाद भी उनका कोई सुराग न लगने से परिजन काफी परेशान हैं।
परिजनों के अनुसार वह दस जून को घर से देहरादून को निकले थे। घर से जाने के पांच घंटे बाद उनका मोबाइल स्विच ऑफ हो गया था। परिजनों ने उनकी गुमशुदगी राजस्व पुलिस में दर्ज करा दी थी। बिमोला के प्रधान हरी राम, नौघर के प्रधान शंकर नेगी, जखेड़ा के ईश्वर परिहार, नैकाना की प्रेमा परिहार, वन पंचायत सरपंच दिनेश लोहनी, पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण, प्रकाश कोहली, देवी दत्त पाठक, राजेंद्र बोरा, मंगल राणा, भुवन चंद्र ने प्रशासन से बरोलिया का शीघ्र सुराग लगाने की मांग की है। ब्यूरो
... और पढ़ें

करवा चौथ से दो दिन पहले हैवान बना पति, शराब के नशे में बेरहमी से की पत्नी की हत्या, तस्वीरें...

उत्तराखंड: अल्मोड़ा में हत्या की वारदात से सनसनी, पति ने पत्नी पर कुल्हाड़ी से वार कर मार डाला

उत्तराखंड में अल्मोड़ा के बिंता क्षेत्र में एक व्यक्ति ने कुल्हाड़ी से अपनी पत्नी की हत्या कर दी। राजस्व पुलिस ने देर शाम अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि आरोपी पति ने अपना जुर्म कबूल लिया और मौके से राजस्व पुलिस ने कुल्हाड़ी और डंडे भी बरामद किए हैं। फिलहाल हत्या की वजह साफ नहीं हो सकी है। राजस्व पुलिस के मुताबिक अत्यधिक नशे में पति ने वारदात को अंजाम दिया है। देर रात घटी इस वारदात का सुबह जब स्थानीय लोगों को पता चला तो इलाके में दहशत फैल गई। 

बिंता के (ढाईगड़ा) निवासी दयाकिशन जोशी (46 वर्ष) अपनी पत्नी बीना जोशी (39 वर्ष) तीन बच्चों और मां के साथ लंबे समय से बजेल खत्ते में रह रहे थे। रविवार देर रात किसी बात को लेकर पत्नी से उसका झगड़ा हो गया और तैश में आकर दयाकिशन ने पत्नी की बेरहमी से हत्या कर दी। झगड़े की वजह साफ नहीं हो सकी है। बताया जा रहा है कि इससे पहले उसने मां से भी मारपीट की और बाद में पत्नी से झगड़ा हुआ।


राजस्व पुलिस के मुताबिक झगड़ा काफी देर तक चला। हत्या में कुल्हाड़ी के अलावा डंडे आदि का भी इस्तेमाल हुआ है। वारदात के बाद मां ने घटना की जानकारी अन्य पुत्रों को दी। सुबह पुलिस और राजस्व पुलिस को सूचना दी गई। बग्वालीपोखर चौकी से पुलिस मृतका के घर पहुंची पर राजस्व क्षेत्र होने की वजह से वह वापस लौट आई। बाद में राजस्व टीम से तहसीलदार लीना चंद्रा धामी, क्षेत्र के उपराजस्व निरीक्षक चंद्र प्रकाश पांडेय, आशुतोष लोहनी आदि घटना स्थल पहुंचे। उप राजस्व निरीक्षक चंद्र प्रकाश पांडेय ने बताया कि मृतका के सिर पर चोट के निशान हैं। 
... और पढ़ें

सेना के जवान के खाते से जालसाजों ने उड़ाई रकम, ब्लैंक चेक लगाकर हड़पे लोन के पांच लाख रुपये

जालसाजों ने अल्मोड़ा के ताड़ीखेत ब्लॉक के सरोली गांव निवासी सैनिक के व्यक्तिगत बैंक खाते से जालसाजी कर पर्सनल लोन में मिले पांच लाख रुपये हड़प लिए। उन्होंने लोन लेते समय बैंक के एजेंट को चार ब्लैंक चेक दिए थे। यहीं से जालसाजी शुरू हुई और खाते की पूरी राशि हड़प ली गई। राजस्व पुलिस ने आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

ग्राम सरोली पिलखोली निवासी करन पांडे पुत्र तारा दत्त पांडे ने एक्सिस बैंक की बठिंडा शाखा पंजाब से पिछले दिनों पांच लाख का पर्सनल लोन लिया था। लोन की उक्त राशि उनके बैंक खाते में मिली। करन का कहना है लोन राशि मिलने के तुरंत बाद उनके खाते से 45 हजार की राशि अचानक निकल गई। उन्होंने बैंक से जानकारी ली तो बताया गया कि राशि चेक से निकाली गई है।

पूर्व में करन ने लोन स्वीकृत कराने के लिए चार ब्लैंक चेक एजेंट को दिए थे। एजेंट के खिलाफ शिकायत करने के लिए उन्होंने गूगल सर्च से एक्सिस बैंक के उपभोक्ता कस्टमर केयर का फोन नंबर लिया और कस्टमर केयर से बोल रहे व्यक्ति ने करन से कहा कि उनके 45 हजार रुपये खाते में वापस भेज दिए जाएंगे। इसके लिए कुछ प्रक्रियाएं हैं, उन्हें पूरा करना होगा। यहीं से ठगों ने झांसे में लिया और खाते संबंधी व्यक्तिगत जानकारी ले ली।

यहां तक मोबाइल में आए ओटीपी (कोड) पूछकर खाते से 4.77 लाख रुपये निकाल लिए। वहीं पिलखोली की आरएसआई ज्योति जोशी का कहना है कि जवान बठिंडा में तैनात है। शिकायत मिली हैं। लग रहा है कि गलत कस्टमर केयर नंबर से साइबर अपराधियों ने ठगी की है। अज्ञात आरोपियों के खिलाफ आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज कर मामला साइबर सेल को भेजा गया है। मामले की जांच शुरू हो गई है।
... और पढ़ें

छात्रवृति घोटाला: रानीखेत पुलिस ने की पहली गिरफ्तारी, हापुड़ की यूनिवर्सिटी का कर्मचारी गिरफ्तार

उत्तराखंड में एससी-एसटी ओबीसी दशमोत्तर छात्रवृत्ति अनियमित्ता मामले में रानीखेत पुलिस ने पहली गिरफ्तारी की है। 14,23080 रुपये के गबन मामले में एसआईटी की जांच के बाद इसी साल 10 जनवरी को मुकदमा दर्ज हुआ था।

रानीखेत क्षेत्र के विद्यालयों से 18 छात्र-छात्राओं के छात्रवृत्ति के फर्जी  फॉर्म भरवाए गए थे। इस मामले में उपनिबंधक मोनार्ड यूनिवर्सिटी हापुड़ के छात्रवृत्ति सेक्सन इंचार्ज को रानीखेत पुलिस ने हापुड़ से गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, इसके बाद उसे जेल भेज दिया है।


विवेचना में जुटी एसएसआई बसंती आर्या ने बताया कि छात्रवृत्ति घोटाले की जांच एसआईटी टीम द्वारा की गई। 10 जनवरी 2020 को कोतवाली रानीखेत में उपनिबंधक मोनार्ड यूनिवर्सिटी हापुड़ व अज्ञात बिचौलियों के विरुद्ध, जिला समाज कल्याण कार्यालय अल्मोड़ा से प्राप्त छात्रवृत्ति की धनराशि 14,23080  रुपये के कूटरचित दस्तावेज तैयार कर आपराधिक षडयंत्र रचकर गबन करने के संबंध में अभियोग पंजीकृत किया गया था।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: दुष्कर्म और लैंगिक अपराध के मामलों में आरोपियों की जमानत याचिका खारिज, वीडियो कांफ्रेंसिंग से हुई सुनवाई

उत्तराखंड के अल्मोड़ा में  विशेष सत्र न्यायाधीश प्रदीप पंत की अदालत ने दुष्कर्म के मामले में नैनीताल जिले के निवासी आरोपी की जमानत खारिज कर दी है। मामले में वीडियो कांफ्रेंसिंग से बहस हुई। एक अन्य मामले में भी आरोपी को जमानत नहीं दी गई। नगर के एक मोहल्ले में किराए के कमरे में रहने वाली एक नाबालिग गत 14 फरवरी को घर से आईटीआई जाने के लिए निकली, लेकिन घर नहीं लौटी।

इसके बाद उसके पिता ने 18 फरवरी को नाबालिग पुत्री की गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई। पुलिस ने एक माह बाद 18 मार्च को मिडल फील्ड गार्डन, सभरपुर सेक्टर गुरुग्राम हरियाणा से रवींद्र कुमार जीना के साथ नाबालिग को बरामद किया। आरोपी रवींद्र कुमार जीना ग्राम कूल पट्टी प्यूड़ा जिला नैनीताल का मूल निवासी है।
... और पढ़ें

अल्मोड़ा: पुरानी रंजिश में ग्रामीण ने युवक पर फेंका तेजाब, अस्पताल में भर्ती

उत्तराखंड के अल्मोड़ा में पुरानी रंजिश में अल्मोड़ा तहसील के गोविंदपुर रणखिला गांव में 18 वर्षीय युवक पर तेजाब से हमला किया गया है। घटना 25 जनवरी देर शाम की है। युवक जंगल से खच्चर चराकर घर लौट रहा था, इसी दौरान गांव के ही एक व्यक्ति ने पीछे से उसकी गर्दन पर एसिड फेंक दिया, जिससे युवक बुरी तरह झुलस गया। रानीखेत राजकीय अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद युवक को सुशीला तिवारी अस्पताल (एसटीएच) हल्द्वानी रेफर किया गया है।

डॉक्टर के अनुसार युवक करीब 50 फीसदी तक झुलसा है। पिता की तहरीर परआरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। इधर, हल्द्वानी एसटीएच के प्लास्टिक सर्जन डॉ. हिमांशु सक्सेना ने बताया कि युवक की हालत स्थिर बनी हुई है।

रणखिला के प्रमोद कुमार पुत्र भुवन राम 25 जनवरी की शाम जंगल से खच्चर लेकर लौट रहा था। आरोप है कि गांव के ही दुर्गा राम ने उसकी गर्दन पर तेजाब फेंक दिया और मौके से फरार हो गया। ग्रामीण प्रमोद को राजकीय अस्पताल ले गए। प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने उसे हायर सेंटर हल्द्वानी एसटीएच कर दिया। प्रमोद कुमार ने बताया कि उसके बड़े भाई का प्रेम विवाह दुर्गा राम की पुत्री से हुआ था, इसी बात से दुर्गा राम उनसे रंजिश पाले हुए है।

पीड़ित के पिता भुवन राम ने की तहरीर पर आरोपी दुर्गा राम के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। राजस्व उप निरीक्षक हेमंत कुमार ने बताया कि आईपीसी की धारा 326 ए में केस दर्ज किया गया है। सोमवार को वह पीड़ित के बयान लेने हल्द्वानी जाएंगे। इसके बाद आगे की कार्रवाई होगी।
... और पढ़ें

शर्मनाकः नाबालिग के साथ नाना ने किया दुष्कर्म, किशोरी गर्भवती हुई तो खुला मामला

अल्मोड़ा की तहसील सोमेश्वर के अंतर्गत एक गांव की किशोरी के साथ उसके रिश्ते के नाना द्वारा दुष्कर्म किए जाने का मामला सामने आया है। मंगलवार को महिला अस्पताल में जांच कराने ीपर किशोरी के गर्भवती होने की पुष्टि पर मामला खुला। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। 

जानकारी के मुताबिक किशोरी के पिता दिल्ली में नौकरी करते हैं। किशोरी भी वहां अपने माता-पिता के साथ ही रहती थी। बीते दिनों उसे पीलिया हो गया। पीलिया को झड़ाने के लिए परिजनों ने उसे करीब एक माह पहले गांव भेज दिया था। पिछले कुछ दिनों से उसका स्वास्थ्य लगातार खराब चल रहा था। मंगलवार को उसकी रिश्ते की मौसी उसे महिला अस्पताल लेकर आई।

वहां जांच में उसके सात माह के गर्भ की पुष्टि हुई। जब डॉक्टरों ने उसे यह बात बताई तो किशोरी रोने लगी। पूछताछ में उसने बताया कि दिल्ली में रहने वाले उसके रिश्ते के नाना ने उसके साथ दुष्कर्म किया था। बाद में उसे घर भेज दिया गया। इधर, मामले की सूचना पुलिस को दे दी गई है। हालांकि अभी तक परिजनों अथवा किशोरी की ओर से इस मामले में एफआईआर दर्ज नहीं कराई गई है।
... और पढ़ें

राष्ट्रीय जूनियर बैडमिंटन खिलाड़ी से अल्मोड़ा में दुष्कर्म, कोलकाता पुलिस पहुंची

उत्तराखंड: कुमाऊं में सामने आए दुष्कर्म के तीन मामले, कांस्टेबल पर मुकदमा तो एक जगह बच्ची हुई गर्भवती

उत्तराखंड के कुमाऊं में दुष्कर्म के तीन मामले सामने आए हैं। काशीपुर में एक कांस्टेबल पर मुकदमा दर्ज किया गया तो अल्मोड़ा में किशोरी से दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। वहीं किशोरी गर्भवती भी है। उधर, रामनगर में भी पांच साल की बच्ची से दुष्कर्म का प्रयास किया गया। 

काशीपुर में एक युवती ने आईआरबी (बैलपड़ाव) के कांस्टेबल पर दुष्कर्म, जबरन गर्भपात कराने और जान से मारने की धमकी देने के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया है। मुख्य आरोपी का सहयोग करने पर आरोपी की बहन और छह अन्य को भी नामजद किया गया है।

आईटीआई थाना क्षेत्र की युवती ने पुलिस अधिकारियों को भेजी तहरीर में कहा कि वह वर्ष 2015 में कक्षा नौ में पढ़ती थी। इस दौरान बरखेड़ा पांडे निवासी दीपक सागर से उसकी पहचान हो गई। दोनों मोबाइल पर बातें करने लगे। दीपक और उसके साथियों ने मोबाइल पर हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग उसके परिजनों को भेजने की धमकी देकर उस पर दबाव बनाया।

दीपक ने शादी का झांसा देकर कई होटलों में उसके साथ दुष्कर्म किया। वर्ष 2016 में दीपक की नियुक्ति आईआरबी में हो गई। इसके बाद भी दीपक उसे डरा धमकाकर अलग-अलग स्थानों और दोस्तों के घर ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म करता रहा। आरोपियों ने उसकी आपत्तिजनक वीडियो भी बना ली। फरवरी 2019 में वह गर्भवती हुई तो आरोपी ने जबरन उसका गर्भपात करा दिया।

पीड़िता का आरोप है कि 31 जुलाई को दीपक ने उसे काशीपुर बुलाया। वहां से उसे वह बाइक पर कुंडेश्वरी रोड स्थित एक रेस्टोरेंट में ले गया और शादी की बात से इनकार कर दिया। विरोध करने पर आरोपी ने उसका वीडियो वायरल करने की धमकी दी। एक अगस्त 2019 को दीपक उसे कुंडेश्वरी-केलामोड़ मार्ग पर ले गया।

वहां उसे जबरन जहर देने का प्रयास किया। इस पर उसने उल्टी कर दी और शीशी सड़क पर फोड़ दी। इसके बाद आरोपी की बहन पूजा, भाई विपिन और मां इंद्रावती ने फोन पर उसके साथ अभद्रता करते हुए जान से मारने की धमकी दी।  आईटीआई थानाध्यक्ष कुलदीप अधिकारी ने बताया कि इस मामले में बरखेड़ा पांडे निवासी कांस्टेबल दीपक सागर, महिला दरोगा पूजा, विपिन और इंद्रावती के अलावा हिमांशु, विशाल और नितिन शर्मा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।
... और पढ़ें

प्रतिबंधित वन्य जीव पेंगोलिन की तस्करी में एसटीएफ और डब्ल्यूसीसीबी ने तीन लोगों को किया गिरफ्तार

वन्य जीव-जंतुओं की तस्करी में लिप्त लोगों की धरपकड़ में जुटी स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) कुमाऊं परिक्षेत्र और वाइल्ड क्राइम कंट्रोल ब्यूरो (डब्ल्यूसीसीबी) ने वन्य जीवों की तस्करी करने वाले तीन लोगों को गिरफ्तार कर उनके पास से स्तनधारी सरीसृप वर्ग का एक पेंगोलिन बरामद किया है। पेंगोलिन जीव को दुर्लभ जीवों के शेड्यूल वन की श्रेणी में रखा गया है। 

बीते बुधवार एसटीएफ कुमाऊं परिक्षेत्र को दिनेशपुर क्षेत्र में वन्य जीव जंतुओं की तस्करी की सूचना मिली थी। साथ ही वन्य जीवों की तस्करी की एक सूचना नई दिल्ली स्थित वाइल्ड क्राइम कंट्रोल ब्यूरो को भी मिली थी। सूचना पर एसटीएफ और डब्ल्यूसीसीबी ने दिनेशपुर क्षेत्र में संयुक्त रूप से छापा मारा। इस दौरान टीम को दिनेशपुर-जाफरपुर मोड़ पर एक कार में कुछ संदिग्ध लोग मिले। तलाशी लेने पर कार से टीम को दुर्लभ प्रजाति का एक पेंगोलिन बरामद हुआ।  टीम ने कार सवार तीन युवकों को हिरासत में ले लिया। 

पूछताछ में युवकों ने अपना नाम जुगल मिस्त्री निवासी सारनी थाना घोड़ा डोंगरी जिला बैतुल (मध्य प्रदेश), संजीव गाईन और अमरेंदर सिंह निवासीगण दिनेशपुर (रुद्रपुर) बताया। एसटीएफ कुमाऊं प्रभारी एमपी सिंह ने बताया कि ये लोग पेंगोलिन को बिलासपुर (यूपी) क्षेत्र से रुद्रपुर में बेचने के लिए लाए था। बरामद पेंगोलिन का वजन करीब 15 किलो तीन सौ ग्राम है। पेंगोलिन को दुर्लभ वन्य जीवों के शेड्यूल वन की श्रेणी में रखा गया है।

अंतरराष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संघ (आईयूसीएन) ने भी इसे अपनी रेड लिस्ट में रखा है। इसके कारण इसकी तस्करी पूरी तरह से प्रतिबंधित है। पेंगोलिन को वन विभाग के सुपुर्द कर तीनों अभियुक्तों के खिलाफ दिनेशपुर थाने में वन्य जीव जंतु संरक्षण अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन